Ovarian cyst: ओवेरियन सिस्ट क्या है? जानें कारण लक्षण और उपाय

Medically reviewed by | By

Update Date जुलाई 10, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
Share now

परिचय

ओवरी में सिस्ट (Ovarian cyst) किसे कहते है?

ओवरी में सिस्ट एक ऐसी बीमारी है जिसमें ओवरी (जिसे अंडाशय कहते है) की सतह पर तरल पदार्थ की एक थैली तैयार हो जाती है। महिलाओं में दो अंडाशय होते हैं। यह बादाम के साइज और शेप में ही होते हैं। साथ ही ये गर्भाशय के हर तरफ पाए जाते हैं। अंडे (ओव) जो अंडाशय में विकसित और तैयार होते हैं और जब आपका मासिक धर्म शुरू हो जाता है या आपका शरीर मां बनने के लिए तैयार है तो ये शरीर से बाहर निकला जाता है।
बहुत सी महिलाओं में ओवरी में सिस्ट होने की संभावना जीवन के किसी भी दौर में हो सकती है। ये ज्यादातर छोटे होतें या कोई तकलीफ नहीं नहीं देतें और हानिरहित होते हैं। अधिकतर ओवेरियन सिस्ट्स बिना उपचार के ही ठीक हो जाते हैं।
हालांकि, जो ओवरी में सिस्ट अंदर ही टूट जाते हैं वो कभी-कभी गंभीर लक्षण भी पैदा करते हैं। आपके स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए उसके विशिष्ट लक्षणों को जानना अधिक महत्वपूर्ण है, यह आगे आनेवाली समस्या का संकेत दे सकते हैं और आपको पेल्विक टेस्ट तैयार कर सकते हैं।

ओवरी में सिस्ट (Ovarian cyst) कितना सामन्य है?

ओवरी में सिस्ट होना आम बीमारियों में से एक है और किसी भी उम्र में महिला रोगियों को प्रभावित कर सकती है। जिन चीजों के कारण होने की संभावना है, उन्हें निंयत्रित करके रोका जा सकता है। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या चिकित्सक से बात करें।

लक्षण

ओवेरियन सिस्ट के लक्षण क्या हैं?

महिलाओं को होने वाले सिस्ट आमतौर पर अपने आप ठीक हो जाते हैं, लेकिन एक बड़ा सिस्ट परेशानी पैदा कर सकता है।

ओवरी में सिस्ट के लक्षण और संकेत:

ओवरी में सिस्ट के लक्षण निम्न हैं।

  • पेल्विक पेन- हल्का सा दर्द जो पीठ के निचले हिस्से से जांघों तक होता है।
  • यह दर्द आपके मासिक धर्म के पहले या खत्म होने के समय होता है।
  • यह दर्द इंटरकोर्स के दौरान भी हो सकता है (जिसे डिसपुरुनिया कहते हैं)।
  • बोवल (जिसे मलत्याग कहते हैं) के दौरान भी यह दर्द होता है और आंत पर दबाव आने के कारण भी यह दर्द होता है।
  • गर्भावस्था के दौरान होनेवाली मिचली, उल्टी होना या स्तन मे बड़ी कोमलता जैसे अनुभव आता है।
  • आपके पेट में भारीपन या भरा हुआ महसूस होता है।
  • आपके मूत्राशय पर दबाव के कारण ज्यादा पेशाब होने की संभावना होती है या तो आपके पेशाब करने में कठिनाई पैदा होती है।
कुछ लक्षण और संकेत उपर नहीं दिए हैं। अगर आप अपने शरीर के किसी लक्षण से चिंतित हैं तो तुरंत डॉक्टर से मिलें और बात करें।

मुझे अपने डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

नीचे दिए गए लक्षण आपको आपके शरीर में दिखाई दे तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।
  • अचानक होने वाला दर्द, तीव्र होने वाला दर्द या पेल्विक पेन
  • बुखार आना या उल्टी के कारण होने वाला दर्द
  • आगे दिए गए संकेत और लक्षणों का मतलब है कि आपको तुरंत एक डॉक्टर को देखने की आवश्यकता है; जैसे कि, सदमा लगना, ठंड लगना, चिपचिपी त्वचा होना, तेजी से सांस लेना और चक्कर या कमजोरी आना।

और पढ़ें : Nasal polyps: नेसल पोलिप्स क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और उपचार

कारण

ओवेरियन सिस्ट के कारण जानें

ओवरी में सिस्ट होने के क्या कारण हैं?

ओवरी में सिस्ट कई तरह के होते हैं। इनके प्रकार की तरह ही इनके कारण भी भिन्न होते हैं, जो निम्नलिखित हैं –

फंक्शनल सिस्ट्स: आपकी ओवरीज (जिसे अंडाशय कहा जाता है) सामान्यत: हर महीने सिस्ट्स जैसे आकार विकसित करती हैं, जिन्हें फॉलिकल्स कहा जाता है। फॉलिकल्स हार्मोन एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन का निर्माण करने में मदद करती हैं और जब आप ओवुलेट करती हैं। कभी-कभी एक फॉलिकल्स सामान्य रूप से बढ़ता रहता है। जब ऐसा होता है, तो इसे फंक्शनल सिस्ट्स कहा जाता है। इसके दो प्रकार हैं:

फोलिक्यूलर सिस्ट्स

ऐसा समय जब आप अपने मासिक धर्म के मध्य के आसपास होती हैं। इस दौरान एग, स्पर्म यानी शुक्राणु और फर्टिलाइजेशन के लिए फैलोपियन ट्यूब के नीचे की ओर जाता है। फोलिक्यूलर सिस्ट्स की शुरुआत तब होती है, जब कुछ गलत हो जाता है और फॉलिकल अपने आप टूटने के कारण या उसके अंडे को रिलीज नहीं करने के कारण सामान्य रूप से काम नहीं करता। इसके कारण यह बढ़ता है और एक सिस्ट्स में बदल जाता है।

कॉर्पस ल्यूटियम सिस्ट्स

जब एक फॉलिकल अपने अंडे को रिलीज करता है। तो टूटा हुआ फॉलिकल फर्टिलाइजेशन के लिए एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन अधिक मात्रा में निर्माण करते हैं। इस फॉलिकल्स को अब कॉर्पस ल्यूटियम कहा जाता है। कभी-कभी फॉलिकल्स में अंडा सील्स को खोलने में असमर्थ हो जाता है। और फ्लूइड के रूप में अंदर जमा हो जाता है, जिससे कॉर्पस ल्यूटियम का सिस्ट में बढ़ता है। फर्टिलिटी ड्रग जैसे, क्लोमीफीन (क्लोमिड, सेरोफीन), जो ओवुलेशन करने में मदद करता है, यह

ओवुलेशन के बाद विकसित होने वाले कॉर्पस ल्यूटियम सिस्ट के जोखिम को भी बढ़ाता है। ये सिस्ट्स प्रेग्नेंसी को रोकते या खतरे में नहीं डालते हैं।

फंक्शनल सिस्ट्स आमतौर पर कोई हानि नहीं करते हैं, ये दर्द का कारण भी नहीं बनते हैं। ये अक्सर दो या तीन मासिक धर्म के दौरान अपने आप ही ठीक हो जाते हैं।
ओवरी में सिस्ट के कुछ प्रकार आपके मासिक धर्म के सामान्य कार्यों की तरह काम नहीं करते हैं।

इन सिस्ट्स में शामिल हैं:

डर्मोइड सिस्ट्स: इन सिस्ट्स में टिश्यू हो सकते हैं, जैसे कि बाल, त्वचा या दांत, क्योंकि वे सेल्स (जिसे कोशिका कहते हैं) से बनते हैं जो ह्यूमन एग का निर्माण करते हैं। बहुत कम इसका रूपांतर कैंसर में हो जाता है।
ये सिस्ट ओवेरियन टिश्यू से बनते हैं और एक पानी के तरल या म्युकस (mucous) से भरे हो सकते हैं।
ये सिस्ट एंडोमेट्रियोसिस के कारण बनते हैं, यह तब होता है जब यूटेरस एंडोमेट्रियल सेल्स आपके यूटेरस से बाहर बढ़ने लगाती हैं। उस टिश्यू में से कुछ ओवरी से जुड़ सकते हैं और उसका विकास होने की संभावना होती है।
डरमोइड सिस्ट्स और cystadenomas बड़े हो सकते हैं, जिससे ओवरी अपनी सामान्य स्थिति से निकलकर पेल्विक स्थिति में जा सकती है। यह आपके ओवरी
स्थिति बदल के दर्द बढ़ाती है, जिसे ओवेरियन टॉर्शन कहा जाता है।

जोखिमों

किस कारण ओवरी में सिस्ट बढ़ने का खतरा होता है?
ये बीमारी महिलाओं में काफी आम हैं, जो ओव्यूलेट करती हैं। मेनोपॉज के बाद  यह बीमारी होने कि संभावना काम होती है। अगर आपको ये बीमारी मीनोपॉज के बाद विकसित होती है, जो कैंसर होने के जोखिम को बढ़ाता है। लगभग 8% प्रीमेनोपॉजल महिलाओं में सिस्ट कि समस्या होती है, जिन्हे तुरंत इलाज कि जरूरत होती हैं।

निदान और उपचार

नीचे दी गई जानकारी किसी वैद्यकीय सुझाव का पर्याय नहीं है, इसलिए हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

ओवेरियन सिस्ट का निदान कैसे किया जाता है?

पेल्विक टेस्ट के दौरान आपकी ओवरी में सिस्ट्स पाया जा सकता है। यदि का संदेहजनक है, तो डॉक्टर इसके प्रकार को तय करने के लिए आगे के मेडिकल टेस्ट्स की सलाह देते हैं और अगर आपको उपचार की आवश्यकता हो तो वह भी प्रदान करते हैं।
सामान्यत: डॉक्टर उपचार को तय करने लिए और कुछ निर्णयों में सहायता के लिए आपको कई प्रश्न पूछ सकते हैं:

ओवरी में सिस्ट का आकार कितना है?

क्या यह फ्लयूड, मिक्स्ड रूप से भरा हुआ है? फ्लूइड सिस्ट्स से कैंसर होने की संभावना नहीं होती है। लेकिन यह मिश्रित पदार्थ से भरा हुआ पाया गया तो यह है या नहीं ये तय करने के लिए आगे मूल्यांकन की जरुरत हो सकती है।

ओवरी में सिस्ट किस प्रकार का है यह जानने के लिए डॉक्टर नीचे दिए गए टेस्ट्स या प्रोसीजर का सुझाव दे सकते हैं:

  • प्रेग्नेंसी टेस्ट: आपकी सिस्ट्स कॉर्पस ल्यूटियम सिस्ट्स है, जो बढ़ती है तो टूटी हुई सिस्ट्स जो आपके अंडे को रिलीज करती है और द्रव पदार्थ से भर जाती है। इसके लिए एक पॉजिटिव प्रेग्नेंसी टेस्ट का सुझाव आपके डॉक्टर दे सकते हैं।
  • पेल्विक अल्ट्रासाउंड: इसमें एक उपकरण (ट्रांसड्यूसर) वीडियो स्क्रीन पर आपके गर्भाशय और अंडाशय की एक इमेज बनाने के लिए हाई फ्रेक्वेंसी साउंड वेव्स (अल्ट्रासाउंड) सेंड करता है और रिसीव भी करता है। आपका डॉक्टर सिस्ट्स होने की पुष्टि करने के लिए इमेज का अभ्यास करते हैं। यह उपकरण सिस्ट्स के स्थान की पहचान करने में मदद करता है और यह तय करता है कि यह द्रव है या मिश्रित पदार्थ है।
  • लेप्रोस्कोप का उपयोग: एक छोटा और हल्का सा उपकरण आपके पेट में एक छोटे चीरे के माध्यम से डाला जाता है। आपका डॉक्टर आपके ओवरीज को देख सकते हैं और ओवेरियन सिस्ट्स को हटा सकते हैं। यह एक सर्जिकल प्रोसीजर है जिसके लिए आपको एनेस्थेसिया से गुजरना पड़ता है।
  •  सीए 125 ब्लड टेस्ट: कैंसर एंटीजन 125 (सीए 125) नाम का प्रोटीन स्तर अक्सर ओवेरियन कैंसर वाली महिलाओं में ज्यादा पाया जाता है। यदि आपके शरीर में ओवेरियन सिस्ट्स का विकास हो रहा है तो आपको ओवेरियन कैंसर होने की संभावना ज्यादा है। तो आपका डॉक्टर यह तय करने के लिए आपके रक्त में सीए 125 के स्तर की टेस्ट कर सकते हैं, कि क्या आपका सिस्ट्स कैंसर हो सकता है या नहीं। सीए 125 के स्तर काज्यादा होना गैर-कैंसर की स्थिति में भी हो सकता है; जैसे एंडोमेट्रियोसिस, गर्भाशय फाइब्रॉएड और पेल्विक इन्फ्लैमटरी की बीमारी।

ओवेरियन सिस्ट का इलाज कैसे किया जाता है?

आपके डॉक्टर आपका उपचार आपकी उम्र, सिस्ट्स के प्रकार, आकार और लक्षणों पर का अभ्यास करके करते हैं, उसके बाद ही आपको सही सुझाव दे सकते हैं:
  • इंतजार करें: बहुत से मामलों में आप इंतजार करके फिर से टेस्ट करके जांच लें की सिस्ट अपने आप ठीक हो गया है या नहीं। उदहारण के तौर पर बताया जाता है की, आपकी की उम्र जो भी हो – अगर आपको कोई लक्षण नहीं दिखाई दे रहें या महसूस हो रहें है तो अल्ट्रासाउंड से पता चलता है पेट में छोटासी लिक्विड सिस्ट मौजूद है या नहीं। आपके डॉक्टर आपको समय समय पर पेल्विक अल्ट्रासाउंड करने का सुझाव दें सकते है उससे यह पता चलेगा की सिस्ट अपना आकर बदल रहा है या नहीं।
  • गर्भनिरोधक पिल्स: आपके मासिक धर्म के दौरान बढ़ने वाले सिस्ट्स की संभावना कम करने के लिए डॉक्टर आपको गर्भनिरोधक गोलियां लेने की सलाह दे सकते है। ओरल कॉन्ट्रासेप्टिव ओवेरियन कैंसर कम करने का लाभ प्रदान करतें है – जितने लंबे समय आप गर्भनिरोधक गोलियां लेते हैं, उतनी ही इस बीमारी की जोखिम कम हो जाती है।
  • अगर सिस्ट का आकार बड़ा है तो वह निकलने के लिए डॉक्टर आपको सुझाव दे सकते हैं। अगर ये बढ़ रहा है या आपके दो-तीन मासिक धर्म के दौरान बना रहता है तो फंक्शनल सिस्ट्स की तरह नहीं दिखता है। जो सिस्ट्स दर्द या अन्य लक्षणों का कारण बनते हैं उसे ऑपरेशन से निकला जा सकता है।
कुछ प्रक्रिया में सिस्ट्स को ओवरी निकाले बिना भी अलग किया जाता सकता है, जिसे ओवेरियन सिस्टेक्टोमी कहा जाता है। कुछ प्रक्रियाओं में, आपके डॉक्टर प्रभावित ओवरी को अलग करके अन्य ओवरीज को कायम रखते हैं।

जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपचार

कुछ घरेलू उपचार और जीवनशैली में किए कुछ बदलावों से यह बीमारी कैसे ठीक कर सकते हैं?
  • नीचे दिए गए सुझाव और घरेलू उपचार आपको इस बीमारी से निपटने में मदद कर सकते हैं:
  • विशेष रूप से ओव्यूलेशन के समय और मासिक धर्म से पहले भोजन की संवेदनशीलता से बचें।
  • शराब, कैफीन, सैचुरेटेड फैट्स और चीनी से परहेज करें।
  • ऐसे आहार का खाने के लिए चुनाव न करे जो प्रोसेस्ड हो। खान में अनप्रोसेस्ड फूड (साबुत अनाज, फलियां, सब्जियां, फल, नट्स और बीज)शामिल करें।
  • आर्गेनिक हार्मोन फ्री पदार्थ चुनें, विशेष रूप से डेयरी और मांस।
  • आहार में फाइबर की मात्रा बढ़ाए।
  • सोया के खाद्य पदार्थों का और फ्लक्ससीड्स का सेवन ज्यादा करें।
अगर आपको कोई भी सवाल या चिंता सता रही है तो सही सुझाव के लिए अपने डॉक्टर से बात करें। उपरोक्त जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

laparoscopy scarless surgery: लैप्रोस्कोपी स्कारलेस सर्जरी क्या है?

जानिए लैप्रोस्कोपी स्कारलेस सर्जरी की जानकारी, laparoscopy scarless surgery क्या है , कैसे और कब की जाती है, लैप्रोस्कोपी स्कारलेस सर्जरी की प्रक्रिया, क्या है जोखिम, जानें इसके खतरे, कैसे करें रिकवरी, कैसे करें बचाव।laparoscopy scarless surgery in hindi,

Written by Sunil Kumar
सर्जरी, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z फ़रवरी 13, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

लैप्रोस्कोपिक तकनीक से ओवेरियन सिस्ट सर्जरी कितनी सुरक्षित है?

ओवेरियन सिस्ट सर्जरी (Ovarian Cyst Surgery) कैसे होती है? इस सर्जरी की जरूरत क्यों पड़ती है? लैप्रोस्कोपिक सर्जरी (Laparoscopic Surgery) क्या है? इस तरह की सर्जरी कितनी सुरक्षित है?

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
महिलाओं का स्वास्थ्य, स्वस्थ जीवन नवम्बर 19, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

ओवेरियन सिस्ट (Ovarian Cyst) से राहत दिलाएंगे ये 6 योगासन

जानिए ओवेरियन सिस्ट के आसन in Hindi, ओवेरियन सिस्ट का इलाज, ओविरियन सिस्ट के लिए दवाईयां, Ovarian Cyst के उपाय, ओवेरियन सिस्ट के आसन कैसे करें।

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Anu Sharma
फिटनेस, स्वस्थ जीवन अक्टूबर 21, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

ये हैं बेस्ट लेग योगा, जो देंगे टोंड लेग्स

अपनी टांगों को सुंदर और टोंड बनाने के लिए आपको अधिक मेहनत करने की आवश्यकता नहीं है। आपको हम बेस्ट लेग योगा व एक्सरसाइज बता रहे हैं टोंड लेग्स के लिए। best leg yoga in hindi

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Shivani Verma
फिटनेस, स्वस्थ जीवन अगस्त 31, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें