home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Yerba Santa: येरबा सांता क्या है?

परिचय|उपयोग|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|डोसेज|उपलब्ध
Yerba Santa: येरबा सांता क्या है?

परिचय

येरबा सांता क्या है?

बोटैनिकल नाम: एरियोडिक्टियन कैलिफोर्निकम (Eriodictyon Californicum)

परिवार: बोरेज : Boraginaceae

येरबा सांता एक हर्ब है। इसे माउंटेन बाम, बीअर वीड और गम प्लांट के नाम से भी जाना जाता है। इसके फूल व्हाइट और लैवेंडर रंग में होते हैं। यह पौधा अपने औषधीय गुणों के लिए जाना जाता है। इसकी पत्तियों का इस्तेमाल दवा के रूप में किया जाता है। कई रेस्पिरेटरी प्रॉबल्म्स से राहत पाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है।

येरबा सांता झाड़ीदार पौधा होता है। येरबा संता का नाम, “पवित्र वीड” के तौर पर स्पेनिश पुजारियों द्वारा दिया गया था, जिन्होंने इसके औषधीय गुणों की जानकारी कैलिफोर्निया के मूल जनजाति निवासियों द्वारा प्राप्त की थी। इस ताजी पत्तियों को सीधे छाड़ से तोड़कर भी चबाया जा सकता है, वहीं इसकी सूखी पत्तियों का इस्तेमाल चाय में किया जा सकता है। इसकी ताजी पत्तियां चबाने में शुरू-शुरू में कड़वी होती हैं, लेकिन फिर मीठी लगने लगती हैं।

सन 1894 में पश्चिमी चिकित्सकों ने येरबा संता को अमेरिकी दवाई के तौर पर एक पहचान दी, जो कफ, निमोनिया और ब्रोंकाइटिस जैसे स्वास्थ्य स्थितियों के उपचार में लाभकारी पाया गया।

और पढ़ें – चिचिण्डा के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of Snake Gourd (Chinchida)

उपयोग

येरबा सांता का उपयोग किस लिए किया जाता है?

येरबा सांता के सेवन से श्वसन पथ यानी वायु मार्ग को कीटाणु मुक्त बनाया जा सकता है। यह गले में फसें बलगम और कफ को साफ करके श्वसन संबंधी परेशानियों का इलाज करने में मददगार होती है। इसके अलावा जली या कटी त्वचा के घावों को भी भरनें में यह काफी मददगार होती है। येरबा सांता जोड़ों के दर्द को भी कम करने में मदद कर सकती है। इसके अलावा, येरबा सांता का उपयोग कभी-कभी अवसाद और डिप्रेशन जैसे भावनात्मक मुद्दों के इलाज में भी किया जा सकता है।

और पढ़ें – छोटी दुद्धी (दूधी) के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of Dudhi

इन सभी के अलावा इस औषधि का इस्तेमाल निम्न बड़ी बिमारियों में भी किया जाता है –

ब्रोंकाइटिस – कुछ शोध के अनुसार येरबा सांता एक ऐसी औषधि है जो फेफड़ों को स्वस्थ रखने में मदद करती है व ब्रोंकाइटिस जैसी बीमारी से लड़ने में कारगर होती है। येरबा सांता की पत्तियां छाती में बनी अकड़न या ऐंठन से आराम पहुंचाने में बेहद मददगार होती हैं।

अस्थमा – अस्थमा एक ऐसी स्थिति होती है जिसमें व्यक्ति के वायुमार्ग संकुचित हो जाते हैं या उनमें सूजन आने लगती है। इस स्थिति में अत्यधिक बलगम बनने लगता है जिससे सांस लेने में मुश्किल होने लगती है।

येरबा सांता के कफ निस्सारक गुण अस्थमा के इन लक्षणों से आराम दिलाने में मदद करते हैं। इस औषधि की पत्तियों से बनी चाय या काढ़ा की मदद से क्रोनिक अस्थमा का इलजा किया जा सकता है।

पाचन – जब आप येरबा सांता की पत्तियों को चबाते हैं तो थूक अधिक मात्रा में बनता है। इस थूक में कई प्रकार के डाईजेस्टिव एंजाइम होते हैं जो अपच की समस्या को ठीक करने व खराब पेट के स्वास्थ्य को बढ़ाते हैं। इससे कई प्रकार की पाचन समस्याएं में आराम मिलता है।

और पढ़ें – अस्थिसंहार के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of Hadjod (Cissus Quadrangularis)

येरबा सांता को मोच, घाव, कीड़े के काटने और जोड़ों के दर्द से राहत के लिए सीधे स्किन पर लगाया जाता है। खांसी, कफ, जुकाम, अस्थमा और टीबी के लिए इसके ताजा या सूखे मोटे चिपचिपे पत्तों की चाय बनाकर पी जाती है। इसकी पत्तियों का पाउडर बनाकर कई परेशानियों में उपयोग किया जाता है।

ताजा पत्तियों के पुल्टिस को जख्मों को भरने और गठिया से राहत पाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

इसे लेकर कोई वैज्ञानिक जानकारी नहीं है। इसकी प्रभावशीलता का मूल्यांकन करने के लिए अधिक शोध करने की जरूरत है।

कैसे काम करता है येरबा सांता?

येरबा सांता कैसे काम करता है इसके बारे में कोई ठोस जानकारी नहीं है। इस बारे में अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से कंसल्ट करें। हालांकि, कुछ शोध बताते हैं कि इसमें ऐसे रसायन होते हैं जो छाती में बलगम से राहत दिलाता है। इसके अलावा ये यूरिन को बढ़ाता है जिसके जरिए शरीर में मौजूद बुरे तत्व बाहर हो जाते हैं।

और पढ़ें – पारिजात (हरसिंगार) के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Night Jasmine (Harsingar)

सावधानियां और चेतावनी

कितना सुरक्षित है येरबा सांता का उपयोग?

येरबा सांता का उपयोग करने से पहले आपको डॉक्टर या फार्मासिस्ट या फिर हर्बल विशेषज्ञ से सलाह लेनी चाहिए, यदि –

  • आप गर्भवती हैं या स्तनपान कराती हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि जब आप बच्चे को फीडिंग कराती हैं तो अपने डॉक्टर के मुताबिक ही आपको दवाओं का सेवन करना चाहिए।
  • आप कोई दूसरी दवा लेते हैं, जोकि बिना डॉक्टर की पर्ची के आसानी से मिल जाते हों जैसे कि हर्बल सप्लिमेंट।
  • अगर आपको किसी पदार्थ से या फिर किसी और दूसरे हर्ब्स से एलर्जी हो।
  • आप पहले से किसी तरह की बीमारी आदि से पीड़ित हों।
  • आपको पहले से ही खाने पीने वाली चीजों से, डाई से या किसी जानवर आदि से किसी तरह की एलर्जी हो।

और पढ़ें – कंटोला (कर्कोटकी) के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Kantola (Karkotaki)

वैज्ञानिक अध्ययनों की कमी के कारण येरबा सांता को लेकर बरती जाने वाली सावधानियों की जानकारी कम है। इस बात को हमेशा ध्यान रखें कि हर्बल सप्लीमेंट के उपयोग से जुड़े नियम दवाओं के नियमों जितने सख्त नहीं होते हैं। इनकी उपयोगिता और सुरक्षा से जुड़े नियमों के लिए अभी और शोध की जरुरत है।

इस हर्बल सप्लिमेंट के इस्तेमाल से पहले इसके फायदे और नुकसान की तुलना करनी जरूरी है। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए किसी हर्बल विशेषज्ञ या आयुर्वेदिक डॉक्टर से संपर्क करें।

इंटरेक्शन

अगर आप लिथियम ले रहे हैं, तो येरबा सांता का सेवन न करें, क्योंकि ये दवा के असर को प्रभावित कर सकता है। इस हर्ब और दवा को साथ में लेने से शरीर में लीथियम की मात्रा बढ़ सकती है और इसके परिणामस्वरूप गंभीर दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

और पढ़ें – करौंदा के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Karonda (Carissa carandas)

साइड इफेक्ट्स

येरबा सांता से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

वैसे तो येरबा सांता को सीमित मात्रा में लेना सभी के लिए सुरक्षित है। इसे लेकर वैज्ञानिक अध्ययनों की कमी के कारण इसके साइड इफेक्टस की कोई जानकारी नहीं है।

अगर आप इसका इस्तेमाल करने वाले हैं और इसके साइड इफेक्ट्स को लेकर चिंतित हैं तो अपने डॉक्टर या हर्बिलस्ट से कंसल्ट करें।

और पढ़ें – अस्थिसंहार के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of Hadjod (Cissus Quadrangularis)

डोसेज

येरबा सांता लेने की सही खुराक क्या है?

लिक्विड एक्सट्रेक्ट

  • इस्तेमाल करने से पहले इसे अच्छी तरह से शेक करें
  • ड्रॉपर के जरिए इसे पानी या जूस में मिलाकर दिन में दो से पांच बार लें।

वेजी केप्स (346 मिलीग्राम कैप्सूल)

  • डायटरी सप्लिमेंट के रूप में दिन में दो से तीन बार एक से दो कैप्सूल लें।

और पढ़ें – दूर्वा (दूब) घास के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Durva Grass (Bermuda grass)

निम्न स्थितियों में ऐसे करें इसका इस्तेमालः

जुकाम और गले में खराश

जुकाम या गले में खराश को कम करने के लिए येरबा सांता की सूखी पत्तियों से चाय बनाएं। या इसके तीन ताजे पत्ते, एक कप पीने के पानी में उबाले और फिर पानी से पत्ते छानकर पी जाएं।

बंद नाक

कंजेशन या बंद नाक होने पर पानी में इसके पत्ते डालकर उबालें और उसका भाप लें।

मांसपेशियों या जोड़ों की सूजन के लिए

गले की मांसपेशियों या जोड़ों की सूजन की समस्या से राहत पाने के लिए इसके ताजे पत्तों को पानी में उबाले औजर फिर कॉटन के कपड़े को उस पानी में भिगोकर दर्द वाली जगह पर रखें। इससे दर्द, सूजन और अकड़न की समस्या से राहत मिलेगी।

प्रेग्नेंसी

प्रेग्नेंसी में इस औषधि का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि फिलहाल इस पर अधिक अध्ययन नहीं किए गए हैं तो इस बात का अनुमान लगाना मुश्किल है कि इसका गर्भवती महिला और उनके शिशु पर क्या प्रभाव पड़ सकता है।

यहां दी हुई जानकारियों का इस्तेमाल डॉक्टरी सलाह के विकल्प के रूप में न करें। डॉक्टर या हर्बलिस्ट की राय के बिना इस दवा का इस्तेमाल नहीं करें।

और पढ़ें – आलूबुखारा के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Aloo Bukhara (Plum)

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है येरबा सांता?

येरबा सांता निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध हो सकता है:

  • वेजी कैप्स
  • लिक्विड एक्सट्रेक्ट

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की मेडिकल सलाह, निदान या उपचार की सलाह नहीं देता है न ही इसके लिए जिम्मेदार है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Old age-associated phenotypic screening for Alzheimer’s disease drug candidates identifies sterubin as a potent neuroprotective compound from Yerba santa. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6309122//Accessed on 01/09/2020

Yerba Santa. https://www.drugs.com/npc/yerba-santa.html//Accessed on 01/09/2020

YERBA SANTA. https://www.rxlist.com/yerba_santa/supplements.htm/Accessed on 01/09/2020

CALIFORNIA YERBA SANTA Eriodictyon californicum/https://plants.usda.gov/plantguide/pdf/cs_erca6.pdf/Accessed on 01/09/2020
लेखक की तस्वीर
Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 01/09/2020 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x