home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Intagesic MR: इंटाजेसिक MR क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

इस्तेमाल|इंटाजेसिक MR (intagesic MR) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?|इंटाजेसिक MR को कैसे स्टोर करूं?|सावधानियां और चेतावनी|क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इंटाजेसिक MR लेना सुरक्षित है?|साइड इफेक्ट्स|इन जरूरी बातों को जानें|क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ इंटाजेसिक MR  का इस्तेमाल किया जा सकता है? |इंटाजेसिक MR (intagesic MR) खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है? |डोजेज|इंटाजेसिक MR (intagesic MR)किस रूप में आती है? |ओवरडोज या आपातकालीन स्थिति में क्या करना चाहिए?|यदि मुझसे इंटाजेसिक MR की डोज मिस हो जाए तो मुझे क्या करना चाहिए?
Intagesic MR: इंटाजेसिक MR क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

इस्तेमाल

इंटाजेसिक MR (intagesic MR) का इस्तेमाल किसके लिए किया जाता है?

इंटाजेसिक MR टेबलेट का प्रयोग मांसपेशियों की ऐंठन और दर्द से छुटकारा पाने के लिए किया जाता है। क्लोरोजोक्साज़ोन + डायक्लोफिनाक + पैरासिटामोल/एसिटामिनोफेन इंटाजेसिक MR के एक्टिव घटक हैं। क्लोरोजोक्साज़ोन मांसपेशियों को आराम दिलाती हैं जबकि डायक्लोफिनाक + पैरासिटामोल/एसिटामिनोफेन दर्द को दूर करने में प्रभावी हैं। मांसपेशियों को आराम दिलाने वाली दवाई दिमाग व मेरुदण्ड के सेंटर में काम करती है ताकि मांसपेशियों की अकड़न से मुक्ति मिले और मूवमेंट में आसानी हो। दर्द को दूर करने वाली दवाई दिमाग में खास तरह के केमिकल मेसेंजर्स को निकालती है जो दर्द और जलन का कारण हैं।

यह हर तरह के मांसपेशियों के दर्द, जोड़ों के दर्द और लम्बागो व गठिया जैसी समस्यायों को दूर करने में प्रभावी है। इसका प्रयोग बुखार, सिरदर्द, गंभीर मांसपेशियों की ऐंठन, दांत दर्द, बुखार और फ्लू को दूर करने के लिए भी किया जा सकता है। यह दवाई उस खास केमिकल मैसेंजर को ब्लॉक करने का काम करती है जो दर्द, सूजन और बुखार का कारण है।

इन स्थितियों में भी इस दवाई का प्रयोग किया जा सकता है:

  • ऑस्टिओआर्थरिटिस
  • सर्दी और फ्लू
  • कान का दर्द
  • मासिक धर्म की दर्द
  • पीठ दर्द
  • अस्थि विकार
  • फ्रैक्चर
  • स्ट्रेन और मोच
  • टेन्डोनिटिस

और पढ़ें :Muscle strain : मसल्स स्ट्रेन क्या है?

इंटाजेसिक MR (intagesic MR) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

  • इस दवाई को लेने से पहले अपने डॉक्टर को उन सब दवाइयों के बारे में बताएं जो आप ले रहे हैं। कई दवाईयां इस दवाई के साथ लेने से एलर्जी या अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकती हैं। कुछ स्वास्थ्य स्थितियों में इस दवाई को लेने से कई साइड इफ़ेक्ट हो सकते हैं।
  • इंटाजेसिक MR की उतनी ही डोज लें जितनी डॉक्टर ने बताई हो। आपकी मौजूदा बीमारी की गंभीरता के आधार पर, आपके डॉक्टर डोज तय करेंगे। यदि आप ओवरडोज से बचने के लिए पेरासिटामोल युक्त अन्य दवाईयां भी ले रहे हैं तो अपने डॉक्टर को सूचित करें।
  • अगर आपको कोई भी साइड इफ़ेक्ट हो जैसे उल्टी, अपच, हार्टबर्न और डायरिया तो भी डॉक्टर को बताएं।
  • अगर आपको इस दवाई को लेने से रैशेस या एलर्जिक रिएक्शन हो रहे हैं तो अपने डॉक्टर को तुरंत पूछे। लिवर या किडनी के रोग की स्थिति में इस दवाई को न लें।

और पढ़ें : हैंगओवर (Hangover) में उल्टी से बचने के लिए ये गोली आएगी आपके काम

इंटाजेसिक MR को कैसे स्टोर करूं?

इंटाजेसिक MR को हमेशा रूम टेंपरेचर पर ही स्टोर करना चाहिए। इसे धूप के सीधे प्रकाश या नमी से दूर रखें। इसे डैमेज होने से बचाने के लिए कभी भी इसे फ्रीज में स्टोर करके न रखें। स्टोर से जुड़ी जानकारी जुटाने के लिए दवा के पैकेज पर लिखे हुए जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़ें या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछे। सुरक्षा के लिए, आपको सभी दवाओं को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखना चाहिए।

दवा का इस्तेमाल न करने पर या उसके एक्सपायर होने पर, डॉक्टर के निर्देश के बिना इसे न ही टॉयलेट में फ्लश करें और न ही नाली में फेकें। सुरक्षित रूप से दवा को नष्ट करने के बारे में अपने फार्मासिस्ट से पूछे।

सावधानियां और चेतावनी

इंटाजेसिक MR (intagesic MR) का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

  • अगर आपको इस दवाई या किसी अन्य दवाई से कोई एलर्जी है, तो अपने डॉक्टर को अवश्य बताएं। यही नहीं, अगर आपको किन्हीं अन्य चीजों से भी एलर्जी है जैसे भोजन, डाई, परिरक्षक या जानवरों से तो भी डॉक्टर की सलाह लें। जिन उत्पादों की सलाह डॉक्टर ने न दी हो, उन उत्पादों के लेवल या पैकेज को अच्छे से पढ़ कर ही उसका प्रयोग करें।
  • जो लोग हाइपरसेंसिटिविटी से पीड़ित हैं, वो इस दवाई को न लें।
  • लिवर और किडनी संबंधी समस्याओं से पीड़ित लोगों को इस दवाई को नहीं लेना चाहिए, जब तक आपके डॉक्टर आपको इसकी सलाह न दें।
  • बताई गई डोज के अनुसार ही इस दवाई को लें। इस दवाई को लेने के बाद कोई भी ऐसा काम न करें, जिसमें एकाग्रता या ध्यान लगाने की आवश्यकता हो।
  • उन लोगों को भी इस दवाई का सेवन नहीं करना चाहिए जिन्हें पेरासिटामोल से एलर्जी है।
  • उन नवजात शिशुओं को यह दवाई नहीं देनी चाहिए जिन्हें जन्मजात हृदय रोग हो।
  • अस्थमा, लिवर या किडनी के रोगी को यह दवाई नहीं लेने की सलाह दी जाती है।

और पढ़ें : डायबिटिक किडनी डिजीज (Diabetic Kidney Disease): जानें क्या है इसका कारण, बचाव और इलाज

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इंटाजेसिक MR लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इंटाजेसिक MR लेने की सलाह नहीं दी जाती है। इस स्थिति में इस दवाई का सेवन करना शिशु के लिए हानिकारक हो सकता है। इस दवा को लेने से पहले संभावित लाभ और जोखिमों को जानने के लिए हमेशा अपने चिकित्सक से अवश्य परामर्श करें।

साइड इफेक्ट्स

इंटाजेसिक MR (intagesic MR) के साइड इफेक्ट्स

इंटाजेसिक MR के निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। हालांकि, इस लिस्ट में जो साइड इफेक्ट्स दिए गए हैं वो हर व्यक्ति में देखने को नहीं मिलते। लेकिन, अगर आप को इन में से कोई साइड इफेक्ट महसूस हों तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। यह साइड इफेक्ट इस प्रकार हैं:

इंटाजेसिक MR के कुछ ऐसे साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं जो ऊपर नहीं दिए गए हैं। लेकिन, अगर आपको इनके अलावा भी कोई साइड इफेक्ट महसूस हो तो तुरंत डॉक्टर को बताएं।

और पढ़ें : Betamethasone Valerte+Clioquinol Cream: बेटामेथासोन वैलेरेट+क्लिओकिनोल क्रीम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

इन जरूरी बातों को जानें

कौन-सी दवाएं इंटाजेसिक MR के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

अगर आप इस दवाई को अन्य दवाइयों या उत्पादों के साथ लेते हैं, तो इंटाजेसिक MR का प्रभाव बदल सकता है। इससे साइड इफेक्ट का जोखिम बढ़ सकता है या यह दवाई सही से अपना काम नहीं करेगी । इसलिए अपने डॉक्टर को उन सभी दवाइयों के बारे में बताएं जिनका सेवन आप कर रहे हैं। इसमें विटामिन्स या अन्य हर्बल सप्लिमेंट भी शामिल हैं। इंटाजेसिक MR इन दवाइयों और उत्पादों के साथ इंटरैक्ट कर सकती है।

  • अल्प्राजोलम (Alprazolam)
  • एंजियोटेंसिन-कंवर्टिंग एंजाइम इन्हिबिटर्स (Angiotensin-converting enzyme inhibitors)
  • एस्पिरिन (Aspirin)
  • एटोरवास्टेटिन (Atorvastatin)
  • स्टीरिज़िन (Cetirizine)
  • कौडीन (Codeine)
  • साइक्लोस्पोरिन (Cyclosporine)
  • डायजेपाम (Diazepam)
  • इसोमेप्राजोल (Esomeprazole)
  • कुछ प्रयोगशाला परीक्षणों में हस्तक्षेप (Interfere with certain laboratory tests)
  • जक्सटेपिड माइपोमर्सन (Juxtapid mipomersen)
  • लेफ्लोनॉमिड (Leflunomide)
  • मिथोट्रेक्सेट (Methotrexate)
  • ओरल नोस्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग्स (Oral nonsteroidal anti-inflammatory drugs)
  • परिलोकाइन (Prilocaine)
  • सीडेटिव (Sedatives)
  • टेरिफलनोमिड (Teriflunomide)
  • टोपिरामेट (Topiramate)
  • वारफरिन (Warfarin)
  • जोल्पीडेम (Zolpidem)
  • लिथियम (Lithium)

इसके अलावा भी कुछ अन्य दवाइयां हो सकती हैं, जिन्हें इंटाजेसिक MR के साथ लेने से स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। अपने डॉक्टर के बारे में इनके बारे में पहले ही पूरी जानकारी ले लें।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ इंटाजेसिक MR  का इस्तेमाल किया जा सकता है? 

इंटाजेसिक MR को भोजन या एल्कोहॉल के साथ लेने से दवाई के काम करने के तरीके में प्रभाव पड़ सकता है। इंटाजेसिक MR लेते समय शराब का सेवन करना नींद न आने का कारण बन सकता है। इंटाजेसिक MR के साथ शराब लेने से लिवर खराब होने का खतरा बढ़ सकता है। भोजन और एल्कोहॉल के साथ इस दवाई के इंटरेक्शन के बारे में कृपया अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से अवश्य पूछ लें।

इंटाजेसिक MR (intagesic MR) खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है? 

इंटाजेसिक MR आपकी हेल्थ कंडीशन पर अपना प्रभाव डाल सकता है। यह इंटरेक्शन आपकी हेल्थ कंडिशन को और भी ख़राब या दवाई के प्रभाव को कम कर सकती है। यह बहुत आवश्यक है कि हमेशा अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को अपनी मौजूदा हेल्थ कंडिशंस के बारे में बताएं। इन स्वास्थ्य स्थितियों में इस दवाई का प्रयोग न करें:

  • हिपेटिक इम्पेयरमेंट
  • अगर आपको एस्पिरिन को लेने के बाद अस्थमा, पित्ती या अन्य कोई अन्य एलर्जिक टाइप रिएक्शन है
  • नोस्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग
  • हाइपरसेंसिटिविटी
  • कोरोनरी धमनी बाईपास ग्राफ्ट सर्जरी की सेटिंग में पेरी-ऑपरेटिव दर्द का उपचार

डोजेज

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प न मानें। किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

इस दवाई की कितनी डोज आपको लेनी चाहिए इसके लिए रोगी की उम्र, स्वास्थ्य स्थिति और कई अन्य बातों को ध्यान में रखा जाता है। इसलिए आपको इस दवाई की कितनी डोज लेनी चाहिए इसके बारे में अपने डॉक्टर से सलाह लें।

  • वयस्कों के लिए अधितम सिंगल डोज : इंटाजेसिक MR को 350 – 1000 मिलीग्राम तक लेने की सलाह दी जाती है, रोजाना दिन में 2 – 3 बार
  • बुजुर्गों के लिए अधिकतम सिंगल डोज: इंटाजेसिक MR को 350 – 1000 मिलीग्राम तक लेने की सलाह दी जाती है, रोजाना दिन में 2 – 3 बार
  • बच्चों के लिए अधिकतम सिंगल डोज: 10 – 15 मिलीग्राम/किलोग्राम, हर 4 – 6 घंटे में इस दवाई को दिया जा सकता है
  • 24 घंटे के पीरियड में कितनी डोज लेनी चाहिए
  • एक दिन में 4000 मिलीग्राम तक डोज लेनी चाहिए
  • इस दवाई को अपना असर दिखाने में कम से कम तीस मिनट लेता है

इंटाजेसिक MR (intagesic MR)किस रूप में आती है? 

इंटाजेसिक MR निम्नलिखित रूप में आती है?

  • टेबलेट

ओवरडोज या आपातकालीन स्थिति में क्या करना चाहिए?

ओवरडोज या आपातकालीन स्थिति के लिए अपने स्थानीय डॉक्टर या हॉस्पिटल से संपर्क करें।

यदि मुझसे इंटाजेसिक MR की डोज मिस हो जाए तो मुझे क्या करना चाहिए?

अगर आपसे इंटाजेसिक MR की डोज मिस हो जाए, तो जितना जल्दी हो सके इसे ले लें। हालांकि, अगर दूसरी खुराक का समय हो गया है, तो डबल डोज लेने की बजाय एक डोज मिस कर दें।

[mc4wp_form id=”183492″]

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Anu sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 01/10/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड