backup og meta

ओवरी में सिस्ट (Cyst in ovary) क्या होता है? जानें इसका कारण, लक्षण और उपाय

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Dr Sharayu Maknikar


Shilpa Khopade द्वारा लिखित · अपडेटेड 25/09/2023

ओवरी में सिस्ट (Cyst in ovary) क्या होता है? जानें इसका कारण, लक्षण और उपाय

परिचय

ओवरी में सिस्ट (Cyst in ovary) किसे कहते है?

ओवरी में सिस्ट (Cyst in ovary) एक ऐसी बीमारी है, जिसमें ओवरी (जिसे अंडाशय कहते है) की सतह पर तरल पदार्थ की एक थैली तैयार हो जाती है। महिलाओं में दो अंडाशय होते हैं। यह बादाम के साइज और शेप में ही होते हैं। साथ ही ये गर्भाशय के हर तरफ पाए जाते हैं। अंडे (ओव) जो अंडाशय में विकसित और तैयार होते हैं और जब आपका मासिक धर्म (Menstrual cycle) शुरू हो जाता है या आपका शरीर मां बनने के लिए तैयार है, तो ये शरीर से बाहर निकला जाता है।

कभी भी हो सकता है ओवरी में सिस्ट (Cyst in ovary)

बहुत सी महिलाओं में ओवरी में सिस्ट होने की संभावना जीवन के किसी भी दौर में हो सकती है। ये ज्यादातर छोटे होते हैं या कोई तकलीफ नहीं देते। अधिकतर ओवेरियन सिस्ट्स बिना उपचार के ही ठीक हो जाते हैं। हालांकि जो ओवरी में सिस्ट अंदर ही टूट जाते हैं, वो कभी-कभी गंभीर लक्षण भी पैदा करते हैं। आपकी स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए उसके विशिष्ट लक्षणों को जानना अधिक महत्वपूर्ण है, यह आगे आनेवाली समस्या का संकेत दे सकते हैं और आपको पेल्विक टेस्ट तैयार कर सकते हैं।
[mc4wp_form id=”183492″]

ओवरी में सिस्ट (Cyst in ovary) होना कितना सामान्य है?

ओवरी में सिस्ट (Cyst in ovary) होना आम बीमारियों में से एक है और किसी भी उम्र में महिलाओं को प्रभावित कर सकती है। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या चिकित्सक से बात करें।

लक्षण

ओवेरियन सिस्ट के लक्षण क्या हैं? ( symptoms of (Cyst in ovary))

महिलाओं को होने वाले सिस्ट आमतौर पर अपने आप ठीक हो जाते हैं, लेकिन एक बड़ा सिस्ट परेशानी पैदा कर सकता है।

ओवरी में सिस्ट के लक्षण और संकेत:

ओवरी में सिस्ट

ओवरी में सिस्ट (Cyst in ovary) के निम्न लक्षण हैं

  • पेल्विक पेन- हल्का सा दर्द जो पीठ के निचले हिस्से से जांघों तक होता है।
  • यह दर्द आपके मासिक धर्म के पहले या खत्म होने के समय होता है।
  • यह दर्द इंटरकोर्स के दौरान भी हो सकता है (जिसे डिसपुरुनिया कहते हैं)।
  • बोवल (जिसे मलत्याग कहते हैं) के दौरान भी यह दर्द होता है और आंत पर दबाव आने के कारण भी यह दर्द होता है।
  • गर्भावस्था के दौरान होनेवाली मिचली, उल्टी होना या स्तन मे कोमलता जैसे अनुभव आता है।
  • आपके पेट में भारीपन या भरा हुआ महसूस होता है।
  • आपके मूत्राशय पर दबाव के कारण ज्यादा पेशाब होने की संभावना होती है या तो आपके पेशाब करने में कठिनाई पैदा होती है।
कुछ लक्षण और संकेत ऊपर नहीं दिए हैं। अगर आप अपने शरीर के किसी लक्षण से चिंतित हैं तो तुरंत डॉक्टर से मिलें और बात करें।

मुझे अपने डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

नीचे दिए गए लक्षण आपको आपके शरीर में दिखाई दे तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।
  • अचानक होने वाला दर्द, तीव्र होने वाला दर्द या पेल्विक पेन
  • बुखार आना या उल्टी के कारण होने वाला दर्द
  • आगे दिए गए संकेत और लक्षणों का मतलब है कि आपको तुरंत एक डॉक्टर को देखने की आवश्यकता है; जैसे कि, सदमा लगना, ठंड लगना, चिपचिपी त्वचा होना, तेजी से सांस लेना और चक्कर या कमजोरी आना।

और पढ़ें : Polycystic Ovary Syndrome: पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

कारण

ओवरी में सिस्ट होने के क्या कारण हैं? (Causes of Ovarian cyst)

ओवरी में सिस्ट कई तरह के होते हैं। इनके प्रकार की तरह ही इनके कारण भी भिन्न होते हैं, जो निम्नलिखित हैं –

फंक्शनल सिस्ट्स

आपकी ओवरीज (जिसे अंडाशय कहा जाता है) प्रायः हर महीने सिस्ट्स जैसे आकार विकसित करती हैं, जिन्हें फॉलिकल्स कहा जाता है। फॉलिकल्स हार्मोन एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन का निर्माण करने में मदद करती हैं और जब आप ओवुलेट करती हैं। कभी-कभी एक फॉलिकल्स सामान्य रूप से बढ़ता रहता है। जब ऐसा होता है, तो इसे फंक्शनल सिस्ट्स कहा जाता है। इसके दो प्रकार हैं:

फोलिक्यूलर सिस्ट्स

ऐसा समय जब आप अपने मासिक धर्म के मध्य के आसपास होती हैं। इस दौरान एग, स्पर्म यानी शुक्राणु और फर्टिलाइजेशन के लिए फैलोपियन ट्यूब के नीचे की ओर जाता है। फोलिक्यूलर सिस्ट्स की शुरुआत तब होती है, जब कुछ गलत हो जाता है और फॉलिकल अपने आप टूटने के कारण या उसके अंडे को रिलीज नहीं करने के कारण सामान्य रूप से काम नहीं करता। इसके कारण यह बढ़ता है और एक सिस्ट्स में बदल जाता है।

कॉर्पस ल्यूटियम सिस्ट्स

जब एक फॉलिकल अपने अंडे को रिलीज करता है। तो टूटा हुआ फॉलिकल फर्टिलाइजेशन के लिए एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन अधिक मात्रा में निर्माण करते हैं। इस फॉलिकल्स को अब कॉर्पस ल्यूटियम कहा जाता है। कभी-कभी फॉलिकल्स में अंडा सील्स को खोलने में असमर्थ हो जाता है। और फ्लूइड के रूप में अंदर जमा हो जाता है, जिससे कॉर्पस ल्यूटियम का सिस्ट में बढ़ता है। फर्टिलिटी ड्रग जैसे, क्लोमीफीन (क्लोमिड, सेरोफीन), जो ऑव्युलेशन करने में मदद करता है, यह ऑव्युलेशन के बाद विकसित होने वाले कॉर्पस ल्यूटियम सिस्ट के जोखिम को भी बढ़ाता है। ये सिस्ट्स प्रेग्नेंसी को रोकते या खतरे में नहीं डालते हैं।

ओवरी में सिस्ट के कुछ प्रकार आपके मासिक धर्म के सामान्य कार्यों की तरह काम नहीं करते हैं।

इन सिस्ट्स में शामिल हैं:

डर्मोइड सिस्ट्स

इन सिस्ट्स में टिश्यू हो सकते हैं, जैसे कि बाल, त्वचा या दांत, क्योंकि वे सेल्स (जिसे कोशिका कहते हैं) से बनते हैं, जो ह्यूमन एग का निर्माण करते हैं। बहुत कम इसका रूपांतर कैंसर में हो जाता है। ये सिस्ट ओवेरियन टिश्यू से बनते हैं और एक पानी के तरल या म्युकस (mucous) से भरे हो सकते हैं। ये सिस्ट एंडोमेट्रियोसिस के कारण बनते हैं, यह तब होता है जब यूटेरस एंडोमेट्रियल सेल्स आपके यूटेरस से बाहर बढ़ने लगाती हैं। उस टिश्यू में से कुछ ओवरी से जुड़ सकते हैं और उसका विकास होने की संभावना होती है।
डरमोइड सिस्ट्स और (Cystadenomas) बड़े हो सकते हैं, जिससे ओवरी अपनी सामान्य स्थिति से निकलकर पेल्विक स्थिति में जा सकती है। यह आपके ओवरी स्थिति बदल के दर्द बढ़ाती है, जिसे ओवेरियन टॉर्शन कहा जाता है।

ओवरी में सिस्ट के जोखिम

ये बीमारी महिलाओं में काफी आम हैं, जो ओव्यूलेट करती हैं। मेनोपॉज के बाद  यह बीमारी होने कि संभावना काम होती है। अगर आपको ये बीमारी मेनोपॉज के बाद विकसित होती है, जो कैंसर होने के जोखिम को बढ़ाता है। लगभग 8 प्रतिशत प्रीमेनोपॉजल महिलाओं में सिस्ट कि समस्या होती है, जिन्हे तुरंत इलाज कि जरूरत होती हैं।

निदान और उपचार

नीचे दी गई जानकारी किसी वैद्यकीय सुझाव का पर्याय नहीं है, इसलिए हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

ओवेरियन सिस्ट (Ovarian cyst) का निदान कैसे किया जाता है? (How is Ovarian cyst diagnosed?)

पेल्विक टेस्ट के दौरान आपकी ओवरी में सिस्ट्स पाया जा सकता है। यदि का संदेहजनक है, तो डॉक्टर इसके प्रकार को तय करने के लिए आगे के मेडिकल टेस्ट्स की सलाह देते हैं और अगर आपको उपचार की आवश्यकता हो तो वह भी प्रदान करते हैं।
सामान्यत: डॉक्टर उपचार को तय करने लिए और कुछ निर्णयों में सहायता के लिए आपको कई प्रश्न पूछ सकते हैं:

ओवरी में सिस्ट का आकार

ओवरी में सिस्ट (cyst in ovary) किस प्रकार का है यह जानने के लिए डॉक्टर नीचे दिए गए टेस्ट्स या प्रोसीजर का सुझाव दे सकते हैं:

  • प्रेग्नेंसी टेस्ट: आपकी सिस्ट्स कॉर्पस ल्यूटियम सिस्ट्स है, जो बढ़ती है तो टूटी हुई सिस्ट्स जो आपके अंडे को रिलीज करती है और द्रव पदार्थ से भर जाती है। इसके लिए एक पॉजिटिव प्रेग्नेंसी टेस्ट का सुझाव आपके डॉक्टर दे सकते हैं।
  • पेल्विक अल्ट्रासाउंड: इसमें एक उपकरण (ट्रांसड्यूसर) वीडियो स्क्रीन पर आपके गर्भाशय और अंडाशय की एक इमेज बनाने के लिए हाई फ्रेक्वेंसी साउंड वेव्स (अल्ट्रासाउंड) सेंड करता है और रिसीव भी करता है। आपका डॉक्टर सिस्ट्स होने की पुष्टि करने के लिए इमेज का अभ्यास करते हैं। यह उपकरण सिस्ट्स के स्थान की पहचान करने में मदद करता है और यह तय करता है कि यह द्रव है या मिश्रित पदार्थ है।
  • लेप्रोस्कोप का उपयोग: एक छोटा और हल्का सा उपकरण आपके पेट में एक छोटे चीरे के माध्यम से डाला जाता है। आपका डॉक्टर आपके ओवरीज को देख सकते हैं और ओवेरियन सिस्ट्स को हटा सकते हैं। यह एक सर्जिकल प्रोसीजर है, जिसके लिए आपको एनेस्थीसिया से गुजरना पड़ता है।
  •  सीए 125 ब्लड टेस्ट: कैंसर एंटीजन 125 (सीए 125) नाम का प्रोटीन स्तर अक्सर ओवेरियन कैंसर वाली महिलाओं में ज्यादा पाया जाता है। यदि आपके शरीर में ओवेरियन सिस्ट्स का विकास हो रहा है तो आपको ओवेरियन कैंसर होने की संभावना ज्यादा है, तो आपका डॉक्टर यह तय करने के लिए आपके रक्त में सीए 125 के स्तर की टेस्ट कर सकते हैं कि क्या आपका सिस्ट्स कैंसर हो सकता है या नहीं।

और पढ़ें : महिलाओं में सेक्स हॉर्मोन्स कौन से हैं, यह मासिक धर्म, गर्भावस्था और अन्य कार्यों को कैसे प्रभावित करते हैं?

ओवेरियन सिस्ट का इलाज कैसे किया जाता है? (How is ovarian cyst treated?)

आपके डॉक्टर आपका उपचार आपकी उम्र, सिस्ट्स के प्रकार, आकार और लक्षणों पर का अभ्यास करके करते हैं, उसके बाद ही आपको सही सुझाव दे सकते हैं:

इंतजार करें

बहुत से मामलों में आप इंतजार करके फिर से टेस्ट करके जांच लें की सिस्ट अपने आप ठीक हो गया है या नहीं। उदहारण के तौर पर बताया जाता है की, आपकी की उम्र जो भी हो। अगर आपको कोई लक्षण नहीं दिखाई दे रहें या महसूस हो रहें है, तो अल्ट्रासाउंड से पता चलता है पेट में छोटासी लिक्विड सिस्ट मौजूद है या नहीं। आपके डॉक्टर आपको समय समय पर पेल्विक अल्ट्रासाउंड करने का सुझाव दें सकते है, उससे यह पता चलेगा की सिस्ट अपना आकर बदल रहा है या नहीं।

गर्भनिरोधक पिल्स

आपके मासिक धर्म के दौरान बढ़ने वाले सिस्ट्स की संभावना कम करने के लिए डॉक्टर आपको गर्भनिरोधक गोलियां लेने की सलाह दे सकते है। ओरल कॉन्ट्रासेप्टिव ओवेरियन कैंसर कम करने का लाभ प्रदान करतें है, जितने लंबे समय आप गर्भनिरोधक गोलियां लेते हैं, उतनी ही इस बीमारी की जोखिम कम हो जाती है।

जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपचार

कुछ घरेलू उपचार और जीवनशैली में किए कुछ बदलावों से यह बीमारी कैसे ठीक कर सकते हैं?
  • नीचे दिए गए सुझाव और घरेलू उपचार आपको इस बीमारी से निपटने में मदद कर सकते हैं:
  • विशेष रूप से ऑव्युलेशन के समय और मासिक धर्म से पहले भोजन की संवेदनशीलता से बचें।
  • शराब, कैफीन, सैचुरेटेड फैट्स और चीनी से परहेज करें।
  • ऐसे आहार का खाने के लिए चुनाव न करे जो प्रोसेस्ड हो। खान में अनप्रोसेस्ड फूड (साबुत अनाज, फलियां, सब्जियां, फल, नट्स और बीज)शामिल करें।
  • आर्गेनिक हार्मोन फ्री पदार्थ चुनें, विशेष रूप से डेयरी और मांस।
  • आहार में फाइबर की मात्रा बढ़ाए।
  • सोया के खाद्य पदार्थों का और फ्लेक्ससीड्स का सेवन ज्यादा करें।

ध्यान दें

अगर आपको कोई भी सवाल या चिंता सता रही है तो सही सुझाव के लिए अपने डॉक्टर से बात करें। उपरोक्त जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है।
उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और ओवरी में सिस्ट से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। 

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

Dr Sharayu Maknikar


Shilpa Khopade द्वारा लिखित · अपडेटेड 25/09/2023

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement