Isoniazid : आइसोनियाजिड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स, डोज और सावधानियां

By Medically reviewed by Dr. Pranali Patil

जानिए मूल बातें

आइसोनियाजिड (Isoniazid) का उपयोग किसलिए किया जाता है?

आइसोनियाजिड दूसरी दवाइयों के साथ मिलकर एक्टिव ट्यूबरक्लोसिस (टीबी, TB) इंफेक्शन के इलाज में इस्तेमाल होती है। यह दवा ऐसे लोगों में जिनमें टीबी स्किन टेस्ट पॉजिटिव होता है में एक्टिव टीबी को रोकने में इस्तेमाल भी होती है जो बैक्टीरिया से संक्रमित हो सकते हैं। आइसोनियाजाइड एक एंटीबायोटिक है जो कि बैक्टीरिया के विकास को रोकने का काम करती है।

यह केवल बैक्टीरियल इंफेक्शन में इस्तेमाल होने वाली दवा है, वायरल इंफेक्शन में इसका इस्तेमाल नहीं होता है। जब एंटीबायोटिक की जरूरत ना हो, उस दौरान इसका इस्तेमाल करने से यह भविष्य में होने वाले इंफेक्शन में काम नहीं करती है।

मैं आइसोनियाजिड (Isoniazid) का कैसे इस्तेमाल करूं?

डॉक्टर के निर्देश के मुताबिक आप इस दवा को खाली पेट (भोजन से एक घंटा पहले या दो घंटे बाद) ले सकते हैं। अगर आप इस दवा को लिक्विड के रूप में इस्तेमाल करना चाहते हैं तो इसकी खुराक मापने के लिए एक खास डिवाइस का इस्तेमाल करें। घर मे इस्तेमाल होने वाले चम्मच का इस्तेमाल ना करें, इससे सही खुराक नहीं मिल पाती है।

अगर आप एंटासिड का इस्तेमाल कर रहें हैं जिसमें एल्युमिनियम हो तो इसे लेने से एक घंटा पहले इस दवा को लें।

इस दवा की खुराक आपके वजन, मेडिकल स्थिति और इलाज के प्रति आप कितने संवेदनशील हैं, इस बात पर आधारित होती है।

इस दवा के ज्यादा फायदे लेने के लिए आप इसे समान अंतराल पर लें। अगर आप इसे रोजाना इस्तेमाल कर रहें हैं तो इसे एक ही समय पर लें। अगर आप इसे हफ्ते में इस्तेमाल कर रहे हैं तो इसे एक ही दिन पर लें।

जब तक प्रिस्क्राइब की गई मात्रा खत्म नहीं होती है तब तक इस दवा का इस्तेमाल करना जारी रखें भले ही लक्षण गायब हो जाएं। इस दवा के इस्तेमाल को जल्दी बंद करने से बैक्टीरिया की ग्रोथ जारी रह सकती है और दोबारा इंफेक्शन होने का खतरा हो सकता है।

आइसोनियाजिड के साइड इफेक्ट्स को रोकने के लिए आपका डॉक्टर विटामिन बी6 इस्तेमाल करने का निर्देश दे सकता है। इसलिए डॉक्टर के निर्देश को ठीक से फॉलो करें। 

मैं आइसोनियाजिड (Isoniazid) को कैसे स्टोर करूं?

आइसोनियाजिड को प्रकाश और नमी से दूर कमरे के तापमान पर स्टोर करना बेहतर होता है। आइसोनियाजिड को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में आइसोनियाजिड के अलग-अलग ब्रांड हैं जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी इस दवा को खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़े या फिर अपने फार्मासिस्ट से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए।

बिना निर्देश के आइसोनियाजिड को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है तो इसे नष्ट कर दें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने फार्मासिस्ट से संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें : Glimepiride : ग्लिमेपिराइड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

सावधानियां एवं चेतावनी

आइसोनियाजिड (Isoniazid) के इस्तेमाल से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

अगर आपको इस दवा से किसी तरह की एलर्जी है या कोई दूसरी एलर्जी है तो इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर को बताएं। इस दवा में कुछ निष्क्रिय सामग्री होती है जिनसे एलर्जिक रिएक्शन और दूसरी समस्याएं होती हैं। इस बारे में अधिक जानकारी में लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

इस दवा को इस्तेमाल करने से पहले आप अपनी मेडिकल हिस्ट्री के बार मे डॉक्टर को बताएं खासकर अगर आपको लिवर की समस्या, एचआइवी इंफेक्शन, किडनी की बीमारी, हाथों और पैरों का कांपना या सुन्न पड़ना आदि जैसी समस्याएं हों।

सर्जरी करवाने से पहले आप उन प्रोडक्ट्स (जिनमें प्रिस्क्रिप्शन ड्रग, नॉनप्रिस्क्रिप्शन ड्रग और हर्बल प्रोडक्ट शामिल हैं) के बारे में डॉक्टर या डेंटिस्ट को बताएं।

एल्कोहॉल के इस्तेमाल से लिवर की समस्याएं बढ़ सकती हैं, इसलिए इस दवा के इस्तेमाल के दौरान एल्कोहॉल का सेवन ना करें।

इस दवा के इस्तेमाल से लाइव बैक्टीरियल वैक्सीन (बीसीजी वैक्सीन, BCG Vaccine) ठीक से काम नहीं करती है। इसलिए जब तक आपका डॉक्टर ना कहे तब तक आप कोई इम्यूनाइजेशन/टीकाकरण ना करवाएं।

प्रेग्नेंसी के दौरान आप इस दवा का तभी इस्तेमाल करें जब इसकी जरूरत हो। इस दवा के नुकसान और इसके फयदों के बारे में डॉक्टर से बात करें।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इस दवा को लेना सुरक्षित है?

 अगर आप प्रेग्नेंट हैं या प्रेग्नेंसी प्लानिंग कर रही हैं तो एक्टिव ट्यूबरक्लोसिस के उपचार में ही इसका उपयोग करना चाहिए क्याेंकि इससे गर्भ में पल रहे बच्चे को रिक्स हो सकता है। बीमारी में होने वाले फायदे और बच्चे को होने वाले नुकसान की जांच भी कर लेनी चाहिए। आइसोनियाजिड का इस्तेमाल करने से पहले इसके फायदों और नुकसान को लेकर डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

यह दवा ब्रेस्ट मिल्क में प्रवेश कर जाती है लेकिन इससे बेबी को नुकसान होने की संभावना कम होती है। इसलिए ब्रेस्टफीडिंग कराने से पहले आप अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

यह भी पढ़ें : Sertraline : सेर्ट्रालिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए इसके साइड इफेक्ट

आइसोनियाजिड (Isoniazid) के इस्तेमाल से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

इस दवा के इस्तेमाल से मिचली, उल्टी या पेट खराब हो सकता है। अगर आपकी स्थिति ऐसे ही बनी रहती है या और खराब हो जाती है तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं।

आपके डॉक्टर ने इस दवा को प्रिस्क्राइब (Prescribe) किया है क्योंकि वह जानता है कि इसके नुकसान की तुलना में इसके फायदे ज्यादा हैं। ज्यादातर लोग जो इस दवा का इस्तेमाल करते हैं उनमें कोई गंभीर साइड इफेक्ट नहीं होते हैं।

अपने डॉक्टर को तुरंत बताएं अगर ये सारे साइड इफेक्ट्स महसूस होते हैं जैसे हाथों और पैरों का कांपना या सुन्न पड़ना, जोड़ों में दर्द या सूजन होना आदि।

आप अपने डॉक्टर को तुरंत बताएं अगर आपको कभी- कभी होने वाले लेकिन गंभीर साइड इफेक्ट्स महसूस हों जैसे; प्यास/यूरिन का ज्यादा होना, देखने की स्थिति में बदलाव, मेंटल/मूड में बदलाव (जैसे कन्फ्यूजन और साइकोसिस), दौरे पड़ना आदि।

इस दवा के इस्तेमाल से कभी कभी एलर्जिक रिएक्शन होते हैं। हालांकि आपको मेडिकल सहायता की जरूरत है जब आप गंभीर एलर्जिक रिएक्शन के लक्षण को नोटिस करते हैं जैसे बुखार, लिम्फ नोड (Lymph Node) में सूजन, चकत्ते पड़ना, चेहरे/जीभ/गले में खुजली/सूजन, सिर चकराना और सांस लेने में दिक्कत आदि।

सभी लोगों को ये सारे साइड इफेक्ट्स महसूस नहीं होते हैं। हालांकि, आपको यहां पर कुछ साइड इफेक्ट्स के बारे में नहीं बताया गया है। अगर आपको इन साइड इफेक्ट्स को लेकर कोई चिंता है तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

यह भी पढ़ें : Metoprolol : मेटोप्रोलोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

इन जरूरी बातों को जानें

कौन सी दवाएं आइसोनियाजिड (Isoniazid) में साथ नहीं ली जा सकती हैं?

अगर आप वर्तमान में कोई दवा ले रहें हैं तो आइसोनियाजिड उसके साथ इंटरैक्ट कर सकती है जिससे दवा का एक्शन प्रभावित होगा या फिर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इस चीज को रोकने के लिए आप उन दवाओं (जिनमें प्रिस्क्रिप्शन ड्रग, नॉनप्रिस्क्रिप्शन ड्रग और हर्बल प्रोडक्ट शामिल हैं) की लिस्ट रखें और उन्हें डॉक्टर या फार्मासिस्ट के साथ शेयर करें। सुरक्षा के लिहाज से आप बिना डॉक्टर के सहमति के ना तो कोई दवा अपने से शुरू करें, ना ही बंद करें और ना ही उसकी खुराक को बदलें।

कुछ प्रोडक्ट इस ड्रग के साथ इंटरैक्ट कर सकते है जैसे, ऐसिटामिनोफेन, एजोल ऐंटीफंगल (जैसे इट्राकोनाजोल, कीटोकोनाजोल) डाईसल्फिरम, एमएओ इन्हिबिटर्स (MAO Inhibitors) जैसे (आइसोकार्बोक्साजिड, लिनेजोलिड, मेथेलीन(Methylene) ब्लू, मोक्लोबोमाइड, फेनेलजिन, प्रोकार्बाजीन, सल्फिनामाइड), फेनिटोइन आदि।

यह दवा कुछ लैबोरेटरी टेस्ट को बाधित कर सकती है (जिसमें यूरीन ग्लूकोस टेस्ट शामिल है), जिससे टेस्ट का परिणाम गलत हो सकता है। इसलिए आप लैबकर्मी और डॉक्टर को बताएं कि आप इस दवा का इस्तेमाल करते हैं।

क्या भोजन और एल्कोहॉल के साथ इस दवा को लेना सुरक्षित है?

यह दवा आपके भोजन या एल्कोहॉल के साथ इंटरैक्ट कर सकती है जिसकी वजह से दवा का एक्शन प्रभावित हो सकता है या आपकी स्वास्थ्य स्थिति और अधिक खराब हो सकती है। इसलिए भोजन या एल्कोहॉल के साथ इस दवा को इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

आइसोनियाजिड (Isoniazid) के इस्तेमाल से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

आइसोनियाजिड आपकी स्वास्थ्य स्थिति के साथ इंटरैक्ट हो सकता है। इससे साइड इफेक्ट्स होने का खतरा बढ़ सकता है या आपकी स्थिति और अधिक खराब हो सकती है। इसलिए अपने मौजूदा स्वास्थ्य स्थिति के बारे में अपने डॉक्टर को जरूर बताएं।

यह भी पढ़ें : Dimethicone : डायमेथीकॉन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डॉक्टर की सलाह

नीचे दी गई जानकारी किसी चिकित्सक की सलाह नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

आइसोनियाजिड (Isoniazid) कैसे उपलब्ध है?

आइसोनियाजिड निम्नलिखित खुराक और क्षमता में उपलब्ध है;

टैबलेट

  • 50mg
  • 100mg
  • 300mg

ओरल सिरप

50mg/5ml

इंजेक्टेबल सॉल्यूशन

  • 100mg/mL

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में आप अपने लोकल इमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या फिर अपने नजदीकी इमरजेंसी वार्ड में जाएं। 

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर आप आइसोनियाजिड की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें। डबल खुराक ना लें। अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान और उपचार प्रदान नहीं करता।

और पढ़ें:

 प्रेग्नेंसी में मेडिकेशन लेने से पहले पढ़ लें ये आर्टिकल

वृद्धावस्था में दवाइयां लेते समय ऐसे रखें ध्यान, नहीं होगा कोई नुकसान

क्वॉलिटी टेस्ट में फेल हुईं बड़े ब्रांड्स की 27 दवाइयां

पुरुषों की सेक्स लाइफ में क्या-क्या दिक्कतें होती हैं, जानें यहां

Share now :

रिव्यू की तारीख फ़रवरी 15, 2020 | आखिरी बार संशोधित किया गया फ़रवरी 15, 2020

सूत्र
शायद आपको यह भी अच्छा लगे