इस प्रॉसेस से स्किन टाइप के हिसाब से घर पर ही बनाएं अपना हैंड वॉश

This is a sponsored article, for more information on our Advertising and Sponsorship policy please read more here.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट सितम्बर 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

हम सभी रोजाना हाथ साफ करने के लिए साबुन या हैंड वॉश का कई बार इस्तेमाल करते हैं। लेकिन, हम हैंड वॉश की क्वालिटी के बारे में ज्यादा विचार नहीं करते और इसे जरूरी भी नहीं समझते। वहीं यह सोचना भी आवश्यक है कि हम हाथ साफ करने के लिए एक दिन में कितनी मात्रा में साबुन या हैंड वॉश का इस्तेमाल करते हैं। हम पास के स्टोर से इसके रीफिल पैक खरीदते रहते हैं। लेकिन स्टोर से खरीदा हैंड वॉश वास्तव में अच्छा है या नहीं? इस पर भी हमें ध्यान देने की जरुरत है। इन हैंड वॉश में कैमिकल्स होते हैं, जो आपकी स्किन के लिए हानिकारक साबित हो सकते हैं। ऐसे में आप घर पर ही हैंड वॉश बना सकते हैं। वहीं घर पर बना हैंड वॉश कैमिकल फ्री और किफायती भी होगा। आइए जानते हैं हैंड वॉश को बनाने को तरीका और इससे होने वाले फायदे…

और पढ़ें: हाथ धोना कितना है जरूरी, बच्चों को सिखाएं हाथ धोने के टिप्स 

घर पर बने हैंड वॉश के फायदे (Benefits of home made hand wash)

घर पर अपने लिए हैंड वॉश बनाना एक बेहतर विकल्प है। घर पर बनाए हैंड वॉश को आप अपने स्किन टाइप के लिहाज से सामग्री चुन सकते हैं। इसके अलावा खुशबू के लिए इनमें आप अपनी पसंद के एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

स्किन टाइप के लिहाज से हैंडवॉश (Handwash in terms of skin type)

यदि आपकी स्किन ड्राई और संवेदनशील हैं और आप स्टोर से खरीदे हुए हैंड वॉश का उपयोग करते हैं, तो यह आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकता है। बाजार से खरीदे गए हैंड वॉश के उपयोग हुई सामग्री इसकी स्थिति को और खराब कर सकती है। वहीं इन प्रोडक्ट्स में इस्तेमाल किए कैमिकल्स आपकी सेहत के लिए भी हानिकारक साबित हो सकते हैं। जब आप घर पर ही अपने स्किन टाइप के लिहाज से हैंड वॉश तैयार करते हैं तब आपको इन चीजों की चिंता नहीं होगी।

खुद हैंड वॉश बनाने से होगी बचत (it will save your money as well)

आप बाजार से रॉ मैटीरियल खरीद सकते हैं और घर पर अपना लिक्विड सोप बना सकते हैं। यदि आप इसे थोक में खरीदते हैं, तो आप बाद में भी सामग्री का उपयोग कर सकेंगे और यह आपकी बचत भी होगी।

और पढ़ें: जानिए क्या है, मस्से हटाने के घरेलू उपाय

आपके हाथ चमकेंगे (Your hand will shine)

एसेंशियल ऑयल्स को जब प्राकृतिक पदार्थों जैसे कि लिक्विड सोप और प्रोबायोटिक सोप बार के साथ मिलाया जाता है, तो इसका असर आपको अपने हाथों की स्किन पर देखने को मिलेगा। आपके हाथों की नमी बनी रहेगी और आप रफ स्किन से भी छुटकारा मिलेगा। इसकी तुलना में बाजार में मिलने वाले हैंड वॉश में अक्सर कैमिकल्स का इस्तेमाल होता है जो आपकी स्किन को नुकसान पहुंचाता है।

कैसे बनाएं घर में हैंड वाश (How to make hand wash at home?)

अगर आप घर पर हैंड वॉश बनाना चाह रहे हैं तो नीचे बताई गई विधि का पालन करें। इसमें आपको बहुत समय नहीं लगेगा और आपको जरूरी सामग्री अपने नजदीकी स्टोर में मिल जाएगी।

लिक्विड हैंड वाश बनाने के लिए आपको चाहिए (Ingredients for making hand wash at home)

  • एक प्रोबायोटिक सोप बार (Probiotic soap bar)
  • पानी (Water)
  • अपनी पसंद का एसेंशियल ऑयल (Essential Oil of your choice)

और पढ़ें: ये 8 आदतें हर पेरेंट्स को अपने बच्चों को सिखानी चाहिए

हैंड वॉश बनाने की विधि (Method of making hand wash)

  • प्रोबायोटिक सोप बार के 1 / 4 हिस्से को लें
  • पैन को मिनरल वॉटर से भरें
  • पानी को उबालने के बाद उसमें साबुन को मिलाएं
  • इसके बाद मिश्रण को लगातार चलाते रहें और जब तक कि साबुन तरल न हो जाए
  • मिश्रण को स्टोव से उतारकर 24 घंटे के लिए छोड़ दें
  • कुछ बूंदें एशेंशियल ऑयल की मिलाएं
  • इसके बाद मिश्रण को एक स्प्रे बोतल में डालकर अच्छे से हिला ले और आपका हैंड वॉश इस्तेमाल के लिए तैयार है

कब धोने चाहिए हाथ? (When should i wash my hands?)

हम लोग दिन भर की दिनचर्या के दौरान कई लोगों से हाथ मिलाते हैं और यहां-वहां कई चीजों को छूते हैं। ऐसे में हम अपने हाथों पर कीटाणु को जमा करते हैं। ये कीटाणु आपकी आंखों, नाक या मुंह के संपर्क में आने पर आपको बीमार कर सकते हैं। हालांकि, अपने हाथों को कीटाणु मुक्त रखना भी नामुमकिन है। लेकिन, आप अपने हाथों को बार-बार धोकर बैक्टीरिया, वायरस और अन्य रोगाणुओं को सीमित कर सकते हैं और बीमार होने के जोखिम को कम कर सकते हैं।

और पढ़ें: कार्बोहाइड्रेट से परहेज करना, शरीर में इन समस्याओं को देता है दावत

किन कामों को करने से पहले हाथ धोएं? (Wash your hands before doing these work)

  • खाना बनाने या खाने से पहले (Before cooking and eating)
  • किसी बीमार व्यक्ति की देखभाल करने से पहले (Before taking care of a sick person)
  • कॉन्टेक्ट लेंस लगाने या हटाने से पहले (Before applying or removing contact lenses)

किन कामों के बाद हाथ धोना जरूरी? (Wash your hands after doing these work)

  • टॉयलेट का इस्तेमाल करने के बाद (After using the toilet)
  • बच्चों के डायपर बदलने के बाद (After changing baby diaper)
  • किसी जानवर को छुने या उसे खाना खिलाने के बाद (After touching or feeding an animal)
  • अपनी नाक साफ करने, खांसने या छींकने के बाद (After cleaning your nose, coughing or sneezing)
  • किसी बीमार व्यक्ति की देखभाल के बाद (After taking care of a sick person)
  • कचरा फेंकने या इकट्ठा करने के बाद (After throwing or collecting garbage)
  • इसके अलावा जब आपके हाथ गंदे दिखे तब भी धोलें (When your hands look dirty)

हाथ धोने का सही तरीका (How to properly wash hands?)

आमतौर पर हाथों को साबुन या हैंड वॉश और पानी से धोना सबसे अच्छा होता है। सबसे पहले अपने हाथों को साफ और बहते पानी से गीला कर लें। इसके बाद हाथों पर साबुन या हैंड वॉश से झाग बना लें। दोनों हाथों को लगभग 20 सेकंड तक ठीक से रगड़ें। अपने हाथों की कलाई, अपनी उंगलियों के बीच और अपने नाखूनों के नीचे भी झाग को रगड़ना न भूलें। इसके बाद साबुन को पानी से अच्छे से धो लें।

एल्कोहॉल बेस्ड हैंड सैनिटाइजर भी है ऑप्शन (Use Alcohol based hand sanitizer)

एल्कोहॉल बेस्ड हैंड सैनिटाइजर आज काफी प्रचलित हो रहे हैं। इनसे हाथ साफ करने के लिए आपको पानी की जरुरत नहीं होती। अगर आप हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करते हैं, तो ध्यान रखें कि सैनिटाइजर में कम से कम 60% एलकोहॉल हो।

इस तरह करें सैनिजाइजर का इस्तेमाल (Use sanitizer in this way)

सबसे पहले सैनिटाइजर जेल को एक हाथ की हथेली पर निकाल लें। इसके बाद अपने हाथों को आपस में रगड़ें। अपने हाथों और उंगलियों की सभी सतहों पर इसे तब तक रगड़ें जब तक कि आपके हाथ सूख न जाएं।

और पढ़ें: पीठ के निचले हिस्से में दर्द से राहत पाने के घरेलू उपाय, आज ही से आजमाएं

स्वस्थ रहने का एक सरल तरीका (A simple way to be healthy)

बीमारियों को रोकने के लिहाज से हाथ धोना अहम भूमिका निभाता है। नियमित रूप से हाथ धोने की आदत को अपनाना आपको स्वस्थ जीवन जीने में मदद करता है।

उम्मीद करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में घर पर स्किन के अनुसार हैंड वॉश तैयार करने के तरीकों को बारे में बताया गया है। यदि आपका इस लेख से जुड़ा कोई प्रश्न है तो आप कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं। हम अपने एक्सपर्ट्स द्वारा आपके प्रश्नों का उत्तर दिलाने का पूरा प्रयास करेंगे। यदि आप इससे जुड़ी अन्य कोई जानकारी पाना चाहते हैं तो इसके लिए किसी विशेषज्ञ से बात कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

हाथ को देखकर पता करें बीमारी, दिखें ये बदलाव तो तुरंत जाएं डॉक्टर के पास

हाथ के स्किन, उंगलियों में बदलाव या फिर नाखून के रंग में बदलाव हो या फिर सामान्य से अलग दिखाई दें तो हो सकती है यह बीमारियां

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन अप्रैल 8, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

कोरोना वायरस : हैंड सैनिटाइजर 65% हुए सस्ते, सरकार के आदेश पर एफएमसीजी कंपनियों ने लिया फैसला

कोरोना वायरस: हैंड सैनिटाइजर को लेकर सरकार ने जारी किए निर्देश। एफएमसीजी कंपनियों ने 65 प्रतिशत तक हैंड सैनिटाइजर के दाम किए कम। cornavirus and sanitizer, हैंड सैनिटाइजर हुए सस्ते, हैंड सैनिटाइजर और कोरोना वायरस

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mona narang
कोरोना वायरस, कोविड 19 सावधानियां मार्च 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Dupuytrens Contracture: डुप्यूट्रीन का संकुचन क्या है?

जानिए डुप्यूट्रीन का संकुचन क्या है in hindi, डुप्यूट्रीन का संकुचन के जोखिम और लक्षण क्या है, Dupuytren's Contracture को ठीक करने के लिए क्या उपचार है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z मार्च 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

कोराना के संक्रमण से बचाव के लिए बार-बार हाथ धोना है जरूरी, लेकिन स्किन की करें देखभाल

कोविड-19 से बचने के लिए बार-बार हाथ धोना है तो किन बातों को रखना है ध्यान? कोरोना से बचाव के लिए हाथ साफ करते वक्त इन बातों का रखें ध्यान। Handwashing and Coronavirus in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
कोरोना वायरस, कोविड 19 सावधानियां मार्च 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

हाथों की सफाई, hand wash

हाथों की स्वच्छता क्यों है जरूरी, जानिए एक्सपर्ट की राय

के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ अक्टूबर 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
हाथों में छिपे सेहत के राज

किस्मत ही नहीं, सेहत का भी राज खोलते हैं आपके हाथ

के द्वारा लिखा गया Mona narang
प्रकाशित हुआ अगस्त 24, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
टाइफाइड के घरेलू उपाय

जानें टाइफाइड के घरेलू उपाय और पायें इस बीमारी के कष्ट से राहत

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जुलाई 13, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
घर की सफाई

घर के कोने-कोने की सफाई बेहद जरूरी, नहीं तो पड़ेंगे बीमार

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ मई 15, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें