आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

प्रेग्नेंसी के दौरान वजन ना बढ़ने के क्या कारण हैं?

    प्रेग्नेंसी के दौरान वजन ना बढ़ने के क्या कारण हैं?

    अधिकांश महिलाओं का गर्भावस्था के दौरान 25 से 35 पाउंड (11 और 16 किलोग्राम) के बीच वजन होता है। यदि किसी महिला का पर्याप्त वजन नहीं बढ़ता है, तो मां और बच्चे को स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। वेट गेन करना प्रसव के बाद ब्रेस्टमिल्क बनने के लिए एनर्जी स्टोरेज का एक कंपोनेंट है, लेकिन देखा गया है कि कुछ महिलाओं में प्रेग्नेंसी के दौरान वजन पर्याप्त रूप से नहीं बढ़ता है। अच्छी बात यह है कि प्रेग्नेंसी के दौरान वजन ना बढ़ना (No weight gain during pregnancy) या पर्याप्त वजन न होने से जुड़े रिस्क को वेट गेन करके ऑफसेट किया जा सकता है। नतीजतन, जब तक कि आप गर्भावस्था के दौरान पर्याप्त पोषण प्राप्त कर रही हैं प्रेग्नेंसी के दौरान वजन ना बढ़ना आमतौर पर एक बड़ी चिंता का विषय नहीं है। इस आर्टिकल में बताया गया है कि अपने गर्भावस्था के वजन को कैसे ट्रैक पर लाया जाए।

    प्रेग्नेंसी के दौरान वजन ना बढ़ना: क्या हैं कारण?

    क्या आप उन महिलाओं में से हैं जिनका प्रसव पूर्व (Prenatal weight) वजन नहीं बढ़ रहा है? कई फैक्टर्स प्रेग्नेंट महिलाओं के वजन नहीं बढ़ने में योगदान करते हैं, उनमें से एक कम कैलोरी खाना भी है। गर्भावस्था के दौरान वजन न बढ़ने के कुछ अन्य कारण हैं-

    अधिकांश डॉक्टर गर्भवती महिला के पहले तिमाही के दौरान वजन बढ़ने की उम्मीद नहीं करते हैं। यह पूरी तरह से सामान्य है क्योंकि फीटस छोटा होता है। कभी-कभी महिलाओं का वजन कम हो जाता है, जिसे वे सेकेंड ट्राइमेस्टर में फीटस की न्यूट्रिशन के हिसाब से बढ़ा लेती हैं।

    और पढ़ें: Prenatal Care: प्रेग्नेंसी के दौरान क्यों जरूरी है ‘प्रीनेटल केयर’?

    प्रेग्नेंसी के दौरान वजन ना बढ़ना (No weight gain during pregnancy)

    गर्भावस्था की पहली तिमाही के दौरान, आपको बिल्कुल भी वजन बढ़ाने की जरूरत नहीं है। हालांकि, दूसरी तिमाही तक आपका प्रेग्नेंसी वेट बढ़ना चाहिए। प्रेग्नेंसी के दौरान न्यूनतम वजन बढ़ाना चाहिए। यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपका गर्भधारण से पहले कितना वजन किया था। यदि प्रेग्नेंसी से पहले आपका बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) ज्यादा था, तो आपको आमतौर पर कम वेट गेन की जरूरत होती है। सेकेंड ट्राइमेस्टर तक, आपको वेट गेन का यह टारगेट रखना चाहिए:

    • गर्भावस्था से पहले अंडरवेट (बीएमआई 19.5 से कम): प्रति सप्ताह लगभग 1 पाउंड यानी 453 ग्राम (गर्भावस्था के दौरान कुल 28 से 40 पाउंड यानी 25 किलो से 18 किलो तक)
    • गर्भावस्था से पहले सामान्य बीएमआई (बीएमआई 19.5 से 24.9): प्रति सप्ताह 1 पाउंड से कम (गर्भावस्था के दौरान कुल 25 से 35 पाउंड यानी 11 किलो से 15 किलो तक)
    • गर्भावस्था से पहले अधिक वजन (बीएमआई 25 से अधिक): प्रति सप्ताह लगभग 0.6 पाउंड (गर्भावस्था के दौरान कुल 15 से 25 पाउंड यानी 6 किलो से 11 किलो तक)
    • गर्भावस्था से पहले ओवरवेट (बीएमआई 30 या अधिक): प्रति सप्ताह लगभग 5 पाउंड (गर्भावस्था के दौरान कुल 11 से 20 पाउंड यानी 4 किलो से 9 किलो)

    यदि आप जुड़वा बच्चों को जन्म दे रहे हैं, तो आपको लगभग 50 प्रतिशत अधिक वजन बढ़ाने की आवश्यकता है (अपने गर्भावस्था से पहले के वजन के आधार पर)।

    और पढ़ें: Stretch Marks During and after Pregnancy: जानिए प्रेग्नेंसी के दौरान और बाद में स्ट्रेच मार्क्स को दूर करने के उपाय!

    प्रेग्नेंसी के दौरान वजन ना बढ़ना: क्या हो सकते हैं परिणाम

    प्रेग्नेंसी के दौरान वजन ना बढ़ना (No weight gain during pregnancy) आपको और आपके बच्चे को रिस्क में डाल सकता है। जिन महिलाओं का गर्भावस्था के दौरान बहुत कम वजन बढ़ता है, उनमें निम्न समस्याएं होने की संभावना अधिक होती है:

    • प्री-मेच्योर बर्थ (Pre-mature birth)
    • यूट्रस में ग्रोथ रेस्ट्रिक्शन
    • कुछ बच्चों को ब्रेस्टफीडिंग कराने में परेशानी हो सकती है
    • बच्चा बीमारियों के प्रति ज्यादा संवेदनशील हो सकता है
    • उसका डेवलपमेंट प्रभावित हो सकता है

    पहली तिमाही में वजन कम होना आमतौर पर पूरी तरह से सामान्य होता है, लेकिन जैसे-जैसे आपका बच्चा बड़ा होता जाएगा, कैलोरी और पोषक तत्वों की मांग बढ़ती जाएगी। इसलिए, आपको अपना वजन स्थिर गति से बढ़ाना होगा।

    प्रेग्नेंसी के दौरान वेट गेन कैसे करें?

    यदि आप प्रेग्नेंसी के दौरान रेकमेंडेड कैलोरी ले रही हैं और आपका वजन तेजी से नहीं बढ़ रहा है, तो आपको अधिक खाना चाहिए। आपका डॉक्टर या एक डायटीशियन आपके लिए मील प्लान बनाने में मदद कर सकता है। इस बीच, गर्भावस्था के दौरान अधिक वजन बढ़ाने में आपकी मदद करने के लिए यहां कुछ टिप्स दिए गए हैं:

    पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थ चुनें

    पोषक तत्वों से भरपूर एवोकैडो, नट्स और नट बटर, फैटी फिश (जैसे साल्मन), ऑलिव ऑयल (Olive oil), बीन्स, मटर, व्होल ग्रेन ब्रेड (Whole grain bread), पास्ता, दलिया (Oatmeal), ब्राउन राइस, लीन मीट (Lean meat) या पोल्ट्री, प्लेन ग्रीक योगर्ट (Plain Greek yogurt), ड्राइड फ्रूट, अंडे आदि को डाइट में शामिल करें।

    कैलोरी को ऐड करें

    कैलोरी-डेंस ​​ऑलिव ऑइल, बटर, क्रीम चीज, पनीर को अपनी डिशेस में ऐड करने की कोशिश करें। कुछ शोध बताते हैं कि अपने भोजन में प्रोटीन सप्लिमेंट शामिल करने से आपको वजन बढ़ाने में मदद मिल सकती है। यह सुनिश्चित करने के लिए अपने डॉक्टर से बात करें कि आपको सही मात्रा में प्रोटीन मिले, क्योंकि अधिक मात्रा में प्रोटीन लेने से बच्चे की ग्रोथ लिमिट हो सकती है।

    जंक फूड को कहें ना

    हालांकि डोनट्स के साथ कैलोरी फिलिंग आसान हो सकती है, लेकिन यह एक हेल्दी ऑप्शन नहीं है। प्रोसेस्ड, शुगरी या ग्रीसी फूड्स वजन बढ़ाएंगे लेकिन पोषण नहीं। अभी, आपको और आपके बच्चे को दोनों की जरूरत है।

    खाने में थोड़ी स्ट्रैटजी लगाएं

    गर्भावस्था के दौरान हाइड्रेटेड रहने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना जरूरी है और फल और सब्जियां एक हेल्दी प्रेग्नेंसी डाइट का एक प्रमुख हिस्सा हैं। इससे आपके बच्चे को फोलिक एसिड मिलता है, जो स्वस्थ कोशिकाओं को बनाने में मदद करता है और स्पाइना बिफिडा जैसे बर्थ डिफेक्ट्स के रिस्क को कम करता है। सलाद या एक बड़े गिलास पानी के साथ अपनी मील शुरू करने के बजाय, हरी सब्जियों और बेवरेज को अपने मेन कोर्स के लिए बचाएं।

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में ब्रेस्ट पेन और टेंडरनेस को दूर करने के लिए क्या हैं आसान तरीके, जानिए!

    अधिक बार खाएं

    कोशिश करें कि खाना न छोड़ें, भले ही आपको मतली आ रही हो। एक दिन में तीन लार्ज मील्स लेने के बजाय, हर दो घंटे में छह छोटे स्नैक साइज्ड बाइट लेने के लिए ट्राई करें। छोटे मील्स और फ्रीक्वेंट मील्स से भी मॉर्निंग सिकनेस से लड़ने में मदद मिलती है।

    एक्सरसाइज है जरूरी

    एक रेगुलर एक्सरसाइज रूटीन है? ज्यादातर मामलों में प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज आपके और आपके बच्चे के स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है। बस अपने फिटनेस रूटीन पर ध्यान दें कि आप अपने कैलोरी टारगेट को पूरा करने के लिए पर्याप्त मात्रा में खा रहे हैं।

    अगर ऊपर बताए गए टिप्स फॉलो करने के बावजूद भी प्रेग्नेंसी के दौरान वजन ना बढ़ना (No weight gain during pregnancy) आपके लिए एक टास्क बना हुआ है तो डॉक्टर से सलाह जरूर लें। अगर आप अपनी दूसरी तिमाही तक गर्भावस्था के वजन बढ़ने से जूझ रही हैं, तो अपने डॉक्टर से बात करें। वहीं, आपका डायटीशियन आपको हेल्दी तरीके से वजन बढ़ाने में मदद करने के लिए हेल्प करेगा।

    उम्मीद करते हैं कि आपको प्रेग्नेंसी के दौरान वजन ना बढ़ना (No weight gain during pregnancy) और इससे संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में प्रेग्नेंसी के दौरान वजन ना बढ़ना या इससे संबंधित अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    health-tool-icon

    गर्भावस्था में वजन बढ़ना

    यह टूल विशेष रूप से उन महिलाओं के लिए तैयार किया गया है, जो यह जानना चाहती हैं कि गर्भावस्था के दौरान उनका स्वस्थ रूप से कितना वजन बढ़ना चाहिए, साथ ही उनके वजन के अनुरूप प्रेग्नेंसी के दौरान कितना वजन होना उचित है।

    28

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Weight, fertility, and pregnancy/https://www.womenshealth.gov/healthy-weight/weight-fertility-and-pregnancy/ Accessed on 4/05/2022

    Pregnancy weight gain: What’s healthy?/
    https://www.mayoclinic.org/healthy-lifestyle/pregnancy-week-by-week/in-depth/pregnancy-weight-gain/art-20044360/Accessed on 4/05/2022

    When you need to gain more weight during pregnancy/
    https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000617.htm/Accessed on 4/05/2022

    Pregnancy: No Weight Gain for Obese Women?
    https://www.webmd.com/baby/news/20090602/pregnancy-no-weight-gain-for-obese-women/Accessed on 4/05/2022

    Weight Gain During Pregnancy/
    https://www.cdc.gov/reproductivehealth/maternalinfanthealth/pregnancy-weight-gain.htm/Accessed on 4/05/2022

    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 04/05/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: