home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

गर्भावस्था के दौरान बार-बार यूरिन आना क्या आम समस्या है?

गर्भावस्था के दौरान बार-बार यूरिन आना क्या आम समस्या है?

कई महिलाओं के लिए, बार-बार पेशाब आना गर्भावस्था के पहले लक्षणों में से एक है। प्रेग्नेंसी प्लानिंग के साथ गर्भतवी महिला को आने वाले नौ महीनों और डिलीवरी को लेकर के भी तनाव होने लगता है। यह होना स्वाभाविक भी है। सुरक्षित प्रेग्नेंसी के लिए मां और शिशु दोनों का ही स्वस्थ्य होना बहुत जरूरी है। लेकिन कई महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान बार-बार यूरिन आना (Frequent urination during pregnancy) परेशानी की वजह बन सकती है, जो उनमें तनाव को जन्म देती है, जैसे-जैसे आपका शिशु बड़ा होता जाता है, उसका वजन आपके मूत्राशय पर दबाव डाल सकता है, इसलिए आपको गर्भावस्था के दौरान बार-बार यूरिन जाने आवश्यकता पड़ती है। गर्भावस्था के दौरान बार-बार यूरिन आना (Frequent urination during pregnancy) क्या है और इसका उपचार जानने के लिए आगे पढ़ें यहां।

और पढ़ें: Pomegranate During Pregnancy: प्रेग्नेंसी में अनार का सेवन करना क्या होता है फायदेमंद!

गर्भावस्था के दौरान बार-बार यूरिन आना क्या है (what is frequent urination in pregnancy) ?

गर्भावस्था के दौरान बार-बार यूरिन आना एक आम समस्या है, तो यह प्रेग्नेंसी के दौरान आपके शरीर में हॉर्मोनल परिवर्तनों या बढ़ती प्रेग्नेंसी स्टेजेस के कारण गुर्दे में पड़ने वाले प्रभावों के कारण भी हाे सकता है। आपका गर्भाशय, जो आम तौर पर एक मुट्ठी के आकार का होता है, बढ़ते प्रेग्नेंसी मंथ के साथ आपके बच्चे को समायोजित करने के लिए बढ़ता और खिंचता है। मार्च ऑफ डाइम्स के प्रसूति सलाहकार रिचर्ड एच के श्वार्ज, एम.डी. के अ हैं, बढ़े हुए गर्भाशय आपके मूत्राशय पर दबाव डालता है और जिससे गर्भावस्था के दौरान बार-बार पेशाब आने की समस्या होने लगती है।ज्यादातर महिलाओं को दूसरी तिमाही में बार-बार पेशाब आने से अस्थायी राहत मिलती है। दिमाग में तनाव भी बना रहता है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि आपका गर्भाशय पेट का आकार बढ़ता है और किड्नी पर भी प्रेशर डालता है। लेकिन इस राहत के लंबे समय तक चलने की उम्मीद न करें, क्योंकि यह लक्षण संभवत: तीसरी तिमाही में वापस आ जाता।

और पढ़ें: बी बेली प्रेग्नेंसी क्या है और किन बातों का ध्यान रखना आवश्यक है?

ट्राइमेस्टर के अनुरूप यूरिनेशन में परिवर्तन (Changes in urination according to trimester)

प्रारंभिक गर्भावस्था के दौरान बार-बार यूरिन आना बहुत आम है। यह कभी-कभी मिड प्रेग्नेंसी के समय तक इस समस्या में आराम मिलना शुरू हो जाता है। यहां जानें ट्राइमेस्टर के अनुरूप यूरिनेशन में परिवर्तनों के बारे में:

पहली तिमाही (First quarter)

आपको प्रेग्नेंसी के दो सप्ताह बाद या अपने पहले मासिक धर्म के ठीक समय के आसपास अधिक यूरिन प्रॉब्लम का सामना करना पड़ सकता है। स्तनों में दर्द और मॉर्निंग सिकनेस के साथ, बार-बार पेशाब आना गर्भावस्था का एक प्रारंभिक संकेत माना जाता है। गर्भावस्था की शुरुआत के दौरान हाॅर्मोन में बदलाव से शरीर में रक्त का प्रवाह होता है। उसके ऊपर, आपके गुर्दे का प्रेशर आता है। तब किड्नी को यूरिन फिल्टर के लिए अतिरिक्त मेहतन करनी पड़ती है। पहली तिमाही में गर्भाशय भी बढ़ने लगता है और मूत्राशय पर दबाव पड़ता है। यदि आप शुरुआती हफ्तों में पेशाब में वृद्धि नहीं देखते हैं, तो इसका यह मतलब भी नहीं है कि आपको कोई समस्या है। सबमें अलग-अलग लक्षण दिखते हैं।

और पढ़ें: क्या आपको पता है कि आरएच फैक्टर टेस्ट और प्रेग्नेंसी में क्या संबंध है?

दूसरी तिमाही (Second quarter)

जैसे-जैसे आपके गर्भावस्था का समय बढ़ता है, ऐसे में तब आपका शरीर इन नए परिवर्तनों को स्वीकार नहीं कर पाता है । उसी समय, आपका बढ़ता हुआ गर्भाशय गुर्दें के ऊपर से प्रेशर को हटाता है। तब इन कारणों से, दूसरी तिमाही अक्सर बार-बार यूरिन जानें की समस्या ठीक हो जाती है।

तीसरी तिमाही (Third quarter)

गर्भावस्था के दौरान बार-बार यूरिन आना एक समस्या है, आमतौर पर तीसरी तिमाही में आना वॉपस श़ुरू हो सकती है। क्योंकि आपका गर्भाशय और आपका बढ़ते हुऐ बच्चे का वजन फिर से गुर्दे पर दबाव डलने लगता है।

और पढ़ें: क्यों प्रेग्नेंसी के दौरान जरूरी होता है कोरिओनिक विलस सैंपलिंग टेस्ट (Chorionic Villus Sampling Test)

गर्भावस्था के दौरान बार-बार यूरिन आना और यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन में संबंध (Relationship between frequent urination and urinary tract infection)

हालांकि प्रेग्नेंसी के दौरान यूरिन प्रॉब्लम होना कॉमन है,लेकिन इसे अनदेखा या कभी भी नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए। पेशाब रोक कर रखने से यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (UTI) की समस्या भी हो सकती है। मूत्राशय में यूरिन बैक्टीरिया के लिए प्रजनन आधार होते हैं, जो आम तौर पर आंतों में रहते हैं। कम सामान्यतः, यूटीआई ग्रुप बी स्ट्रेप (जीबीएस) नामक जीवाणु के कारण हो सकता है, जो एक अधिक गंभीर स्थिति है, जो आपके बच्चे को बहुत बीमार कर सकती है। आपके बच्चे को सुरक्षित रखने के लिए गर्भावस्था के दौरान ओरल एंटीबायोटिक दवाओं और प्रसव के दौरान एंटीबायोटिक दवाओं की आवश्यकता हो सकती है।

यूटीआई के विशिष्ट लक्षणों में शामिल हैं:

और पढ़ें: Subchorionic Bleeding During Pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान इस ब्लीडिंग का आखिर क्या होता है मतलब?

यदि आप इनमें से कोई भी लक्षण विकसित करते हैं तो अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से संपर्क करें। इसके अतिरिक्त, आपके डाॅक्टर गर्भावस्था की शुरुआत में और फिर तीसरी तिमाही के दौरान यूरिन कल्चर टेस्ट करवाने काे बोल सकते हैं। ऐसा इसलिए है, क्योंकि लगभग 5 से 10 प्रतिशत गर्भवती महिलाओं में यूटीआई की समस्या तो होती है, पर उसके लक्षण नहीं दिखते हैं। उपचार के बिना, ये आपके और आपके बच्चे के लिए स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकते हैं, जैसे कि किड्नी इंफेक्शन, जन्म के समय कम वजन कम होना या समय से पहले बच्चे का होना।

इस बारे में फोर्टिस हॉस्पिटल की डॉक्टर रसिका परब का का कहना है कि प्रसव के दौरान, धीरे-धीरे और गहरी सांस लेने से आपको आराम करने में मदद मिलती है और यह आपकी मांसपेशियों में होने वाले तनाव को भी रोकता है, जिससे आपके गर्भाशय ग्रीवा का विस्तार होता है। प्रेग्नेंसी के दौरान कई महिलाओं को सांस फूलने की तकलीफ होती है। तो ऐसे में ब्रीदिंग एक्सरसाइज करने से आपको डिलीवरी के समय काफी आसानी होगी। सांस की समस्या से बचने के लिए प्रेग्नेंसी के दौरान आप इस तरह से खुद को सक्रिए रखें। अधिकांश महिलाएं प्रेग्‍नेंसी के दौरान हल्‍की-फुल्‍की फिटनेस गतिविधियों का आनंद ले सकती हैं, लेकिन अपने डॉक्‍टर से आपको व्‍यायाम करने के तरीके और रूटीन पर चर्चा अवश्‍य करनी चाहिए। डॉक्‍टर आपको आपकी मेडिकल हिस्‍ट्री के आधान पर व्‍यायाम करने के लिए गाइड करेगा। जो महिलाएं प्रेग्‍नेंट होने से पहले ही रनिंग (Running) जैसी जोरदार गतिविधि कर रही थीं वह इस रूटीन को जारी रख सकती हैं, लेकिन इसके लिए भी वह एक बार अपने डॉक्‍टर से परामर्श जरूर लें।

और पढ़ें: Pregnancy Symptoms: कितना सामान्य है प्रेग्नेंसी के लक्षणों का आना-जाना?

गर्भावस्था के दौरान बार-बार यूरिन आना : उपचार (Frequent urination during pregnancy: Treatment)

गर्भावस्था के दौरान, विशेष रूप से अंतिम तिमाही के, जब भी आप हंसते, खांसते,छींकते, कुछ उठाते हैं या व्यायाम करते हैं, तो आपको यूरिन का रिसाव भी हो सकता है। इसे इसे स्ट्रेस इंकॉन्टिनेंस (Stress incontinence) कहा जाता है और यह आंशिक रूप से आपके मूत्राशय पर आपके गर्भाशय के दबाव के कारण होता है। डॉक्टर की सलाह के द्वारा कुछ व्यायाम कर के आप इस पर कंट्राेल पा सकते हैं, जो मूत्रमार्ग के आस-पास पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियों को मजबूत करते हैं। यदि आपको यूरिन लिकेज की प्रॉब्लम हो रही है, तो समस्या को दूर करने के लिए पैंटी लाइनर का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस बारे में अपने डॉक्टर को बताएं और बताएं गए उपचार को अपनाएं। प्रेग्नेंसी में बार-बार यूरिन होना, रात में खराब नींद का कारण भी बन सकता है। यदि आप रात में कई बार यूरिन की समस्या से परेशान हैं और यह आपकी नींद में बहुत अधिक बाधा डालता है, तो शाम के बाद तरल पदार्थों का कम सेवन करने का प्रयास करें। इसके अलावा कॉफी, चाय, कोला और किसी भी अन्य कैफीनयुक्त ड्रिंक से बचें। कैफीन ड्रिंक्स यूरिन की समस्या को बढ़ा सकता है।

गर्भावस्था के दौरान बार-बार यूरिन आना क्या है, यह जाना आपने। इस समस्या के होने पर तुरंत डॉक्टर से मिलें और बात करें। डॉक्टर द्वारा बताए गए कुछ एक्सरसाइज करने पर इस समस्या को कंट्रोल किया जा सकता है। गर्भावस्था के दौरान बार-बार यूरिन आना और इसके उपचार के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से बात करें।

 

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Frequent urination during pregnancy:  https://www.pregnancybirthbaby.org.au/frequent-urination-during-pregnancy Accessed 11 January,2022

Frequent urination during pregnancy:  https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK537047/ Accessed 11 January,2022

Frequent urination during pregnancy:  https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4998560/ Accessed 11 January,2022

Frequent urination during pregnancy:  https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/pregnancy-signs-and-symptoms Accessed 11 January,2022

Frequent urination during pregnancy:  https://flo.health/pregnancy/pregnancy-health/illnesses-and-infections/uti-during-pregnancy Accessed 11 January,2022

लेखक की तस्वीर badge
Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट एक हफ्ते पहले को
और Hello Swasthya Medical Panel द्वारा फैक्ट चेक्ड