परिवार की देखभाल के लिए मेडिसिन किट में रखें ये दवाएं

Medically reviewed by | By

Update Date जनवरी 29, 2020 . 3 मिनट में पढ़ें
Share now

हम में से लगभग सभी के घर में एक मेडिसिन किट मौजूद होती है जिसका इस्तेमाल किसी को चोट लगने या किसी छोटी मोटी दुर्घटना के लिए किया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपकी मेडिसिन किट में क्या-क्या सामान होना चाहिए और क्या-क्या होने से आप किसी भी घटना के लिए तैयार रह सकते हैं।

ये भी पढ़ें- अगर आपको टीबी है तो खुद को और दूसरों को ऐसे बचाएं

सवालः

मेरी ज्वाइंट फैमिली है और मेरे घर में हर उम्र के सदस्य है, उनका ख्याल रखने के लिए क्या आप मुझे बता सकते है कि मेरे घर मैं कौन-कौन सी दवाई मेडिसिन किट में होनी चाहिए?

जवाबः

बुखार, हल्का दर्द , सर्दी-जुकाम, डायरिया बहुत सामान्य परेशानियां है। इन सबके लिए घर में कुछ दवाईयां रखना बहुत जरुरी है, ताकि जरुरत होने पर आप उसका इस्तेमाल कर सकें। हर एक दवाई के लेबल को पढ़ना जरुरी है और उनकी एक्सपायरी डेट को चेक करना भी उतना ही जरुरी है। दवाईयों को बच्चों और जानवरों से दूर रखें। ये भी याद रखें कि डॉक्टर के सलाह के बिना दवाईयों की ज्यादा खुराक नहीं लेन है।

नीचे कुछ दवाईयों की लिस्ट दी गई हैं जो डॉक्टर के पर्चे के बिना मिल जाती हैं।

आप जो भी दवाईयां लेते है वो बाकी दूसरी चीजों पर निर्भर होती है, जैसे कि दूसरी बीमारियों का होना, एलर्जी, उम्र। इसलिए इन दवाईयो को लेने से पहले ध्यान रखें कि आपको एक बार अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बात करनी है। इनसे बात करने के बाद ही आप अपनी मेडिसिन किट बनाएं।

  1.    बुखार और दर्द की दवां: पैरासिटामॉल (Tylenol) और इबुब्रुफेन (Advil, Motrin) दर्द और बुखार को कम करता है। ये दवाएं टेबलेट और सिरप की तरह बाजार में उपलब्ध है। इबुब्रुफेन में सूजन को कम करने की क्वालिटी भी है। अगर आपके घर में बच्चे हैं तो ये दवाईयां बहुत जरुरी है। ये सारी दवाइयां या तो खाने के साथ या खाने के बाद लेनी चाहिए। खाली पेट लेने पर ये दवाईयां पेज में जलन कर सकती है।
  2.   एंटीसेप्टिकः कटने और चोट लगने वाली जगह को ठीक से धोएं। बाजार में आसानी से उपलब्ध होने वाली एंटीसेप्टिक में सेवलॉन, जर्माेलिन, हाइड्रोजन परॉक्साइड, बेटाडिन सॉल्यूशन।
  3.   टॉपिकल एंटीबायोटिक्सः ये दवाईयां ऑइटमेंट और क्रीम के रुप में बाजार में उपलब्ध है। इन दवाईयों का इस्तेमाल स्कीन इंफेक्शन और जलने पर किया जाता है।
  4.   हाइड्रोकॉर्टिजनः ये दवाईयां ऑइटमेंट और क्रीम के रुप में बाजार में उपलब्ध है। इसका इस्तेमाल खुजली और मच्छर के काटने पर किया जाता है। इस दवाई का इस्तेमाल डॉक्टर के सलाह के बिना नहीं करना चाहिए। 
  5.    एंटासिडः इन दवाईयों का इस्तेमाल छाती की जलन और अपच में किया जाता है। इस दवाई में सोडियम बाईकार्बोनेटन (sodium bicarbonate), मैगनिशियम ट्राईसिलिकेट, एल्यूम्यूनियम और मैगनिशियम हाइड्रॉक्साइड, एसोमीप्राजोल होता है।
  6.    एंटीहिस्टामाइनः नाक बहने और एलर्जी वाली खुजली में आराम देता है। बेनाड्रिल (diphenhydramine) इसमें सबसे सामान्य है, लेकिन इससे ज्यादा नींद आती है। क्लारिटिन (loratadine) 24 घंटे से ज्यादा समय के लिए असरदार है और इससे नींद भी कम आती है। ये दोनों दवाईयां बच्चों के साथ-साथ बड़ों के लिए भी उपलब्ध है।
  7.     इसके अलावा खांसी की दवाई, मुंह के छाले के लिए बॉंजेला हमेशा रख सकते हैं। इसके साथ आंखों के लिए ड्रॉप, नेजल स्प्रे, मॉश्चराइजिंग लोशन, एस्पिरिन, विटामिन आदि।
  8.    साथी ही बैंड-एड (all types, including finger tip ones), गॉज ड्रेसिंग, टेल्फा (नॉन-स्टीक), पैड्स, पेपर टेप, और दूसरे जरुरी चीज हमेशा मेडिसिन किट में होनी चाहिए।

होम मेडिसिन किट की फर्स्ट एड किट में इन 16 वस्तुओं को शामिल किया जाना चाहिए।

  • चिपकने वाला टेप
  • एनेस्थेटिक स्प्रे (बैक्टिन) या लोशन (कैलामाइन, कैम्फो-फेनिक) – खुजली चकत्ते और कीड़े के काटने के लिए
  • स्टेराइल गॉज पैड – एक नरम आंख पैच के रूप में घावों को कवर करने और साफ करने के लिए
  • 2 “, 3”, और 4 “ऐस पट्टियां – मोच या तनाव वाले जोड़ों को लपेटने के लिए, घावों पर गॉज को लपेटने के लिए, मोच पर लपेटने के लिए
  • चिपकने वाली पट्टियां (सभी आकार)
  • डीफेनहाइड्रामाइन (बेनाड्रील) – एलर्जी की प्रतिक्रिया, खुजली वाले चकत्ते के लिए मौखिक एंटीहिस्टामाइन। सामयिक एंटीहिस्टामाइन क्रीम से बचें क्योंकि वे कुछ लोगों में दाने को खराब कर सकते हैं।
  • परीक्षा दस्ताने – संक्रमण से सुरक्षा के लिए, और बर्फ के पैक में बनाया जा सकता है अगर पानी से भरा हो और जमे हुए हो
  • पॉलीस्पोरिन एंटीबायोटिक क्रीम – साधारण घावों पर लगाने के लिए
  • Nonadhesive Pads (Telfa) – घाव और जलन को कवर करने के लिए
  • सीपीआर के लिए पॉकेट मास्क
  • Resealable ओवन बैग – दूषित लेख के लिए एक कंटेनर के रूप में, एक आइस पैक बन सकता है
  • सुरक्षा पिन (बड़े और छोटे) – स्प्लिन्टर हटाने और त्रिकोणीय पट्टी स्लिंग को सुरक्षित करने के लिए
    कैंची
  • त्रिकोणीय पट्टी – एक गोफन, तौलिया, टूर्निकेट के रूप में
  • चिमटी – छींटे या डंक या टिक हटाने के लिए

मेडिसिन किट में दवाओं के साथ इन चीजों को रखना जरूरी है। घर में फर्स्ट-एड देने के लिए दवाओं के साथ मेडिसिन किट में यह चीजें होना भी जरूरी है। मेडिसिन किट में और क्या रखना है इसके लिए आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

और पढ़ें-

बड़े ब्रांड्स की 27 दवाइयां हुईं क्वॉलिटी टेस्ट में फेल

ब्रश करने का यह तरीका अपनाएंगे तो, दूर हो जाएंगी मुंह की समस्याएं

एस्ट्रोजन हार्मोन टेस्ट क्या होता है, क्यों पड़ती है इसकी जरूरत?

पेट में जलन कम करने वाली दवाईयों को लगाना होगा वॉर्निंग लेबल

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    हाइपरटेंशन की दवा के फायदे और साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

    हाइपरटेंशन की दवा कौन-कौन सी हैं? हाइपरटेंशन की दवा के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं? Hypertension Medicines कब लेना फायदेमंद होता है?

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Hema Dhoulakhandi
    हेल्थ सेंटर्स, हाइपरटेंशन अप्रैल 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    ब्लड प्रेशर से जुड़े मिथक के कारण लोगों में फैलती है गलत जान​कारियां

    ब्लड प्रेशर से जुड़े मिथक क्या हैं? ब्लड प्रेशर से जुड़े मिथक लोगों में गलत जानकारियां फैलाते हैं। इस कारण लोग हाइपरटेंशन से बचाव में असफल रहते हैं।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Hema Dhoulakhandi
    हेल्थ सेंटर्स, हाइपरटेंशन अप्रैल 24, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

    हाइपरटेंशन के लिए डैश डायट लेकर करे बीमारी को दूर

    हाइपरटेंशन के लिए डैश डायट क्या है? हाइपरटेंशन के लिए डैश डायट शुरू करने के दौरान किन बातों का ख्याल रखना चाहिए? डायट के साथ हाई बीपी को कम करने के टिप्स ।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Hema Dhoulakhandi
    हेल्थ सेंटर्स, हाइपरटेंशन अप्रैल 24, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

    Ecosprin Tablet: इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट क्या है?

    इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट क्या है in hindi, इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट के उपयोग और साइड इफेक्ट क्या है। Ecosprin Tablet काे सेवन में बरतें सावधानियां।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Kanchan Singh
    दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल अप्रैल 20, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    Recommended for you

    लैसिलेक्टोन 50 टैबलेट

    Lasilactone 50 Tablet : लैसिलेक्टोन 50 टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Shikha Patel
    Published on जुलाई 8, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
    सिलकार टी

    Cilacar T : सिलकार टी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Shayali Rekha
    Published on जून 16, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
    Cifran CTH सिफ्रान सीटीएच

    Cifran CTH : सिफ्रान सीटीएच क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Shayali Rekha
    Published on जून 15, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
    पेरिनोर्म - perinorm side effects benefits in hindi

    Perinorm: पेरिनोर्म क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Shivam Rohatgi
    Published on जून 5, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें