home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Pear: नाशपाती क्या है?

परिचय|उपयोग|साइड इफेक्ट्स|डोजेज|उपलब्ध
Pear: नाशपाती क्या है?

परिचय

नाशपाती क्या है? (What is Pear?)

नाशपाती (Pear) पौष्टिक गुणों से भरपूर एक फल है, जिसका सेवन प्राचीन काल से दुनियाभर में किया जा रहा है। इसका वानस्पातिक नाम पाइरस कम्यूनिस है। ये फल रोसेशिए (Rosaceae) परिवार का सदस्य है। यह सेब से संबंधित फल है। हालांकि इसमें शुगर की मात्रा अधिक और अम्ल की मात्रा कम होती है। ये स्वादिष्ट होने के साथ-साथ कई पोषक तत्वों और औषधियों गुणों से भरपूर है। इसका प्रयोग कई बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता है। सबसे पहले इस फल को उत्तरी अफ्रीका, पश्चिमी यूरोप और एशिया में उगाया गया था। भारत में इसकी खेती पंजाब, उत्तर प्रदेश और कश्मीर में होती है। इसका पेड़ एक मध्यम ऊंचाई का होता है जो 10 से 17 मीटर (लगभग 33 से 56 फीट) तक लंबा हो सकता है। इसकी कुछ प्रजातियां झाड़ के रूप में भी होती है जिनकी लंबाई बहुत ही कम होती है।

नाशपाती (Pear) में बहुत से विटामिन्स और खनिजों की मात्रा होती है इसलिए यह शरीर के लिए जरूरी सभी विटामिन्स की कमी को पूरा कर सकता है। यह पाचन तंत्र को भी मजबूत बनाता है और कब्ज की समस्या का उपचार करता है।

और पढ़ें : Fireweed: फायरवीड क्या है?

नाशपाती का उपयोग किस लिए किया जाता है? (Use of Pear)

पाचन (Diagestion) में सुधार:

मिनेसोटा विश्वविद्यालय के प्रोफेसर डॉ. जोनने स्लाविन के नेतृत्व में हुए एक अध्ययन में पाया कि नाशपाती फाइबर (Fiber) का अच्छा स्रोत है। फाइबर युक्त होने की वजह से नाशपाती और आंतों को ज्यादा सक्रिय रखता है और खाना आसानी से पच भी जाता है।

वजन कम (Weight loss) करने में मददगार:

बहुत सारे फल ऐसे होते हैं, जिसमें शुगर लेवल (Sugar Level) बहुत अधिक मात्रा में होता है। नाशपाती लो कैलोरी फल है, जो हेल्दी डायट (Healthy Diet) के लिए परफेक्ट है। इसके सेवन से चर्बी के रूप में शरीर में मौजूद विषैले पदार्थ आसानी से बाहर आ जाते हैं। इससे वजन कम करने में मदद मिलती है।

एंटी-ओक्सिडेंट (Antioxident):

नाशपाती (Pear) में प्रचुर मात्रा में विटामिन-सी (Vitamin-C) होता है, जो प्रतिरक्षा प्रणाली का समर्थन करने के साथ एंटी-ओक्सिडेंट गुण भी प्रदान करता है। एंटी-ओक्सिडेंट शरीर से हानिकार तत्वों को बाहर निकाल स्वास्थ्यको ठीक रखता है।

कब्ज (Constipation) से दिलाए राहत:

नाशपाती के सेवन से कब्ज (Constipation) संबंधित परेशानियों से राहत मिलती है। इससे आंतों में जमी गंदगी मल के रूप में आसानी से बाहर आ जाती है।

कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) को करे कंट्रोल:

एक रिसर्च के मुताबिक पियर में पेक्टिन नामक तत्व होता है, जो कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) को नियंत्रित करने में मददगार है।

मधुमेह (Diabetes):

रिसर्च के अनुसार, नाशपाती के सेवन से मधुमेह (Diabetes) के लक्षणों को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

दिल (Heart) को रखे स्वस्थ:

नाशपाती का सेवन करने से स्ट्रोक (Strok) का खतरा कम रहता है। पीयर में पोटेशियम होता है जो दिल से लेकर दिमाग और किडनी को सुरक्षित रखने का काम करता है। इसके अलावा, ये शरीर के सभी हिस्सों में रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है।

गर्भधारण में मददगार:

नाशपाती में फोलिक एसिड होता है, जो ट्यूब में बच्चे को होने वाले दोषों से दूर रखता है। प्रेग्नेंट महिलाओं को फोलिक एसिड मेंटेन रखने की सलाह भी दी जाती है।

हड्डियों को बनाए मजबूत:

नाशपाती में मैग्नीशियम, मैंगनीज, फॉस्फोरस, कैल्शियम और कॉपर उच्च मात्रा में होता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाए रखने में लाभदायक है।

कैंसर से कवच प्रदान करे:

इस फल में एंटी-कारसिनोजेनिक (Anticarcinogenic) गुण होते हैं जो कैंसर (Cancer) की रोकथाम में सहायता करता है।

हीमोग्लोबिन (Hemoglobin) की मात्रा बढ़ाएः

नाशपाती में आयरन (Iron) की अच्छी मात्रा होती है, जो शरीर में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ा सकता है। अगर कोई एनीमिया से पीड़ित हो तो उसके लिए नियमित तौर पर नाशपाती का सेवन करना लाभकारी हो सकता है।

प्रतिरोध क्षमता बढ़ाएः

नाशपाती शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बहुत आसानी से बढ़ा सकती है और प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत कर सकती है। इसके लिए नियमित तौर पर आप नाश्ते में नाशपाती का सेवन शामिल कर सकते हैं।

घेंघा (Goitre) रोग दूर करेः

शुगर और घेंघा रोग के साथ-साथ नाशपाती एनीमिया (Anemia) और गठिया (Arthritis) के उपचार में भी कारगर साबित हो सकता है। साथ ही, इसमें आयोडीन भी भरपूर मात्रा होती है जो घावों को जल्दी भरने में मदद कर सकते हैं।

कैसे काम करता है नाशपाती (Pear)?

इस फल में मौजूद विटामिन, खनिज और ओर्गेनिक कंपाउंड हमारे अच्छे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है। इसमें विटामिन-सी (Vitamin-C), विटामिन-के (Vitamin-K), पोटैशियम (Potassium), फोलेट (Folat), फाइबर (Fiber), कॉपर (Copper), मैंगनीज (Manganese) और बी कॉम्प्लेक्स (B- Complex) विटामिन भी होते हैं। इसमें पेक्टिन होता है, जो डायरिया (Diarrhea) को कम करने में मदद करते हैं।

और पढ़ेः जेलेटिन क्या है?

उपयोग

कितना सुरक्षित है नाशपाती का उपयोग? (Use of Pear)

सही मात्रा में नाशपाती का सेवन सेफ है फिर भी इस पर कई शोध किए जा रहे हैं। हालांकि कुछ लोगों को किसी किसी फल से एलर्जी (Allergy) होती है। इसलिए अपनी बॉडी को मोनिटर करते रहें। अगर आप कभी इस फल को नहीं खाते हैं, तो एक दम से इसे ज्यादा मात्रा में न खाएं। रोजाना एक नाशपाती से शुरुआत करें। इसमें अधिक मात्रा में फ्रुक्टोज होता है, जिसकी डायट (Diet) से कुछ लोगों में डायरिया और कब्ज (Constipation) की परेशानी होने लगती है। इसे दवाई के तौर पर लेना कितना सेफ है इस बारे में कोई जानकारी नहीं है।

हर्बल सप्लिमेंट के उपयोग और दवाओं के नियम सख्त नहीं होते हैं। इनकी उपयोगिता और सुरक्षा से जुड़े नियमों के लिए अभी और शोध की जरुरत है। नाशपाती के हर्बल सप्लिमेंट के तौर पर इस्तेमाल करने से पहले इसके फायदे और नुकसान की तुलना करना जरुरी है। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए किसी हर्बल विशेषज्ञ या डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ेंः Green Coffee : ग्रीन कॉफी क्या है?

साइड इफेक्ट्स

नाशपाती से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं? (Side effects of Pear)

नाशपाती से थोड़ी बहुत एलर्जी है, तो ये लक्षण दिखाई दे सकते हैं:

और पढ़ें : Gooseberry : आंवला क्या है?

अगर ये लक्षण दिखाई दें तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें:

  • गले और जीभ में सूजन होना और सांस न ले पाना
  • ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) का बहुत ज्यादा कम हो जाना
  • चक्कर आना या बेहोश हो जाना

डोजेज

नाशपाती को लेने की सही खुराक क्या है? (Dose of Pear)

इसकी खुराक को लेकर कोई सही जानकारी नहीं है। हर्बल सप्लिमेंट की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लिमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

और पढ़ेंः Jasmine : चमेली क्या है?

उपलब्ध

नाशपाती किन रूपों में उपलब्ध है?

  • रॉ नाशपाती
  • जूस

उपरोक्त दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अगर आपको नाशपाती (Pear) के बारे में अधिक जानकारी चाहिए तो बेहतर होगा कि आप विशेषज्ञ से जानकारी लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

PEARS AND DIABETES/https://usapears.org/pears-and-diabetes-2/Accessed on 16/03/2021

Bye Apple! 5 Reasons Why You Should Eat A Pear Every Day/https://blackdoctor.org/health-benefits-of-pears/Accessed on 16/03/2021

Pears/https://nutritionfacts.org/topics/pears/Accessed on 16/03/2021

9 Health and Nutrition Benefits of Pears/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4657810//Accessed on 3 January, 2020.

Systematic Review of Pears and Health. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4657810/Accessed on 3 January, 2020.

 

लेखक की तस्वीर
Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 16/03/2021 को
Dr. Shruthi Shridhar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x