home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कभी सोचा नहीं होगा आपने धनिया की पत्तियां कब्ज और गठिया में दिला सकती हैं राहत

कभी सोचा नहीं होगा आपने धनिया की पत्तियां कब्ज और गठिया में दिला सकती हैं राहत

धनिया (Coriander) का इस्तेमाल आज लगभग हर रसोई में होता है क्योंकि इसकी खुशबू और स्वाद दोनों ही खाने को अच्छा बना देते हैं। कचौड़ी, पराठे और पकौड़ों के साथ तो धनिया की चटनी का अलग ही मजा है। धनिया खाने के स्वाद को बदलने के साथ-साथ सेहत पर भी कई तरह से प्रभावी है। धनिया के फायदे (Benefits of Coriander) न सिर्फ उसकी पत्तियों के इस्तेमाल बल्कि बीज के इस्तेमाल में भी देखा जा सकता है। इसका बीज कई रोगों के उपचार में किया जाता है। जिसमें पेट की खराबी, भूख न लगना, हर्निया, मतली, दस्त, आंतों की ऐंठन के साथ ही पेट से संबंधित कई समस्याओं के निवारण के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है। धनिया के फायदे (Benefits of Coriander) के बारे में जानकारी आपको कई समस्याओं से बचा सकती है।

धनिया का सेवन करने से गट स्टिमुलेट होता है और फिर स्टमक में एसिड का प्रोडक्शन होना शुरू हो जाता है। जिन लोगों को खाना पचाने में समस्या होती है, इंटेस्टाइनल गैस की समस्या होती है, उनके लिए धनिया का सेवन (Use of Coriander) करना फायदेमंद साबित होता है। धनिया खाने से मसल्स पेन में भी राहत मिलती है। वहीं जिन लोगों को डायरिया की समस्या होती है, उनके लिए भी धनिया का सेवन फायदेमंद साबित होता है। वहीं जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होती है, उनके लिए भी धनिया फायदेमंद होता है। इसका उपयोग खसरा, बवासीर (Piles), दांत का दर्द (Teethech), कीड़े और जोड़ों के दर्द के साथ-साथ बैक्टीरिया (Bacteria) और फंगस (Fungus) के कारण होने वाले इंफेक्शन (Infection) के इलाज के लिए भी किया जाता है। बता दें कि धनिया के ज्यादा इस्तेमाल के कुछ नुकसान भी हैं।

और पढ़ें : इंसुलिन एंड किडनी डिजीज में क्या संबंध है, जानिए यहां एक्सपर्ट की राय

धनिया के फायदे (Benefits of Coriander)

धनिया (Coriandrum sativum) को एनुअल हर्ब के रूप में जाना जाती है। सभी घरों में सामान्यत: धनिया की पत्ती और धनिया के सूखे बीज का उपयोग किया जाता है। धनिया के बीज के साथ ही धनिया की पत्ती का उपयोग कुकिंग में किया जाता है। धनिया न केवल खाने का स्वाद बढ़ाती है, बल्कि ये औषधीय गुण से भी भरपूर होती है। जानिए धनिया का सेवन करने से किस तरह की समस्याओं से छुटकारा मिल सकता है और साथ ही कब धनिया का सेवन आपको नुकसान पहुंचा सकता है।

1.धनिया के फायदे या धनिया के फायदे: कब्ज की समस्या से छुटकारा

धनिया के फायदे (Benefits of Coriander) में सबसे खास है कि यह कब्ज (Constipation) की समस्या में को दूर करता है। एक शोध के मुताबिक एक महीने तक सौंफ, संतरे के छिलके, दालचीनी (Cinnamon), धनिया और अदरक (Garlic) की चाय पीने से कब्ज की समस्या दूर होती है।

2. कोरिएंडर बेनिफिट्स या धनिया के फायदे:इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (IBS)

इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (Irritable Bowel Syndrome) में उपचार के साथ -साथ अगर 8 सप्ताह तक लेमन बाम, पुदीना और धनिया के रस की 30 बूंदे रोजाना दिन में तीन बार ली जाएं तो इसमें शीघ्र आराम मिलता है और पेट के दर्द (इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम) में भी राहत मिलती है।

और पढ़ें : थायराइड डाइट प्लान अपनाकर पाएं हेल्दी लाइफस्टाइल, बीमारी से रहे दूर

3. कोरिएंडर बेनिफिट्स या धनिया के फायदे: सर्दी- जुकाम से राहत

धनिया में विटामिन सी (Vitamin C) पाया जाता है इसके साथ ही इसमें पाए जाने वाले एंटीबैक्टीरियल (Antibacterial) गुण हल्की सर्दी जुकाम को कम करने में भी मदद करते हैं। इसमें धनिया के बीज को उबाल कर उसका पानी पीने से फायदा मिलता है।

4. धनिया के फायदे : धनिया का पेस्ट और धनिया का रस

धनिया का उपयोग खाने में तो किया ही जाता है, साथ ही इसके पेस्ट या लेप का उपयोग गठिया की समस्या से राहत पाने के लिए किया जाता है। आप धनिया के पेस्ट को कोकोनट ऑयल (Coconut oil) में मिलाकर लगा सकते हैं। साथ ही धनिया का रस भी आपके बालों के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। आप धनिया को पानी में मिलाकर उबाल लें और फिर उस धनिया के पानी का उपयोग आप हेयर फॉल (Hair fall) की समस्या से निपटने के लिए कर सकते हैं।

धनिया के इस्तेमाल के नुकसान:

1.डाय​बिटीज

जिन लोगों को डाय​बिटीज या मधुमेह की शिकायत रहती है उन्हें ब्लड शुगर लेवल का खास ध्यान रखना पड़ता है कि ब्लड शुगर का लेवल न तो बहुत ज्यादा हो और न ही बहुत कम। रिसर्च के अनुसार धनिया का ज्यादा इस्तेमाल ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) को कम करता है।

2.प्रेग्नेंसी और ब्रेस्ट फीडिंग

धनिया के इस्तेमाल से प्रेग्नेंसी पर क्या गलत प्रभाव पड़ता है इसकी कोई ठोस और विश्वसनीय जानकारी तो नहीं है पर सुरक्षा के नजरिए से इसके ज्यादा इस्तेमाल को मना किया जाता है। बेहतर होगा कि आप इस बारे में डॉक्टर से जानकारी लें।

और पढ़ें : शुक्राणु बढ़ाने के लिए डायट प्लान क्या होनी चाहिए?

3.एलर्जी

कुछ लोगों को मगवॉर्ट, ऐनीजेड, कैरवे, सौंफ, डिल या इसी तरह के पौधों से एलर्जी होती है। उन्हें धनिया से एलर्जी हो सकती है। अगर आपको एलर्जी की समस्या है तो धनिया का सेवन करने से पहले जानकारी लें।

4. लो ब्लड प्रेशर (Low Blood Pressure)

धनिया ब्लड प्रेशर को कम कर सकता है जिन लोगों को लो ब्लड प्रेशर (Low Blood Pressure) की शिकायत है उन्हें धनिया का सेवन संभल कर करना चाहिए। डायबिटीज मेडिकेशन यानी डायबिटीज (Diabetes) की दवा का सेवन करने वाले लोगों में लो ब्लड प्रेशर की समस्या हो जाती है। अगर आप डायबिटीज की दवा ले रहे है और साथ ही कोरिएंडर यानी धनिया का सेवन भी कर रहे हैं तो ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) अधिक कम हो सकता है। ऐसे में आपको समस्या भी हो सकती है। डायबिटीज की बीमारी के लिए उपयोग की जाने वाली कुछ दवाएं धनिया के साथ इंटरेक्शन कर सकती हैं। बेहतर होगा कि धनिया का सेवन करने के दौरान इस बात का भी ख्याल रखें कि कहीं आपको किसी तरह की हेल्थ कंडिशन तो नहीं है। अधिक जानकारी के लिए आप एक्सपर्ट से भी राय ले सकते हैं।

5.सर्जरी

धनिया ब्लड शुगर (Blood sugar) को कम करता है इसलिए किसी सर्जरी के कम से कम 2 सप्ताह पहले धनिया का उपयोग बंद कर देना चाहिए। इससे सर्जरी के दौरान ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में परेशानी होती है।

धनिया के फायदे हैं बहुत लेकिन मात्रा का भी रखें ख्याल

कोरिएंडर यानी धनिया की कितनी मात्रा का सेवन करना चाहिए, ये बात व्यक्ति की उम्र, स्वास्थ्य के साथ ही अन्य कंडिशन पर भी निर्भर करती है। एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि नैचुरल प्रोडक्ट हमेशा सेफ हो, ऐसा जरूरी नहीं है। नैचुरल प्रोडक्ट की अधिक मात्रा लेने से या फिर किसी हेल्थ कंडिशन (Health condition) के दौरान नैचुरल प्रोडक्ट का सेवन करने से शरीर में दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं। बेहतर होगा कि अगर आप कोरिएंडर सीड से बने किसी प्रोडक्ट का सेवन कर रहे हैं तो लेबल पर जानकारी जरूर पढ़ लें। साथ ही फार्मासिस्ट और प्रोफेशनल से भी इस बारे में जानकारी जरूर लें।

और पढ़ें : वेट लॉस के लिए साउथ इंडियन फूड करेंगे मदद

अब तो आप यह तो समझ ही गए होंगे कि जहां धनिया के कई फायदे हैं वहीं कुछ नुकसान भी हैं। जरूरत से ज्यादा तो कुछ भी अच्छा नहीं होता इसलिए धनिया का इस्तेमाल करें पर बहुत ज्यादा नहीं। आशा करते हैं कि आपको इस आर्टिकल की जानकारी पसंद आई होगी और आपको धनिया के फायदे (Benefits of Coriander) से जुड़ी सभी जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अगर आपके मन में अन्य कोई प्रश्न हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें। अगर आपको धनिया से एलर्जी है तो बेहतर होगा कि डॉक्टर से जानकारी लेने के बाद ही इसका सेवन करें।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Priyanka Srivastava द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 4 days ago को
और Admin Writer द्वारा फैक्ट चेक्ड
x