home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

फ्लाइट में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए बीच वाली सीट रहेगी खाली, यात्रा के दौरान आप भी बरतें ये सावधानियां

फ्लाइट में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए बीच वाली सीट रहेगी खाली, यात्रा के दौरान आप भी बरतें ये सावधानियां

डायरेक्टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) ने फ्लाइट में सोशल डिस्टेंसिंग को मद्देनजर रखते हुए सोमवार को फ्लाइट्स में बीच की सीटों को खाली रखने का आदेश जारी किया। अगर ऐसा करना संभव न हो तो यात्रियों को “रैप-अराउंड गाउन” दिए जाने की बात कही। कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते प्लेन में सीट्स के बीच में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न हो पाने की वजह से बीच की सीट खाली रखने समेत कुछ और भी गाइडलाइन जारी कर दी हैं। ये गाइडलाइन 3 जून से लागू होंगी। आपको बता दें कि करीबन दो महीने बाद 25 मई से देशभर में डोमेस्टिक फ्लाइट्स की सेवा फिर से शुरू कर दी गई है। कोरोना महामारी के दौरान फ्लाइट में सोशल डिस्टेंसिंग से संबंधित डीजीसीए के नए दिशा-निर्देश क्या हैं, हवाई सफर पर जाने के दौरान वायरस से कैसे बचें। जानते हैं “हैलो स्वास्थ्य” के इस लेख में-

फ्लाइट में सोशल डिस्टेंसिंग से संबंधित DGCA की गाइडलाइन

  • सभी एयरलाइन पैसेंजर्स को सेफ्टी किट मुहैया कराएंगी। इस सेफ्टी किट में फेस शील्ड, तीन लेयर वाला मास्क और हैंड सैनिटाइजर होगा।
  • अगर पैसेंजर लोड ज्यादा होने की वजह से बीच की सीट खाली नहीं रह सकती है तो उन्हें पीपीई यानी पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट्स दिए जाएंगे।
  • पीपीई किट यात्रियों के साथ-साथ क्रू मेंबर्स को भी पहनना जरूरी होगा।
  • फ्लाइट में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए प्लेन की सीटें इस तरह से होनी चाहिए कि बीच वाली सीट खाली रहे। हालांकि, एक ही परिवार के लोग एक साथ बैठ सकते हैं।
  • फ्लाइट के बाद खाली हुईं सीटों को तुरंत सैनिटाइज किया जाए और आखिर में प्लेन को पूरा सैनेटाइज किया जाना चाहिए।
  • कुछ हेल्थ कंडीशंस को छोड़कर फ्लाइट में किसी भी तरह का खाने-पीने का समान ले जाना वर्जित है।
    प्लेन में पैसेंजर्स का इन और आउट सीक्वेंस के अनुसार होना चाहिए।
  • साथ ही प्लेन के टॉयलेट को भी साफ और सही तरह से सैनेटाइज किया जाना चाहिए।
  • एयरलाइन क्रू-मेंबर्स का नियमित रूप से हेल्थ चेकअप मुहैया करवाएं।
  • पैसेंजर्स के मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप होना जरूरी है।

फ्लाइट में सोशल डिस्टेंसिंग : सुप्रीम कोर्ट की बातों के बाद लिया गया फैसला

सिविल एविएशन रेगुलेटर DGCA ने हवाई सफर करने वाले लोगों की सेफ्टी को लेकर ये गाइडलाइन्स सुप्रीम कोर्ट के कमेंट के बाद जारी की गई हैं। नई एयरलाइंस गाइडलाइन में मिडल सीट खाली रखने की कोशिश करने को कहा गया है। लेकिन, किसी भी वजह से ऐसा करना सम्भव नहीं होता है तो मिडल वाले पैसेंजर की बॉडी को कवर करने के लिए एक गाउन देने के लिए भी कहा गया। यह कवर टेक्सटाइल मिनिस्ट्री द्वारा तय किए गए स्टैंडर्ड्स के अनुसार ही होना चाहिए।

और पढ़ें : मुंबई में लॉकडाउन 5.0 : कोरोना की मार झेल रहे मुंबई में लॉकडाउन बढ़ा! जानें कहां मिली रियायत

एयरपोर्ट पर बरतें सावधानी

हवाई यात्रा के दौरान एयरपोर्ट पर चार घंटे पहले पहुंचना जरूरी है। फ्लाइट में सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए यात्रा करने के दौरान एयरपोर्ट पर कुछ बातें ध्यान रखनी जरूरी हैं। जैसे-

  • एयरपोर्ट में चेक इन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए दूसरे इंसान से 2 मीटर की दूरी बनाएं रखें।
  • थर्मल स्क्रीनिंग (thermal screening) के लिए अपना सहयोग दें।
  • एयरपोर्ट के अंदर एंट्री करते समय सुनिश्चित करें कि आपने मास्क सही तरीके से पहनना है।
  • कैब या व्हीकल से उतरते ही हैंड सैनेटाइज करें। सेल्फ हाइजीन का बहुत ध्यान रखें।
  • अगर किसी पैसेंजर में आपको कोरोना के लक्षण दिखते हैं तो डिस्ट्रिक सर्विलांस ऑफिस या स्टेट/नेशनल कॉल सेंटर (1075) पर कॉल करके जानकारी दें।
  • यह सुनिश्चित करें कि आप टिश्यू पेपर्स को साथ ले जाएं जिससे आपको छींक/खांसी आने पर उसका इस्तेमाल कर सकें। फिर यूज्ड टिश्यू को डस्टबिन में फेकें।
  • सीडीसी की सलाह है कि जब तक जरूरी न हो यात्रा से बचें। कोरोना महामारी के दौरान ट्रैवेलिंग करते समय वयस्कों और गंभीर क्रोनिक चिकित्सा स्थितियों वाले किसी भी उम्र के लोगों में गंभीर बीमारी का खतरा बढ़ जाता है।
  • कोविड 19 महामारी के समय यात्रा के समय यात्रियों को बीमार लोगों के संपर्क से बचना चाहिए।
  • ट्रैवेलिंग के बाद 14 दिनों के लिए खुद को होम क्वारंटीन करना चाहिए।
  • अपने स्वास्थ्य की निगरानी करें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना चाहिए।
  • अपनी आंखों, नाक या मुंह को अनचाहे हाथों से छूने से बचें।
  • कम से कम 20 सेकंड के लिए अपने हाथों को कई बार साबुन और पानी से धोएं। यदि साबुन और पानी आसानी से उपलब्ध नहीं हैं, तो अल्कोहल-बेस्ड हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करें जिसमें कम से कम 60% एल्कोहॉल हो।
  • फ्लाइट में बाथरूम जाने के बाद हाथ साफ करना न भूलें।

और पढ़ें : इटली के वैज्ञानिकों ने कोविड-19 वैक्सीन बनाने का किया दावाः जानिए इस खबर की पूरी सच्चाई

फ्लाइट में सोशल डिस्टेंसिंग : ट्रेवलिंग से पहले रखें इस बात का ध्यान

जैसे-जैसे एयर ट्रैवेलिंग शुरू हुई है वैसे ही कुछ रेस्ट्रोरेंट भी खुल गए हैं। लेकिन क्या बाहर खाना सेफ होगा? ऐसा अनुमान लगाया जाता है कि होटल और रेस्ट्रोरेंट में खाना बनाने के समय कई कर्मचारी हाथों में ग्लव्स पहनना जरूरी नहीं समझते हैं। ऐसे में आपका बाहर खाना खाना कितना सेफ है? हालाकि, अभी कोरोना माहमारी के दौरान हैंडवॉशिंग और किचेन को सैनेटाइज रखना जरूरी कर दिया गया है। लेकिन इनका पालन कितना हो रहा है? यह किसको पता? इसलिए, अपनी सुरक्षा अपने हाथ। इसलिए, यात्रा करने से पहले ही घर का बना खाना खाना ही बेहतर होगा।

डब्लूएचओ की माने तो कोरोना महामारी हमारे जीवन का एक हिस्सा बन गई है। ऐसे में आपको अपनी सुरक्षा और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न सिर्फ यात्रा या ऑफिस जाने के दौरान ही करना है बल्कि घर-बाहर हर जगह अपनी सेफ्टी सुनिश्चित करनी है। दो गज की दूरी एयर साफ-साफी का ख्याल हर जगह रखना होगा। जरा-सी भी लापरवाही आपको और आपके परिवार को मुसीबत में डाल सकती है। घर से एक कदम भी बाहर निकालें, तो मास्क का प्रयोग करना न भूलें। साथ ही बेवजह चेहरे, आंखों और नाक को छूने की आदत को धीरे-धीरे पीछे छोड़ना ही इसका बचाव है। पूरे देश में कोरोना का कहर है। कोविड-19 वायरस की चपेट में आकर लाखों लोग मौत का सामना कर रहे हैं। इसलिए, हवाई यात्रा चालू होने पर भी पूरी सावधानी रखें। चीजों में छूट जरूर दी गई है लेकिन, कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है। ऐसे में संक्रमण का खतरा और बढ़ चला है। जरूरी है आप अपना बहुत ध्यान रखें। जब बहुत ही इमरजेंसी हो तब ही यात्रा करें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Keep Middle Seats Empty Or Give “Wrap-Around Gowns”, Airlines Told. https://www.ndtv.com/india-news/airlines-to-allot-seats-so-that-middle-seats-are-kept-vacant-to-the-extent-possible-says-aviation-regulator-dgca-news-agency-pti-2238696?amp=1&akamai-rum=off. Accessed On 02 June 2020

Airlines urged to keep middle seats empty or give ‘wrap-around gowns’. https://www.hindustantimes.com/india-news/should-try-to-keep-middle-seats-vacant-aviation-regulator-dgca-to-airlines/story-Kz5kiXFUsUFNojszkuQ0vK.html. Accessed On 02 June 2020

Coronavirus – https://www.who.int/health-topics/coronavirus. Accessed On 02 June 2020

Warning – Level 3, Avoid Nonessential Travel—Widespread Ongoing Transmission. https://wwwnc.cdc.gov/travel/notices/warning/coronavirus-global. Accessed On 02 June 2020

 

लेखक की तस्वीर badge
Shikha Patel द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 02/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x