किडनी डैमेज होने के कारण और 8 संकेत 

Medically reviewed by | By

Update Date नवम्बर 6, 2019 . 2 मिनट में पढ़ें
Share now

किडनी हमारी शरीर के सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक है। बॉडी के सुचारु ढंग से काम करने के लिए इसका स्वस्थ रहना बेहद जरूरी है। शरीर के अंदरूनी हिस्सा होने के कारण हमें इसकी खराबी के बारें में पता नहीं चल पाता। कई बार किडनी डैमेज होने की शुरुआती स्टेज में कोई परेशानी नहीं आती। यहां ​​तक की एडवांस स्टेज में भी कई बार इस बारे में पता नहीं चलता। ज्यादातर लोगों में इसके लक्षण जल्दी दिखाई नहीं देते हैं। ऐसा होना खतरनाक है क्योंकि, डैमेज के बारे में आपको पता ही नहीं चलता। अगर किडनी डैमेज होना शुरु हो गई है तो आपको कुछ संकेत दिखाई देने लगते हैं। आइए जानते हैं, उनके बारें में।

1-अक्सर उल्टी जैसा महसूस होना ।

2- सामान्य से ज्यादा या कम पेशाब आना। 

3- एड़ियों और आंखों के आस-पास सूजन।  

4- हमेशा थका हुआ फील होना और सांस लेने में परेशानी होना। 

5- मसल्स क्रैम्प होना, खास तौर पर पैरों में। 

6- शुष्क त्वचा और खुजली होना। 

7- नींद कम आना। 

8- बिना किसी कारण के वजन कम होना। 

यह भी पढ़ें : Chrysanthemum : गुलदाउदी क्या है?

डॉक्टर से कब कॉन्टैक्ट करें 

यदि आपको ऊपर दिए गए लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो डॉक्टर से मिलें। इनके अलावा, अन्य संभावित कारण भी हो सकते हैं, लेकिन आपको यह जानने के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करना होगा कि समस्या क्या है और आपको किस तरह के ट्रीटमेंट की आवश्यकता है। अगर आपको हाई ब्लडप्रेशर या डायबटीज है, या यदि आपके परिवार में किसी को किडनी की बीमारी है तो अपने डॉक्टर से पूछें कि आपको कौन सा टेस्ट कितनी बार करवाना होगा। ऐसा करना बहुत महत्वपूर्ण है ताकि किडनी सही तरीके से काम कर सके।

ज्यादातर केस में किडनी फेलियर दूसरी हेल्थ प्रॉब्लम्स की वजह से होता है, जो धीरे- धीरे समय के साथ उसे पूरी तरह से डैमेज कर देती हैं। जब ये डैमेज हो जाती है तो वे उस तरह काम नहीं करती जैसे उसे करना चाहिए। अगर यह डैमेज बढ़ता जाता है तो किडनी काम करना बंद कर देती है। किडनी फेल होना क्रोनिक डिसीज की लास्ट स्टेज है। इसलिए किडनी फेलियर को एंड स्टेज रेनल डिसीज (ESRD ) कहा जाता है। 

किडनी फेल होने के कारण 

डायबटीज किडनी फेल होने का सबसे आम कारण है। उसके बाद नंबर आता है हाई ब्लड प्रेशर का। इसके आलावा,  किडनी फेल होने के कुछ कारण होते हैं। जैसे :

  1. ऑटोइम्यून डिजीज, जैसे ल्यूपस और आईजीए नेफ्रोपैथी,
  2. जेनेटिक डिजीज (आप जिन रोगों के साथ पैदा हुए हैं)
  3. नेफ्रोटिक सिंड्रोम 
  4. यूरिनरी ट्रैक्ट प्रॉब्लम 

कभी-कभी किडनी अचानक से (दो दिन के अंदर) काम करना बंद कर देती है। इस टाइप के किडनी फेलियर को एक्यूट किडनी इंज्युरी या एक्यूट रेनल फेलियर कहते हैं।  

एक्यूट रेनल फेलियर के कारण 

हार्ट अटैक,

-ड्रग का  उपयोग, 

-किडनी में पर्याप्त रक्त का संचलन नहीं होना, 

यूरिनरी ट्रैक्ट प्रॉब्लम्स ,

इस प्रकार का किडनी फेलियर हमेशा स्थायी नहीं होता है। आपकी किडनी, ट्रीटमेंट से नार्मल हो सकती है, यदि आपको अन्य गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं नहीं हैं। 

यह भी पढ़ें: 

किडनी स्टोन (Kidney Stone) होने पर डायट में शामिल न करें ये चीजें

जानिए डायबिटीज के प्रकार, लक्षण, कारण और उपचार विधि

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    किडनी ट्रांसप्लांट के बाद सावधानी रखना है बेहद जरूरी, नहीं तो बढ़ सकता है खतरा

    किडनी ट्रांसप्लांट के बाद सावधानी कैसे रखें in Hindi, किडनी ट्रांसप्लांट के बाद सावधानी क्यों है जरूरी,क्या खाएं, Kidney Transplant के लिए टिप्स।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Ankita Mishra
    हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मार्च 18, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें

    World Kidney Day: खुद से इन दवाओं का सेवन करना आपकी किडनी पर पड़ सकता है भारी

    सिरदर्द या पेटदर्द होने पर क्या आप भी खुद से दवा का सेवन करते हैं? क्या आप जानते हैं दर्दनिवारक दवाओं को लेने से किडनी खराब होने का खतरा होता है?

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Mona Narang

    Epoetin alfa: इपोएटिन अल्फा क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

    इपोएटिन अल्फा की जानकारी in hindi. इपोएटिन अल्फा का इस्तेमाल कैसे करें। उपयोग, डोज, खुराक, सावधानियां और साइड-इफेक्ट्स। epoetin alfa को कैसे यूज करें।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Anoop Singh
    दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल मार्च 4, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें

    किडनी की बीमारी कैसे होती है? जानें इसे स्वस्थ रखने का तरीका

    जानिए किडनी की बीमारी के बचाव के उपाय क्या है, kidney treatment in hindi, किडनी की बीमारी की जानकारी, kidney ka ilaj, kidney ya gurde ka upchar, गुर्दे में इंफेक्शन क्या होता है, kidney kahan par hoti hai, गुर्दे में पथरी क्या है।

    Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar
    Written by Surender Aggarwal

    Recommended for you

    किडनी के रोगी का डाइट प्लान/diet plan for kidney diseas

    जानिए किडनी के रोगी का डाइट प्लान,क्या खाएं क्या नहीं

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by shalu
    Published on जुलाई 8, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
    सिटल सिरप

    cital syrup: सिटल सिरप क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Satish Singh
    Published on जून 9, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
    सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस-Serum glutamic pyruvic transaminase

    Serum glutamic pyruvic transaminase (SGPT): एसजीपीटी टेस्ट क्या है?

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by shalu
    Published on मई 7, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
    Parsley piert-पास्ली पिअर्त

    Parsley piert: पार्सले पिअर्त क्या है?

    Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
    Written by Mona Narang
    Published on मार्च 28, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें