home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Globe flower: ग्लोब फ्लावर क्या है?

परिचय|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|डोसेज|उपलब्ध
Globe flower: ग्लोब फ्लावर क्या है?

परिचय

ग्लोब फ्लावर (Globe Flower) क्या है?

ग्लोब फ्लावर एक पौधा है। इसका वानस्पातिक नाम Trollius है। ये Ranunculaceae परिवार से ताल्लुख रखता है। इस पर पीले रंग के फूल आते हैं। इस पूरे पौधे को दवाओं में इस्तेमाल किया जाता है। इस पूरे पौधे खासतौर से इसकी जड़ों का इस्तेमाल दवाओं में किया जाता है। यह पौधा जब ताजा होता है तो इसका इस्तेमाल किया जाता है। जब ये सूख जाता है तो ये औषधीय गुणों को खो देता है। रूस में इसका उपयोग कई बीमारियों के उपचार कि लिए किया जाता है। कई लोग इसका सेवन विटामिन-सी की कमी के कारण होने वाली बीमारी स्करवी के लिए करते हैं।

ग्लोब फ्लावर (Globe Flower) का उपयोग किस लिए किया जाता है?

एंटी-इन्फलामेटरी प्रॉपर्टीज:

इसमें मौजूद एंटी-इन्फलामेटरी प्रॉपर्टीज दर्द और सूजन. को दूर करने में मदद करती है। अर्थराइटिस और जोड़ों के दर्द के लिए इसे लाभदायक माना जाता है।

लैक्सेटिव:

इसमें लैक्सेटिव गुण होते हैं जो फैटी एसिड टूल्स को सॉफ्ट करता है। इसके साथ ही ये आंतों की सफाई में भी मददगार है।

ड्यूरेटिक:

इसमें ड्यूरेटिक प्रॉपर्टीज होती हैं जिसके कारण यह मेटाबॉलिज्म ठीक करता है और पेट के टॉक्सिन हटाता है। जिन लोगों को कब्ज की शिकायत रहती है उनके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

पीरियड्स की परेशानी दूर करता है:

महिलाएं इसका इस्तेमाल मासिक धर्म के प्रवाह को प्रोत्साहित करने के लिए करती हैं। जब हॉरमोनल डिसबैलेंस के कारण मासिक धर्म नहीं होते ऐसे में ये मददगार है। पीरियड्स से जुड़ी अन्य परेशानियों से राहत पाने के लिए भी इसे उपयोगी माना जाता है।

स्कर्वी का करे इलाज:

इसका इस्तेमाल स्करवी रोग के लिए किया जाता है जो विटामिन सी की कमी से होता है। स्कर्वी में शरीर खासकर जांघ और पैर में चकत्ते पड जाते हैं। इस परेशानी के बढ़ने पर मसूड़े सूज जाते हैं और इसके बाद दांत गिरने लगते हैं।

कैसे काम करता है ग्लोब फ्लावर (Globe Flower)?

इस बारे में पर्याप्त शोध नहीं है कि ग्लोब फ्लावर कैसे काम करता है। इसके बारे में अधिक जानने के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से कंसल्ट करें। इसमें प्रोटोएनीमोनिन (Protoanemonin), एनीमोनिन (anemonin), विटामिन-सी (vitamin C) पाए जाते हैं। इसके अलावा इसमें लैक्सेटिव, ड्यूरेटिक और एंटी-इन्फलामेटरी प्रॉपर्टीज होती हैं जो हमारी ओवरऑल हेल्थ के लिए अच्छा होता है।

यह भी पढ़ें: Cinnamon: दालचीनी क्या है?

सावधानियां और चेतावनी

कितना सुरक्षित है ग्लोब फ्लावर (Globe Flower) का इस्तेमाल?

ग्लोब फ्लावर का सेवन सीमित मात्रा में सुरक्षित है लेकिन इसे चिकित्सक द्वारा रिकमेंड करने के बाद ही लें। अत्यधिक मात्रा में इसे लेने से शरीर पर बुरा असर पड़ सकता है। निम्नलिखित परिस्थितियों में इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें:

  • यदि आप प्रेग्नेंट या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। दोनों ही स्थितियों में सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर ही दवा खानी चाहिए। प्रेग्नेंसी में इसके सेवन से मिसकैरेज होने का खतरा होता है।
  • यदि आप अन्य दवाइयां ले रही हैं। इसमें डॉक्टर की लिखी हुई और गैर लिखी हुई दवाइयां शामिल हैं, जो मार्केट में बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के खरीद के लिए उपलब्ध हैं।
  • यदि आपको ग्लोब फ्लावर या किसी पदार्थ या अन्य दवा या औषधि से एलर्जी है।
  • यदि आपको कोई बीमारी, डिसऑर्डर या कोई अन्य मेडिकल कंडिशन है।
  • यदि आपको फूड, डाई, प्रिजर्वेटिव्स या जानवरों से अन्य प्रकार की एलर्जी है।

अन्य दवाइयों के मुकाबले औषधियों के संबंध में रेग्युलेटरी नियम अधिक सख्त नही हैं। इनकी सुरक्षा का आंकलन करने के लिए अतिरिक्त अध्ययनों की आवश्यकता है। ग्लोब फ्लावर का इस्तेमाल करने से पहले इसके खतरों की तुलना इसके फायदों से जरूर की जानी चाहिए। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

ये लोग बरतें खास सावधानी

जिन लोगों को डायजेस्टिव ट्रेक्ट, किडनी, ब्लेडर और यूरिनरी ट्रेक्ट संबंधित परेशानी है उसे इसका सेवन एवॉइड करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: Barley: जौ क्या है?

साइड इफेक्ट्स

ग्लोब फ्लावर (Globe Flower) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

फ्रेश ग्लोब फ्लावर में कुछ ऐसे पदार्थ होते हैं जो डायजेस्टिव ट्रेक्ट में दिक्कत जैसे पेट में दर्द और डायरिया कर सकते हैं। इससे किडनी, ब्लेडर और यूरिनरी ट्रेक्ट में भी परेशानी हो सकती है। स्किन पर इसे लाने से पहले पैच टेस्ट जरूर करें। कुछ लोगों को इससे फफोले और जलन हो सकती है जो आसानी से ठीक नहीं होते।

हालांकि हर किसी को ये साइड इफेक्ट हो ऐसा जरुरी नहीं है, कुछ ऐसे भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं, जो ऊपर बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें। यदि आपको इसका सेवन करने के बाद किसी तरह का कोई साइड इफेक्ट नजर आए तो इसकी जानकारी तुरंत अपने चिकित्सक को दें। यदि कोई गंभीर साइड इफेक्ट है तो अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड जाएं।

यह भी पढ़ें: Brown Rice : ब्राउन राइस क्या है ?

डोसेज

ग्लोब फ्लावर (Globe Flower) को लेने की सही खुराक क्या है?

ग्लोब फ्लावर की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लीमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें। कभी भी अपनी खुराक खुद से निर्धारित करने की गलती न करें। खुराक को लेकर आपके द्वारा की गई छोटी सी लापरवाही हानिकारक साबित हो सकती है।

यह भी पढ़ें: Jambolan: जामुन क्या है?

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है ग्लोब फ्लावर (Globe Flower)?

ग्लोब फ्लावर निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध है:

  • रॉ ग्लोब फ्लावर (Raw Globe Flower)

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की मेडिकल सलाह , निदान या सारवार नहीं देता है न ही इसके लिए जिम्मेदार है।

हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में इस हर्बल से जुड़ी ज्यादातर जानकारियां देने की कोशिश की है, जो आपके काफी काम आ सकती हैं। अगर आपको ऊपर बताई गई कोई सी भी शारीरिक समस्या है तो इस हर्ब का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। बस इस बात का ध्यान रखें कि हर हर्ब सुरक्षित नहीं होती। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें तभी इसका इस्तेमाल करें। ग्लोब फ्लावर से जुड़ी यदि आप अन्य जानकारी चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट कर पूछ सकते हैं।

और पढ़ें:

Ashwagandha : अश्वगंधा क्या है?

Aloe Vera : एलोवेरा क्या है?

Black Seed: कलौंजी क्या है?

Black Cumin: काला जीरा क्या है?

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 21/05/2020 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड