home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Udiliv 300: उडिलिव 300 क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन|डोसेज|उपयोग|साइड इफेक्ट्स|सावधानियां और चेतावनी|रिएक्शन|स्टोरेज
Udiliv 300: उडिलिव 300 क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन

उडिलिव 300 (Udiliv 300) कैसे काम करती है?

उडिलिव 300 का उपयोग मुख्य रूप से पित्ताशय की पथरी यानि पथरी के इलाज और उसकी रोकथाम के लिए किया जाता है। इसमें अर्सोडिऑक्सीकोलिक एसिड का समायोजन होता है। यह चिकित्सक द्वारा निर्धारित अन्य कई स्थितियों के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है।उडिलिव शरीर में प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला पित्त अम्ल (bile acid ) है। यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल को गलाने का कार्य करता है। जो पित्त पथरी बनाता है और लिवर में कोलेस्ट्रॉल के उत्पादन को रोकता है। पूरी तरह से स्टोन को घुलने में कई महीने लग सकते हैं, इसलिए आपको नियमित रूप से दवा लेने की जरूरत है। यह अन्य प्रकार के पित्त एसिड की मात्रा को भी कम कर सकता है जो कि स्तर बढ़ने पर लिवर कोशिकाओं के लिए हानिकारक हो सकते हैं।

उडिलिव का उपयोग आमतौर पर निम्नलिखित स्थितियों से जुड़े लक्षणों के उपचार के लिए किया जाता है:

पित्ताशय की पथरी यानी पित्ताशय में स्टोन के कारण पेट में दर्द होता है। अगर सही समय पर स्टोन का इलाज न कराया जाए तो स्टोन की संख्या बढ़ सकती है। पित्ताशय में स्टोन के कारण वॉमिटिंग की समस्या और डायजेशन में समस्या हो सकती है। कोलेस्ट्रॉल या फिर बाइल सॉल्ट के कारण स्टोन की समस्या हो सकती है। डॉक्टर स्टोन के साइज और संख्या के अनुसार ही पेशेंट का ट्रीटमेंट करते हैं और दवा देते हैं। उडिलिव दवा का सेवन कब करना चाहिए और कब नहीं, इस बारे में डॉक्टर बेहतर बता सकता है। बिना डॉक्टर से परामर्श किए इस दवा का सेवन न करें।

और पढ़ें: Sinarest Syrup: सिनारेस्ट सिरप क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डोसेज

उडिलिव 300 (Udiliv 300) का सामान्य डोज क्या है?

उडिलिव 300 की खुराक प्रत्येक व्यक्ति पर भिन्न-भिन्न रूप से प्रभाव डालती है। इस कारण डॉक्टर आपकी स्थिति और उम्र के आधार पर आपका डोज तय करते हैं। डॉक्टर द्वारा निर्धारित सटीक खुराक और अवधि का पालन करना चाहिए। पित्त पथरी के लिए, आमतौर पर 300 मिलीग्राम निर्धारित किया जाता है। यह दिन में दो बार लिया जाना चाहिए।

ओवरडोज की स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

ओवरडोज का प्रयोग करने से बचना चाहिए। यदि ऐसी स्थिति आती है तो आपको तुंरत ही अपने नजदीकी डॉक्टर या आपातकालीन सेवा से संपर्क करें।

उडिलिव 300 (Udiliv 300) का डोज मिस हो जाए तो क्या करूं?

मिस हुई डोज के लिए यह सलाह दी जाती है कि याद आते ही छुटी हुई खुराक लेनी चाहिए। यदि आपकी दूसरी खुराक का समय हो गया है तो छूटी खुराक को न लें। याद रखें आपको डबल खुराक यानि ओवरडोज नहीं लेना है।

और पढ़ें:Ibugesic Plus : इबूगेसिक प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग

मुझे उडिलिव 300 (Udiliv 300) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

  • उडिलिव 300 जब आप स्टोर से खरीदते हैं, तो सबसे पहले उसकी एक्सपायरी डेट चेक कर लें।
  • उडिलिव 300 को आप पानी के साथ निगल सकते हैं। इसको तोड़कर या चबाकर खाने की आवश्यकता नहीं होती है। इसे आप भोजन के बाद एक गिलास दूध या पानी के साथ ले सकते हैं।
  • जिस प्रकार आपके चिकित्सक ने आपकी खुराक निर्धारित की है। आपको उसी का पालन करना है। आपकी खुराक किस प्रकार दी जा रही है। यह इस पर निर्भर करता है कि आपका इलाज किस बीमारी के लिए किया जा रहा है। आपके शरीर का वजन कितना है, आपकी उम्र क्या है।
  • यदि आप चाहते हैं कि ये दवा आपके ऊपर जल्दी अच्छा प्रभाव डाले तो इसे नियमित रूप से लें। जितने समय तक आपके डॉक्टर ने आपको इसका कोर्स बताया है, उसको पूरा करें। आमतौर पर आपको इसे कई महीनों या उससे अधिक समय तक लेना पड़ सकता है, इसलिए इसे नियमित लें।
  • भले ही आपके लक्षण अब आपको दिखाई न दे रहे हों, लेकिन आप इसे निर्धारित रूप में उपयोग करते रहें। भले ही आपका गेलस्टोन पूरी तरह से घुल जाए, फिर भी उपचार कई हफ्तों या महीनों तक जारी रखा जाना चाहिए।
  • इस दवा के आमतौर पर कुछ सबसे आम दुष्प्रभाव दिखाई देते हैं जैसे, दस्त, बालों के झड़ने, पेट दर्द, खुजली, दाने और मतली हैं। यह जरूरी नहीं कि प्रत्येक व्यक्ति को इसके साइड इफेक्ट हो।

और पढ़ें:Clobetasol : क्लोबेटासोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

साइड इफेक्ट्स

मुझे उडिलिव 300 (Udiliv 300) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

उडिलिव 300 के लिए प्रमुख और मामूली दुष्प्रभाव दोनों हो सकते हैं। जैसे-जैसे आपके शरीर को दवा की आदत पड़ती है ये दुष्प्रभाव गायब हो सकते हैं। ज्यादातर इसके मामूली लक्षण दिखाई देते हैं। जो स्वंय ही ठीक हो जाते हैं। यदि आपको कुछ ऐसे लक्षण महसूस जो साधारण नहीं है, या ऐसे लक्षण जो स्वंय ठीक नहीं हो रहे हैं तो आप अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

[mc4wp_form id=”183492″]

और पढ़ें: Sucralfate : सुक्रालफेट क्या है? जानिए उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

सावधानियां और चेतावनी

उडिलिव 300 (Udiliv 300) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

  • उडिलिव 300 को केवल डॉक्टर के पर्चे के अनुसार लिया जाना चाहिए और निर्धारित की गई खुराक का सख्ती से पालन करना चाहिए।
  • यह दवा 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में उपयोग करने के लिए अनुशंसित नहीं है क्योंकि उपयोग की सुरक्षा और प्रभावकारिता नैदानिक रूप से स्थापित नहीं है।
  • उडिलिव का उपयोग पित्त पथरी को गलाने के लिए किया जाता है जिसमें कई महीने लग सकते हैं। दवा की अवधि के दौरान अनुभव की गई कोई भी जटिलता तुरंत डॉक्टर को बताई जानी चाहिए।
  • जिन लोगों को हाइपर सेंसिटिविटी की समस्या होती है, उन लोगों के लिए उडिलिव का उपयोग अनुशंसित नहीं है।
  • यह दवा उन रोगियों में उपयोग करने के लिए अनुशंसित नहीं है जिन्हें स्टोन को हटाने के लिए सर्जरी की आवश्यकता होती है।
  • यह दवा पित्त पथ की सूजन, रुकावट, विकृति या फिस्टुला वाले रोगियों में उपयोग के लिए अनुशंसित नहीं है।
  • इस दवा का उपयोग केवल तभी किया जाना चाहिए जब पथरी में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक हो। कैल्शियम जमा होने या एक्स-रे में पता लगने वाले अन्य तरह के स्टोन में इस दवा के साथ इलाज नहीं किया जाना चाहिए।
  • इस दवा का उपयोग कुछ अन्य दवाओं के प्रभाव को कम कर सकता है या बढ़ा सकता है इसलिए अपने चिकित्सक को उन सभी अन्य दवाओं के बारे में बताएं जो आप ले रहे हैं।
  • पेट के बीमारी वाले रोगियों में उपयोग के लिए इस दवा की सिफारिश नहीं की जाती है।
  • इस दवा को लेते समय दस्त की कोई भी घटना तुरंत डॉक्टर को बताई जानी चाहिए। यदि यह दुष्प्रभाव गंभीर और लगातार है, तो आपको खुराक समायोजन की आवश्यकता हो सकती है।
  • जो महिलाएं पित्त पथरी को गलाने के लिए इस दवा का उपयोग करती हैं, उन्हें जन्म नियंत्रण की गोली का उपयोग करना बंद कर देना चाहिए क्योंकि उसमें मौजूद हाॅर्मोन पित्त पथरी के उत्पादन को बढ़ा सकते हैं।

क्या लिवर की बीमारी के दौरान उडिलिव 300 (Udiliv 300) को लेना सुरक्षित है?

लिवर की बीमारी वाले रोगियों में, उडिविल 300 का प्रयोग गंभीर दुष्प्रभाव दिखा सकता है। इसलिए, इसका उपयोग कमजोर लिवर और लिवर की बीमारी वाले रोगियों में अतिरिक्त देखभाल और सावधानी के साथ किया जाना चाहिए। ऐसे मामलों में, डॉक्टर द्वारा लिवर फंक्शन की अच्छे तरीके से निगरानी की सलाह दी जा सकती है। यह प्रतिकूल प्रभाव के जोखिम के कारण पुराने लिवर रोगों से पीड़ित रोगियों में उपयोग के लिए अनुशंसित नहीं है।

क्या गर्भावस्था के दौरान उडिलिव 300 (Udiliv 300) को लेना सुरक्षित है?

सुरक्षा की दृष्टि से यह दवा गर्भवती महिलाओं में उपयोग के लिए अनुशंसित नहीं की गई है। जब तक कि आवश्यक न हो। इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर के साथ सभी जोखिमों और लाभों पर चर्चा की जानी चाहिए।

क्या स्तनपान के दौरान उडिलिव 300 (Udiliv 300) को लेना सुरक्षित है?

यह दवा स्तनपान कराने वाली महिलाओं में उपयोग करने के लिए अनुशंसित नहीं है जब तक कि आवश्यक न हो। इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर के साथ सभी जोखिमों और लाभों पर चर्चा की जानी चाहिए।

और पढ़ें: Clonidine : क्लोनिडीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

रिएक्शन

कौन-सी दवाइयां उडिलिव 300 (Udiliv 300) के साथ रिएक्शन कर सकती हैं?

कुछ दवाएं, जब उर्सोडॉक्सिकोलिक एसिड के साथ संयुक्त होती हैं तो या तो दुष्प्रभाव को बढ़ा सकती हैं या इस दवा के प्रभाव को कम कर सकती हैं। निम्न सूची में दी गई दवाएं उडिलिव 300 के साथ मिलकर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकती हैं।

  • क्लोरट्रिआनीसेन (Chlorotrianisene)
  • क्लोफिब्रेट (Clofibride)
  • एल्यूमीनियम हाइड्रॉक्साइड (Aluminum hydroxide)
  • बेजाफिब्रेट ( Bezafibrate)
  • कोलेस्टीरामिन (cholestyramine)
  • कोलिक एसिड (cholic acid)
  • क्लोफिब्रेट (Clofibrate)

क्या उडिलिव 300 (Udiliv 300) एल्कोहॉल के साथ रिएक्शन करती है?

उडिविल 300 के साथ शराब का सेवन करने से गंभीर दुष्प्रभाव होने के बारे में जानकारी नहीं है। हालांकि, जब शराब के साथ ली जाती है, तो दवा कम प्रभाव दिखाती है। इसलिए, इस दवा के दौरान शराब का सेवन बंद करने की सलाह दी जाती है।

और पढ़ें: Dolo 650MG Tablet : डोलो 650 एमजी टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

स्टोरेज

मैं उडिलिव 300 (Udiliv 300) को कैसे स्टोर करूं?

उडिलिव 300 को सीधे गर्मी और धूप से दूर ठंडी और सूखी जगह पर स्टोर करना चाहिए। बच्चों और पालतू जानवरों की पहुंच से दवा को दूर रखना चाहिए। इसके प्रभाव को बनाए रखने के लिए इस दवा की पैकेजिंग को बरकरार रखा जाना चाहिए।

उडिलिव 300 (Udiliv 300) किस रूप में उपलब्ध है?

  • टैबलेट
  • कैप्सूल
  • लिक्विड

उपरोक्त जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अगर आपको किसी भी प्रकार की समस्या महसूस हो रही है तो बेहतर होगा कि आप डॉक्टर से जांच कराएं और उनकी सलाह से ही दवाइयों का सेवन करें। आप हेल्थ संबंधि अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Ursodeoxycholic acid https://www.drugs.com/mmx/ursodeoxycholic-acid.htmlAccessed on 04-06-2020

Ursodeoxycholic acid for cholestasis and sclerosing cholangitis https://www.medicinesforchildren.org.uk/ursodeoxycholic-acid-cholestasis-and-sclerosing-cholangitis Accessed on 04-06-2020

Ursodeoxycholic acid https://patient.info/medicine/ursodeoxycholic-acid-destolit-ursofalk-ursogalAccessed on 04-06-2020

Ursodeoxycholic Acid in Cholestatic Liver Disease: Mechanisms of Action and Therapeutic Use Revisitedhttps://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/12198643/Accessed on 04-06-2020

Udiliv Uses https://www.ndrugs.com/?s=udiliv Accessed on 04-06-2020

लेखक की तस्वीर badge
shalu द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/09/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड