सोरियाटिक गठिया की परेशानी होने पर अपनाएं ये उपाय

के द्वारा लिखा गया

अपडेट डेट सितम्बर 9, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

सोरियाटिक गठिया क्या है, जानिए इसके कारण, लक्षण और उपचार के बारे में। यह गठिया, सूजन वाले गठिया का ही एक रूप है। इस गठिया में त्वचा पर  लाल रंग के पैच ऊपरी सतह पर उभर आते है। 1 से 3 प्रतिशत जनसंख्या में सोरायसिस की समस्या होती है। जबकि यह गठिया 5 से 40 तक लोगों में हो सकता है। यह पुरुषों में पाया जाने वाला सबसे आम गठिया है, जो 30 से 50 की उम्र के पुरुषों में दिखाई देता है। इस गठिया एक ऑटोइम्यून स्थिति होती है, जिसमें बॉडी अपने स्वयं के ऊतकों पर हमला करने लगती है, अब तक इस बीमारी का कोई स्पष्ट कारण मालूम नही है। हालांकि कई मामलों में जेनेटिक या पर्यावरणीय कारक मुख्य भूमिका निभाते है। सामान्यतौर यह गठिया तनाव, धूम्रपान, शराब के अत्यधिक सेवन और दूसरे संक्रमणों की वजह से हो सकता है। आमतौर पर त्वचा पर होने वाले सोरियाटिक के लक्षण ज्वाइंट्स पर होने वाले सोरियाटिक से पहले दिखाई देते है।

और पढ़ें- आर्थराइटिस के दर्द से ये एक्सरसाइज दिलाएंगी निजात

सोरियाटिक गठिया क्या है जानिए इसके लक्षण 

यह गठिया क्या है जानने के बाद जानिए लक्षण। इसस गठिया के लक्षण सभी लोगों में अलग-अलग हो सकते है। लेकिन फिर भी ये कुछ सामान्य लक्षण सभी लोगों में दिखाई देते है-

1.जोड़ों से संबंधित लक्षण-

यह गठिया जोड़ों में सूजन का कारण बनता है, जिसके परिणामस्वरूप जोड़ों में दर्द, सूजन, कठोरता और विकृति के लक्षण दिखाई देते है। आमतौर पर जोड़ों में उंगलियां, कलाईयां, पैर की उंगलियां, टखने और घुटने प्रभावित होते है। इस गठिया में शरीर के सभी जोड़ एक ही समय में प्रभावित हो सकते है। सोरियाटिक गठिया में शरीर के दोनों तरफ के जोड़ एक साथ प्रभावित हो सकते है। इस गठिया के कई गंभीर मामलों में आमतौर पर हाथों और पैरों में विकृति देखी जा सकती है।

और पढ़ें– क्या कंधे में रहती है जकड़न? कहीं आप पॉलिमायाल्जिया रूमैटिका के शिकार तो नहीं

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

2.टेंडन और लिगामेंट में सूजन-

यह गठिया होने पर टेंडन और लिगामेंट में सूजन होने लगती है जिसके परिणामस्वरूप टखने या एड़ी में दर्द के लक्षण दिखाई दे सकते है। कभी-कभी हाथों के जोड़ों में सूजन के साथ सॉसेज के आकार (बेलनाकार या कैप्सूल के आकार) की विकृति भी दिखाई दे सकती है।

3.गर्दन और पीठ में दर्द-

यह गठिया रीढ़ के जोड़ों को प्रभावित कर सकता है जिसके परिणामस्वरूप गर्दन और पीठ में दर्द की शिकायत हो सकती है।

4.त्वचा और नाखून में लक्षण-

इस गठिया के कारण त्वचा सूखी, लाल, पपड़ीदार और त्वचा में खुजली होती है जिससे लाल चकत्ते भी दिखाई देते है। त्वचा के ये लक्षण आमतौर पर खोपड़ी, घुटनों और कोहनियों पर देखे जा सकते है। इसके अलावा यह गठिया नाखूनों को भी प्रभावित कर सकता है जिसके परिणामस्वरूप नाखूनों का रंग प्रभावित हो सकता है साथ ही नाखू खड़े या उखड़े भी दिखाई दे सकते है।

और पढ़ें- आपके मोटापे से आर्थराइटिस की परेशानी है जुड़ी, जानें कैसे?

सोरियाटिक गठिया जांच का तरीका 

यह गठिया क्या है जानने के बाद जानिए सोरियाटिक गठिया की जांच कैसे की जाती है। इस गठिया का पता लगाने के लिए डॉक्टर चिकित्सकीय इतिहास देखने के साथ ही जोड़ों, त्वचा, और नाखूनों की जांच कर सकता है। अगर इन शुरूआती लक्षणों से बीमारी का पता नही चल सके तो डॉक्टर रक्त परीक्षण और एक्स-रे की सलाह भी दे सकते है।

सोरियाटिक गठिया मेडिकल ट्रीटमेंट 

यह गठिया क्या है जानने के बाद जानिए सोरियाटिक गठिया का मेडिकल ट्रीटमेंट कैसे किया जाता है। इस गठिया के कारण होने वाली जोड़ों में सूजन को नियंत्रित करने और आगे की क्षति को रोकने के लिए निर्धारित दवाएं दी जा सकती है। त्वचा के लक्षणों को नियंत्रित करने के लिए सामयिक अनुप्रयोग निर्धारित किए जा सकते है। कभी-कभी जोड़ो में ज्यादा तकलीफ होने पर जोड़ों में इंजेक्शन भी दिए जा सकते है।

और पढ़ें- क्या कंधे में रहती है जकड़न? कहीं आप पॉलिमायाल्जिया रूमैटिका के शिकार तो नहीं

सोरियाटिक गठिया सर्जिकल ट्रीटमेंट 

सोरियाटिक गठिया क्या है जानने के बाद जानिए सोरियाटिक गठिया का सर्जिकल ट्रीटमेंट। सोरियाटिक गठिया में जोड़ों की क्षति रोकने के लिए सर्जरी का सहारा लिया जा सकता है। इसके अलावा कई बार जोड़ों को प्रत्यारोपित भी किया जा सकता है।

जोड़ों को स्वस्थ्य बनाने के उपाय 

यह गठिया क्या है जानने के बाद आपको सोरियाटिक गठिया में होने वाली जोड़ों की परेशानी से बचने के लिए अपनी लाइफस्टाइल में जरूरी बदलाव करना जरूरी है। जानिए सोरियाटिक गठिया में जोड़ों को स्वस्थ्य करने के उपाय-

1.नियमित व्यायाम करना-

रोजाना 30 मिनट या हफ्ते में 3-4 बार नियमित रूप से व्यायाम करने से हड्डी और जोड़ स्वस्थ्य रहते है, इसके अलावा नियमित व्यायाम से जोड़ों को लचीलापन बनाने में भी मदद मिलती है। हालांकि व्यायाम करते समय आपको ऐसी कसरत करने से बचना चाहिए जिससे जोड़ों पर अत्यधिक दबाव पड़ता हो। अगर आप जोड़ों की कोई एक्सरसाइज करना चाहते है तो अपने डॉक्टर से उचित सलाह जरूर लें।

2.वेट मैनेजमेंट (वजन प्रबंधन) करना-

सोरियाटिक गठिया में अगर आपका वजन ज्यादा है, तो ओवरलोडिंग की वजह से जोड़ों की परेशानियां बढ़ सकती है। ऐसे में अगर सोरियाटिक गठिया के दौरान वजन को मेंटेन करके रखते है तो जोड़ों के दर्द और लक्षणों में पहले से काफी सुधार होगा। इसलिए सोरियाटिक गठिया में वेट मैनेजमेंट बेहद जरूरी है।

3.धूम्रपान बंद करना-

सोरियाटिक गठिया में धूम्रपान एक जोखिम कारक होने के साथ ही ट्रिगर का काम भी करता है। ऐसे में अगर आप समय रहते सोरियाटिक गठिया में धूम्रपान बंद कर देंगे तो आपका ये फैसला आपकी बीमारी को नियंत्रित करने में काफी मदद कर सकता है।

4.शराब का सेवन सीमित मात्रा में करना-

सोरियाटिक गठिया में अतिरिक्त शराब के सेवन की मात्रा स्थिति को और ज्यादा खराब कर सकती है। इसके साथ ही शराब का सेवन एंटी-सोरियाटिक दवाओं के साथ प्रतिक्रिया भी कर सकती है। ऐसे में सोरियाटिक गठिया होने पर शराब की मात्रा को नियंत्रित करना बेहद जरूरी है, हो सके तो आप शराब को धीरे-धीरे बंद ही कर दें तो सोरियाटिक गठिया में काफी फायदा हो सकता है।

5. तनाव से रहें दूर–

सोरियाटिक गठिया में तनाव एक ट्रिगर का काम करता है। ऐसे में इफेक्टिव स्ट्रेस मैनेजमेंट के द्वारा तनाव को कम करने की कोशिश करने पर बीमारी को काफी हद तक कंट्रोल करने में मदद कर मिलती है।

और पढ़ें- एक्सरसाइज के बारे में ये फैक्ट्स पढ़कर कल से ही शुरू कर देंगे कसरत

यह गठिया एक खतरनाक बीमारी तो है लेकिन अगर सही दवाओं के साथ जीवनशैली में जरूरी बदलाव किए जाए तो इस बीमारी को काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकता है। सोरियाटिक गठिया का सही समय पर निदान और उचित उपचार संयुक्त विनाशकारी स्थायी विकलांगता को रोकने में मदद कर सकता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

एक्सपर्ट से डॉ. सिद्धार्थ शाह

सोरियाटिक गठिया की परेशानी होने पर अपनाएं ये उपाय

सोरियाटिक गठिया क्या है, जानिए इसके कारण, लक्षण और उपचार के बारे में। Psoriatic Arthritis in hindi, सोरियाटिक गठिया, Psoriatic Arthritis, Psoriatic Arthritis Treatment in Hindi,

के द्वारा लिखा गया डॉ. सिद्धार्थ शाह
रिएक्टिव अर्थराइटिस-Reactive Arthritis

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Spondylosis: स्पोंडिलोसिस क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

जानिए स्पोंडिलोसिस क्या है, स्पोंडिलोसिस के लक्षण और कारण, Spondylosis का निदान कैसे करें, Spondylosis के उपचार की प्रक्रिया क्या है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita mishra
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z जून 12, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Knee Pain : घुटनों में दर्द क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

जानिए घुटनों में दर्द का कारण, क्या इस दर्द का निदान और उपचार है?, नी पेन के लक्षण, उसका घरेलू उपचार, Knee Pain के लिए ट्रीटमेंट, Knee Pain की सर्जरी।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita mishra
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z जून 11, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Etoshine: एटोशाइन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

एटोशाइन दवा की जानकारी in hindi डोज, किन किन बीमारियों में होता है इसका इस्तेमाल के साथ सावधानी और चेतावनी, रिएक्शन को जानने के लिए पढ़ें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 11, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Flexura D: फ्लेक्सुरा डी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फ्लेक्सुरा डी की जानकारी in hindi. इसके डोज, उपयोग, साइड इफेक्ट्स, सावधानी और चेतावनी को जानने के साथ इसके रिएक्शन और स्टोरेज को जानने के लिए पढ़ें ये आर्टिकल।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 11, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

डाइक्लोविन प्लस टैबलेट

Diclowin Plus Tablet : डाइक्लोविन प्लस टैबलेट प्लस टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ अगस्त 11, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
टेंडोकेयर फोर्टे टैबलेट

Tendocare Forte Tablet : टेंडोकेयर फोर्टे टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ जुलाई 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
पाइरिजेसिक टैबलेट

Pyrigesic Tablet : पाइरिजेसिक टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ जुलाई 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Acenext P, एसनेक्स्ट पी

Acenext P: एसनेक्स्ट पी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ जून 23, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें