home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Ecosprin Tablet: इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट क्या है?

परिचय/उपयोग|दवा का सेवन|सावधानियां|साइड इफेक्ट|महत्वपूर्ण बातें
Ecosprin Tablet: इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट क्या है?

परिचय/उपयोग

इकोस्प्रिन टैबलेट में मुख्य रूप से एस्प्रिन होता है जो दर्द और सूजन कम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि यह पैरासिटोमल से अलग है। इकोस्प्रिन एस्प्रिन का ब्रांड नाम है।

इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

इकोस्प्रिन टैबलेट में एस्प्रिन होता है जिसका इस्तेमाल सिरदर्द, बदनदर्द, मांसपेशियों के दर्द, सूजन, बुखार आदि को कम करने के लिए किया जाता है। कई बार हार्ट अटैक से बचने, स्ट्रोक और सीने में दर्द (एनजाइना) के उपचार के लिए किया जाता है। कार्डियोवस्कुलर स्थिति के उपचार के लिए एस्प्रिन का इस्तेमाल केवल डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए। आर्थराइटिस की स्थिति में दर्द और सूजन कम करने के लिए भी इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट का इस्तेमाल किया जाता है। एस्प्रिन को सैलिसिलेट और नॉनस्टेरॉयड एंटी इंफ्लामेट्री दवा के रूप में भी जाना जाता है। यह दर्द और सूजन कम करने के लिए शरीर में उत्पन्न होने वाले कुछ नैचुरल पदार्थों का उत्पादन अवरुद्ध करता है।

ब्लड क्लॉट से बचाने के लिए डॉक्टर आपको इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट की कम खुराक देगा। इससे स्ट्रोक और हार्ट अटैक का खतरा कम रहता है। यदि आपकी हाल ही में सर्जरी हुई है जैसे बाइपास सर्जरी, कोरोनरी स्टेंट आदि तो डॉक्टर खून पतला करने के लिए एस्प्रिन की कम खुराक देगा ताकि ब्लड क्लॉट न बनें। ध्यान रहे की इकोस्प्रिन और इकोस्प्रिन एवी दोनों अलग-अलग दवाएं हैं।

और पढ़ें: बेनिडिपाइन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

दवा का सेवन

इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट का सेवन कैसे करें?

यदि आप सेल्फ मेडिकेशन के लिए इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट ले रहे हैं, तो पैकेट पर दिए दिशा-निर्देशों का पालन करें, अन्यथा डॉक्टर के बताए अनुसार ही इसका सेवन करें। अपनी मर्जी से इसकी खुराक कम या ज्यादा न लें। टैबलेट को चबाएं नहीं, सीधा पानी के साथ निगल लें। इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट लेने के बाद 10 मिनट तक बिस्तर पर न लेटे। यदि इसका सेवन करने के बाद आपको पेट में गड़बड़ी की शिकायत होती है तो दूध या किसी अन्य खाद्य पदार्थ के साथ इसका सेवन करें।

इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट की खुराक और उपचार की अवधि मरीज की मेडिकल कंडिशन और उपचार के प्रति उसकी प्रतिक्रिया पर निर्भर करती है। यदि आप सेल्फ ट्रीटमेंट कर रहे हैं तो प्रोडक्ट लेबल पर लिखे निर्देशों को अच्छी तरह पढ़ लें कि दिन में कितनी टेबलेट खानी है और कितने दिनों तक इसे खाना सुरक्षित है। यदि आपको इस संबंध में किसी तरह का संदेह हो तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

यदि आप किसी तरह के दर्द से राहत के लिए इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट ले रहे हैं तो याद रखिए 10 दिनों से ज्यादा इसका सेवन न करें। इसके साथ ही यदि आपको बुखार 3 दिनों से अधिक समय तक आ रहा है तो बिना डॉक्टर की परामर्श के सेल्फ ट्रीटमेंट की गलती न करें।

और पढ़ें: बोनसेट क्या है?

सावधानियां

इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट का सेवन से पहले बरतें यह सावधानियां

इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को आपको किसी तरह की दवा से एलर्जी है। इसके अलावा किसी अन्य तरह की एलर्जी के बारे में भी बताएं।

यदि आपको किसी खास तरह की हेल्थ कंडिशन है तो इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट का सेवन बिना डॉक्टर की सलाह के न करें। जैसे आपको यदि ब्लीडिंग/ब्लड क्लॉटिंग डिसऑर्डर (हेमोफेलिया, विटामिन के की कमी, लो प्लेटलेट काउंट) है। इसके अलावा निम्न स्वास्थ्य समस्या होने पर भी डॉक्टर से परामर्श के बाद ही इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट का सेवन करेः

इस दवा के साथ शराब और तंबाकू के सेवन से साइड इफेक्ट का खतरा बढ़ जाता है, इसलिए एल्कोहलिक पेय पदार्थ और स्मोकिंग से परहेज करें। इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श करें। यदि आपकी कोई सर्जरी होने वाली है तो अपने डॉक्टर या डेंटिस्ट को जरूर बताएं कि आप इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट का सेवन कर रहे हैं।

बच्चों और 18 साल से कम के टीनेजर्स इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट का सेवन नहीं करना चाहिए।

प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाले दर्द और बुखार के उपचार के लिए भी इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इससे डिलिवरी के समय समस्या हो सकती है।

और पढ़ें- अमोनियम क्लोराइड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

साइड इफेक्ट

इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट के साइड इफेक्ट क्या हैं?

यदि आपको किसी तरह के एलर्जिक रिएक्शन के लक्षण दिखते हैं जैसे- हाइव्स, सांस लेने में दिक्क्त, चेहरे/होंठ/गर्लन/जीभ में सूजन तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं। निम्न लक्षण दिखने पर तुरंत इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट का इस्तेमाल बंद कर दें और डॉक्टर के पास जाएः

  • कान में कुछ बजने की आवाज
  • कन्फ्यूजन, मतिभ्रम होना
  • तेजी से सांस लेना
  • सिजर्स
  • गंभीर मितली, उल्टी या पेट दर्द होना
  • मल से रक्त आना, कफ में रक्त आना या उल्टी होना
  • 3 दिन से अधिक समय तक बुखार रहना
  • सूजन और दर्द 10 दिनों से अधिक समय तक रहना

अन्य लक्षणों में शामिल हैः

  • पेट संबंधी परेशानी
  • हार्टबर्न
  • नींद आना
  • हल्का सिरदर्द

और पढ़ें- एपिडर्मल सिस्ट क्या है?

महत्वपूर्ण बातें

क्या प्रेग्नेंसी में इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट का सेवन सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी के दौरान इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट लेने से अजन्मे बच्चे के दिल को नुकसान पहुंच सकता है, जन्म के समय वजन कम होने के साथ ही अन्य परेशानियां हो सकती हैं। एस्प्रिन लेने से पहले अपनी प्रेग्नेंसी या प्रेग्नेंसी प्लानिंग के बारे में डॉक्टर को जरूर बताएं। इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट का सेवन यदि अधिक किया जाए तो यह ब्रेस्ट मिल्क तक पहुंच जाता है ऐसे में ब्रेस्टफीड कराने वाली महिलाओं का इसका सेवन न करने की सलाह दी जाती है। हालांकि हार्ट अटैक और स्ट्रोक से बचाव के लिए इसकी लो डोज ली जा सकती है, मगर डॉक्टर से परामर्श के बाद।

इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट का ओवरडोज होने पर क्या होता है?

इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट का ओवरडोज होने पर पेट में दर्द, मतली, उल्टी और कानों में कुछ बजने (टिनिटस) जैसे लक्षण दिखते हैं। ऐसे में तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट की खुराक भूल जाने पर क्या करें?

चूंकि इस दवा का डोजिंग शेड्यूल नहीं होता और जरूरत के अनुसार ही ली जाती है इसलिए खुराक याद रखने की जरूरत नहीं है, लेकिन आपको यदि डॉक्टर ने इसकी खुराक बताई है और आप भूल जाते हैं, तो याद आते ही वह खुराक ले लें। हालांकि अगली खुराक का समय होने पर उसे छोड़ दें।

इकोस्प्रिन (एस्प्रिन) टैबलेट के सेवन के समय किन चीजों से परहेज करें?

जब आप एस्प्रिन टैबलेट का सेवन कर रहे हों, तो शराब का सेवन न करें। बहुत अधिक एल्कोहल के सेवन से पेट में रक्तस्राव की समस्या हो सकती है। यदि आप यह दवा हार्ट अटैक या स्ट्रोक के खतरे को कम करने के लिए ले रहे हैं तो इसके साथ आइबुप्रोफेन का सेवन न करें। क्योंकि आइबुप्रोफेन एस्प्रिन के असर को कम कर सकता है। यदि आपके लिए दोनों दवा लेना जरूरी है तो एस्प्रिन का सेवन करने के करीब 8 घंटे पहले आइबुप्रोफेन लें या एस्प्रिन लेने के आधे घंटे के बाद आइबुप्रोफेन का सेवन करें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है, अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

संबंधित लेख:

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Kanchan Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 29/05/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x