क्यों है बेबी ऑयल बच्चों के लिए जरूरी?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट दिसम्बर 25, 2019 . 2 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

बच्चों के अच्छे शारीरिक विकास के लिए उनकी मसाज यानी मालिश बहुत जरूरी होती है।  शिशु को बेबी ऑयल के साथ हल्के हाथों से की गई मालिश उनकी कोमल त्वचा, स्वास्थ्य और नींद में अहम भूमिका निभाती है। इस बारे में बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत डॉ. श्रीनिवास के अनुसार ‘बेबी ऑयल से बच्चों की त्वचा कोमल और हड्ड‍ियां मजबूत बनती हैं। त्वचा चमकदार और मुलायम बनी रहती है।’ बच्चे की एक अच्छे बेबी ऑयल से मालिश करना जरूरी है। क्योंकि इससे बच्चे की त्वचा को पोषण मिलता है। यह नवजात शिशु के फिजिकल डेवलपमेंट और वेलनेस के लिए बहुत जरूरी होता है। हड्ड‍ियां मजबूत बनती हैं।

क्यों है जरूरी शिशु के लिए बेबी ऑयल ?

त्वचा के लिए

एक अच्छा बेबी ऑयल शिशु की त्वचा को आवश्यक पोषण तत्व प्रदान करता है। इससे उनकी त्वचा सॉफ्ट बनाए रखने में मदद मिलती है। ज्यादातर बेबी ऑयल गुलाब के पंखुड़ियों और लैवेंडर से मिलकर बनता है, जो उनकी रुखी त्वचा को मुलायम बनाता है और उनमें नमी का प्रवाह करता है।

शिशु के होठों को सॉफ्ट रखता है

डॉ.श्रीनिवास बेबी ऑयल के महत्व पर बात करते हुए बताते हैं कि एक चम्मच बेबी ऑयल में आधा छोटा चम्मच चीनी और कुछ बूंदें नींबू के रस को मिला कर शिशु के होठों पर हल्के स्क्रब की तरह लगाने से उसमें सॉफ्टनेस आती है। ऐसा करने से शिशु के होठ मुलायम बने रहेंगे। यह बड़े लोगों के लिए भी यह बहुत फायदेमंद है। इससे होठों का कालापन दूर हो जाता है।

यह भी पढ़ें: बेबी केयर प्रोडक्ट्स का चुनाव करते समय रखें इन बातों का ध्यान

बेबी ऑयल शिशु के सिर में जूं को आने से रोकता है

थोड़ी सी भी सावधानी से ध्यान हटते ही शिशु के सिर में जुएं होना शुरू हो जाता है। शिशु में जूं का होना बेहद आम बात है। बाजार में इन्हें खत्म करने के लिए कई तरह के बेबी केयर प्रोडक्ट्स उपलब्ध हैं लेकिन, बेबी ऑयल की मदद से भी इनका सफाया किया जा सकता है। इसके लिए आप बेबी ऑयल में कुछ बूंदें ‘टी ट्री ऑयल’ की मिलाएं और इसे बच्चों के सिर पर लगाएं। इससे राहत मिलेगी आपको। और शिशु बड़े आराम से अपनी मुस्कान बिखेरते हुए नींद पूरी कर सकेगा।

शिशु के साथ मां के लिए भी जरूरी

बेबी ऑयल केवल बच्चे के विकास के लिए ही महत्वपूर्ण नहीं हैं, बल्कि यह मां और बच्चे के बीच में एक रिश्ता भी कायम करता है। शिशु की जन्म के बाद मां के पेट पर जो स्ट्रेच मार्क आ जाते हैं। उससे राहत पाने में भी बेबी ऑयल का इस्तेमाल बहुत कारगर साबित हो सकता है। स्ट्रेस मार्क वाले एरिया पर इससे मालिश करने से धीरे-धीरे इसके निशान हट सकते हैं।

यह भी पढ़ें: छोटे बच्चे के कपड़े खरीदते समय रखें इन बातों का ध्यान

अच्छी नींद के लिए

गांवों में आज भी एक दाई होती है, जो किसी घर मे नवजात के जन्म होने पर हर रोज उसका मालिश करने आती है। उन्हें पता होता है कि, शिशु के शरीर पर कितना दबाव देना चाहिए? नवजात की मालिश, उसके शरीरिक विकास और तंदरुस्ती के लिए बहुत जरूरी होता है। बेबी ऑयल से मालिश करने से शिशु की हड्डियों में मजबूती आती है। साथ ही मालिश के बाद बच्चों को नींद भी अच्छी आती है और वो एक्टिव रहते हैं।

जितना जरूरी है बेबी ऑयल से बच्चों की मसाज, उतना ही जरूरी बेबी ऑयल का चुनाव। इसलिए इसे खरीदते समय कुछ खास बातों का ध्यान रखना चाहिए।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"
    सूत्र

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    बच्चे के जन्म का पहला घंटाः क्या करें क्या न करें?

    जानिए बच्चे के जन्म का पहला घंटा in Hindi, बच्चे के जन्म का पहला घंटा कैसा होता है, Bacche ke janm ka pehla ghanta, शिशु के जन्म के बाद क्या होता है, नवजात शिशु का जन्म।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
    माँ और शिशु, प्रेग्नेंसी अप्रैल 8, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

    मैटरनिटी हेल्थ इंश्योरेंस क्यों आवश्यक है?

    जानिए मैटरनिटी हेल्थ इंश्योरेंस क्या है in hindi. मैटरनिटी हेल्थ इंश्योरेंस से क्या है लाभ? Maternity health insurance का चयन कब करना चाहिए?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
    बीमा/इंश्योरेंस, स्वस्थ जीवन मार्च 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    रिफ्लेक्सोलॉजी क्या है? जानें इसके फायदे और करने का तरीके

    रिफ्लेक्सोलॉजी क्या है, रिफ्लेक्सोलॉजी के फायदे, पैरों की मसाज कैसे करें, पैरों की मसाज करने के फायदे क्या है, reflexology in Hindi.

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
    हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मार्च 16, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

    मैरिज चेकअप या प्री-मैरिटल टेस्ट क्या है?

    क्यों शादी से पहले करवाना चाहिए मैरिज चेकअप? Premarital checkup के दौरान कौन-कौन से टेस्ट करवाए जाते हैं। मैरिज चेकअप क्या है जानिए in hindi.

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
    के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
    प्रेग्नेंसी प्लानिंग, प्रेग्नेंसी दिसम्बर 17, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

    Recommended for you

    How to Care for your Newborn during the First Month - नवजात की पहले महीने में देखभाल वीडियो

    पहले महीने में नवजात को कैसी मिले देखभाल

    के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
    प्रकाशित हुआ अगस्त 1, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
    नवजात शिशु की मालिश के लाभ/new born baby massage benefits

    नवजात शिशु की मालिश के लाभ,जानें क्या है मालिश करने का सही तरीका

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया shalu
    प्रकाशित हुआ जुलाई 27, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
    ड्रीम फीडिंग-dream feeding

    ड्रीम फीडिंग क्या है? जानिए इसके फायदे और नुकसान

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Shruthi Shridhar
    के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
    प्रकाशित हुआ मई 18, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
    बच्चों के लिए एसेंशियल ऑयल-bacchon ke liye Essential Oils

    बच्चों के लिए एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल करना क्या सुरक्षित है?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
    प्रकाशित हुआ अप्रैल 29, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें