आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

गट बैक्टीरिया में सुधार कैसे करें? ये 7 उपाय हो सकते हैं मददगार

    गट बैक्टीरिया में सुधार कैसे करें? ये 7 उपाय हो सकते हैं मददगार

    बॉडी में अरबों बैक्टीरिया हैं जिनमें से अधिकांश गट में पाए जाते हैं। जिन्हें एक साथ गट माइक्रोबियम कहा जाता है और ये ओवरऑल हेल्थ के लिए बहुत जरूरी हैं। हालांकि, इंस्टेटाइन्स में कुछ प्रकार के बैक्टीरिया कई बीमारियों का कारण बन सकते हैं। कई फैक्टर्स डायजेस्टिव ट्रैक्ट में मौजूद बैक्टीरिया को प्रभावित कर सकते हैं। जिसमें फूड भी शामिल है। गट बैक्टीरिया में सुधार कैसे करें? (How To Improve Gut Bacteria) यह सवाल अक्सर लोगों के मन में आता है। यहां हम कुछ ऐसे तरीके बता रहे हैं जिनकी मदद से गट बैक्टीरिया को इम्प्रूव किया जा सकता है।

    गट बैक्टीरिया में सुधार कैसे करें? (How To Improve Gut Bacteria)

    जानिए कुछ ऐसे आसान तरीके जो गट बैक्टीरियाज में सुधार करने के साथ ही गट हेल्थ को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं।

    1. विविध प्रकार के खाद्य पदार्थ खाएं

    इंटेस्टाइन में बैक्टीरियाज की सैकड़ों प्रकार की जातियां पाई जाती हैं जो स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और इन्हें विकास के लिए अलग-अगल प्रकार के पोषक तत्वों की जरूरत होती है। कई प्रकार के बैक्टीरिया होना (Diverse microbiome) हेल्दी माना जाता है। इसका कारण यह है कि जितने प्रकार के बैक्टीरिया की जाति हमारे पास होगी उनका ही फायदे हमको मिलेंगे। विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थों से युक्त आहार से अधिक विविध माइक्रोबायोम प्राप्त हो सकते हैं। शहरी भोजन में प्लांट फूड्स की कमी देखी जाती है जबकि गांवों आज भी प्लांट फूड्स पर ही लोग आधारित रहते हैं। ऐसे में कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में आहार अधिक विविध और समृद्ध होते हैं। इसलिए उनमें गट माइक्रोबियम की विविधता अधिक होती है।

    और पढ़ें: गट इंफ्लामेशन को कम करने में मदद कर सकते हैं ये 5 उपाय

    2.गट बैक्टीरिया में सुधार कैसे करें? (How To Improve Gut Bacteria) फल और सब्जियां खाएं

    गट बैक्टीरिया में सुधार कैसे करें? (How To Improve Gut Bacteria) का आसान जवाब हो सकता है कि ढेर सारे फल और सब्जियां खाएं। क्योंकि फल और सब्जियां हेल्दी माइक्रोबियम के पोषण के लिए बेस्ट सोर्स माने जाते हैं। इनमें फायबर अधिक मात्रा में पाया जाता है जिसे बॉडी डायजेस्ट नहीं कर पाती। हालांकि कुछ बैक्टीरिया फायबर को डायजेस्ट कर सकते हैं जो ग्रोथ को बढ़ावा देता है। बीन्स में भी फायबर अधिक मात्रा में पाया जाता है। कुछ हाय फायबर फूड्स गट बैक्टीरिया के लिए अच्छे होते हैं जिसमें। केला, सेब, साबुत अनाज, ब्रोकली आदि शामिल हैं।

    गट बैक्टीरिया में सुधार कैसे करें?

    3.गट बैक्टीरिया में सुधार कैसे करें? प्रीबायोटिक फूड्स (Prebiotics foods) अपनाएं

    प्रीबायोटिक्स फूड्स गट में बैक्टीरिया की ग्रोथ को प्रमोट करते हैं। वे मुख्य रूप से फायबर या जटिल कार्ब्स होते हैं जिन्हें मानव कोशिकाएं पचा नहीं सकती हैं। इसके बजाय, आंत में बैक्टीरिया की कुछ प्रजातियां उन्हें तोड़ देती हैं और उन्हें एनर्जी के लिए इस्तेमाल करती हैं। कई फलों, सब्जियों और साबुत अनाज में प्रीबायोटिक्स होते हैं, लेकिन वे अपने आप भी प्राप्त किए जा सकते हैं।

    रेजिस्टेंट स्टार्च एक प्रीबायोटिक भी हो सकता है। इस प्रकार का स्टार्च छोटी आंत में अवशोषित नहीं होता है और बड़ी आंत में चला जाता है, जहां माइक्रोबायोटा इसे तोड़ देता है। एनसीबीआई में छपी स्टडी से पता चला है कि प्रीबायोटिक्स (Prebiotics) बिफीडोबैक्टीरिया (Bifidobacteria) सहित कई प्रकार के लाभकारी बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा दे सकते हैं।

    और पढ़ें: गट का हमारे शरीर में क्या होता है अहम रोल, जानिए इस बारे में विस्तार से!

    4 साबुत अनाज खाएं (Eat whole grain)

    गट बैक्टीरिया में सुधार कैसे करें? आप भी इस सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो बता दें कि साबुत अनाज का सेवन गट बैक्टीरिया की हेल्थ को प्रमोट कर सकता है। साबुत अनाज में नॉनडायजेस्टेबल कार्ब्स और फायबर पाया जाता है जैसे कि बीटा ग्लूकन (Beta-glucan)। ये कार्ब्स छोटी आंत में अवशोषित नहीं होते हैं और इसके बजाय आंत में लाभकारी बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा देने के लिए बड़ी आंत की तरफ जाते हैं। एनसीबीआई में छपी स्टडी के अनुसार साबुत अनाज मनुष्यों में बिफीडोबैक्टीरिया, लैक्टोबैसिली, और बैक्टेरोएडेट्स बैक्टीरिया की ग्रोथ को प्रमोट करते हैं।

    इन अध्ययनों में पता चला कि, साबुत अनाज ने पेट भरा होने के एहसास को भी बढ़ाया और सूजन और हृदय रोग के लिए कुछ जोखिम वाले कारकों को कम किया।

    और पढ़ें: गट से जुड़ी हैं ऐसी-ऐसी बीमारियां, जो आपके दरवाजे पर कभी भी दस्तक दे सकती है!

    5. प्लांट बेस्ड डायट (Plant based diet) को अपनाएं

    गट बैक्टीरिया में सुधार कैसे करें? (How To Improve Gut Bacteria) इसका एक बेहद सरल उपाय है प्लांट बेस्ड डायट को अपनाना। कई अध्ययनों से पता चला है कि वेजिटेरियन डायट से आंत के माइक्रोबियोम को फायदा हो सकता है, जिसका कारण इनमें मौजूद हाय फायबर है।उदाहरण के लिए, एनसीबीआई के 2013 के एक छोटे से अध्ययन में पाया गया कि शाकाहारी भोजन से मोटापे से ग्रस्त लोगों में रोग पैदा करने वाले बैक्टीरिया के स्तर में कमी आई, साथ ही शरीर के वजन, सूजन और कोलेस्ट्रॉल के स्तर में कमी आई।

    उदाहरण के लिए, 2013 के एक छोटे से अध्ययन में पाया गया कि शाकाहारी भोजन से मोटापे से ग्रस्त लोगों में रोग पैदा करने वाले बैक्टीरिया के स्तर में कमी आई, साथ ही शरीर के वजन, सूजन और कोलेस्ट्रॉल के स्तर में कमी आई। एनसीबीआई के ही एक अन्य अध्ययन की समीक्षा में कहा गया है कि प्लांट फूड्स विशिष्ट पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं जो लाभदायक बैक्टीरिया के स्तर को बढ़ा सकते हैं और गट हेल्थ को सपोर्ट करने के लिए हानिकारक बैक्टीरिया को कम कर सकते हैं।

    6.पॉलीफेनॉल्स (Polyphenols) फूड्स हो सकते हैं मददगार

    गट बैक्टीरिया में सुधार कैसे करें? (How To Improve Gut Bacteria) इसका जवाब है कि पॉलीफेनॉल्स से युक्त फूड्स का सेवन करें। पॉलीफेनॉल्स प्लांट कंपाउंड्स हैं जिनके कई फायदे हैं जिसमें ब्लड प्रेशर, इंफ्लामेशन, कोलेस्ट्रॉल लेवल और ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम करना शामिल है। मानव कोशिकाएं हमेशा पॉलीफेनोल्स को पचा नहीं सकती हैं। क्योंकि वे अच्छी तरह से अवशोषित नहीं होते हैं, अधिकांश पॉलीफेनोल्स कोलन में अपना रास्ता बनाते हैं, जहां आंत के बैक्टीरिया उनको पचाते हैं। पॉलीफेनॉल्स युक्त फूड्स के कुछ उदाहरणों में निम्न शामिल हैं।

    गट बैक्टीरिया में कैसे सुधार करें?

    • कोको और डार्क चॉकलेट
    • रेड वाइन
    • ग्रैप्स
    • ग्रीन टी
    • बादम
    • प्याज
    • ब्रोकली
    • ब्लूबेरीज

    और पढ़ें: गट हेल्थ को मस्त रखने में मदद कर सकते हैं ये 10 प्रोबायोटिक सप्लिमेंट्स

    7. गट बैक्टीरिया में सुधार कैसे करें? प्रोबायोटिक्स के इंटेक को बढ़ाएं (Increase your intake of probiotics)

    प्रोबायोटिक्स जीवित सूक्ष्मजीव होते हैं, आमतौर पर ऐसे बैक्टीरिया जिनका सेवन करने पर विशिष्ट स्वास्थ्य लाभ प्राप्त होते हैं। प्रोबायोटिक्स ज्यादातर मामलों में आंतों को स्थायी रूप से कोलोनाइज (Colonize) नहीं करते हैं। हालांकि, वे माइक्रोबायोम की समग्र संरचना को बदलकर और आपके चयापचय का समर्थन करके स्वास्थ्य को लाभ पहुंचा सकते हैं। एनसीबीआई में छपी कुछ स्टडीज में पाया गया है कि प्रोबायोटिक्स कुछ गट बैक्टीरियाज के काम करने के तरीके को बेहतर बना सकते हैं। प्रोबायोटिक रिच फूड्स का सेवन करके गट में इनकी मात्रा को बढ़या जा सकता है। जिसमें योगर्ट, दही, छाछ, लस्सी आदि शामिल हैं।

    उम्मीद करते हैं कि आपको गट बैक्टीरिया में सुधार कैसे करें? (How To Improve Gut Bacteria) इससे संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    health-tool-icon

    बीएमआर कैलक्युलेटर

    अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

    पुरुष

    महिला

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Functional dynamics of the gut microbiome in elderly people during probiotic consumption/
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/25873374/ Accessed on 5/05/2022

    The Microbiome/https://www.hsph.harvard.edu/nutritionsource/microbiome/Accessed on 5/05/2022

    Your Digestive System: 5 Ways to Support Gut Health
    https://www.hopkinsmedicine.org/health/wellness-and-prevention/your-digestive-system-5-ways-to-support-gut-health/Accessed on 5/05/2022

    10 ways to improve gut health/
    https://www.medicalnewstoday.com/articles/325293/Accessed on 5/05/2022

    High-fiber foods/
    https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000193.htm/Accessed on 5/05/2022

    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 17/05/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: