आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Lansoprazole: लैंसोप्राजोल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) क्या है? |दवा का उपयोग|फंक्शन|इस्तेमाल के लिए निर्देश|सावधानी और चेतावनी|लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?|प्रेग्नेंसी और स्तनपान में दवा का उपयोग|साइड इफेक्ट्स|रिएक्शन|डोसेज|स्टोरेज और डिस्पोजेबल के तरीके|उपलब्ध खुराक
    Lansoprazole: लैंसोप्राजोल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) क्या है?

    दवा का नाम और कैटेगरी

    लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) एक प्रोटोन पंप इंहिबिटर (PPI) है।

    ओटीसी (OTC) या प्रिस्क्रिप्शन ड्रग

    यह ड्रग प्रिस्क्रिप्शन (डॉक्टर द्वारा पर्चे पर लिखे जाने के बाद) और ओटीसी (ओवर द काउंटर) दोनों रूप में उपलब्ध है।

    एक्टिव इंग्रीडेंट

    लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) ही एक एक्टिव इंग्रीडेंट है।

    विशिष्ट उपयोग

    इसका उपयोग पेप्टिक अल्सर डिजीज के इलाज में किया जाता है।

    [mc4wp_form id=”183492″]

    दवा का उपयोग

    लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) का इस्तेमाल किन बीमारियों के इलाज में किया जाता है?

    इस दवा का उपयोग पेप्टिक अल्सर, जॉलिंगर इलिसन सिंड्रोम, एसिड रिलेटेड डिसपेप्सिया, गैस्ट्रोइसोफेगल रिफलक्स डिजीज, हेलीकोबैक्टर पायलोरी इंफेक्शन, मल्टिपल एंड्रोक्राइन एडिनोमास, सिस्टेमिक सेल डिजीज और दूसरे प्रकार के अल्सर के इलाज में होता है।

    और पढ़ें: Fludac 10: फ्लूडेक 10 क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    फंक्शन

    लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) टैबलेट कैसे काम करती है?

    यह दवा पेट में एसिड रिलीज के अंतिम चरण में व्यवधान डाल कर काम करती है। इस प्रकार पेट में अम्लता कम हो जाती है।

    इस्तेमाल के लिए निर्देश

    • टैबलेट का उपयोग डॉक्टर के निर्देशानुसार ही करें।
    • इस दवा को लेते समय लेबल पर लिखे सभी निर्देशों का पालन करें।
    • यह सुनिश्चित करें कि दवा की सही मात्रा निर्धारित अवधि के लिए ही ली जाए।
    • यह दवा खाली पेट ली जाती है।
    • लांसोप्रोजोल का ओरल सस्पेंशन (लिक्विड) का यूज करने से पहले बॉटल को अच्छी तरह से हिलाएं।
    • खुराक को मापने के लिए खुराक मापने वाला उपकरण का यूज करें ना कि चम्मच का।

    सावधानी और चेतावनी

    इन स्थितियों में लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) का उपयोग न करें।

    • यह दवा उन मरीजों को रिकमंड नहीं की जाती, जिनको लैंसोप्राजोल या इसी तरह की दवा से एलर्जी हो।
    • यह दवा ऐसे मरीजों को देने की सिफारिश नहीं की जाती, जिन्हें लिवर से जुड़ी कोई गंभीर बीमारी हो। अगर लिवर की बीमारी गंभीर नहीं है, तो इसे डोज एडजस्टमेंट के साथ दिया जा सकता है।
    • इस दवा से गुर्दे में हल्की कमजोरी आ सकती है। इस दवा को किडनी के रोगी को देते समय सावधानी बरती जानी चाहिए।

    और पढ़ें: Veloz Tablet : वेलोज टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

    लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

    प्रेग्नेंसी और स्तनपान में दवा का उपयोग

    क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) दवा को लेना सुरक्षित है?

    प्रेग्नेंसी के दौरान इस दवा का उपयोग किया जा सकता है, लेकिन तभी जब बहुत आवश्यक हो। दवा को लेने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

    यह दवा ब्रेस्टफीडिंग के दौरान रिकमंड नहीं की जाती क्योंकि इससे बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है। अगर बहुत जरूरी होने पर दवा को लेने की सिफारिश की जाती है तो डॉक्टर उस समय के लिए ब्रेस्टफीडिंग न कराने की सलाह दे सकते हैं। दवा को लेने से पहले डॉक्टर से संपर्क करें।

    साइड इफेक्ट्स

    लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) दवा के उपयोग से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

    इस दवा से होने वाले साइड इफेक्ट्स निम्न हैं। जरूरी नहीं है कि सभी को ये साइड इफेक्ट्स नजर आएं।

    • डायरिया
    • एलर्जिक स्किन रिएक्शन
    • पेट में तेज दर्द
    • उल्टी आना
    • जी मिचलाना
    • फ्लू जैसे लक्षण दिखाई देना
    • मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द
    • सिर में दर्द
    • असामान्य ब्लीडिंग
    • भूख कम लगना
    • चेहरे, होंठ, जीभ, हाथ और पैर में सूजन
    • हृदय गति का असामान्य होना

    रिएक्शन

    कौन सी दवाएं लैंसोप्राजोल (Lansoprazole)के साथ रिएक्शन कर सकती हैं?

    सभी दवाएं हर व्यक्ति पर अलग-अलग प्रभाव दिखाती हैं। किसी भी दवा को शुरू करने से पहले आपको डॉक्टर के साथ सभी संभावित इंटरैक्शन की जांच करनी चाहिए। यह दवा निम्न दवाओं के साथ इंटरैक्ट कर सकती है।

    • क्लोपिडोगरेल (Clopidogrel)
    • कीटोकोनाजोल (Ketoconazole)
    • मेथोट्रेक्सेट (Methotrexate)
    • वारफरिन (Warfarin)
    • नेलफिनवीर (Nelfinavir)
    • डिजॉक्सिन (Digoxin)

    लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) किसी फूड के साथ रिएक्शन कर सकती है?

    जब कुछ खाद्य पदार्थों (या पेय) के साथ दवा ली जाती है, तो शरीर पर दवा के प्रभाव में बदलाव हो सकता है। सभी दवाएं भोजन के साथ प्रभावित नहीं होती हैं और कुछ दवाएं केवल कुछ विशेष फूड्स से प्रभावित होती हैं। यह दवा किसी फूड से रिएक्शन करती है या नहीं इस बारे में डॉक्टर से परामर्श करें।

    लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) एल्कोहॉल के साथ रिएक्शन कर सकती है?

    यह दवा एल्कोहॉल के साथ इंटरैक्ट करती है या नहीं इस बारे में पर्याप्त अध्ययन उपलब्ध नहीं है। डॉक्टर से सलाह लेकर ही दवा का सेवन करें।

    लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) किसी स्वास्थ्य स्थिति के साथ इंटरैक्ट कर सकती है?

    यह दवा निम्न हेल्थ कंडीशन के साथ इंटरैक्ट कर सकती है।

    डोसेज

    लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) का सामान्य डोज क्या है?

    इस दवा को सामान्यत: दिन में एक बार सुबह खाली पेट लेने की सलाह दी जाती है। अगर आप इसे दो बार ले रहे हैं, तो एक बार सुबह और एक बार शाम को खाना खाने के एक घंटे पहले लेने की सलाह दी जाती है। इसे पानी से सीधा निगल लें। तोड़ें या चबाए नहीं। दवा का उपयोग करने से पहले डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

    लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) की खुराक छूट जाए तो क्या करें?

    लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) की डोज अगर छूट जाए, तो आपको जितनी जल्दी याद आ सके, उतनी जल्दी इस टैबलेट का सेवन करें। अगर आपके अगले डोज का वक्त हो गया है, तो छूटे हुए डोज को न लें। एक साथ डबल डोज का सेवन न करें। इससे आपकी सेहत को नुकसान हो सकता है।

    ओवरडोज या आपात स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

    किसी दवा को अनुशंसित खुराक से अधिक मात्रा में लेना ओवरडोज कहलाता है। ओवरडोज को हमेशा एक क्लिनिकल टेस्ट की आवश्यकता होती है। इस दवा का ओवरडोज शरीर में गंभीर दुष्प्रभाव पैदा कर सकता है। अगर भूल से आपने ओवर डोज ले लिया है, तो अपने डॉक्टर को तुरंत दिखाएं।

    और पढ़ें: Nuhenz Tablet : न्यूहेंज टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

    स्टोरेज और डिस्पोजेबल के तरीके

    लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) को स्टोर और डिस्पोज कैसे करें?

    • लैंसोप्राजोल (Lansoprazole) टैबलेट को अतिरिक्त गर्मी और प्रकाश से बचाएं।
    • सुरक्षा के लिए इस टैबलेट को बच्चों और पालतू जानवरों की पहुंच से दूर रखें।
    • दवा को कमरे के तापमान पर स्टोर करें।
    • एक्सपायरी के बाद इस टैबलेट का उपयोग न करें।
    • टैबलेट को डिस्पोज करने के बारे में फॉर्मासिस्ट से सलाह लेनी चाहिए।
    • इसे टॉयलेट में फ्लश न करें।

    और पढ़ें: कोविड-19 के इलाज में कितनी प्रभावी हैं ये 3 जेनरिक दवाएं?

    उपलब्ध खुराक

    यह दवा किस रूप में उपलब्ध है?

    यह दवा टैबलेट, कैप्सूल (15mg और 30mg स्ट्रेंथ के साथ) और सिरप के रूप में उपलब्ध है।

    दवा की उपलब्धता की स्थिति : यह दवा भारत में प्रतिबंधित नहीं है।

    उम्मीद है कि ये आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित होगा। आर्टिकल में बताए गए सभी दिशा-निर्देशों के बाद भी अपने डॉक्टर के द्वारा सलाह दिए जाने पर ही इस टैबलेट का सेवन करें।

    health-tool-icon

    बीएमआई कैलक्युलेटर

    अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

    पुरुष

    महिला

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Lansoprazole/ https://www.nhs.uk/medicines/lansoprazole/ Accessed on 24th September 2020

    Lansoprazole 15mg Gastro-resistant Capsules/
    https://www.medicines.org.uk/emc/product/4011/smpc/Accessed on 24th September 2020

    Lansoprazole/ https://www.drugs.com/lansoprazole.html/Accessed on 24th September 2020

    Lansoprazole/ https://dailymed.nlm.nih.gov/dailymed/drugInfo.cfm?setid=5fbd8f66-401b-484a-8ec2-f2435840d328

    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 25/09/2020 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: