आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

null

सर्वाइकल कैंसर में कीमाथेरिपी का प्रभाव क्या है?

    सर्वाइकल कैंसर में कीमाथेरिपी का प्रभाव क्या है?

    सर्वाइकल कैंसर तब होता है, जब कोशिकाएं गर्भाशय ग्रीवा में असामान्य रूप से विकसित होती हैं। सर्वाइकल कैंसर के अधिकांश मामले ह्यूमन पैपिलोमावायरस (एचपीवी) के संक्रमण के कारण होते हैं। 35 से 44 वर्ष की महिलाओं को इसके होने की संभावना सबसे अधिक होती है। यह कैंसर गर्भाशय ग्रीवा के सेल्स को प्रभावित कर सकता है। इससे उनके शरीर के अन्य भागों (मेटास्टेसिस) में फैल सकता है, जैसे कि फेफड़े, यकृत, मूत्राशय, योनि और मलाशय आदि में। सर्वाइकल कैंसर का समय रहते इलाज बहुत जरूरी होता है। सर्वाइकल कैंसर का उपचार कई कारकों पर निर्भर करता है, जैसे कि कैंसर का प्रकार, उसकी स्टेज, मरीज की स्थिति, संभावित दुष्प्रभाव, रोगी की प्राथमिकताएं और समग्र स्वास्थ्य आदि। सवाईकल कैंसर के इलाज के लिए डॉक्टर निम्नलिखित प्रॉसेज को अपना सकते हैं। इस आर्टिकल में हम जानेंगे सर्वाइकल कैंसर में कीमोथेरिपी (Chemotherapy in cervical cancer) के बारे में। जरूरी नहीं है कि यह भी सवाईकल कैंसर में कीमोथेरिपी (Chemotherapy in cervical cancer) हर मरीज के लिए हो। कीमो के अलावा सर्वाइकल के अन्य उपचारों में शामिल हैं:

    • शल्य चिकित्सा
    • विकिरण उपचार
    • कीमोथेरपी
    • लक्षित चिकित्सा
    • इम्यूनोथेरिपी

    और पढ़ें: सर्वाइकल कैंसर के साथ जीना हो सकता है चुनौतिपूर्ण, जानिए कैसे करें इस चुनौति का सामना

    सर्वाइकल कैंसर में कीमाथेरिपी (chemotherapy in cervical cancer)

    कीमोथेरिपी (कीमो) में कैंसर के सेल्स को नष्ट करने वाली दवाओं का उपयोग किया जाता है, जिसे नस में इंजेक्ट किया जाता है या मुंह से भी दिया जाता है। ये दवाएं रक्तप्रवाह में प्रवेश करती हैं और शरीर के लगभग सभी क्षेत्रों तक पहुंच सकती हैं, जिससे यह उपचार शरीर के अधिकांश हिस्सों में कैंसर कोशिकाओं को मारने के लिए उपयोगी होती है। मरीज को कीमोथेरिपी की जरूरत है या नहीं, यह आपके सर्वाइकल कैंसर के चरण पर निर्भर करता है । यदि मरीज को स्टेज 1बी2 कैंसर से लेकर स्टेज 4ए कैंसर तक कुछ भी है, तो उन्हें रेडियोथेरिपी (कीमोरेडियोथेरेपी) के साथ ही कीमोथेरिपी दी जा सकती है। सर्वाइकल कैंसर वाले लोगों के लिए, कीमोथेरिपी अक्सर रेडिएशन थेरिपी के साथ ही दी जाती है। यद्यपि कीमोथेरिपी मौखिक रूप से दी जा सकती है, सर्वाइकल कैंसर के इलाज के लिए उपयोग की जाने वाली सभी दवाओं को अंतःशिरा (IV) दिया जाता है। IV कीमोथेरेपी या तो सीधे शिरा में इंजेक्ट की जाती है या कैथेटर नामक एक पतली ट्यूब के माध्यम से दी जाती है।

    और पढ़ें: स्टेज 1 सर्वाइकल कैंसर: कैंसर के लक्षणों और इलाज को समझें यहां!

    कीमोथेरिपी के प्रकार

    यदि किसी मरीज को रेडियोथेरिपी के साथ कीमोथेरिपी दी जा रही है, तो यह आमतौर पर सप्ताह में एक बार लगभग 5 सप्ताह तक के लिए होता है। यह भी हो सकता है कि आप हर 2 या 3 सप्ताह में अलग-अलग कीमोथेरिपी दवाएं दी जा सकती हैं। सिस्प्लैटिन दवा, प्रारंभिक सर्वाइकल कैंसर के कीमो उपचार में दी जाने वाली सबसे आम दवा है। इसके अलावा, अन्य दवाएं जिनका उपयोग कीमो किया जा सकता है, उनमें शामिल हैं:

    • कार्बोप्लैटिन
    • पैक्लिटैक्सेल (टैक्सोल)
    • पैक्लिटैक्सेल और कार्बोप्लाटिन
    • टोपोटेकेन

    और पढ़ें: स्टेज 2 सर्वाइकल कैंसर: कैंसर के लक्षणों और इलाज को समझें यहां!

    कीमोथेरेपी कैसे दी जाती है (How chemotherapy is given)?

    सर्वाइकल कैंसर के लिए कीमो दवाएं आमतौर पर एक नस (IV) में दी जाती हैं, या तो कुछ मिनटों में इंजेक्शन के रूप में या लंबी अवधि में नस में इंफ्यूजन के रूप में दी जाती हैं। कीमो को चक्रों में दिया जाता है, इसके बाद आराम के लिए कहा जाता है, ताकि आपको दवाओं के प्रभाव से उबरने का समय मिल सके। यह साइकिल चक्र अक्सर साप्ताहिक या 3 सप्ताह लंबे होते हैं। उपयोग की जाने वाली दवाओं के आधार पर अनुसूची भिन्न हो सकती है। उदाहरण के लिए, कुछ दवाओं के साथ कीमो साइकिल के पहले दिन ही दिया जाता है। कुछ लोगों में, यह लगातार कुछ दिनों के लिए या सप्ताह में एक बार दिया जा सकता है। फिर, चक्र के अंत में, अगले चक्र को शुरू करने के लिए कीमो शेड्यूल दोहराता है।

    कभी-कभी, कीमो देने के लिए थोड़ा बड़ा और मजबूत IV की आवश्यकता होती है। इन्हें सेंट्रल वेनस कैथेटर्स (CVCs), सेंट्रल वेनस एक्सेस डिवाइसेस (CVADs), या सेंट्रल लाइन्स के रूप में जाना जाता है। उनका उपयोग दवाओं, रक्त उत्पादों, पोषक तत्वों या तरल पदार्थों को सीधे आपके रक्त में डालने के लिए किया जाता है। उनका उपयोग परीक्षण के लिए रक्त लेने के लिए भी किया जा सकता है।

    और पढ़ें: स्टेज 3 सर्वाइकल कैंसर: कैंसर के लक्षणों और इलाज को समझें यहां!

    सर्वाइकल कैंसर के लिए कीमोथेरिपी के साइड इफेक्ट (Side Effects of Chemotherapy for Cervical Cancer)

    कीमो दवाएं कैंसर कोशिकाओं को मारती हैं लेकिन कुछ सामान्य कोशिकाओं को भी नुकसान पहुंचाती हैं, जिससे कुछ दुष्प्रभाव हो सकते हैं। साइड इफेक्ट दवाओं के प्रकार और खुराक और आपके इलाज की अवधि पर निर्भर करते हैं। कई दुष्प्रभाव अल्पकालिक होते हैं और उपचार समाप्त होने के बाद चले जाते हैं, लेकिन कुछ लंबे समय तक रह सकते हैं । यदि आपके कोई दुष्प्रभाव हैं, तो अपनी स्वास्थ्य देखभाल टीम को बताना महत्वपूर्ण है। कीमोथेरिपी के सामान्य अल्पकालिक दुष्प्रभाव शामिल हो सकते हैं:

    • मतली और उल्टी
    • भूख में कमी
    • बाल झड़ना
    • मुंह के छाले
    • थकान (थकान)

    और पढ़ें: स्टेज 4 सर्वाइकल कैंसर: कैंसर के लक्षणों और इलाज को समझें यहां!

    चूंकि कीमोथेरिपी रक्त-उत्पादक कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकती है, इसलिए रक्त कोशिकाओं की संख्या कम हो सकती है। इसका परिणाम हो सकता है:

    • श्वेत रक्त कोशिकाओं की कमी से संक्रमण की संभावना बढ़ जाती है।
    • रक्त प्लेटलेट्स (थ्रोम्बोसाइटोपेनिया कहा जाता है) की कमी हो सकती है
    • लाल रक्त कोशिका की कम संख्या सांस की तकलीफ या थकान का कारण बन सकता है

    सर्वाइकल कैंसर में जब कीमोथेरिपी को रेडिएशन थेरिपी के साथ दिया जाता है, तो दुष्प्रभाव अक्सर अधिक गंभीर होते हैं। मतली, थकान, दस्त, और लो ब्लड काउंट।

    और पढ़ें: सर्वाइकल कैंसर और सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस में न हो कंफ्यूज, ये दोनों हैं अलग बीमारी

    सर्वाइकल कैंसर में कीमोथेरिपी के साइड इफेक्ट्स

    आम कीमोथेरिपी साइड इफेक्ट्स में शामिल हैं:

    • बीमार महसूस करना
    • भूख में कमी
    • वेट घटना
    • बहुत थकान महसूस होना
    • इम्यूनिटी कमजोर होना
    • रक्तस्राव और आसानी से चोट लगना
    • दस्त या कब्ज की समस्या
    • बाल झड़ना

    और पढ़ें: Segmental resection of Lung Cancer: जानिए लंग कैंसर का सेग्मेंटल रिसेक्शन से जुड़ी पूरी जानकारी!

    आपकी स्वास्थ्य देखभाल टीम साइड इफेक्ट्स पर नजर रखेगी और उन्हें रोकने में मदद करने के लिए आपको दवाएं दे सकती है या आपको बेहतर महसूस करने में मदद करने के लिए उनका इलाज कर सकती है। उदाहरण के लिए, आपको मतली और उल्टी को रोकने या कम करने में मदद करने के लिए दवाएं दी जा सकती हैं। सर्वाइकल कैंसर के लिए कीमोथेरिपी से निपटना मुश्किल हो सकता है। अपने डॉक्टर या नर्स को अपनी किसी भी समस्या या साइड इफेक्ट के बारे में बताएं। सर्वाइकल कैंसर में कीमोथेरिपी के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से बात करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    https://www.cancer.org/cancer/cervical-cancer/treating/chemotherapy.html

    Cervical Cancer  Accessed on 28 June, 2022

    https://www.cancer.net/cancer-types/cervical-cancer/types-treatment

    Cervical Cancer Treatment Accessed on 28 June, 2022

    https://www.cancerresearchuk.org/about-cancer/cervical-cancer/treatment/chemotherapy-treatment

    Cervical Cancer Treatment Accessed on 28 June, 2022

    https://www.cancer.gov/types/cervical/hp/cervical-treatment-pdq

    Cervical cancer Accessed on 28 June, 2022

    https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/cervical-cancer/diagnosis-treatment/drc-20352506/

    Cervical cancer Survivors Accessed on 28 June, 2022

    https://www.cdc.gov/cancer/cervical/stories/index.htm/

    लेखक की तस्वीर badge
    Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 01/07/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड