आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Bleeding Into The Skin: स्किन से ब्लीडिंग की समस्या क्या है? जानिए इससे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी!

    Bleeding Into The Skin: स्किन से ब्लीडिंग की समस्या क्या है? जानिए इससे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी!

    स्किन से जुड़ी प्रॉब्लेम इंटर्नल और एक्सटर्नल यानी त्वचा के अंदर और बाहर दोनों हो सकती है। आज इस आर्टिकल में स्किन से ब्लीडिंग (Bleeding Into The Skin) की समस्या के बारे में समझेंगे।

    • स्किन से ब्लीडिंग की समस्या क्या है?
    • स्किन से ब्लीडिंग के कारण क्या हैं?
    • स्किन से ब्लीडिंग का निदान कैसे किया जाता है?
    • स्किन से ब्लीडिंग का इलाज कैसे किया जाता है?
    • स्किन से ब्लीडिंग के घरेलू उपाय क्या हैं?

    चलिए अब स्किन से ब्लीडिंग (Bleeding Into The Skin) से जुड़े इन सवालों का जवाब जानते हैं।

    और पढ़ें : चेहरे से जुड़ी अनेक परेशानियों का इलाज हायल्यूरॉनिक एसिड डर्मल फिलर, जानें कैसे करता है काम

    स्किन से ब्लीडिंग की समस्या क्या है? (About Bleeding Into The Skin)

    स्किन से ब्लीडिंग (Bleeding Into The Skin)

    अगर स्किन के अंदर ब्लड वेसल्स किसी कारण से फट जाए तो ऐसी स्थिति में स्किन से ब्लीडिंग की समस्या शुरू हो सकती है। ऐसी स्थिति को मेडिकल टर्म में हेमोरिजिंग (Hemorrhaging) भी कहते हैं। इसलिए हेमोरिजिंग की समस्या स्किन के ठीक नीचे होता है, जिस वजह से स्किन डिस्कलर भी नजर आने लगती है।

    और पढ़ें : Herpes Skin Rash: हर्पीस स्किन रैश की समस्या क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

    स्किन से ब्लीडिंग के कारण क्या हैं? (Causes of Bleeding Into The Skin)

    स्किन से ब्लीडिंग के कारण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

    • इंजरी (Injury) होना।
    • ट्रॉमा (Trauma) होना।
    • एलर्जिक रिएक्शन (Allergic reaction) होना।
    • ऑटोइम्यून डिसॉर्डर (Autoimmune disorders) की समस्या होना।
    • वायरल इंफेक्शन (Viral infection) की समस्या होना।
    • ब्लड क्लॉटिंग (Blood clotting) की समस्या होना।
    • थ्रोम्बोसाय्टोपिनिया (Thrombocytopenia) की समस्या होना।
    • मेडिकल ट्रीटमेंट जैसे रेडिएशन (Radiation) कीमोथेरिपी (Chemotherapy) लेना।
    • एंटीप्लेटलेट मेडिसन (Antiplatelet medicines) जैसे क्लोपिडोग्रेल (Clopidogrel) का सेवन करना।
    • चोट (Bruise) लगना।
    • न्यूली बोर्न बेबी में पेटेचिया (Petechiae in the newborn) की समस्या होना।
    • एजिंग स्किन (Aging skin) की समस्या होना।
    • इडियोपैथिक थ्रोम्बोसाइटोपेनिक पुरपुरा (Idiopathic thrombocytopenic purpura) की समस्या होना।
    • हेनोक-स्कोलेन पुरपुरा (Henoch-Schonlein purpura) की समस्या होना।
    • लुकेमिया (Leukemia) की समस्या होना।
    • एस्प्रिन (Aspirin) या स्टेरॉइड्स (Steroids) का सेवन करना।
    • सेप्टीसीमिया (Septicemia) की समस्या होना।

    ऐसी स्थिति स्किन से ब्लीडिंग की समस्या को दावत दे सकती है।

    और पढ़ें : Triphala Benefits For Skin: त्वचा के लिए त्रिफला के फायदे सिर्फ एक नहीं, बल्कि हैं कईं!

    स्किन से ब्लीडिंग का निदान कैसे किया जाता है? (Diagnosis of Bleeding Into The Skin)

    स्किन से ब्लीडिंग की समस्या से छुटकारा पाने के लिए डॉक्टर सबसे पहले पेशेंट से निम्नलिखित सवाल पूछते हैं। जैसे:

    • स्किन से ब्लीडिंग के लक्षण से अलग लक्षण भी महसूस करते हैं?
    • परिवार में कोई अन्य व्यक्ति भी लक्षण महसूस कर रहें हैं?
    • समस्या कब से है?
    • क्या पहले कभी भी ऐसी समस्या हुई है?
    • क्या आप किसी तरह की दवाओं का सेवन करते हैं?
    • क्या आपको कोई अन्य मेडिकल प्रॉब्लेम है?

    स्किन से ब्लीडिंग के इलाज से पहले डॉक्टर पेशेंट से या उनके केयर टेकर से ये सवाल पूछ सकते हैं और आवश्यकता पड़ने पर निम्नलिखित टेस्ट करवाने की सलाह दे सकते हैं। जैसे:

    रिपोर्ट्स एवं लक्षणों के आधार पर परप्यूरा का इलाज शुरू किया जाता है।

    और पढ़ें : Blind Pimple: ब्लाइंड पिंपल से छुटकारा पाने के लिए 7 घरेलू उपाय एवं 9 टिप्स कर सकते हैं फॉलो!

    स्किन से ब्लीडिंग का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment for Bleeding Into The Skin)

    नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार स्किन से ब्लीडिंग के इलाज के लिए कोई विशेष दवा नहीं, लेकिन इस परेशानी को दूर करने के लिए निम्नलिखित विकल्प अपनाये जा सकते हैं। जैसे:

    • त्वचा से ब्लीडिंग की समस्या होने पर जितनी जल्दी हो सके 10-15 मिनट के लिए आइस पैक लगाएं और फिर इसे कई बार दोहराएं।
    • त्वचा से ब्लीडिंग वाले हिस्से को उठाकर रखें।
    • ब्लीडिंग एरिया पर दवाब डाला जाता है।
    • त्वचा से ब्लीडिंग वाले हिस्से पर पानी या किसी भी तरह का तरल पदार्थ ना पड़ने दें।
    • त्वचा से ब्लीडिंग की समस्या से पीड़ित लोग को विटामिन ए (Vitamins A), विटामिन सी (Vitamins C), विटामिन डी ((Vitamins D) और विटामिन ई (Vitamins E) के सेवन की सलाह दी जाती है।
    • तंबाकू या सिगरेट का सेवन नहीं करना चाहिए।
    • डॉक्टर हर्बल जेल या विटामिन के 8 (Vitamin K8) वाले क्रीम के इस्तेमाल की सलाह दी जाती है।

    इन्हीं अलग-अलग तरहों से स्किन से ब्लीडिंग का इलाज किया जाता है।

    स्किन से ब्लीडिंग के घरेलू उपाय क्या हैं? (Home remedies for Bleeding Into The Skin)

    यू.एस. डिपार्टमेंट ऑफ हेल्थ एंड ह्यूमन सर्विसेस (U.S. Department of Health and Human Services) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार त्वचा से ब्लीडिंग (Bleeding Into The Skin) होने पर ट्रॉमा जैसी स्थितियों से बचना चाहिए। वहीं अगर किसी ड्रग के सेवन की वजह से स्किन से ब्लीडिंग (Bleeding Into The Skin) की स्थिति हुई है, तो डॉक्टर से इसकी जानकारी शेयर करें।

    और पढ़ें : सैलीसिलिक एसिड और ग्लाइकोलिक एसिड: ब्यूटी प्रोडक्टस में प्रयोग होने वाले यह एसिड किस तरह से हैं फायदेमंद, जानिए

    डॉक्टर से कब कंसल्टेशन करना जरूरी है? (Consult Doctor if-)

    निम्नलिखित स्थितियों में डॉक्टर से संपर्क करना जरूरी है। जैसे:

    • अत्यधिक दर्द (Extreme pain) महसूस होना।
    • यूरिन या स्टूल से ब्लड (Blood in the urine or stool) आना।
    • मसूड़ों से ब्लीडिंग (Bleeding gums) होना।
    • हाथों में सूजन (Swollen extremities) की समस्या होना।
    • चोट (Bruise) लगने वाले जगह के आसपास स्किन का डार्क होना।
    • बुखार (Fever) आना।
    • जी मिचलाने (Nausea) या उल्टी (Vomiting) की समस्या होना।
    • बेहोश (Dizziness) होना।
    • जोड़ों (Joint pain) में दर्द होना।
    • हड्डियों में दर्द (Bone pain) होना।

    अगर ऐसी स्थिति महसूस हो, तो डॉक्टर से कंसल्ट करना जरूरी है। किसी भी बीमारी का इलाज अगर इसके शुरुआती स्टेज से ही शुरू हो जाए तो बीमारी से जल्द छुटकारा मिल सकता है और मनिसक एवं शारीरिक परेशानियों से भी बचने में मद्द मिल सकती है।

    और पढ़ें : Skin Lesions: स्किन लीजन क्या है? जानिए स्किन लीजन का कारण, इलाज और घरेलू उपाय

    हमें उम्मीद है कि इस आर्टिकल में स्किन से ब्लीडिंग (Bleeding Into The Skin) से जुड़ी जानकारी आपके लिए लाभकारी होंगी। इसलिए अगर आप लंबे वक्त से स्किन से ब्लीडिंग (Bleeding Into The Skin) के शिकार हैं और यह परेशानी दूर नहीं हो रही है, तो ऐसी स्थिति में डॉक्टर से कंसल्ट करें। डॉक्टर बीमरी की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए मेडिसिन प्रिस्क्राइब कर सकते हैं। स्किन प्रॉब्लेम (Skin problem) से जुड़ी किसी भी जानकारी के लिए आप हैलो स्वास्थ्य के त्वचा संबंधी समस्याओं पर क्लीक करें।

    आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज के बारे में जानें संपूर्ण जानकारी नीचे दिए इस वीडियो लिंक को क्लिक कर। आयुर्वेदिक ब्यूटी एक्सपर्ट पूजा नागदेव खास जानकारी साझा कर रहीं हैं आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज की, जिससे आप आसानी से अपना सकती हैं और चेहरे पर एक्ने के दाने या अन्य दाग-धब्बों को दूर करने के उपाय।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Cold application on bruising at the subcutaneous heparin injection site: A systematic review and meta-analysis/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7774373/Accessed on 06/06/2022
    Injuries in field hockey players: A systematic review/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5856874/Accessed on 06/06/2022

    Bleeding into the skin/https://medlineplus.gov/ency/article/003235.htm/Accessed on 06/06/2022

    Skin cuts and abrasions/https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/conditionsandtreatments/skin-cuts-and-abrasions/Accessed on 06/06/2022

    Bleeding and Bruising (Thrombocytopenia) and Cancer Treatment/https://www.cancer.gov/about-cancer/treatment/side-effects/bleeding-bruising/Accessed on 06/06/2022

    What is Hemophilia?/https://www.cdc.gov/ncbddd/hemophilia/facts.html/Accessed on 06/06/2022

     

    लेखक की तस्वीर badge
    Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 07/06/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: