home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

जानें बर्न फर्स्ट ऐड क्या है? आ सकता है आपके बहुत काम

जानें बर्न फर्स्ट ऐड क्या है? आ सकता है आपके बहुत काम

बर्न से मतलब सूरज, अन्य रेडिएशन या ओवरएक्सपोजर , आग की लपटों, रसायन या बिजली के संपर्क में आने से स्किन को पहुचंने वाली क्षति होता है। बर्न के कारण बाहरी स्किन (टिशू) डिस्ट्रॉय हो जाते हैं। बर्न माइनर या मेजर हो सकता है। बर्न फर्स्ट ऐड की हेल्प से पीड़ित व्यक्ति को काफी हद तक बचाया जा सकता है। बर्न होने पर त्वचा पर कुछ असर दिखाई देता है। त्वचा शुष्क और लैदर की तरह दिखने लगती है। साथ ही भूरे या काले रंग के पैच दिखने लगते हैं। पैच व्यास में 3 इंज से बड़े भी हो सकते हैं। साथ ही कमर, चेहरे और पैर में भी बर्न हो सकता है। इमरजेंसी के दौरान बर्न फर्स्ट ऐड देना किसी भी पेशेंट के लिए बेहतर उपाय रहेगा। इस आर्टिकल के माध्यम से जानिए कि बर्न या जलने पर किस तरह से बर्न फर्स्ट ऐड दिया जाए।

यह भी पढ़ें: क्या आपको भी है भूलने की है बीमारी? जानिए याद्दाश्त बढ़ाने के 10 घरेलू उपाय

मेजर बर्न के लक्षण

  • गहरा घाव
  • ड्राई लेदर स्किन
  • 3 इंच से बड़ा व्यास का जले का निशान चेहरे, हाथ, पैर, नितंब, कमर या अन्य स्थान पर।
  • काले, भूरे, या सफेद रंग का शरीर मे पैच पड़ना।

माइनर बर्न के लक्षण

यह भी पढ़ें: सिर दर्द ठीक करने के साथ ही गैस में राहत दिला सकता है केसर, जानें 11 फायदे

बर्न फर्स्ट ऐड के लिए क्या करें?

अगर आपका बच्चा या कोई व्यक्ति गंभीर रूप से जल गया है, तो तुरंत इमरजेंसी नंबर पर कॉल करें। जब तक आपको मदद मिलेगी, तब तक बर्न फर्स्ट ऐड दिया जा सकता है। बर्न फर्स्ट ऐड के लिए जले हुए भाग में साफ कपड़ा रखना जरूरी होता है। अगर अधिक जगह में बर्न हुआ है तो उसके अनुसार ही कपड़े का प्रयोग करें। बर्न आग, एक बिजली के तार या सॉकेट या रसायन के कारण हो सकता है। ऐसे में चेहरे, हाथ, पैर, जोड़ों, या जननांगों पर जलन हो सकती है। जलने के कारण संक्रमण का खतरा भी रहता है। संक्रमण के कारण जले हुए स्थान में सूजन, मवाद या बढ़ती हुई लालिमा या त्वचा के आसपास लकीरे देखी जा सकती है।

  • जले हुए स्थान से कपड़ों को हटा दें, अगर स्किन में बुरी तरह से कपड़ा चिपका है तो उसे रहने दें। कपड़े को खींचने की कोशिश न करें।
  • दर्द शांत होने तक जले पर ठंडा पानी डालते रहें।
  • एक पट्टी या एक साफ, मुलायम कपड़े या तौलिया को जले स्थान पर हल्के से रखें।
  • अगर बच्चा या व्यक्ति जाग रहा है और दवा खाने की हालत में है तो दर्द से राहत के लिए आइबुप्रोफेन या एसिटामिनोफेन दिया जा सकता है।
  • जले पर तुरंत कोई मरहम या दवा न लगाएं। अगर व्यक्ति ज्यादा नहीं जला है तो लोशन का प्रयोग किया जा सकता है। एलोवेरा या फिर मॉश्चराइजर का प्रयोग जले हुए स्थान पर करें, लेकिन शरीर का ज्यादा हिस्सा जल गया है तो डॉक्टर के परामर्श का इंतजार करना सही रहेगा।
  • अगर जलने के बाद फफोले बन गए हों तो उन्हें फोड़ें नहीं।

यह भी पढ़ें : डिप्रेशन और नींद: बिना दवाई के कैसे करें इलाज?

मेजर बर्न फर्स्ट ऐड कैसे दिया जाए?

जले हुए व्यक्ति को सुरक्षित करने के लिए आसपास की आग बुझाएं। साथ ही जलते हुए कपड़े को तुरंत हटाएं। ऐसा करने से अधिक नुकसान नहीं होगा। अगर आप ऐसा सुरक्षित रूप से कर सकते हैं, तो इसे तुरंत करें। सुरक्षा के दौरान खुद की सेफ्टी भी महत्वपूर्ण होती है। कई बार देखा गया है कि दूसरों की सुरक्षा करते हुए लोग अक्सर जल जाते हैं। इन बातों का विशेषतौर पर ध्यान रखें।

  • बिजली से जले हुए व्यक्ति के पास जाने से पहले बिजली की मेन सप्लाई जरूर बंद कर दें। अगर ऐसा नहीं किया तो खतरा अधिक बढ़ सकता है।
  • बिजली से जले हुए व्यक्ति को तुरंत चेक करें कि वो सांस ले रहा है या नहीं। सुनिश्चित करें कि जले व्यक्ति का दम तो नहीं घुट रहा है।
  • जले हुए क्षेत्रों और गर्दन से सभी चीजों को हटा दें। अगर महिला है तो गले से गहने तुरंत हटा दें। साथ ही बेल्ट और अन्य वस्तुओं को हटा दें। जले हुए क्षेत्र में तेजी में सूजन आने लगती है।
  • जली हुए स्किन के एरिया में साफ, मुलायम और नम पट्टी का प्रयोग करें। ऐसा करने से जले हुए एरिया में राहत मिलती है।
  • जले हुए भाग को अधिक देर तक पानी में डुबोकर न रखें। ऐसा करने से शरीर की गर्मी (हाइपोथर्मिया) को नुकसान हो सकता है। ठंडे पानी को धीरे-धीरे संबंधित स्थान पर डालें।
  • जले हुए स्थान को ऊपर की ओर रहने दें। उसे दबने न दें।
  • जले हुए व्यक्ति को सदमा लग सकता है। ऐसे में व्यक्ति को बेहोशी, शरीर का पीला दिखना और सांस लेना में समस्या महसूस हो सकती है।

यह भी पढ़ें : क्या होता है BRCA1 और BRCA2 जीन?

इन बातों पर दें ध्यान

कैंडील स्पेस हीटर और कर्लिंग आयरन का प्रयोग करते समय सावधानी रखने की जरूरत होती है। अगर इन उपकरणों का प्रयोग करते समय सावधानी नहीं रखी तो जलने का खतरा अधिक बढ़ जाता है। इन उपकरणों को प्रयोग करते समय आसपास ही रहे। इन्हें उपयोग के बाद सावधानी के साथ बंद कर दें।

  • छोटे बच्चे की पहुंच से गर्म पानी, चाय और गर्म दूध को दूर रखें। कई बार अचानक से ही बच्चे गर्म पानी या गर्म दूध के ग्लास में हाथ मारकर खुद को जला लेते हैं। ऐसे में बड़ों को सावधानी रखने की जरूरत है।
  • टब में जब भी बच्चे को नहलाएं, पहले हाथ डालकर पानी की गर्माहट का अंदाजा जरूर लगा लें। अधिक गर्म पानी बच्चे की स्किन के लिए नुकसानदेय हो सकता है।
  • घर में अगर स्मोक अलार्म बैटरी लगी है तो उसे महीने एक बार जरूर चेक कराएं। घर में आग लगने पर अलार्म बैटरी ही सबसे पहले सूचना देती है।
  • किचन में हर समय आग का काम होता है। आग से बचने के लिए हर वक्त किचन में आग बुझाने का यंत्र रखना चाहिए। साथ ही बच्चों को किचन में आने की इजाजत न दें। बच्चों के लिए किचन में जलती हुई गैस खतरनाक साबित हो सकती है।

यह भी पढ़ें : भारतीय रिसर्चर ने खोज निकाला बच्चों में बोन कैंसर का इलाज

बर्न फर्स्ट ऐड है जरूरी, लेकिन ये न करें

बर्न फर्स्ट ऐड जरूरी होता है, लेकिन जले हुए व्यक्ति को बर्न फर्स्ट ऐड देते हुए कुछ बातों का ध्यान रखना भी जरूरी होता है। जले हुए व्यक्ति को मक्खन या स्प्रे न लगाएं।

  • खांसने से भी कीटाणु फैलते हैं। जले हुए व्यक्ति के पास खांसे नहीं। जले हुए घाव में कीटाणु फैलने का खतरा रहता है।
  • जले हुए व्यक्ति को कुछ भी निगलने न दें।
  • अगर जले हुए व्यक्ति के गर्दन के आसपास घाव है तो उसके पास तकिया न रखें।

किसी भी जले हुए व्यक्ति या फिर बच्चे के लिए बर्न फर्स्ट ऐड बहुत जरूरी है। अगर किसी भी व्यक्ति को बर्न फर्स्ट ऐड की जानकारी है तो पीड़ित व्यक्ति को बहुत राहत महसूस होती है। बर्न फर्स्ट ऐड किस तरह से देना चाहिए, इस बारे में एक बार डॉक्टर से भी जानकारी लें। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।


लेखक की तस्वीर
Dr. Hemakshi J के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित
अपडेटेड 18/04/2020
x