पीठ दर्द में योग: कौन-कौन से योग हैं पीठ दर्द में लाभकारी?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट December 2, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

इंडिया में 42% लोग कमर दर्द से पीड़ित है। पीठ दर्द में योग (Yoga for back pain) हमारे जीवनशैली में जरूरी है। सारा दिन एक ही जगह बैठ कर काम करने या बिगड़ती जीवनशैली के कारण यह परेशानी बेहद सामान्य होती जा रही है। किसी भी उम्र के व्यक्ति को कमर दर्द होना आजकल आम बात है। इसके कारण अधिक देर तक बैठना, खड़े होना या लेटना तक मुश्किल हो जाता है। कमर दर्द को दूर करने के लिए कई दवाइयां, स्प्रे या अन्य औषधियां मिल जाएंगी, जिससे आपको कुछ देर तक ही आराम महसूस होगा। भारत, ब्रिटेन और अमेरिका में हुए शोध के अनुसार, नियमित रूप से योग करने से आपको कमर दर्द से काफी हद तक छुटकारा मिल सकता है। इसलिए, अगर आपको कमर दर्द से पाना है छुटकारा, तो आप नीचे बताए गए योगासन कर सकते हैं। जानिए पीठ दर्द में योग के कुछ प्रकार समझने के पहले पीठ दर्द के कारण क्या हैं?

पीठ दर्द के कारण क्या हैं?

पीठ दर्द (बैक पेन) के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं। इन कारणों में शामिल है:

  • कैल्शियम की कमी- बॉडी में कैल्शियम की कमी कमर दर्द हो पीठ दर्द कमर दर्द का कारण बन सकती है।
  • ज्यादातर देर तक बैठना- एक ही पुजिशन में बैठना या ठीक तरह से न बैठने की आदत कमर दर्द के कारणों में से एक है।
  • अर्थराइटिस की समस्या- कमर दर्द या पीठ दर्द की समस्या अर्थराइटिस पेशेंट्स को हो सकती है।
  • व्यायाम नहीं करना- एक्सरसाइज नहीं करने कारण के कारण भी पीठ दर्द की समस्या दस्तक देने के लिए काफी है। इसलिए रोजाना आधे घंटे एक्सरसाइज या योग करने की आदत डालें। व्यायाम या योग से बॉडी फ्लेगसिबल रहती है।
  • भारी वजन उठाना- बार-बार हैवी लिफ्टिंग या भारी वजन उठाने से पीठ की मांसपेशियों और स्पाइनल लिगामेंट्स में खिंचाव आ सकता है। यदि आप अत्यधिक हैवी लिफ्टिंग करते हैं, तो आपकी पीठ पर लगातार खिंचाव पड़ता है, जिससे मांसपेशियों में ऐंठन हो सकती है और पीठ दर्द की समस्या हो सकती है।

पीठ दर्द में योग करने से होगा लाभ (Yoga for back pain)

पीठ दर्द में योग: कौन-कौन से योग पीठ दर्द में है लाभकारी?

  • भुजंगासन (Bhujangasana)
  • अर्ध-मत्स्येंद्रासन (Ardha matsyendrasana)
  • ताड़ासन (Tadasana)
  • मकरासन (Makarasana)
  • सर्वांगासन (Sarvangasana)
  • बालासन (Balasana)

1. पीठ दर्द में योग- भुजंगासन (Bhujangasana)

पीठ दर्द में योग-yoga for back pain

भुजंगासन में भुजंग का अर्थ है सांप। इस पीठ दर्द में योग की आखिरी पुजिशन में शरीर ऐसा लगता है जैसे सांप ने अपना फन फैलाया हुआ हो। इसलिए, इस आसान को यह नाम दिया गया है। इस आसन को नियमित रूप से करने से कमर दर्द दूर होता है और कमर के आसपास की अनचाही चर्बी भी कम होती है। रीढ़ संबंधी समस्याओं को दूर करने में भी यह योगासन फायदेमंद है।

और पढ़ें : योगा या जिम शरीर के लिए कौन सी एक्सरसाइज थेरिपी है बेस्ट


कैसे करें भुजंगासन?

निम्न प्रकार से करें भुजंगासन:-

  • भुजंगासन को करने के लिए सबसे पहले योगामैट या दरी पर पेट के बल लेट जाएं।
  • आपके दोनों पैर एक साथ जुड़े होने चाहिए।
  • अब अपने दोनों हाथों को बिल्कुल सीधे चेस्ट के आगे की तरफ ले जाएं।
  • फिर सांस अंदर लें (ब्रीदिंग टेकनीक) और शरीर के आगे वाले हिस्से को ऊपर उठाएं, लेकिन कमर को अधिक न खींचे।
  • अपनी हथेलियों की सहायता से अपने शरीर के अगले हिस्से को संतुलित करें।
  • कुछ सेकेंड तक ऐसे ही रहें।
  • फिर सांस छोड़ते हुए पहले वाली सामान्य अवस्था में आ जाएं।
  • इसके बाद फिर ये आसन दोहराएं।

2. पीठ दर्द में योग- अर्ध-मत्स्येंद्रासन (Ardha matsyendrasana)

पीठ दर्द में योग-yoga for back pain

ऐसा कहा जाता है कि यह ऋषि मत्स्येंद्रनाथ का पसंदीदा आसन था। इसलिए, उनके नाम पर ही इस आसन का नाम अर्ध-मत्स्येंद्रासन पड़ा। यह आसन रीढ़ की हड्डी की समस्याएं दूर करने के लिए फायदेमंद है। इसके साथ ही, कमर और पीठ दर्द दूर करने में भी यह योग सहायक सिद्ध हो सकता है।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

और पढ़ें : महिलाओं की प्रजनन क्षमता बढ़ाने में सहायक 5 योगासन

कैसे करें अर्ध-मत्स्येंद्रासन?

निम्न प्रकार से करें अर्ध-मत्स्येंद्रासन:-

  • अर्ध-मत्स्येंद्रासन को करने के लिए सबसे पहले योगमैट या दरी पर बैठ जाएं और अपने पैरों को सामने की तरफ फैला लें।
  • दोनों पैरो को एक साथ रखें और तन कर बैठे।
  • अब अपने बाएं पैर को मोड़ लें और इसकी एड़ी को राइट हिप के पास रखें।
  • अपने दाहिने पैर को मोड़ कर बाएं घुटने के ऊपर से ला कर जमीन पर रखे दें।
  • अपना दाहिना हाथ पीछे की तरफ रखें और बाएं हाथ को दाहिने पैर पर रख दें।
  • अब अपनी कमर, कंधे और गर्दन को भी दाईं तरफ मोड़ लें और कंधे के ऊपर से उस तरफ देखें।
  • इसी स्थिति में कुछ देर रहें और उसके बाद सांस छोड़ते हुए सामान्य स्थिति में आ जाएं।
  • फिर इस आसन को दोहराएं।

3. पीठ दर्द में योग- ताड़ासन (Tadasana)

पीठ दर्द में योग-yoga for back pain

ताड़ासन को पाइन ट्री या पर्वतासन के नाम से भी जाना जाता है। इस आसन में पैर से लेकर शरीर के हर अंग का व्यायाम होता है। इसके कारण यह योग पीठ दर्द को ठीक करने के साथ-साथ सुडौल भी बनाता है। इस आसन को करने से घुटने, जांघे, भुजाएं एवं पैरों भी मजबूत होते हैं।

और पढ़ें : जिम वाली एक्सरसाइज, जिन्हें आप घर पर आसानी से कर सकते हैं

कैसे करें ताड़ासन?

निम्न प्रकार से करें ताड़ासन:-

  • ताड़ासन करने के लिए सबसे पहले जमीन पर सीधे खड़े हो जाएं।
  • अपने दोनों पैरों के बीच थोड़ा फासला रखें।
  • अब अपने हाथों को ढीला छोड़ें।
  • सांस लेते हुए अपने दोनों हाथों को सिर के ऊपर ले जाएं।
  • अपने दोनों हाथों की उंगलियों को आपस में फंसा दें।
  • अब अपनी एड़ियों को ऊपर उठाएं ताकि, आप अपनी पैरों के पंजों के सहारे खड़े हो जाएं।
  • कुछ देर इस पुजिशन में रहें।
  • इसके बाद सांस छोड़ते हुए अपनी नॉर्मल पुजिशन में आ जाएं।

4. पीठ दर्द में योग- मकरासन (Makarasana)

पीठ दर्द में योग-yoga for back pain

इस पीठ दर्द योग में मकर का अर्थ होता है मगरमच्छ। इस आसन की मुद्रा को देख कर ऐसा लगता है जैसे कोई मगरमच्छ आराम कर रहा है। यह पीठ, कमर और कंधे के दर्द से पूरी तरह से आराम दिलाता है। शरीर की थकान को दूर करने और गर्दन व कमर की अकड़न से राहत पाने में भी यह आसन लाभकारी है।

कैसे करें मकरासन?

निम्न प्रकार से करें मकरासन:-

  • मकरासन को करने के लिए जमीन पर पेट के बल लेट जाएं।
  • अपने शरीर को थोड़ा ढीला छोड़ दें।
  • अपने पैरों के बीच थोड़ा फासला रखें।
  • अब अपने सिर, कंधे और छाती को थोड़ा सा ऊपर उठाएं।
  • अपनी दोनों भुजाओं को मोड़ कर अपने चेहरे के नीचे एक दूसरे के ऊपर रखें।
  • आंखों को बंद रखें और गहरी सांस लें।
  • अब कुछ देर बाद आंखें खोल कर सामान्य स्थित में आ जाएं।
  • अच्छे परिणाम पाने के लिए रोजाना इस आसन को 8 -10 बार दोहराएं।

5. पीठ दर्द में योग- सर्वांगासन (Sarvangasana)

पीठ दर्द में योग-yoga for back pain

जैसा कि इस आसन के नाम से ही पता चल रहा है कि इस आसान में पूरे शरीर के अंगों का उपयोग होता है। इसलिए, यह आसन हमारे पूरे शरीर के लिए बेहद लाभदायक है। इस आसन के प्रयोग से  शारीरिक और मानसिक दोनों समस्याएं दूर होती है। कंधे और कमर दर्द से राहत पाने के लिए यह खासतौर पर फायदेमंद है। वैसे कमर दर्द में राहत मिलने के साथ-साथ पीठ दर्द में योग से दर्द से राहत मिलता है।

और पढ़ें : हाइट बढ़ाने के लिए बेस्ट हैं ये  

कैसे करें सर्वांगासन?

निम्न प्रकार से करें सर्वांगासन:-

  • सर्वांगासन करने के लिए सबसे पहले जमीन पर लेट जाएं।
  • अब अंदर की तरफ सांस लें और अपने पैरों को ऊपर की तरफ ले जाएं।
  • अपने पैरों के बाद कमर और फिर छाती को थोड़ा ऊपर ले जाएं।
  • अपनी पीठ को अपने हाथों का सहारा दें।
  • ध्यान रहे इस दौरान आपके पैर और कमर दोनों सीधे हों।
  • कुछ देर ऐसे ही मुद्रा में रहें और सांस बाहर ले जाएं और अंदर लें।
  • इसके बाद धीरे-धीरे सामान्य स्थिति में वापस आ जाएं।
  • आसान को दोहराएं।
  • इस आसन में पूरा भार कंधों पर पड़ता है।

6. पीठ दर्द में योग – बालासन (Balasana)

पीठ दर्द में योग-yoga for back pain
balasan

बालासन के नाम से ही आप समझ सकते हैं कि, इस आसन की स्थिति एक बच्चे के जैसी होती है। इस आसन को आम भाषा में चाइल्ड पोज आसन भी कहा जाता है। पीठ दर्द को दूर करने के लिए इस आसन को काफी प्रभावी माना गया है। इसे पीठ दर्द के अलावा थकान दूरकर अच्छी नींद प्राप्त करने के लिए भी किया जा सकता है। यह योगासन काफी आरामदायक और आसान माना जाता है।

कैसे करें बालासन?

निम्न प्रकार से करें बलासन?

  • एक मैट बिछाकर उसपर घुटने के बल बैठ जाएं।
  • आपके बैठने की स्थिति इस तरह होनी चाहिए, जिससे आपके कूल्हे आपके तलवों पर आएं।
  • इसके बाद सांस को अंदर लेते हुए अपने दोनों हाथों को ऊपर की तरफ ले जाएं और इस दौरान आपके हाथ खुले हुए होने चाहिए।
  • इसके बाद धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए शरीर के ऊपरी हिस्से को आराम की मुद्रा में जमीन को टच करें।
  • इस आसन में करीबन 5 से 10 मिनट तक रहने से आपको काफी फायदा मिल सकता है।

और पढ़ें : रीढ़ की हड्डी के लिए फायदेमंद ऊर्ध्व मुख श्वानासन को कैसे करें, क्या हैं इसे करने के फायदे जानें

वीडियो को क्लिक कर देखें योग से कैसे दर्द की समस्या से राहत मिल सकता है।

कमर दर्द से छुटकारा पाना हो या पीठ दर्द में योग के लिए चक्रासन, भुजंगासन, शलभासन भी लाभदायक हैं। ध्यान रखें कि पीठ दर्द योग का फायदा तभी होता है जब इसे सही तरीके से किया जाएं। अगर आप इसे गलत तरीके से करते हैं, तो यह हमारे शरीर के लिए बेहद हानिकारक सिद्ध हो सकता है। योग करने से पहले इसे किसी अच्छे गुरू से सीखें। उसके बाद ही इसका अभ्यास करें। अच्छे से करने पर यह आपके जीवन को शारीरिक और मानसिक रूप से बदल सकता है। यह पीठ दर्द योग आपके काफी काम आएंगे। अगर पीठ दर्द में योग से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। इसलिए निम्नलिखित स्थिति में डॉक्टर से संपर्क करें। जैसे:

  • पीठ दर्द कई दिनों से लगातर हो।
  • योग या एक्सरसाइज के बाद भी परेशानी कम न हो।
  • पीठ दर्द की वजह से शरीर के अन्य हिस्सों में दर्द होना या परेशानी महसूस होने पर।

पीठ दर्द की समस्या से बचने के लिए खास टिप्स:

  1. नियमित एक्सरसाइज या योग करें।
  2. शरीर का वजन संतुलित रखें।
  3. बॉडी को फ्लेक्सिबल बनायें।
  4. खड़े होने, बैठने के सही पुजिशन के साथ-साथ बॉडी पॉश्चर का भी ध्यान रखें।
  5. अगर आप वजन ज्यादा उठाने का कार्य करते हैं, तो ध्यान पूर्वक वजन वेट लिफ्ट करें।
  6. स्मोकिंग न करें। रिसर्च के अनुसार स्मोकिंग करने से बैक पेन की समस्या बढ़ सकती है।

इन ऊपर बताई स्थितियों के साथ-साथ अन्य परेशानी महसूस होने पर घरेलू इलाज न अपनाकर स्वास्थ्य विशेषज्ञों से संपर्क करना बेहतर होगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

वृक्षासन योग से बढ़ाएं एकाग्रता, जानें कैसे करें इस आसन को और क्या हैं इसके फायदे

वृक्षासन कैसे करें, इस आसन के लाभ, वृक्षासन को किन स्थितियों में नहीं करना चाहिए, Vrikshasana in Hindi, Benefits of Vrikshasana

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma

दिमाग को शांत करने के लिए ट्राई करें विपरीत करनी आसन, और जानें इसके अनगिनत फायदें

विपरीत करनी आसन करने का तरीका, कैसे है विपरीत करनी आसन लाभदायक, इसे किन स्थितियों में नहीं करना चाहिए, पाइए पूरी जानकारी, Viparita Karani Aasan in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma

क्या है क्रोकोडाइल पोज या मकरासन, जानें करने का तरीका और फायदें?

मकरासन (Crocodile pose) क्या है। इसे कैसे किया जाए एक्सपर्ट के हवाले से जानें, वहीं इसके फायदे और नुकसान को जानने के साथ किसे करना चाहिए और किसे नहीं जानें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

रीढ़ की हड्डी के लिए फायदेमंद ऊर्ध्व मुख श्वानासन को कैसे करें, क्या हैं इसे करने के फायदे जानें

ऊर्ध्व मुख श्वानासन, ऊर्ध्व मुख श्वानासन करने का तरीका , क्या हैं इस आसन को करने के फायदे और नुकसान जानिए विस्तार से, Urdhva Mukha Shvanasana in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma

Recommended for you

बच्चों में एकाग्रता/concentration

बच्चों में एकाग्रता बढ़ाने के लिए क्या करना चाहिए?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
प्रकाशित हुआ September 15, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अग्नि मुद्रा-Agni Mudra

मोटापे से हैं परेशान? जानें अग्नि मुद्रा को करने का सही तरीका और अनजाने फायदें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Ruby Ezekiel
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
प्रकाशित हुआ August 28, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
मेडिटेशन वॉकिंग क्विज - Quiz Meditation Walk

Quiz खेलकर जानें कि मेडिटेशन वॉक के क्या-क्या हैं फायदें

के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ August 26, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
पवनमुक्तासन-Wind Relieving Pose

पेट की परेशानियों को दूर करता है पवनमुक्तासन, जानिए इसे करने का तरीका और फायदे

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
प्रकाशित हुआ August 20, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें