ऑटिज्म प्रभावित बच्चों को भविष्य में होती है सेक्स संबंधी समस्याएं

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जुलाई 8, 2020 . 3 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

ऑटिज्म का सेक्शुअल लाइफ से गहरा संबंध है। आमतौर पर बच्चे सेक्स से जुड़ी बातों के बारे में आसपास के लोगों, दोस्तों और मीडिया से जानते हैं। सेक्स को रिश्ता बनाने का या फिर  प्यार जताने के तरीके के तौर पर भी देखा जाता है। ये बात सामान्य बच्चे बड़े होने पर समझ सकते हैं और जल्द ही अपने आप को इस हिसाब से ढाल भी लेते हैं लेकिन ऑटिस्टिक बच्चों के लिए ये समझ पाना बहुत मुश्किल काम है। 

ऑटिज्म और सेक्स लाइफ

ऐसे बच्चों के लिए एक उम्र के बाद सेक्स और सेक्शुएलिटी केवल एक शारीरिक जरूरत के तौर पर दिखने लगती है। सही तरह से बच्चे को सेक्स से जुड़ी सामाजिक बातें न समझा पाने की स्थिति में कई परेशानियां हो सकती है। जैसे कि हार्मोनल अर्ज की वजह से किसी से गलत व्यवहार करना, बहुत बार हस्तमैथुन (Masturbate) करना ,बिना कपड़ों के घूमना, अपनी सेक्शुअल डिजायर को सही तरह से न बता पाना या फिर हस्तमैथुन न कर पाने पर बहुत ज्यादा चिड़चिड़ा होना। कई बार आक्रोश में आकर सेक्शुअल तनाव के चलते ऑटिस्टिक पुरुष और महिलाएं आक्रामक व्यवहार भी कर सकते हैं। 

ऑटिस्टिक लोगों को सेक्स में क्या समस्याएं आ सकती हैं ?

  • अपनी इच्छा जाहिर करने में परेशानी होना। 
  • उस स्थिति में ध्यान केंद्रित न कर पाना। 
  • अजीब तरह के संकोच का एहसास होना। 
  • सामने वाले को समझने में परेशानी होना। 
  • डर लगना और अजीब व्यव्हार करना। 

और पढ़े : Tips: पेरेंट्स कैसे करें ऑटिस्टिक चाइल्ड की देखभाल

शुरुआत से ही समझाएं 

ऑटिस्टिक होने का अर्थ यह नहीं है कि आपका बच्चा सेक्शुअल असक्रिय है। एक उम्र में आने के बाद उसे भी सेक्शुअल सैटिस्फैक्शन की आवश्यकता पड़ेगी। इसलिए कोशिश करें कि शुरू से ही उसे सही ढंग से इसके बारे में जानकारी दें। इसके लिए आप किताबें, वीडियोज या फिर ऑटिस्टिक सोसायटी के सदस्यों की सहायता ले सकते हैं। जैसे आप उसे पेशाब करने, खाने-पीने और बाकी सभी चीजों के बारे में बताते हैं ठीक उसी तरह इसके बारे में भी अपने बच्चे से बात करें। 

Autism and sex

और पढ़े – बच्चों को सेक्स एजुकेशन कब और कैसे दें?

समाज में सेक्स से जुड़े कुछ आम नियमों के बारें में जरूर समझाएं

आपका बच्चा कोई भी सामाजिक बात अपने आप समझने में असक्षम है इसलिए जैसे आप उसे ट्रैफिक सिग्नल, अपराध आदि संबंधित नियम समझाएंगे ठीक उसी तरह उसे सामाजिक सेक्शुअल व्यवहार के विषय में भी जरूर बताएं। आपका बच्चा सबसे आसानी से जिस माध्यम से समझता हो उसे इस्तेमाल करके उसे सारी बाते समझाएं। जैसे कि :

इन सभी सवालों के जवाब अगर आप अपने ऑटिस्टिक बच्चे को समझा पाते हैं तो उसकी सेक्सुअल लाइफ में परेशानी नहीं आएगी। साथ ही वह समय आने पर संबंध स्थापित करने में भी सक्षम होगा। 

और पढ़े – क्या हस्तमैथुन करने से घटता है स्पर्म काउंट?

ऑटिस्टिक बच्चों में हस्तमैथुन (Masturbation) से जुड़ी समस्याएं 

ये बच्चे जिद्दी और मगरूर होते हैं, इनसे इनकी इच्छा के के बिना कुछ भी करवा पाना लगभग नामुमकिन है। बढ़ती सेक्शुअल डिजायर को शांत रखने के लिए हस्तमैथुन (Masturbation) जरूरी है। इसलिए अपने बच्चे से इस बारे में खुलकर बात करें। क्योंकि आपका बच्चा सामान्य नहीं है और सामाजिक प्रतिबंधों को नहीं समझता इसलिए वह आपकी बताई हर बात को किसी नियम की तरह ही मानेगा। कोशिश करें की उसे प्यार से समझाएं। आप इसके लिए डॉक्टर की भी मदद ले सकते हैं।

ये नियम इन बातों को ध्यान में रखकर बताएं :

  • हस्तमैथुन दिन भर में कितनी बार करना सही है जिससे स्वास्थ्य में हानि न हो।
  • आप कहां पर अपनी सेक्शुएलिटी जाहिर कर सकते हैं इसके बारे में साफ तौर से बताएं। अगर आप उसे बाथरूम बताते हैं तो संभव है की बच्चा उसे हर जगह का बाथरूम समझे। इसलिए उसे सही से बताए कि सिर्फ अपने घर का बाथरूम हो।
  • इसके अलावा बच्चे को समझाएं कि हस्तमैथुन में कोई भी  परेशानी आने पर वह किसी बाहर वाले से बात न करे सीधे आकर आपको ही बताए। 

इसके साथ ही सेक्स के लिए दो लोगों के बीच आपसी समझ के बारे में भी उसे समझाएं जिससे आगे जाकर उससे कोई गलती न हो। 

इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए ऑटिस्टिक सोसाइटी या फिर डॉक्टर की सलाह लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

मूत्रमार्ग का हस्तमैथुन युवक को पड़ गया भारी, जानें यूरेथ्रल साउंडिंग क्या है? 

यूरेथ्रल साउंडिंग (Urethral Sounding) क्या है, यूरेथ्रल साउंडिंग के फायदे और नुकसान क्या हैं? Benefits and side effects of Urethral Sounding.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha

ऑटिस्टिक चाइल्ड का बर्थडे कैसे मनाएं, जानें टिप्स

ऑटिस्टिक चाइल्ड का बर्थडे सेलिब्रेट करने के लिए आप इन टिप्स की मदद ले सकते हैं। क्योंकि, जन्मदिन सभी बच्चों के लिए यादगार और प्यारा दिन होता है, इसलिए उससे किसी को दूर नहीं रखना चाहिए।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
बच्चों की देखभाल, पेरेंटिंग मई 22, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

महिलाओं में सेक्स एंजायटी, जानें इसके कारण और उपचार

महिलाओं में सेक्स एंजायटी का कारण, महिलाओं में सेक्स एंजायटी का निदान, female sex anxiety in hindi, sex anxiety treatment in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Smrit Singh

महिलाओं के लिए मास्टरबेशन पोजिशन, शायद आप नहीं जानती होंगीं इनके बारे में

महिलाओं के लिए मास्टरबेशन पोजिशन कौन सी है, महिलाओं के लिए मास्टरबेशन पोजिशन in Hindi, महिलाओं में हस्तमैथुन, woman masturbation position.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha

Recommended for you

हिस्टेरेक्टॉमी के बाद सेक्स

क्या हिस्टेरेक्टॉमी (Hysterectomy) सर्जरी के बाद भी सेक्स लाइफ रहेगी हिट?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ सितम्बर 10, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
पीठ दर्द के साथ बेहतर सेक्स - better sex with back pain

पीठ दर्द के साथ बेहतर सेक्स के लिए ध्यान रखें ये जरूरी बातें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ सितम्बर 1, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
हस्तमैथुन साइड इफेक्ट्स

क्या आपने हस्तमैथुन साइड इफेक्ट्स के बारे में सुना है? जानिए सही और गलत में अंतर

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 20, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
कॉन्डोमलेस सेक्स - Condomless Sex

कॉन्डोमलेस सेक्स के क्या होते हैं रिस्क, बीमारियों से बचाव के लिए यह जानना है जरूरी

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 17, 2020 . 9 मिनट में पढ़ें