Catnip: कैटनिप क्या है?

By Medically reviewed by Dr. Shruthi Shridhar

परिचय

कैटनिप क्या है?

यह एक बारहमासी फूलों वाला पौधा है। आमतौर पर इसे कैटमिंट या कैटसूट के रूप में भी जाना जाता है| इसका बायोलॉजिकल नाम नेपेटा कैटेरिया है। इसके फूलों और पत्तियों का इस्तेमाल दवाइयों के रूप में किया जाता है। ये अपनी सिडेटिव प्रॉपर्टीज के लिए जाना जाता है, जो मन को शांत करता है। कई लोग हर्बल टी में भी इसका प्रयोग करते हैं।

कैटनिप का उपयोग किस लिए किया जाता है?

कैटनिप का इस्तेमाल माइग्रेन, एंग्जाइटी, इन्सोम्निया, सर्दी, पीरियड्स में ऐंठन, डाइजेस्टिव डिसऑर्डर, अस्थमा और इन्फ्लूएंजा के इलाज के लिए इंटरनली किया जाता है। गठिया और बवासीर के इलाज के लिए इसका इस्तेमाल एक्सटर्नली किया जाता है। आमतौर पर कैटनीप माइल्ड रेस्पिरेटरी कंडीशंस के लिए इस्तेमाल किया जाता है और अक्सर शिशुओं और बच्चों को दिया जाता है। टॉनिक के तौर पर इसका इस्तेमाल यूरिन बढ़ाने के लिए भी किया जाता है।

कैसे काम करता है कैटनिप?

यह हर्बल सप्लीमेंट कैसे काम करता है, इस बारे में सफिसिएंट स्टडीज नहीं किए गए हैं। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें। हालांकि, कुछ स्टडीज के मुताबिक,  इसके केमिकल कंपोनेंट्स में से एक, नेपेटालैक्टोन, कैटनिप के कामिंग और सिडेटिव इफेक्ट के लिए जिम्मेदार हो सकता है। रिसर्च ने साबित किया है कि कैटनिप एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एंटी-माइक्रोबियल काम कर सकता है।

ये भी पढ़ें: कलौंजी क्या है?

उपयोग

कितना सुरक्षित है कैटनिप का उपयोग ?

  • पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिसऑर्डर (PID) या पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से परेशान महिलाओं को कैटनिप का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए क्योंकि इससे पीरियड चालू होने के चांसेस रहते हैं।
  • कैटनिप सेंट्रल नर्वस सिस्टम (CNS) को धीमा कर सकता है जिसके कारण नींद आना और दूसरे प्रभाव देखने को मिल सकता है। सर्जरी के दौरान या बाद में इस्तेमाल की जाने वाली एनेस्थीसिया भी CNS को धीमा कर देती है। इन दवाओं के साथ कैटनिप का इस्तेमाल CNS को बहुत ही धीमा कर सकता है इसलिए सर्जरी के फिक्स्ड डेट से 2 सप्ताह पहले कैटनिप का इस्तेमाल बंद कर देना चाहिए।
  • कैटनिप की ज्यादा मात्रा का मुंह से या फिर स्मोकिंग के तौर पर लेना हानिकारक हो सकता है।
  • कैटनिप गर्भाशय में संकुचन पैदा कर सकता है इसलिए बेहतर होगा प्रेगनेंसी के दौरान इसके इस्तेमाल से बचें । बच्चों को भी इसका इस्तेमाल मुंह से नहीं करना चाहिए। एक रिपोर्ट के मुताबिक कैटनिप की पत्तियों और इसकी चाय ले रहे एक बच्चे में पेट दर्द, चिड़चिड़ापन और सुस्ती का अनुभव किया गया है।
  • दवाइयों की तुलना में हर्ब्स लेने के लिए नियम ज्यादा सख्त नहीं हैं। बहरहाल यह कितना सुरक्षित है इस बात की जानकारी के लिए अभी और भी रिसर्च की जरूरत है। इस हर्ब को इस्तेमाल करने से पहले इसके रिस्क और फायदे को अच्छी तरह से समझ लें। हो सके तो अपने हर्बल स्पेशलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लेकर ही इसे यूज करें।

ये भी पढ़ें: केल क्या है?

साइड इफेक्ट्स

कैटनिप से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

हर कोई इन साइड इफेक्ट्स का अनुभव नहीं करता है। ऊपर बताए गए लिस्ट में कुछ साइड इफेक्ट्स शामिल नहीं भी हो सकते हैं। यदि आप साइड इफेक्ट्स को लेकर परेशान है तो बेहतर होगा अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

ये भी पढ़ें: मरजोरम क्या है?

डोजेज

कैटनिप को लेने की सही खुराक

एडल्ट्स के लिए: 1 लीटर पानी में 10 टीस्पून सूखे पत्तों को डालकर 10 मिनट तक छोड़कर ढक्कन से ढक दें।

या टिंक्चर के रूप में: 1-5 ml दिन में 3 बार।

हर मरीज के लिए खुराक अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और कई अन्य स्थितियों पर निर्भर करती है। जड़ी बूटी हमेशा सुरक्षित नहीं होती हैं। कृपया अपने उचित खुराक के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

ये भी पढ़ें: मखाना क्या है?

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है?

  • कैप्सूल
  • सूखी पत्तियां
  • एलिक्सिर
  • लिक्विड
  • चाय
  • मिलावट
  • और दूसरे हर्ब्स के साथ कॉम्बिनेशन में उपलब्ध है।

ये भी पढ़ें: जावित्री क्या है?

हैलो हेल्थ ग्रुप डॉक्टरी सलाह, डायगनोसिस या ट्रीटमेंट नहीं करता है।

रिव्यू की तारीख अक्टूबर 5, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया अक्टूबर 7, 2019