home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

क्या आपको पता है कि आरएच फैक्टर टेस्ट और प्रेग्नेंसी में क्या संबंध है?

क्या आपको पता है कि आरएच फैक्टर टेस्ट और प्रेग्नेंसी में क्या संबंध है?

क्या आपको पता है कि आरएच फैक्टर टेस्ट और प्रेग्नेंसी (Rh factor test and pregnancy) में क्या संबंध है? आरएच टेस्ट लगभग सभी गर्भवती महिलाओं के लिए जरूरी होता है। यह आमतौर पर तब किया जाता है, जब आपकी पहली प्रसवपूर्व देखभाल यात्रा के दौरान आपके रक्त का नमूना लिया जाता है। परिणाम निर्धारित करेंगे कि क्या आपके रक्त में “आरएच फैक्टर ” है – लाल रक्त कोशिकाओं की सतह पर पाया जाने वाला एक प्रकार का प्रोटीन है। सिर्फ आपका ब्लड ग्रुप ही नहीं, बल्कि आपसे आपके बच्चे को रेसूस फैक्टर (या आर.एच. कारक) के रूप में जाना जाने वाला एक गुणस्वभाव भी विरासत में मिलती है, जो उसके स्वास्थ्य से जुड़ा होता है। तो आइए जानते हैं कि आरएच फैक्टर टेस्ट और प्रेग्नेंसी (Rh factor test and pregnancy) में क्या संबंध है:

और पढ़ें: Subchorionic Bleeding During Pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान इस ब्लीडिंग का आखिर क्या होता है मतलब?

आरएच फैक्टर टेस्ट और प्रेग्नेंसी (Rh factor test and pregnancy) : क्या है?

आरएच कारक एक प्रकार का प्रोटीन है, जो अक्सर लाल रक्त कोशिकाओं के ऊपरी भाग पर पाया जाता हैपाया जाता है, जो पूरे शरीर में ऑक्सिजन के प्रवाह में मददगार है। टेस्ट के दौरान यदि आप में प्रोटीन की अधिक मात्रा पायी जाती है, तो आप आरएच पॉजिटिव हैं। यदि आपमें इसकी मात्रा नहीं पायी जाती हैं, तो आप आरएच निगेटिव हैं। बहुत से लोग आरएच नेगेटिव नहीं होते हैं। यदि गर्भवती मां आर.एच. पॉजिटिव (Rh+) हैं ,यदि यह प्रोटीन आपके रक्त में मौजूद हैं और आप आर.एच. (Rh-) निगेटिव हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान आपके आर.एच. कारक जानना बेहद आवश्यक है। ताकि प्रसव के दौरान होनी वाली जटिलताओं से बचाव किया जा सके। आर.एच. कारक को बेहतर तरीके से समझने के लिए आपको प्रतिजन (एंटीजन) के बारे में भी जानना होगा। ‘आर.एच. ब्लड ग्रुप’ और ‘आर.एच. फैक्टर’ के बीच का अंतर भी आपको समझने की आवश्यकता है।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान ओवेरियन सिस्ट्स नहीं बनती परेशानी का कारण, इस ट्राइमेस्टर तक अपने आप हो सकती हैं ठीक

आर.एच. पॉजिटिव (RH positive)

अगर आपके रक्त में आर.एच. फैक्टर है तो आपको आर.एच. पॉजिटिव कहा जाएगा। दुनिया की 85% आबादी आर.एच. पॉजिटिव होती है, और आप खुद को उनमें से ही एक मान सकते हैं।

आर.एच. निगेटिव (RH negative)

गर्भावस्था में आर.एच. निगेटिव रक्त समूह होने से आपके स्वास्थ्य पर कोई असर नहीं पड़ता है और न ही यह किसी तरह की बीमारी का संकेत देता है।

और पढ़ें: पीरियड डिले मेडिकेशन (Period delay medication) क्या प्रेग्नेंसी पर डाल सकती हैं असर, जानिए यहां

आरएच फैक्टर टेस्ट और प्रेग्नेंसी (Rh factor test and pregnancy) : असंगतता क्या है?

Rh असंगतता तब होती है जब एक मां Rh नेगेटिव होती है और उसका बच्चा Rh पॉजिटिव होता है, जो गर्भावस्था के दौरान समस्या पैदा कर सकता है। क्योंकि यदि आरएच पॉजिटिव बच्चे की रक्त कोशिकाएं मां के परिसंचरण में प्रवेश करती हैं, तो उनकी इम्यूनिटी पर हमला करती हैं। चूंकि लाल रक्त कोशिकाएं ऑक्सिजन को लेती हैं, इसलिए इस प्रकार के हमले से बच्चे के लिए आवश्यक ऑक्सिजन की मात्रा प्राप्त करना मुश्किल हो सकता है। यह संभावित रूप से एक गंभीर प्रकार के एनीमिया और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है।

और पढ़ें: Difference Between first and second Pregnancy: जानिए क्या हैं पहली और दूसरी प्रेग्नेंसी में अंतर?

गर्भावस्था में आपको आरएच टेस्ट की आवश्यकता क्यों है (Why do you need a Rh test in pregnancy)?

तो महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान आरएच परीक्षण की आवश्यकता क्यों है? डॉक्टर यह जांच करने के लिए करते हैं कि लाल रक्त कोशिकाओं की सतह पर एक प्रोटीन आरएच कारक आपके रक्त में मौजूद है या नहीं।आरएच पॉजिटिव होने से गर्भावस्था प्रभावित नहीं होगी। लेकिन अगर आप आरएच निगेटिव हैं और बच्चे के पिता आरएच पॉजिटिव हैं, तो बच्चे को आरएच पॉजिटिव जेनेटिक रूप से हो सकता है। आरएच कारक समस्याओं का शीघ्र पता लगाने से ऐसे खतरों को कम किया जा सकता है, इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि जल्द से जल्द प्रेग्नेंट मां का परीक्षण किया जाए।प्रत्येक गर्भवती महिला को प्रत्येक गर्भावस्था के दौरान आरएच कारक परीक्षण मिलता है। यह आपके लिए सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण परीक्षणों में से एक है।आप आमतौर पर इसे पहली तिमाही में प्राप्त करते हैं जब तक कि आपको योनि से रक्तस्राव न हो। आपको कितने अन्य परीक्षण मिलते हैं, यह परिणामों पर निर्भर करता है:

आर पॉजिटिव (R positive): आपको दूसरे टेस्ट की जरूरत नहीं पड़ेगी।

आरएच निगेटिव (Rh negative): आपके रक्त में आरएच एंटीबॉडी है या नहीं, यह देखने के लिए आपको एक एंटीबॉडी स्क्रीन नामक एक परीक्षण मिल सकता है। यदि आपकी आरएच निगेटिव है और आपका बच्चा आरएच पॉजिटिव है, तो आपको आरएच फैक्टर के असंतुलन नामक स्थिति होने की संभावना हो सकती है, जो खतरनाक हो सकती है।अधिकांश समय, Rh-negative होने का कोई जोखिम नहीं होता है। लेकिन गर्भावस्था के दौरान, अगर आपका बच्चा आरएच-पॉजिटिव है तो आपका आरएच-निगेटिव होना एक समस्या हो सकती है। यदि आपका रक्त और आपके बच्चे का रक्त मिल जाता है, तो आपका शरीर एंटीबॉडी बनाना शुरू हो जाएगा, जो आपके बच्चे की लाल रक्त कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकती है। इसे आरएच संवेदीकरण के रूप में जाना जाता है।

आरएच संवेदीकरण आपके द्वारा ले जाने वाले पहले आरएच-पॉजिटिव बच्चे को नुकसान पहुंचाने की संभावना नहीं है। लेकिन एक बार जब आप आरएच पॉजिटिव हो जाते हैं, तो आरएच एंटीबॉडी आपके सिस्टम में बने रहते हैं। यदि आप एक और आरएच-पॉजिटिव बच्चे के साथ गर्भवती होती हैं, तो आपके आरएच एंटीबॉडी इस बच्चे के रक्त पर हमला करेंगे।आरएच रोग हेमोलिटिक एनीमिया का कारण बनता है, जो लाल रक्त कोशिकाओं को तेजी से नष्ट कर देता है जिससे शरीर उन्हें बना सकता है। यह आपके बच्चे के लिए गंभीर बीमारी या मृत्यु का कारण बन सकता है।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान न्यूट्रीशन की कमी से क्या बच्चे हो सकते हैं दिल से जुड़े डिफेक्ट्स?

आर.एच. की असंगतता का उपचार (RH treatment of incompatibility)

आर.एच. की असंगतता का उपचार असंगति के प्रभाव को रोकने पर केंद्रित है। नवजात शिशु का उपचार निम्नलिखित तरीकों से किया जाता हैं:

माता-पिता के आर.एच. कारकों को जानने से माँ और बच्चे दोनों के स्वास्थ्य के खतरे का अनुमान लगाने में मदद मिलती है। सुनिश्चित करें कि गर्भधारण करते ही अपने चिकित्सक को नियमित जांच करवाते रहें और अपने चिकित्सक को बताएं यदि आपके और आपके साथी के बीच कोई मेडिकल असंगतता है।

और पढ़ें: ब्रेक्सटन हिक्स कॉन्ट्रैक्शंस को न समझ लें असली लेबर, जानिए क्या हैं इन दोनों में डिफरेंस?

माता-पिता के आर.एच. कारकों को जानने से माँ और बच्चे दोनों के स्वास्थ्य के खतरे का अनुमान लगाने में मदद मिलती है। सुनिश्चित करें कि गर्भधारण करते ही अपने चिकित्सक को नियमित जांच करवाते रहें और अपने चिकित्सक को बताएं यदि आपके और आपके साथी के बीच कोई मेडिकल असंगतता है। आरएच फैक्टर टेस्ट और प्रेग्नेंसी के बारे में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

सायकल की लेंथ

(दिन)

28

ऑब्जेक्टिव्स

(दिन)

7

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड