आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

गर्भावस्था के दौरान  पेट में कसाव होना क्या है?

गर्भावस्था के दौरान  पेट में कसाव होना क्या है?

गर्भावस्था के दौरान पेट में कसाव होना ( Stomach tightness during pregnancy) आम है क्या? यह सवाल अधिकतर प्रेग्नेंट महिलाओं के मन में होता है। गर्भावस्था के दौरान पेट में कसाव होना कई अलग-अलग स्थितियों का संकेत हाे सकता है। पेट में कसाव के साथ आपको कई तरह के दर्द, और अन्य संवेदनाएं हो सकती हैं, जिनमें पेट का टाइट होना भी शामिल है। क्योंकि जैसे-जैसे आपका गर्भाशय का आकार बढ़ता है। पेट में टाइटनेस भी बढ़ने लगती है। प्रेग्नेंसी के पहली तिमाही से पेट टाइट जैसा महसूस हो सकता है। शुरुआत के हफ्तों में संभावित गर्भपात का संकेत हो सकता है। तो यहां आपको बताया जा रहा है कि प्रेग्नेंसी के अलग-अलग तिमाही में गर्भावस्था के दौरान पेट में कसाव होना ( Stomach tightness during pregnancy) किस बात का संकेत है।

और पढ़ें: Pomegranate During Pregnancy: प्रेग्नेंसी में अनार का सेवन करना क्या होता है फायदेमंद!

गर्भावस्था के दौरान पेट में कसाव होना ( Stomach tightness during pregnancy) : पहली तिमाही में गर्भपात का संकेत (Signs of miscarriage in the first trimester)

आपके पहली तिमाही में आपका पेट में जकड़न की तरह टाइट और कड़ा महसूस कर सकता है, क्योंकि आपका गर्भाशय आपके बढ़ते भ्रूण को समायोजित करने के लिए बढ़ता है। आपके द्वारा अनुभव की जा सकने वाली अन्य संवेदनाओं में आपके पेट के किनारों में टाइटनेस के साथ दर्द भी महसूस हो सकता है, क्योंकि आपकी मांसपेशियां खिंचती हैं और लंबी होती हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान पेट का टाइट होना या पेट दर्द होना गर्भपात का संकेत हो सकता है। गर्भपात का डर प्रेग्नेंसी के पहले 20 सप्ताह में ज्यादा होता है। हालांकि यह सप्ताह 12 के बाद रिस्क थोड़ा कम हो जाता है, लेकिन ध्यान देनी की जरूरत बनी रहती है। ऐसा भी हो सकता है कि आपमें गर्भपात के कोई लक्षण नहीं हो सकते हैं, या आपको निम्न में से कुछ या सभी लक्षणों का अनुभव हो सकता है, जिनमें शामिल हैं:

  • आपके पेट में जकड़न या ऐंठन महसूस होना
  • पेट का टाइट होना
  • आपकी पीठ के निचले हिस्से में दर्द या ऐंठन का अनुभव होना
  • स्पॉटिंग या ब्लीडिंग जैसे लक्षण
  • योनि से तरल पदार्थ आना

और पढ़ें: क्या आपको पता है कि आरएच फैक्टर टेस्ट और प्रेग्नेंसी में क्या संबंध है?

गर्भपात के कारण क्या है, यह हमेशा स्पष्ट नहीं हो पाता है। इसके अन्य इसके कारण हो सकते हैं:

  • भ्रूण में समस्या होना
  • मधुमेह की समस्या
  • किसी प्रकार का इंफेक्शन
  • कुछ प्रकार की सवाईकल प्रॉब्लम

यदि आपको गर्भपात के अन्य लक्षणों के साथ-साथ पेट में दर्द होता है, तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

और पढ़ें: Subchorionic Bleeding During Pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान इस ब्लीडिंग का आखिर क्या होता है मतलब?

गर्भावस्था के दौरान पेट में कसाव होना : दूसरी तिमाही में राउंड लिगामेंट के कारण (Due to the round ligament in the second trimester)

जैसे-जैसे आपका शरीर गर्भावस्था के दौरान होने वाले बदलावों के अनुकूल होने लगता है, आपको पेट का टाइट होना और यहां तक ​​कि तेज दर्द का अनुभव हो सकता है। जिसे राउंड लिगामेंट पेन भी कहा जाता है। इस प्रकार का दर्द दूसरी तिमाही के दौरान सबसे आम है, और दर्द आपके पेट या कूल्हे के क्षेत्र से आपके कमर तक फैल सकता है। राउंड लिगामेंट दर्द को पूरी तरह से सामान्य माना जाता है। इसके अलावा, गर्भावस्था के चौथे महीने में ही ब्रेक्सटन-हिक्स संकुचन का अनुभव होना भी संभव है। इसमें पेट में कसाव के साथ तेज दर्द और असहज महसूस कर सकते हैं। कुछ महिलाओं को ये संकुचन दूसरों की तुलना में अधिक होते हैं। लेकिन हां, यह ये संकुचन आमतौर पर गर्भाशय ग्रीवा के फैलाव को प्रभावित नहीं करते हैं। यदि आपको अपनी दूसरी तिमाही में बार-बार संकुचन हो रहा है, तो समय से पहले प्रसव या गर्भपात से बचने के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करना हमेशा सबसे अच्छा उपाय है। वे आपके गर्भाशय ग्रीवा की जांच के लिए अल्ट्रासाउंड करवा सकते हैं।

और पढ़ें: सिम्फिसिस प्यूबिस डिसफंक्शन: कितनी कॉमन है, प्रेग्नेंसी में पेल्विक पेन का कारण बनने वाली यह कंडिशन?

गर्भावस्था के दौरान पेट में कसाव होना : तीसरी तिमाही में लेबर का संकेत (Signs of labor in the third trimester)

आपकी तीसरी तिमाही में पेट का कड़ा होना लेबर का संकेत हो सकता है। लेबर की शुरुआत हल्के संकुचन जैसे लक्षण से शुरू हो सकता है और समय के साथ बढ़ सकता है। श्रम संकुचन समय के साथ अधिक से अधिक तीव्र हो जाते हैं। गर्भावस्था के तीसरे तिमाही में ब्रेक्सटन-हिक्स संकुचन अधिक आम हैं। आप उन्हें गर्भावस्था के अंतिम हफ्तों में नोटिस कर सकती हैं। आपकी तीसरी तिमाही में उन्हें पहले नोटिस करना भी संभव है।कई महिलाओं में यह फेक लेबर का संकेत भी हो सकता है। गर्भावस्था के तीसरे तिमाही में ब्रेक्सटन-हिक्स संकुचन अधिक आम हैं। आप उन्हें गर्भावस्था के अंतिम हफ्तों में नोटिस कर सकती हैं। आपकी तीसरी तिमाही में उन्हें पहले नोटिस करना भी संभव है।

ब्रेक्सटन-हिक्स संकुचन को “फेक लेबर” के रूप में भी जाना जाता है क्योंकि कई महिलाएं उन्हें डिलिवरी वाला लेबर समझने की गलती करती हैं। यदि आपको बहुत सारे अनियमित संकुचन हो रहे हैं या पेट में कसाव महसूस हो रहा है, तो अपने डॉक्टर से बात करें। सही लेबर को पहचानने के लिए आप इन लक्षणों पर ध्यान दे सकते हैं, जैसे कि:

  • पीठ के निचले हिस्से में दर्द या ऐंठन होना और आराम नहीं मिलना
  • योनि से पानी आना
  • योनि से लाल स्राव होना, जिसे “ब्लडी शो” के रूप में भी जाना जाता है।

और पढ़ें: पीरियड डिले मेडिकेशन (Period delay medication) क्या प्रेग्नेंसी पर डाल सकती हैं असर, जानिए यहां

इसके अलावा अन्य लक्षण भी हो सकते हैं, इसके नजर आने पर आप तुरंत डॉक्टर से बात करें। इन बातों का भी रखें ध्यान:

  • अपने आप हाइड्रेटेड रखें
  • बिस्तर या अन्य स्थितियों से अचानक और जल्दबाद में न उठें
  • थकी हुई मांसपेशियों को आराम देने के लिए हल्की मसाज भी ली जा सकती है, पर डॉक्टर की सलाह के बाद।
  • गर्म पानी की बोतल या हीट पैड का उपयोग करें, या गर्म स्नान या शॉवर लें
  • अगर ये घरेलू उपाय सिर्फ आपको आराम दे सकता है, इसका कोई इलाज नहीं है यह।

यदि आप 36 सप्ताह से कम गर्भवती हैं और समय से पहले प्रसव के अन्य लक्षण हैं, तो तुरंत अस्पताल जाएं:

और पढ़ें: सिम्फिसिस प्यूबिस डिसफंक्शन: कितनी कॉमन है, प्रेग्नेंसी में पेल्विक पेन का कारण बनने वाली यह कंडिशन?

यदि आप गर्भावस्था के दौरान कभी भी पेट में कसाव या संकुचन, या किसी अन्य लक्षण के बारे में चिंतित न हों। इस बारे में अपने डॉक्टर से तुरंत बताएं। जबकि पेट में कसाव के कई मामलों को ब्रेक्सटन-हिक्स संकुचन या बढ़ते दर्द के लिए के कारण भी हो सकता है। गर्भावस्था के दौरान पेट में कसाव होना क्या है, इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए डाॅक्टर से संपर्क करें।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

सायकल की लेंथ

(दिन)

28

ऑब्जेक्टिव्स

(दिन)

7

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
डॉ. प्रणाली पाटील द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 17/01/2022 को