आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

लंग कैंसर के लिए कीमोथेरिपी कितनी प्रभावी है?

    लंग कैंसर के लिए कीमोथेरिपी कितनी प्रभावी है?

    लंग कैंसर के लिए कीमोथेरिपी (Chemotherapy for lung cancer) एक ट्रीटमेंट ऑप्शन है जिसमें दवाओं का उपयोग कैंसर सेल्स को मारने के लिए किया जाता है। इसे कीमो (Chemo) भी कहा जाता है। लंग कैंसर के लिए कीमोथेरिपी का यूज लंग कैंसर के प्रकार और इसकी स्टेज पर निर्भर करता है। इसके अलावा ओवरऑल हेल्थ, पर्सनल ट्रीटमेंट गोल्स को भी ध्यान में रखा जाता है। कीमोथेरिपी में एंटीकैंसर दवाओं को नसों या मुंह के द्वारा दिया जाता है। ये दवाएं ब्लडस्ट्रीम के जरिए ट्रैवल करती हैं और बॉडी के लगभग हर हिस्से में पहुंचती है। इस लेख में लंग कैंसर के लिए कीमोथेरिपी के उपयोग से संबंधित जानकारी दी जा रही है।

    लंग कैंसर के लिए कीमोथेरिपी (Chemotherapy for lung cancer) का उपयोग कब किया जाता है?

    कीमोथेरिपी स्माल सेल लंग कैंसर (small-cell lung cancer) के लिए प्रमुख ट्रीटमेंट है। ऐसा इसलिए है क्योंकि (SCLC) आमतौर पर इसके बारे में पता चलने तक फैल चुका होता है, इसलिए सर्जरी या रेडिएशन थेरिपी जैसे अन्य उपचार कैंसर के सभी क्षेत्रों तक नहीं पहुंच पाएंगे। लेकिन डॉक्टर इसे नॉन स्माल सेल लंग कैंसर (non-small-cell lung cancer) के लिए सर्जरी के बाद या पहले या सर्जरी की जगह भी यूज करते हैं।

    • किसी भी बचे हुए कैंसर के इलाज के लिए फेफड़ों के कैंसर की सर्जरी के बाद दी जाने वाली एडजुवेंट थेरिपी (Adjuvant therapy) कीमो है।
    • नियोएडजुवेंट थेरिपी (Neoadjuvant therapy) सर्जरी से पहले ट्यूमर को सिकोड़ने के लिए दी जाने वाली कीमो है।

    फेफड़ों के कैंसर से पीड़ित बुजुर्ग भी यह उपचार करा सकते हैं। यदि आप किसी कारण से सर्जरी नहीं करा पा रहे हैं, तो आपके ट्यूमर को सिकोड़ने के लिए रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy) के साथ कीमोथेरेपी (Chemotherapy) भी हो सकती है।

    स्माल सेल लंग कैंसर के लिए कीमोथेरिपी (Chemotherapy for small cell lung cancer)

    सीमित स्तर के एससीएलसी वाले लोगों के लिए, कीमो को अक्सर रेडिएशन थेरिपी के साथ दिया जाता है। इसे कीमोरेडिएशन (Chemoradiation) के रूप में जाना जाता है। व्यापक स्तर के एससीएलसी वाले लोगों के लिए, इम्यूनोथेरेपी के साथ या बिना कीमो आमतौर पर मुख्य उपचार होता है। कभी-कभी विकिरण चिकित्सा भी दी जाती है।खराब स्वास्थ्य वाले कुछ मरजी कीमो की तीव्र खुराक या दवाओं के संयोजन को सहन करने में सक्षम नहीं होते हैं, लेकिन अधिक उम्र कीमो से बचने का कारण नहीं हो सकता।

    और पढ़ें: लंग कैंसर वैक्सीन : क्या कैंसर को मात देने में सक्षम है?

    स्माल सेल लंग कैंसर के लिए कीमोथेरिपी (Chemotherapy for lung cancer) में दवाओं का उपयोग

    लंग कैंसर के लिए कीमोथेरिपी (Chemotherapy for lung cancer)

    आमतौर पर स्माल सेल लंग कैंसर का इलाज कीमो ड्रग्स के कॉब्निनेशन से किया जाता है। सबसे ज्यादा उपयोग किया जाने वाले कॉब्निनेशन निम्न प्रकार हैं।

    • सिस्प्लैटिन और एटोपोसाइड (Cisplatin and etoposide)
    • कार्बोप्लाटिन और एटोपोसाइड (Carboplatin and etoposide)
    • सिस्प्लैटिन और इरिनोटेकन (Cisplatin and irinotecan)
    • कार्बोप्लाटिन और इरिनोटेकन (Carboplatin and irinotecan)

    टोपोटेकन (Topotecan) और ल्यूर्बिनेक्टेडिन (Lurbinectedin) कीमो दवाएं हैं जिनका उपयोग एससीएलसी वाले लोगों में किया जाता है जब ये फैल चुका होता है और सिस्प्लैटिन (Cisplatin) या कार्बोप्लाटिन (Carboplatin) दवाओं का उपयोग पहले ही किया जा चुका होता है।

    और पढ़ें: कहीं आप में भी तो नहीं है ये लंग कैंसर के लक्षण

    नॉन स्माल सेल लंग कैंसर के लिए कीमोथेरिपी (Chemotherapy for non-small cell lung cancer)

    नॉन स्माल सेल लंग कैंसर के सभी मरीजों को कीमो की जरूरत नहीं होती है, लेकिन कैंसर की स्टेज और दूसरे फैक्टर्स के आधार पर कीमो कई अलग-अलग सिचुएशन में रिकमंड की जाती है। जो निम्न प्रकार हैं। सर्जरी के पहले कीमोथेरिपी का यूज कभी-कभी रेडिएशन थेरिपी के साथ ट्यूमर को सिकोड़ने के लिए किया जाता है ताकि इसे लेस एक्सटेंसिव सर्जरी के जरिए निकाला जा सके।

    सर्जरी के बाद कीमो का उपयोग कभी-कभी रेडिएशन थेरिपी के साथ कैंसर सेल्स को मारने जो छूट गई हैं या फैल चुकी हैं लेकिन इमेजिंग टेस्ट्स में दिखाई नहीं दे सकती।कई बार एडवांस्ड नॉन स्माल सेल लंग कैंसर के लिए कीमोथेरिपी (Chemotherapy for lung cancer) को रेडिएशन थेरिपी के साथ दिया जाता है। इसमें कैंसर विकसित हो चुका होता है। ऐसे में सर्जरी ऑप्शन नहीं रह जाता। जो लोग सर्जरी कराने के लिए स्वस्थ नहीं होते हैं उनके लिए इस ऑप्शन को चुना जाता है।

    मेटास्टेटिक नॉन स्माल सेल लंग कैंसर के लिए कीमोथेरिपी (Chemotherapy for lung cancer) का उपयोग किया जाता है। ये कैंसर लंग के आउट साइड जैसे कि हड्डियों, लिवर और एड्रेनल ग्लैंड तक पहुंच चुका होता है।

    नॉन स्माल सेल लंग कैंसर के लिए कीमोथेरिपी (Chemotherapy for lung cancer) में दवाओं का उपयोग

    एनएससीएलसी (NSCLC) के लिए अक्सर इस्तेमाल की जाने वाली कीमो दवाओं में शामिल हैं:

    • सिस्प्लैटिन (Cisplatin)
    • कार्बोप्लैटिन (Carboplatin)
    • पैक्लिटैक्सेल (Paclitaxel)
    • एल्बुमिन-बाउंड पैक्लिटैक्सेल (Albumin-bound paclitaxel)
    • डोकेटेक्सेल (Docetaxel)
    • जेमिसिटाबाइन (Gemcitabine)
    • विनोरेलबाइन (Vinorelbine)
    • एटोपोसाइड (Etoposide)
    • पेमेट्रेक्स्ड (Pemetrexed)

    और पढ़ें: अपनी 70 साल की उम्र को भी नहीं आने दिया कैंसर के सामने, हिम्मत से किया पार: लंग कैंसर वॉरियर, नरेंद्र शर्मा

    कीमोथेरिपी कैसे दी जाती है? (How is chemotherapy given?)

    लंग कैंसर के लिए कीमो दवाएं आमतौर पर नस (IV) में दी जाती हैं, या तो कुछ मिनटों में इंजेक्शन के रूप में या लंबी अवधि में इंफ्यूजन के रूप में दी जाती हैं। यह डॉक्टर के क्लिनिक, कीमोथेरेपी क्लिनिक या अस्पताल में दी जा सकती है।

    डॉक्टर कीमो को साइकल में देते हैं। उपचार की प्रत्येक अवधि के बाद आराम की अवधि होती है ताकि मरीज को दवाओं के प्रभाव से ठीक होने का समय मिल सके। साइकल अक्सर 3 या 4 सप्ताह लंबे होते हैं, और प्रारंभिक उपचार आमतौर पर 4 से 6 साइकल होते हैं। उपयोग की जाने वाली दवाओं के आधार पर अनुसूची भिन्न होती है। उदाहरण के लिए, कुछ दवाएं कीमो साइकल के पहले दिन ही दी जाती हैं। दूसरी दवाओं को लगातार कुछ दिनों के लिए या सप्ताह में एक बार दिया जाता है। फिर, साइकल के अंत में, अगले साइकल को शुरू करने के लिए कीमो शेड्यूल दोहराया जाता है।

    एडवांस्ड स्टेज के लिए कीमोथेरिपी (Chemotherapy for advanced stage)

    एडवांस्ड स्टेज के लिए कीमो कॉब्निनेशन 4-6 साइकल में दिया जाता है। कई बार इसे इम्यूनोथेरिपी ड्रग्स के साथ दिया जाता है। इसके अलावा, डॉक्टर उन लोगों के लिए एक सिंगल इम्यूनोथेरेपी दवा के साथ उपचार का विस्तार करने की सिफारिश कर सकते हैं, जिनकी प्रारंभिक कीमोथेरेपी के लिए अच्छी प्रतिक्रिया हुई है या जिनका कैंसर बिगड़ा नहीं है।

    यदि उपचार के दौरान कैंसर बढ़ता है (बदतर हो जाता है) या उपचार समाप्त होने के बाद वापस आ जाता है, तो अन्य कीमो दवाओं को अपनाया जा सकता है। दवाओं का चुनाव कुछ हद तक इस बात पर निर्भर करता है कि कैंसर कितनी जल्दी फिर से बढ़ने लगता है। (कैंसर को वापस आने में जितना अधिक समय लगता है, आगे के उपचार के प्रति प्रतिक्रिया करने की संभावना उतनी ही अधिक होती है।)

    लंग कैंसर के लिए कीमोथेरिपी

    कीमोथेरिपी के साइड इफेक्ट्स क्या हैं? (Side effects of chemotherapy)

    कीमोथेरिपी में उपयोग की जाने वाली ड्रग्स के कई साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं जो दवा, डोज और ट्रीटमेंट कितने समय तक चलता है पर निर्भर करता है। साइड इफेक्ट्स में निम्न शामिल हैं।

    • बालों का झड़ना
    • मुंह में घाव होना
    • भूख कम लगना
    • वजन कम होना
    • जी मिचलाना
    • उल्टी आना
    • कब्ज
    • डायरिया
    • थकान
    • इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाना
    • ब्लीडिंग

    ट्रीटमेंट पूरा होने के बाद ये साइड इफेक्ट्स ठीक हो जाते हैं। इन साइड्स इफेक्ट्स को ठीक करने के कई तरीके हैं। उदाहरण के लिए उल्टी और जी मिचलाना को रोकने या कम करने के लिए दवाएं दी जा सकती हैं। कुछ दवाओं के कुछ विशिष्ट साइड इफेक्ट्स होते हैं जैसे कुछ ड्रग्स नर्व डैमेज का कारण बन सकती हैं जिसे पेरिफेरल न्यूरोपैथी कहा जाता है। इससे कभी-कभी कुछ लक्षण (मुख्य रूप से हाथों और पैरों में) जैसे दर्द, जलन या झुनझुनी सनसनी, ठंड के प्रति संवेदनशीलता या कमजोरी हो सकती है। ज्यादातर लोगों में इलाज बंद हो जाने पर यह ठीक हो जाता है या ठीक हो जाता है, लेकिन दूसरों में यह लंबे समय तक बना रह सकता है।

    ध्यान रखें

    कीमो के दौरान आपके द्वारा देखे गए किसी भी दुष्प्रभाव की सूचना अपनी चिकित्सा टीम को देना सुनिश्चित करें ताकि उनका तुरंत इलाज किया जा सके। कुछ मामलों में, कीमो दवाओं की खुराक को कम करने की आवश्यकता हो सकती है या प्रभाव को और खराब होने से रोकने के लिए उपचार में देरी या रोक लगाने की आवश्यकता हो सकती है।

    और पढ़ें: लंग कैंसर क्या है? जानें किन वजहों से हो सकती है ये खतरनाक बीमारी

    उम्मीद करते हैं कि आपको लंग कैंसर के लिए कीमोथेरिपी (Chemotherapy for lung cancer) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र
    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 13/06/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: