Betnovate GM: बेटनोवेट जीएम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जून 22, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

फंक्शन

बेटनोवेट जीएम (Betnovate GM) कैसे काम करती है?

बेटनोवेट जीएम एक क्रीम के फॉर्म में बाजार में उपलब्ध है। सबसे अहम और जरूरी बात यह कि इस दवा को बिना डॉक्टरी सलाह के इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इसमें बीटामेथासोन (Betamethasone) (0.1%w/w) + जेन्टामाइसीन (Gentamicin) (0.1%w/w) + मिकोनाजोल (Miconazole) (2%w/w) पाए जाते हैं। इस दवा का इस्तेमाल स्किन से जुड़े बैक्टीरियल और फंगल इंफेक्शन को ठीक करने के लिए किया जाता है। आपको बता दें कि बिना डॉक्टरी सलाह के क्रीम का इस्तेमाल करना नुकसादायक हो सकता है।

डोसेज

बेटनोवेट जीएम (Betnovate GM) का सामान्य डोज क्या है?

जैसा डॉक्टर ने सुझाया है उसके अनुसार ही इस दवा का इस्तेमाल करना चाहिए। व्यस्क बेटनोवेट क्रीम को अफेक्टेड स्किन पर डॉक्टर के सुझाए अनुसार लगा सकते हैं। वहीं बुजुर्गों को क्रीम को स्किन पर दिन में कम से कम दो बार लगाना चाहिए।

ओवरडोज या आपात स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

सुझाए गई दवा से यदि कोई ज्यादा डोज अप्लाई कर लेता है तो उस स्थिति में डॉक्टरी सलाह जरूरी हो जाती है। कई मामलों में मेडिकल इमरजेंसी तक की जरूरत पड़ सकती है।

बेटनोवेट जीएम (Betnovate GM) की खुराक मिस हो जाए तो क्या करूं?

यदि कोई व्यक्ति इस क्रीम को लगाना भूल जाता है तो याद आते ही लगा लें। हालांकि, अगर आपकी अगली डोज का समय होने वाला है तो भूले हुए डोज की बजाए, पहले से निर्धारित समय के अनुसार दवा लगाएं। डॉक्टर ने जितना बताया उतनी मात्रा में ही क्रीम लगाए, ज्यादा व कम मात्रा में लगाना हानिकारक हो सकता है।

और पढ़ें : Zyloric: जाइलोरिक क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

उपयोग

बेटनोवेट जीएम (Betnovate GM) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

इस क्रीम को लगाने का यही तरीका है कि प्रभावित स्किन पर क्रीम की पतली परत लगाएं। दवा की पैकेजिंग के साथ में दिए दिशा निर्देशों का पालन करें। डॉक्टर ने जितना सुझाया है उतनी ही मात्रा में क्रीम को लगाएं, न तो ज्यादा और न ही कम। यदि आप डॉक्टर द्वारा बताई बातों को नहीं मानते हैं तो इसके नकारात्मक असर हो सकते हैं।

क्रीम लगाने के बाद उसके ऊपर कोई बैंडेज या फिर कवर नहीं लगाना चाहिए। जब तक डॉक्टर ऐसा करने को कहे। एक सप्ताह तक यदि लक्षण ठीक हो जाए या न ठीक हो तो अपने डॉक्टर को सूचना जरूर देनी चाहिए। इस क्रीम को लगाने का खानपान का कोई असर नहीं पड़ता है। आप चाहे तो खाना खाने के पहले या फिर खाना खाने के बाद में बेटनोवेट जीएम लगा सकते हैं।

इसमें पाया जाने वाला बेटामिथासोन (Betamethasone) सूजन और स्किन में होने वाले इरीटेशन को कम करता है। वहीं जेंटामाइसिन (Gentamicin) प्रोटीन सेंथेसिस के रूप में काम कर बैक्टीरिया को पनपने से रोकता है। मिकोनाजोल (Miconazole ) कुछ प्रकार के फंगस को पनपने से रोकता है। इस तरह यह दवा काम करती है।

और पढ़ें : T-Bact Cream : टी-बैक्ट क्रीम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

साइड इफेक्ट्स

बेटनोवेट जीएम (Betnovate GM) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

इस क्रीम को लगाने से कुछ मेजर तो कुछ माइनर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। शरीर में इस प्रकार के लक्षण दिखाई देने पर जरूरी है कि जल्द से जल्द डॉक्टरी सलाह लेना चाहिए जैसे:

  • जहां पर क्रीम लगाते हैं वहां की स्किन का सफेद होना
  • असामान्य रूप से स्किन का गर्म होना
  • त्वचा का झुलसना
  • ड्राई स्किन होने के साथ खुजली होना
  • स्किन पर फफोले होना
  • स्किन का लाल होना
  • स्किन रैशेज होना

और पढ़ें : Prolomet XL: प्रोलोमेट एक्सएल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

सावधानियां और चेतावनी

बेटनोवेट जीएम (Betnovate GM) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

  • अन्य दवा : बेटनोवेट जीएम (Betnovate GM) क्रीम कई दवाओं के साथ रिएक्शन कर सकती है इसलिए सचेत रहें। इसलिए जरूरी है कि इस क्रीम का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर को हर्ब और सप्लिमेंट के उपयोग के बारे में जानकारी दें।
  • एलर्जी : यदि आपको इस बात की जानकारी है कि इस दवा में पाए जाने वाले तत्वों से आपको एलर्जी है तो ऐसे में इस क्रीम को नहीं लगाना चाहिए। दवा में बीटामेथासोन (betamethasone), मिकोनाजोल (miconazole), जेनटामाइसिन (gentamicin) सहित अन्य तत्व जो इस दवा को तैयार करने के दौरान मिलाए जाते हैं, उनसे किसी को एलर्जी है तो उन्हें इस क्रीम का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • क्रॉनिक इस्तेमाल को लेकर :  इस दवा का इस्तेमाल एक सप्ताह से ज्यादा करने की सलाह नहीं दी जाती है।संभावनाएं रहती हैं कि कहीं इस दवा का इस्तेमाल लंबे समय तक किया जाए तो इसके साइड इफेक्ट्स दिखाई दे सकते हैं। इसलिए दवा का उपयोग करने के पूर्व डॉक्टरी सलाह लेना जरूरी होता है।
  • बाहरी इस्तेमाल के लिए :  बेटनोवेट जीएम को सिर्फ और सिर्फ एक्सटर्नल पार्ट के लिए इस्तेमाल किया जाता है। मरीजों को सावधान किया जाता है कि इसे मुंह, आंख, म्यूकस मेंब्रेन, कटी हुई स्किन और घाव में नहीं लगाना चाहिए।
  •  इस क्रीम को लगाने से संभावनाएं रहती है कि कहीं इंट्राओकुलर प्रेशर बढ़ने की वजह से ग्लूकोमा और कैट्रेट की बीमारी न हो जाए। ऐसे में आंखों की बीमारी से पीड़ित लोगों को काफी सावधानीपूर्वक इस दवा का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।
  • एलर्जिक रिएक्शन :  इस क्रीम में इतनी क्षमता है कि कम से लेकर ज्यादा और गंभीर एलर्जिक रिएक्शन हो सकते हैं। ऐसे में शरीर में एलर्जिक रिएक्शन दिखाई देने पर जल्द से जल्द डॉक्टरी सलाह लेना चाहिए।

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इस दवा का उपयोग करना सही है?

गर्भवती महिलाओं के मामले में उन्हें इस क्रीम का इस्तेमाल करने को लेकर तब तक सलाह नहीं दी जाती जब तक जरूरी नहीं है। डॉक्टर से इसके रिस्क और बेनीफिट्स पर पहले से ही चर्चा कर लें। वहीं शिशु को दूध पिलाने वाली महिलाओं को भी इस क्रीम के इस्तेमाल की सलाह नहीं दी जाती है। इस स्थिति में भी पहले डॉक्टर से चर्चा कर लें।

और पढ़ें : Prolomet XL: प्रोलोमेट एक्सएल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

रिएक्शन

कौन-सी दवाइयां बेटनोवेट जीएम (Betnovate GM) के साथ रिएक्शन कर सकती हैं?

यह क्रीम अलग-अलग लोगों पर अलग अलग तरीके से रिएक्शन करती है। ऐसे में डॉक्टरी सलाह लेने के बाद ही क्रीम का उपयोग करना चाहिए। एंटीबाॅयटिक दवाओं के साथ यह रिएक्शन कर सकती है।

क्या बेटनोवेट जीएम (Betnovate GM) भोजन या एल्कोहॉल के साथ रिएक्शन करती है?

यदि आप नियमित तौर पर शराब का सेवन करते हैं तो जरूरी है कि इस क्रीम को लगाने के साथ शराब का सेवन करने से क्या होगा, इसके लिए डॉक्टर से पूछें। इस संबंध में मौजूदा समय में ज्यादा शोध नहीं किए गए हैं।

बेटनोवेट जीएम (Betnovate GM) हेल्थ कंडिशन को कैसे प्रभावित करती है?

  • कशिंग सिंड्रोम (Cushing’s syndrome) : इस दवा के कारण हाइपोथेलेमिक पिट्यूटरी एड्रेनल (एचपीए-  hypothalamic-pituitary-adrenal ) के कारण कशिंग सिंड्रोम हो सकता है। ऐसा खासतौर पर तब होता है जब व्यक्ति लंबे समय तक बेटनोवेट जीएम का इस्तेमाल करें। ऐसे में चेहरे में सूजन के साथ शरीर का ग्लूकोज लेवल बढ़ता है। शरीर में इस प्रकार के लक्षण दिखाई देने पर जल्द से जल्द डॉक्टरी सलाह लेना चाहिए। इन परिस्तिथियों में जरूरी है कि मरीज की क्लीनिकल कंडिशन को देखते हुए डोज में परिवर्तन करने के साथ इस दवा को छोड़ वैकल्पिक दवाओं का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • स्टेरॉयड रिस्पॉन्सिव स्किन इंफेक्शन (Steroid responsive skin infections) : बेटनोवेट जीएम का इस्तेमाल स्टेरॉयड रिस्पॉन्सिव डर्मेटोसिस से जुड़े सतही बैक्टीरियल और स्किन के फंगल इंफेक्शन को ठीक करने के लिए किया जाता है।

और पढ़ें : Mucopain gel: म्यूकोपेन जेल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

स्टोरेज

बेटनोवेट जीएम (Betnovate GM) को कैसे करूं स्टोर?

इस क्रीम को घर में सामान्य रूम टेम्प्रेचर पर ही रखें। इसे सूर्य कि किरणों से बचाकर रखें। 25 डिग्री तापमान दवा के लिए बेस्ट है, लेकिन बेटनोवेट जीएम को फ्रिज में रखने की गलती न करें। यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो यह दवा सामान्य रूप से काम नहीं कर पाएगी। इसे बच्चों की पहुंच और पालतू जानवरों से दूर रखना चाहिए। एक्सपायर होने के पहले ही क्रीम का उपयोग कर लें। क्रीम को टॉयलेट में फ्लश नहीं करना चाहिए, इससे पर्यावरण को नुकसान पहुंच सकता है। दवा एक्सपायर हो जाए तो उसे कैसे डिस्पोज करना है इस बारे में फॉर्मासिस्ट से सलाह लें।

बेटनोवेट जीएम किस रूप में उपलब्ध है?

  • क्रीम

इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए डाॅक्टरी सलाह लें। हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Candiforce 200: कैंडिफोर्स 200 क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए कैंडिफोर्स 200 की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Candiforce 200 डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by shalu
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 24, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Lulifin Cream: लुलिफिन क्रीम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए लुलिफिन क्रीम ( Lulifin Cream) की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितनी क्रीम लगाएं, लुलिफिन क्रीम डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Bhawana Awasthi
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 17, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Sporidex: स्पोरिडेक्स क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए स्पोरिडेक्स (Sporidex) की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितनी खुराक लें, स्पोरिडेक्स डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Bhawana Awasthi
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

उम्र की लंबी पारी खेलने के लिए, करें योगर्ट का सेवन जरूर

दही के लाभ, दही रोटी खाने के फायदे, दही खाने के फायदे, योगर्ट खाने से एजिंग कम होती है तो नियमित रूप से दही का सेवन आपको स्ट्रेस से भी दूर रखता है, जानिए आसान योगर्ट रेसिपी...yogurt health benefits in hindi

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Shikha Patel
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन जून 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

Zenflox-UTI जेनफ्लॉक्स-यूटीआई

Zenflox-UTI : जेनफ्लॉक्स-यूटीआई क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
Published on जुलाई 22, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
बीटाडीन क्रीम

Betadine Cream: बीटाडीन क्रीम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
Published on जून 26, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
बैंडी सिरप

Bandy Syrup: बैंडी सिरप क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
Published on जून 25, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
Amorolfine cream: अमोरोलफिने क्रीम

Amorolfine cream: अमोरोलफिने क्रीम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by shalu
Published on जून 25, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें