हाथों की स्वच्छता क्यों है जरूरी, जानिए एक्सपर्ट की राय

के द्वारा लिखा गया

अपडेट डेट अक्टूबर 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

महामारी के समय अगर हर कोई किसी बात पर ध्यान दे रहा है तो वो है हाइजीन पर। हाइजीन का मतलब होता है वायरस या बैक्टीरिया से मुक्त होना। हाथों की स्वच्छता इस समय बहुत जरूरी हो गई है। पर्याप्त सुबूत हैं जो मानते हैं कि हाथों की हाइजीन बहुत जरूरी है। हाथों को दो प्रकार के माइक्रोब्स रह सकते हैं। हम आपको बताते चले कि 15 अक्टूबर, 2008 को पहला ग्लोबल हैंडवाशिंग डे मनाया गया था। वहीं 5 मई 2009 को डब्ल्यू.एच.ओ ने हाथ की स्वच्छता के महत्व पर प्रकाश डाला और हाथ स्वच्छता पर दिशा-निर्देश जारी किए। हैंड हाइजीन इंफेक्शन कंट्रोल एक्टिविटी के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण एलीमेंट है। आपको ये बात जानकर हैरानी हो सकती है कि हैंड वॉशिंग तीन में से एक डायरिया की समस्या से बचाने का काम कर सकता है और साथ ही पांच से एक सांस संबंधि बीमारी से बचाने का काम कर सकता है। जो लोग नियमित हाथों की सफाई रखते हैं उन्हें कोल्ड और फ्लू की समस्या भी कम होती है। आपने एक बात पर ध्यान जरूर दिया होगा कि हम अपने हाथों से एक दिन में बहुत से सर्फिस को छूते हैं। ऐसे में हमारे हाथों में एक नहीं बल्कि बहुत से जर्म्स लग सकते हैं जो बीमारी फैलाने का काम करते हैं।

और पढ़ें : घर के कोने-कोने की सफाई बेहद जरूरी, नहीं तो पड़ेंगे बीमार

हाथों की सफाई है जरूरी, जानिए कैसे फैल सकते हैं जर्म्स

जर्म्स एक इंसान से दूसरे इंसान में निम्न माध्यम से फैल सकता है,

  • अगर कोई व्यक्ति अपने हाथों को बिना धुले हुए अपने मूंह और आखों को छूता है तो संक्रमण का खतरा हो सकता है।
  • अगर गंदे हाथों से खाना बनाया जाए या फिर गंदे हाथों से खाना खाया जाए तो भी संक्रमण होने का खतरा रहता है।
  • किसी दूषित सतह में हाथ लगाने पर और फिर बिना हाथ को धुले मुंह में हाथ लगाने पर भी इंफेक्शन का खतरा रहता है। ऐसे एक नहीं बल्कि बहुत से माध्य हैं जिनकी सहायता से व्यक्ति संक्रमित हो सकता है।
  • खांसी और छींक आने पर हाथ लगाना और फिर बिना धुले ही अन्य वस्तुएं छूना। ऐसा करने से अन्य व्यक्तियों के संक्रमित होने की संभावना बढ़ जाती है।

और पढ़ें : वर्ल्ड वेजीटेरियन डे : ये 10 शाकाहारी खाद्य पदार्थ मीट से कहीं ज्यादा ताकतवर

ऐसे में जरूर करें हाथों की सफाई

ऐसे समय में सभी लोगों को हाथों की सफाई करना बहुत जरूरी है। आपको जानना चाहिए कि आखिर हाथों की सफाई करना कब बहुत जरूरी होता है।

  •  भोजन तैयार करने से पहले, भोजन को तैयार करने के दौरान और उसके बाद हाथों की सफाई जरूर करें।
  •  भोजन करने से पहले हाथों को अच्छे से साफ करें।
  •  घर में यदि कोई बीमार है और आप उसकी देखभाल कर रहे हैं तो ऐसे में किसी की देखभाल करने से पहले और बाद में हाथों की सफाई जरूर करें। अगर पेशेंट को दस्त की समस्या या फिर वॉमिटिंग हो रही है तो सफाई की अधिक आवश्यकता है।
  •  कट या घाव का इलाज करने से पहले और बाद में हाथों को अच्छे से साफ करना चाहिए।
  • टॉयलेट का उपयोग करने के बाद हाथों की सफाई जरूर करें।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।
  •  डायपर बदलने या टॉयलेट का इस्तेमाल करने वाले बच्चे की सफाई के बाद भी हाथों को क्लीन जरूर करें।
  •  नाक बहने के बाद, खांसना या छींक आने के बाद हाथों को अच्छे से क्लीन करें।
  •  जानवर को छूने के बाद, पशु चारा या पशु अपशिष्ट को छूने के बाद हाथों को साफ करें।
  • पालतू जानवर को भोजन कराने के बाद या पालतू जानवर के साथ खेलने के बाद भी हाथों की सफाई जरूर करें।
  •  कचरा छूने के बाद हैंडवॉश जरूर करें।

और पढ़ें : वर्ल्ड लंग्स डे: इस तरह कर सकते हैं फेफड़ों की सफाई, बेहद आसान हैं तरीके

कोविड -19 महामारी के दौरान हैड वॉश है बहुत जरूरी

अगर आप सार्वजनिक स्थान में जाते हैं और किसी वस्तु या सतह को छूते हैं तो उसके बाद हाथों की सफाई बहुत जरूरी है। कोरोना वायरस कुछ सतह जैसे कि दरवाजे के हैंडल, टेबल, गैस पंप, शॉपिंग कार्ट या इलेक्ट्रॉनिक डिवाइज आदि में हो सकता है। अगर आप हाथ धुले बिना अपना मुंह छू लेंगे तो ऐसे में कोरोना संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाएगा।

  • अपनी आंखों, नाक या मुंह को छूने से पहले हाथों को आप सैनिटाइज भी कर सकते हैं। अगर सैनेटाइजर नहीं है तो साबुन का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।
  • जब आप ऑफिस से, चाइल्डकेयर फैसिलिटी या हॉस्पिटल से लौटते हैं तो तुरंत हाथों की सफाई करें।

अपने हाथों को सही तरीके से धोने के लिए आपको पांच स्टेप अपनाने चाहिए। ऐसा करने से आप अच्छी तरह से हैंडवॉश कर पाएंगे।

1. सबसे पहले अपने हाथों को साफ पानी से गीला करें। आप ठंडे या हल्के गरम पानी का उपयोग भी कर सकते हैं। इसके बाद नल को बंद करें और साबुन लगाएं।
2. अपने हाथों में साबुन अच्छी तरह से लगाएं। अपने हाथों के आगे और पीछे,
अपनी उंगलियों के बीच में और अपने नाखूनों के आसपास का एरिया अच्छी तरह से साफ करें।
3. कम से कम 20 सेकंड के लिए अपने हाथों को स्क्रब करें। आप चाहे तो हैप्पी बर्थडे सॉन्ग भी गा सकते हैं। ऐसा करने से आपको टाइमर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।
4. अब पानी से हाथों को अच्छी तरह से साफ कर लें।
5. एक साफ तौलिया का उपयोग कर हाथों को सुखा लें।
अगर आप घर के बाहर हैं और साबुन और पानी आसानी से उपलब्ध नहीं हैं तो आप एल्कोहॉल बेस्ड हैंड सैनेटाइजर का उपयोग कर सकते हैं। हैंड सैनिटाइजर में
60% एल्कोहॉल होनी चाहिए। ऐसा करने से भी आपके हाथ साफ हो जाएंगे।

और पढ़ें : वर्ल्ड पेशेंट सेफ्टी डे: पेशेंट और हेल्थ वर्कर्स की सेफ्टी कैसे है एक दूसरे पर निर्भर?

हैंड सैनिटाइजर का उपयोग कैसे करें ?

आप सैनेटाइजर की थोड़ी सी मात्रा को लेकर हाथ के आगे और पीछे अच्छे से लगाएं।

• अपने हाथों को एक साथ रगड़ें।
• अपने हाथों और उंगलियों की सभी सतहों पर जेल रगड़ें जब तक कि आपके हाथ सूख न जाएं। यह
लगभग 20 सेकंड तक करना चाहिए।

इन बातों का भी रखें ध्यान

1. कोरोना महामारी के दौरान किसी भी व्यक्ति के पास जाने से बचें।
2. जो लोग बीमार हैं उनसे पास पास न जाएं।अगर आप बीमार हो जाते हैं तो लोगों से दूरी बनाकर रखें।
3. जब आप बीमार हों तो घर पर रहें।
4. अगर आप बीमारी में बाहर जाएंगे तो लोगों को आपसे संक्रमण फैल सकता है।
4. अपने मुंह और नाक को ढक कर रखें। ऐसा करने से आप काफी हद तक दूसरों को संक्रमण से बचा सकते हैं।

कुछ बातों का ध्यान रख आप जर्म्स से बच सकते हैं। सावधानी ही बीमारी का पहला इलाज है। आप स्वास्थ्य संबंधि अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

एक्सपर्ट से डॉ. राजेंद्र अवाटे

हाथों की स्वच्छता क्यों है जरूरी, जानिए एक्सपर्ट की राय

जो लोग नियमित हाथों की सफाई रखते हैं उन्हें कोल्ड और फ्लू की समस्या कम होती है। जानिए हाथों की सफाई क्यों है जरूरी। HAND WASH

के द्वारा लिखा गया डॉ. राजेंद्र अवाटे
हाथों की सफाई, hand wash

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

गणेश चतुर्थी 2020 : गणेश चतुर्थी को लेकर सरकार ने जारी किए ये गाइडलाइन, जानें क्या नहीं करना होगा

गणेश चतुर्थी और कोरोना वायरस को लेकर राज्य सरकार ने दिशानिर्देश जारी किए हैं। महाराष्ट्र सरकार ने सभी 'मंडलों' के लिए गणेशोत्सव मनाने के लिए नगर पालिका या लोकल अथॉरिटी से परमिशन लेना अनिवार्य कर दिया है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
त्योहार, स्वास्थ्य बुलेटिन अगस्त 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

सीरो सर्वे को लेकर क्यों हो रही है चर्चा, जानें एक्सपर्ट से इसके बारे में सबकुछ

सीरो सर्वे क्या है, एंटीबॉडी टेस्ट क्यों किया जाता है, एंटीबॉडी टेस्ट कैसे करते हैं, कोरोना में सीरो सर्वे, आईसीएमआर की गाइडलाइन, Sero survey antibody test Covid-19, ICMR.

के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
कोविड 19 व्यवस्थापन, कोरोना वायरस अगस्त 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

कोरोना वायरस (कोविड 19) का टीका: क्या वैक्सीन के साइड इफेक्ट की होगी चिंता? 

कोरोना वायरस का टीका जल्द ही लॉन्च होनेवाली है। इस वैक्सीन के क्या होंगे साइड इफेक्ट्स? covid 19 vaccine, covid 19 side effects

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
कोरोना वायरस, कोविड 19 उपचार अगस्त 11, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

क्या ई-बुक्स सेहत के लिए फायदेमंद है, जानें इससे होने वाले फायदे और नुकसान

ई-बुक्स (E-Books)  जरिए रात में आईपैड, लैपटॉप या ई-रीडर पर किताबें पढऩे से नींद की गुणवत्ता कम हो जाती है। (ई-बुक्स (E-Books) ke Fayde aur nuksan

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Arvind Kumar
मेंटल हेल्थ, स्वस्थ जीवन अगस्त 9, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

कोविड के बाद फेफड़ों का स्वास्थ्य -corona and lung world lungs day

क्या कोरोना होने के बाद आपके फेफड़ों की सेहत पहले जितनी बेहतर हो सकती है?

के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
प्रकाशित हुआ सितम्बर 22, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
PPI medicines - पीपीआई से कोरोना

क्या पेंटोप्रोजोल, ओमेप्रोजोल, रैबेप्रोजोल आदि एंटासिड्स से बढ़ सकता है कोविड-19 होने का रिस्क?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ सितम्बर 11, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
कोविड-19 के बाद ट्रैवल

वर्ल्ड टूरिज्म डे: कोविड-19 के बाद कितना बदल जाएगा यात्रा करना?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ सितम्बर 8, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
पेशेंट और हेल्थ वर्कर्स की सेफ्टी/ patient and health worker safety

वर्ल्ड पेशेंट सेफ्टी डे: पेशेंट और हेल्थ वर्कर्स की सेफ्टी कैसे है एक दूसरे पर निर्भर?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
प्रकाशित हुआ सितम्बर 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें