home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Phenytoin : फेनीटोइन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|इन जरूरी बातों को जानें|डोजेज
Phenytoin : फेनीटोइन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग

फेनीटोइन (Phenytoin) का इस्तेमाल किस लिए किया जाता है?

फेनीटोइन का इस्तेमाल सीजर की रोकथाम और नियंत्रण के लिए किया जाता है। यह दिमाग में सीजर की एक्टिविटी के फैलने को कम करता है।

अन्य उपयोग : इस दवाई का उपयोग तभी करें अगर आपके डॉक्टर या हेल्थ केयर प्रोफेश्नल ने इसकी सलाह दी हो। इस दवाई का प्रयोग किसी खास तरह की असामान्य हार्टबीट के उपचार के लिए भी किया जा सकता है।

और पढ़ें : Pancreatin : पैंक्रियेटिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

मुझे फेनीटोइन (Phenytoin) का उपयोग कैसे करना चाहिए?

  • फेनीटोइन का प्रयोग करने से पहले अपने फार्मसिस्ट द्वारा दी गई मेडिकेशन गाइड को अवश्य पढ़ें। अगर कोई सवाल हों तो डॉक्टर की सलाह लें।
  • इसकी टेबलेट निगलने से पहले चबाई जा सकती है।
  • मुंह के माध्यम से इस दवाई को दिन में दो या तीन बार लें, या डॉक्टर की सलाह के अनुसार लें। इस दवाई को दिन में एक बार लेने की सलाह नहीं दी जाती। अगर पेट खराब है तो आप इसे भोजन के साथ ले सकते हैं। इस दवाई को ज्यादा से ज्यादा पानी के साथ लें।
  • अधिक फायदे पाने के लिए इस दवाई को नियमित रूप से लें। इस दवाई की सभी डोज सही समय और सही मात्रा में लेना आवश्यक हैं।
  • जिन उत्पादों में कैल्शियम (जैसे एंटासिड, कैल्शियम सप्लिमेंट) और न्यूट्रिश्नल ट्यूब फीडिंग (इंटरल) उत्पाद हों वो फेनटोइन के अवशोषण को रोक सकते हैं। इसलिए, फेनीटोइन के साथ इन उत्पादों को न लें।
  • इस दवाई को बिना डॉक्टर की सलाह के लेना बंद न करें। अगर इस दवाई को एकदम लेना बंद कर दें तो सीजर की समस्या बढ़ सकती है।
  • अगर आपकी स्थिति में सुधार न हो या तबियत बिगड़ जाए तो तुरंत अपने डॉक्टर को बता दें।

फेनीटोइन को मैं कैसे स्टोर करूं?

फेनीटोइन को हमेशा रूम टेंपरेचर पर ही स्टोर करना चाहिए। इसे धूप के सीधे प्रकाश या नमी से दूर रखें। इसे डैमेज होने से बचाने के लिए कभी भी इसे फ्रीज में स्टोर करके न रखें। स्टोर से जुड़ी जानकारी जुटाने के लिए दवा के पैकेज पर लिखे हुए जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़ें या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछे। सुरक्षा के लिए, आपको सभी दवाओं को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखना चाहिए।

दवा का इस्तेमाल न करने पर या उसके एक्सपायर होने पर, डॉक्टर के निर्देश के बिना इसे न ही टॉयलेट में फ्लश करें और न ही नाली में फेकें। सुरक्षित रूप से दवा को नष्ट करने के बारे में अपने फार्मासिस्ट से पूछें।

और पढ़ें : Phenylephrine : फीनाइलेफ्रीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

सावधानियां और चेतावनी

फेनीटोइन(Phenytoin) का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

इस दवाई को लेने से पहले यह बात सुनिश्चित कर लें कि इस दवाई के फायदे आपके लिए जोखिमों से अधिक होने चाहिए। यह निर्णय आप और आपके डॉक्टर लेंगे। इस दवाई के लिए आपको इन चीजों का ध्यान रखना चाहिए।

एलर्जी

अगर आपको इस दवाई या किसी अन्य दवाई से कोई एलर्जी हो तो डॉक्टर की सलाह लें। अगर आपको खाने, डाई, परिरक्षक या जानवर से एलर्जी हो, तब भी अपने डॉक्टर को अवश्य बताएं। जिन चीजों की सलाह डॉक्टर ने न दो हो. उनके प्रयोग से पहले लेवल पर लिखे इंग्रीडेंट को अवश्य पढ़ें।

बच्चों के लिए

अब तक किए गए अध्ययनों में इस दवाई के इंजेक्शन या दवाई से बच्चों को क्या समस्या हो सकती है। इस बारे में पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नहीं है।

वृद्धावस्था

अब तक किए गए अध्ययनों में इस दवाई के इंजेक्शन या दवाई से बुजुर्गों को क्या समस्या हो सकती है, इस बारे में पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नहीं है। हालांकि, बूढ़े लोगों को इससे लिवर, किडनी या हार्ट संबंधी समस्या हो सकती है, ऐसे में इसकी डोज में बदलाव किया जा सकता है।

और पढ़ें : Drug allergy : ड्रग एलर्जी क्या है?

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान फेनीटोइन लेना सुरक्षित है?

गर्भावस्था के दौरान सीजर को नियंत्रित करना बहुत आवश्यक है। अगर आप गर्भवती हैं तो बिना डॉक्टर की सलाह के इस दवाई को लेना शुरू या बंद न करें। फेनीटोइन गर्भ में पल रहे शिशु को हानि पंहुचा सकती है। हालांकि, गर्भावस्था के दौरान मां और बच्चे दोनों के लिए सीजर नुकसानदायक हो सकती है। अगर आप इस दवाई को ले रही हैं तो गर्भवती हो जाती हैं तो तुरंत डॉक्टर को बताएं।

और पढ़ें : Ascoril Syrup : एस्कोरिल सिरप क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

साइड इफेक्ट्स

फेनीटोइन (Phenytoin) के साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

अगर आपको इस दवाई को लेने से किसी तरह के एलर्जिक रिएक्शन के लक्षण नजर आएं तो तुरंत मेडिकल मदद लें। यह लक्षण इस प्रकार हो सकते हैं :सांस लेने में समस्या, मुंह,हाथों, जीभ या गले पर सूजन आदि।

अगर आप इससे भी अलग या बुरे लक्षण महसूस करें, जैसे मूड या व्यवहार में बदलाव, तनाव, चिंता या अगर आप उत्तेजित, बेचैन, अति सक्रिये (मानसिक या शारीरिक रूप से) महसूस करें या खुदकुशी या खुद को चोट पहुंचना आदि के बारे में सोचें, तो ऐसे में भी डॉक्टर की सलाह लेना न भूलें।

अगर आप इन कुछ गंभीर साइड इफेक्ट्स हों जैसे:

  • बुखार, सूजी हुई ग्रंथियां, शरीर में दर्द, फ्लू के लक्षण;
  • त्वचा पर लाल चकत्ते, ब्लीडिंग या चोट, अधिक झुनझुनी, सुन्न होना, दर्द, मांसपेशियों की कमजोरी;
  • ऊपरी पेट में दर्द, भूख में कमी, गहरे रंग का पेशाब, पीलिया (त्वचा या आंखों का पीला पड़ना);
  • सीने में दर्द, अनियमित दिल की धड़कन, सांस की कमी महसूस करना;
  • बेचैनी, मतली और उल्टी, सूजन, तेजी से वजन बढ़ना, सामान्य से कम या बिल्कुल पेशाब नहीं आना;
  • बुखार के साथ अधिक खांसी, सांस लेने में परेशानी;
  • कंपकंपी, आपकी आंखों, जीभ, जबड़े या गर्दन में मांसपेशियों की अजीब गतिविधि;
  • लाल धब्बे, या आपके गाल और नाक के ऊपर एक तितली के आकार के रैशेस; या
  • त्वचा में गंभीर रिएक्शन- बुखार, गले में खराश, चेहरे या जीभ में सूजन, आंखों में जलन, त्वचा में दर्द, उसके बाद लाल या बैंगनी रंग के चकत्ते जो (विशेष रूप से चेहरे या ऊपरी शरीर में) फैल जाते हैं और छाले और घाव का कारण बनते हैं।

और पढ़ें : Imipenem: इमीपेनेम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

कम गंभीर लक्षण इस प्रकार हैं :

  • बोलने में समस्या, संतुलन या समन्वय में समस्या;
  • मसूड़ों का सख्त होना व सूजन; या
  • सिरदर्द, चक्कर आना, घबराहट या नींद की समस्या (अनिद्रा)।

हर व्यक्ति ऊपर दिए साइड इफेक्ट्स का अनुभव नहीं करता है। ऊपर दिए साइड इफेक्ट्स कुछ लोगों को हो सकते हैं। अगर आप इन साइड इफेक्ट्स को लेकर चिंतित हैं तो कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें।

इन जरूरी बातों को जानें

कौन-सी दवाएं फेनीटोइन (Phenytoin) के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

इस दवाई को इन में से किसी भी दवाई के साथ लेने की सलाह नहीं दी जाती। डॉक्टर इसकी जगह किसी अन्य दवाई की सलाह देंगे या आपको कोई अन्य दवाई देंगे।

  • अमिफम्पक्रीडाइन (Amifampridine)
  • आर्टमेथेर (Artemether)
  • अतजानवीर (Atazanavir)
  • बोसप्रवीर (Boceprevir)
  • डाक्लाटसवीर (Daclatasvir)
  • डेलमानीड (Delamanid)
  • डेलवीरडाइन (Delavirdine)
  • मारविरोक (Maraviroc)
  • पाइपराक्वीन (Piperaquine)
  • रनोलाजीन (Ranolazine)
  • रिल्पिविरिन (Rilpivirine)
  • टेलापरेवीर (Telaprevir)
  • आर्टमेथेर (Artemether)

इस दवाई को इन दवाइयों के साथ लेने की सलाह नहीं दी जाती। लेकिन, किन स्थितियों में ऐसा किया जा सकता है। अगर दोनों दवाइयों को इकट्ठा लेने की सलाह दी जाती है, तो डॉक्टर आपकी डोज को बदल सकता है।

  • अबीरटेरोन एसीटेट (Abiraterone acetate)
  • अफाटिनिब (Afatinib)
  • एपिक्साबन (Apixaban)
  • अरिपीप्राजोल (Aripiprazole)
  • ऑक्सिटिनिब (Axitinib)
  • बेक्लामिड़ (Beclamide)
  • बेडाक्वीलिन (Bedaquiline)
  • बोरतेजोमिब (Bortezomib)
  • कबोजानतिनिब (Cabozantinib)
  • डॉक्सोरूबिसिन हाइड्रोक्लोराइड लिपोसोम (Doxorubicin hydrochloride liposome)
  • एर्लोटिनिब (Erlotinib)
  • फेंटानील (Fentanyl)
  • लिडोकेन (Lidocaine)
  • लीनगलिप्टिन (Linagliptin)
  • लोपीनवीर (Lopinavir)
  • मिसोनाजोल (Miconazole)
  • निमोड़िपाइन (Nimodipine)
  • नींटेदानिब (Nintedanib)
  • नीतिसिनोन (Nitisinone)
  • पोनटिनिब (Ponatinib)
  • रेगोराफेनिब (Regorafenib)

और पढ़ें : Norgestrel + Ethinyl Estradiol : नोर्गेस्त्रेल + एथिनिल एस्ट्राडियोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ फेनीटोइन(Phenytoin) का इस्तेमाल किया जा सकता है?

फेनीटोइन को भोजन और एल्कोहॉल के साथ लेने से साइड इफेक्ट्स की संभावना बढ़ सकती है। इसलिए इस दवाई को लेने से पहले अपने डॉक्टर से अवश्य बात करें।

कौन सी स्वास्थ्य स्थितियां फेनीटोइन (Phenytoin) पर प्रभाव डाल सकती हैं?

आपकी स्वास्थ्य स्थितयां फेनीटोइन के साथ मिलकर प्रभाव डाल सकती हैं। यह प्रभाव आपकी स्वास्थ्य स्थितियों को बिगाड़ सकती हैं या जिस तरह से यह दवाई कार्य करती है उसमे बदलाव कर सकती हैं।

अपनी सभी स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में अपने डॉक्टर को अवश्य बताएं, खासतौर पर:

  • खून या बोन मेरो समस्याएं (एग्रानुलोसाइटोसिस, ल्यूकोपेनिया, थ्रोम्बोसाइटोपेनिया) या
  • डायबिटीज या
  • हार्ट फेलियर या
  • हाइपोटेंशन (लौ ब्लड प्रेशर) या
  • लिम्फाडेनोपैथी या
  • पोर्फिरीया (एक एंजाइम समस्या) – सावधानी से प्रयोग करें। यह स्थितयों को बदतर बना सकता है।
  • हार्ट ब्लॉक (जैसे एडम्स-स्टोक्स सिंड्रोम, AV ब्लॉक,या सिनोआट्रियल ब्लॉक) या
  • साइनस ब्रॉडीकार्डिआ (कम हार्टबीट) – इन स्थितयों के साथ रोगियों को यह प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • ह्य्पोएल्ब्युमिनेमिआ, hypoalbuminemia (खून में लो एल्ब्यूमिन) या
  • किडनी के रोग या
  • लिवर के रोग – सावधानी से प्रयोग करें।

और पढ़ें : Pancreatin+Dimethicone/Polydimethylsiloxane : पैंक्रियेटिन+डायमेथीकॉन/ पॉलीडाइमिथाइलसिलोक्सेन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डोजेज

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प न मानें। किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

फेनीटोइन (Phenytoin) की वयस्कों के लिए क्या डोज है?

सीजर के लिए वयस्कों की डोज

ओरल (एक्सेप्ट सस्पेंशन) लोडिंग डोज : केवल जब दाखिल किए हुए रोगी को इसकी सलाह दी जाती है।

1 ग्राम दवाई को 3 डोज (400 mg, 300 mg, 300 mg) में विभजित कर के हर दो घंटे के अंतराल में मुंह के माध्यम से दिया जाता है। फिर लोडिंग डोज के 24 घंटों के बाद सामान्य मेंटेनेंस डोज शुरू की जाती है।

शुरुआती डोज : 100 मिलीग्राम एक्सटेंडेड रिलीज़ एक दिन में 3 बार मुंह के माध्यम से।

मेंटेनेंस डोज: 100 mg मुंह के माध्यम से दिन में 3 से 4 बार। अगर रोजाना तीन 100 mg कैप्सूल की विभाजित डोज सीज़र कंट्रोल होता है, दिन में एक बार एक्सटेंडेड रिलीज़ फेनीटोइन सोडियम 300 mg की मात्रा पर विचार किया जा सकता है। यदि आवश्यक हो, तो वैकल्पिक रूप से, खुराक को 200 मिलीग्राम तक दिन में 3 बार बढ़ाया जा सकता है।

सस्पेंशन: जिन मरीजों से पहले कोई इलाज नहीं कराया है, उन्हें सस्पेंशन के 125 मिलीग्राम (एक चम्मच) रोजाना तीन बार दिए जा सकते हैं, और फिर खुराक को व्यक्तिगत आवश्यकताओं के अनुसार समायोजित किया जाता है। यदि आवश्यक हो तो रोजाना पांच चम्मच तक की वृद्धि की जा सकती है।

  • IV: इन्फ्यूजन रेट को 50 mg/min तक न बढ़ाएं।
  • लोडिंग डोज: कम 10 to 15 mg/kg IV
  • मैंटेनेंस डोज: हर 6 से 8 घंटे में 100 mg IV
  • IM: अनियमित अवशोषण के कारण IM रूट को नजरअंदाज करें।
  • लोडिंग डोज : हर पांच मिनट में 1.25 mg/kg IV । एक दिन के लिए 15 mg/kg, या
  • 250 mg तक दिन में चार बार ओरली लोडिंग डोज दोहराई जा सकती है, इसके बाद 2 दिनों तक दिन में दो बार 250 mg डोज दी जा सकती है।

मेंटेनेंस डोज

  • 300 to 400 mg/day एक दिन में 1 से 4 बार विभाजित डोज ओरली
  • स्टेटस एपिलेप्टिकस में वयस्कों के लिए डोज

लोडिंग डोज :

  • निर्माता स्लो IV एडमिनिस्ट्रेशन के द्वारा 10 to 12 मिलीग्राम / किग्रा डोज की सिफारिश करते हैं।
  • आमतौर पर स्वीकार किए जाते हैं, आमतौर पर स्वीकृत दिशानिर्देश धीमी IV प्रशासन (15 मिलीग्राम / मिनट से अधिक नहीं) की दर से 15 से 20 मिलीग्राम / किग्रा का सुझाव देते हैं।
  • मेंटेनेंस रेट: 100 मिलीग्राम ओरली or IV हर 6 से 8 घंटों में

अधिकतम रेट: 50 मिलीग्राम/मिनट

  • मेंटेनेंस डोज: IV या ओरल: 100 मिलीग्राम हर 6 से 8 घंटों में
  • न्यूरोसर्जरी में वयस्कों के लिए डोज

न्यूरोसर्जरी(प्रोफाइलेक्टिक) : सर्जरी और तुरंत पोस्टोपेरेटिव पीरियड के दौरान चार घंटे के अंतराल में 100 से 200 मिलीग्राम नोट: जब निर्माता IM एडमिनिस्ट्रेशन की सलाह देता है, तो यह गंभीर लोकल टिश्यू विनाश और नेक्रोसिस का कारण हो सकता है। यदि IM एडमिनिस्ट्रेशन आवश्यक है, तो कुछ चिकित्सक फ़ॉस्फ़ेनिटोइन के उपयोग की सलाह देते हैं। यदि IM एडमिनिस्ट्रेशन आवश्यक नहीं है, तो सर्जरी और तुरंत पोस्टोपेरेटिव पीरियड के दौरान लगभग 4 घंटे के अंतराल में 100 से 200 मिलीग्राम IV होगा।

बच्चों के लिए फेनीटोइन की डोज क्या है?

सीजर के लिए बच्चों के लिए डोज

  • स्टेटस एपिलेप्टिकस: लोडिंग डोज:
  • नवजात शिशु, बच्चे: 15 to 20 मिलीग्राम/किलोग्राम IV सिंगल या विभाजित डोज
  • एंटीकंवलसेन्ट: लोडिंग डोज:
  • सभी उम्र के लिए : 15 to 20 mg/kg ओरली (फिनाइटोइन सीरमकंसन्ट्रेशन्स और हाल ही में खुराक इतिहास के आधार पर) ओरल लोडिंग डोज तीन विभाजित डोज में हर 2 से चार घंटों में देनी चाहिए।

एंटीकंवलसेन्ट: मेंटेनेंस डोज:

(IV या ओरल) (नोट: शुरू में दैनिक खुराक को 3 खुराक / दिन में विभाजित किया जा सकता है, इसके बाद व्यक्तिगत आवश्यकताओं के अनुरूप समायोजित किया जा सकता है।)

चार हफ्तों या उससे कम : शुरुआती :5 mg/kg/day दो विभाजित डोज में

सामान्य: 5 से 8 mg/kg/day IV दो विभाजित डोज में (हर आठ घंटे में डोज की आवश्यकता हो सकती है).

चार हफ्तों के बराबर या अधिक : शुरुआत l: 5 mg/kg/day 2 से 3 विभाजित डोज

सामान्य : (हर आठ घंटे में डोज की आवश्यकता हो सकती है)

6 महीने से 3 साल: 8 से 10 mg/kg/day

4 to 6 साल: 7.5 से 9 mg/kg/day

7 to 9 साल: 7 से 8 mg/kg/day

10 to 16 साल: 6 से 7 mg/kg/day

एक साल से अधिक उम्र:

  • लोडिंग डोज: हर पांच मिनट में 1.25 mg/kg IV लोडिंग डोज को 15 mg/kg. से दोहराया जा सकता है।
  • मेंटेनेंस डोज: 5 से 10 mg/kg/day ओरली या IV 2 से 3 विभाजित डोज में।

और पढ़ें : Levonorgestrel (oral): लिवोनोगेस्ट्रल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

फेनीटोइन किस रूप में उपलब्ध है?

फेनीटोइन निम्नलिखित रूप और स्ट्रेंथ में उपलब्ध है

कैप्सूल: ओरल, सोडियम के रूप में : 30 mg; 100 mg; 200 mg; 300 mg;

सॉल्यूशन, इंजेक्शन सोडियम के रूप में : 50 mg/mL

सस्पेंशन, ओरल :125 mg/5 mL (237 mL); 125 mg/5 mL (4 mL, 237 mL)

चबाने वाली टेबलेट : 50 mg

ओवरडोज या आपातकालीन स्थिति में क्या करना चाहिए?

ओवरडोज या आपातकालीन स्थिति, अपनी लोकल आपातकालीन सर्विसेज को फ़ोन करें या नजदीकी आपातकालीन जगह पर जाएं

ओवरडोज के लक्षण इस प्रकार हैं:

  • आंखों का अधिक हिलना
  • समन्वय न होना
  • बोलने में समस्या
  • शरीर के एक हिस्से का अधिक हिलना
  • जी मिचलाना
  • उल्टी
  • समझने में कठिनाई होना
  • कोमा

और पढ़ें : Gabapentin : गेबापेनटिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

यदि मुझसे फेनीटोइन (Phenytoin) की डोज मिस हो जाए तो मुझे क्या करना चाहिए?

अगर आपसे फेनीटोइन की डोज मिस हो जाए, तो जितना जल्दी हो सके इसे लें। हालांकि, अगर दूसरी खुराक का समय हो गया है, तो डबल डोज लेने की बजाये एक डोज मिस कर दें।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Anu sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 29/05/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x