Shellac: शेलैक क्या है?

Medically reviewed by | By

Update Date मई 27, 2020
Share now

परिचय

शेलैक (Shellac) क्या है?

शेलैक, पेड़ पर रहने वाले कैरिका लैक्का नाम के मादा कीड़े से खासतौर पर प्रजनन के बाद निकलने वाला स्त्राव है। इसमें प्राकृतिक गम होता है। फर्टिलाइजेशन के बाद मादा पेड़ पर एक स्पॉट ढूंढकर वहां पर शेलैक की एक परत बनाती है, जिसमें वह खुद को पूरी तरह से कवर करती है। ये सफेद मोम के धागे जैसा दिखता है। इस काकून जैसी जगह में मादा अपने अंडे देती है। 

शेलैक की खेती भारत, थाईलैंड और बर्मा में होती है। इसका उत्पादन कुसुम के पेड़ों  को संक्रमित करने वाले कीड़ों द्वारा किया जाता है। पेड़ों से सफेद मोम के धागों को निकालकर पानी में भिगोया जाता है, जिससे इसमें से कीट हटाए जा सकें। इसके बाद शेष सामग्री को सोडियम कार्बोनेट में भिगोया जाता है, जो लैकिक एसिड को हटाता है। फिर तीन से चार प्रोसेस से निकलने के बाद शैलेक तैयार होता है। शैलेक का इस्तेमाल सालों से फार्मा, डेंटिस्ट्री और मैनुफेक्चरिंग इंडस्ट्री में किया जा रहा है। 

और पढ़ें : Flax Seeds : अलसी के बीज क्या है?

 शैलेक (Shellac) का उपयोग ​किस लिए किया जाता है?

-डेंटिस्ट्री में शैलेक का इस्तेमाल डेंटल प्रोडक्ट्स को बनाने में किया जाता है। डेंटिस्ट शैलेक को लंबे समय से कई तरह से इस्तेमाल करते आ रहे हैं। इनमें से ज्यादातर शैलेक का इस्तेमाल डेन्चर करते वक्त करते हैं। डेंट्ल स्कूलों में मोल्डिंग और आर्टिफिशियल कैलकुलस के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।

-फार्मा इंडस्ट्री में भी इसका प्रयोग लंबे समय से किया जा रहा है। इसे खासतौर पर दवाइयों को बनाने और उस पर कोटिंग करने के लिए प्रयोग किया जाता है। 

-कॉस्मेटिक इंडस्ट्री में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्ड जैसे हेयर स्प्रे, लिपस्टिक को बनाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।

आयुर्वेद में शैलेक (Shellac) का इस्तेमाल :

आयुर्वेद में शैलेक का इस्तेमाल कई बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता है। इसे लगाने से चोट और घाव से खून आना बंद हो जाता है। इसके अलावा ये त्वचा के अल्सर को भी ठीक करता है। फंगल इन्फेक्शन, एक्जिमा, हर्पीज और स्कैबीज से निजात दिलाने में भी ये मददगार है। 

इन बीमारियों में भी है मददगार:

शैलेक (Shellac) कैसे काम करता है?

शैलेक कैसे काम करता है, इसके बारे में कोई अध्ययन नहीं है। हालांकि इसमें प्राकृतिक गम होता है जिस वजह से इसका प्रयोग कोटिंग के लिए किया जाता है। इसका इस्तेमाल करने का सोच रहे हैं तो एक बार अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर लें।

और पढ़ें : Flax Seeds : अलसी के बीज क्या है?

उपयोग

कितना सुरक्षित है शैलेक का उपयोग ?

जो लोग दवाइयों में शैलेक को ले रहे हैं उनमें ज्यादातर के लिए यह सुरक्षित है। बहुत कम लोगों में शैलेक से एलर्जी देखने को मिलती है। बहुत सारे लोग डेंटल और फार्मा प्रोडक्ट्स में इस्तेमाल होने वाले शैलेक और हार्डवेयर स्टोर पर मिलने वाले उत्पाद में इस्तेमाल होने वाले शैलेक को एक समझ लेते हैं। बता दें, हार्डवेयर प्रोडक्ट्स में इस्तेमाल होने वाला शैलेक में मेथनॉल भी होता है, जो बहुत ही जहरीला होता है। 

निम्नलिखित परिस्थितियों में इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें:

  • यदि आप प्रेग्नेंट या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। दोनों ही स्थितियों में सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर ही दवा खानी चाहिए।
  • यदि आप अन्य दवाइयां ले रही हैं। इसमें डॉक्टर की लिखी हुई और गैर लिखी हुई दवाइयां शामिल हैं, जो मार्केट में बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के खरीद के लिए उपलब्ध हैं।
  • यदि आपको शैलेक के किसी पदार्थ या अन्य दवा या औषधि से एलर्जी है।
  • यदि आपको कोई बीमारी, डिसऑर्डर या कोई अन्य मेडिकल कंडिशन है।
  • यदि आपको फूड, डाई, प्रिजर्वेटिव्स या जानवरों से अन्य प्रकार की एलर्जी है।

अन्य दवाइयों के मुकाबले औषधियों के संबंध में रेग्युलेटरी नियम अधिक सख्त नही हैं। इनकी सुरक्षा का आंकलन करने के लिए अतिरिक्त अध्ययनों की आवश्यकता है। शैलेक का इस्तेमाल करने से पहले इसके खतरों की तुलना इसके फायदों से जरूर की जानी चाहिए। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

और पढ़ें :  Green Tea : ग्रीन टी क्या है ?

साइड इफेक्ट्स

शैलेक (Shellac) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

कुछ लोगों को शैलेक से एलर्जी हो सकती है। अगर आपको गोंद या पौधे के अर्क से किसी तरह की कोई एलर्जी है तो इसका इस्तेमाल न करें। अगर आपकी किसी दूसरी बीमारी की दवाइयां चल रही हैं तो इसका इस्तेमाल करने से पहले एक बार डॉक्टर से जरूर कंसल्ट करें।

स्तनपान कराने वाली और गर्भवती महिलाएं इसको बिल्कुल एवॉइड करें, क्योंकि ये उनके और उनके बच्चे के लिए हानिकारक हो सकता है। किसी भी साइड इफेक्ट के नजर आने पर तुरंत डॉक्टर से कंसल्ट करें।

और पढ़ें :  Protein powder : प्रोटीन पाउडर क्या है?

डोसेज

शैलेक (Shellac) को लेने की सही खुराक क्या है?

इस हर्बल सप्लिमेंट की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लिमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें। कभी भी शैलेक की खुराक खुद से निर्धारित करने की गलती न करें। आपके द्वारा की गई छोटी से लापरवाही स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकती है।

और पढ़ें: Elderberry: एल्डरबेरी क्या है?

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है शैलेक (Shellac)?

ये फलेक्स  के रूप में उपलब्ध है, लेकिन इसका इस्तेमाल ऐसे नहीं करना चाहिए। फार्मा इंडस्ट्री में शैलेक का प्रयोग इसे कई तरह से रिफाइन करने के बाद किया जाता है।

हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में इस हर्बल से जुड़ी ज्यादातर जानकारियां देने की कोशिश की है, जो आपके काफी काम आ सकती हैं। अगर आपको ऊपर बताई गई कोई सी भी शारीरिक समस्या है तो इस हर्ब का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। बस इस बात का ध्यान रखें कि हर हर्ब सुरक्षित नहीं होती। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें तभी इसका इस्तेमाल करें। शैलेक से जुड़ी यदि आप अन्य जानकारी चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट कर पूछ सकते हैं।

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या इलाज मुहैया नहीं कराता।

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Rooibos tea: रूइबोस चाय क्या है?

जानिए रूइबोस चाय (Rooibos tea) की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, रूइबोस चाय उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Rooibos tea डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Sunil Kumar

Grains of paradise : स्वर्ग का अनाज क्या है?

जानिए स्वर्ग का अनाज के फायदे। स्वर्ग का अनाज उपयोग, ग्रेन ऑफ पैराडाइस का इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स।

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Sunil Kumar

Quebracho: क्वेब्राचो क्या है?

जानिए क्वेब्राचो की जानकारी, फायदे, क्वेब्राचो उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान।

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Sunil Kumar

Turtle head : टर्टल हेड क्या है?

जानिए टर्टल हेड की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, टर्टल हेड उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Turtle head डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar
Written by Anu Sharma