Gemer 1: जेमर 1 क्या है? जानिए इसके उपयोग, डोज और सावधानियां

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जुलाई 10, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

फंक्शन

जेमर 1 (Gemer 1) टेबलेट का इस्तेमाल किस लिए किया जाता है?

जेमर 1 का इस्तेमाल टाइप-2 डायबिटी में किया जाता है। जेमर 1 उन लोगों में इस्तेमाल की जाती है, जो खुद डायट और एक्सरसाइज से अपना ब्लड शुगर लेवल कम नहीं कर पाते हैं। इस दवा में ग्लिमेपिराइड और मेटफॉर्मिन एक एक्टिल इनग्रीडिएंट्स के तौर पर होते हैं। मेटाफॉर्मिन स्वाभाविक रूप से बनने वाले इंसुलिन के प्रति शरीर की प्रतिक्रिया को सुधारने में मदद करने का काम करती है। मेटफॉर्मिन बॉडी में ग्लूकोज (शुगर) की मात्रा को कम करती है।

और पढ़ें – Clonidine : क्लोनिडीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जेमर 1 (Gemer 1) टेबलेट कैसे कार्य करती है?

जेमर 1 में मौजूद ग्लिमेपिराइड सल्फोनियालरेस (sulfonylureas) ड्रग क्लास से संबंध रखती है। यह दवा पैनक्रीयाज को इंसुलिन स्रावित करने में मदद करती है। इंसुलिन एक कैमिकल है, जिसका इस्तेमाल आपकी बॉडी शुगर (ग्लूकोज) को ब्लडस्ट्रीम से कोशिकाओं में ले जाने का कार्य करता है। एक बार कोशिकाओं में शुगर का प्रवेश होने के बाद बॉडी इसे ऊर्जा के रूप में इस्तेमाल करना शुरू कर देती है। टाइप – 2 डायबिटीज में आपकी बॉडी इंसुलिन का उचित ढंग से उपयोग नहीं कर पाती है या वह ब्लडस्ट्रीम में ही पड़ा रहता है।

इसकी वजह से आपका शुगर लेवल बढ़ जाता है। जेमर 1 इंसुलिन को रेग्युलेट करने में मदद करके कार्य करती है। वहीं, मेटफॉर्मिंन (Metformin) दवा बॉडी में ग्लूकोज के प्रोडक्शन को कम करके कार्य करता है। दोनों ही स्थितियों में ब्लड शुगर को कम करने या नियंत्रित करने में सहायता मिलती है।

और पढ़ें – Ibugesic Plus : इबूगेसिक प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डोसेज

जेमर 1 (Gemer 1) टेबलेट को लेने की सही खुराक क्या है?

हर मरीज के मामले में जेमर 1 का डोज अलग हो सकता है। जो डोज आप ले रहे हैं वो आपकी उम्र, हेल्थ और दूसरे अन्य कारकों पर निर्भर करता है। दवाइयां का सेवन हमेशा ही सुरक्षित नहीं होता है। जेमर 1 के उपयुक्त डोज के लिए अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह अवश्य लें।

टाइप- 2 डायबिटीज में अडल्ट्स के लिए सामान्य डोज

  • निर्देशित शुरुआती डोज: 1 या 2 mg में एक बार सुबह के ब्रेकफास्ट के साथ या सुबह के पहले भोजन के साथ।

बुजुर्गों के लिए (हाइपोग्लायसीमिया के खतरे वाले)

  • किडनी की समस्या से पीढ़ित बुजुर्गों को दिन में 1 mg शुरुआती डोज के रूप में लेना चाहिए।
  • रोजाना के 2 mg तक पहुंचने के बाद डॉक्टर की सलाह के अनुसार इसमें इजाफा किया जा सकता है। इसका मैक्सिमम डोज 8 mg प्रतिदिन लिया जा सकता है।

और पढ़ें – Mifegest Kit : मिफेजेस्ट किट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

इस्तेमाल

जेमर 1 (Gemer 1) टेबलेट को कैसे इस्तेमाल करना चाहिए?

जेमर 1 को डॉक्टर की सलाह के अनुसार भोजन के साथ या खाली पेट इस्तेमाल किया जा सकता है। इसका सेवन करते वक्त दवा को चबाएं या तोड़ें नहीं। एक ग्लास पानी के साथ दवा को सीधे ही निगल जाएं। इस दवा को अपना असर दिखाने में कम से कम दो घंटों का समय लग सकता है। हालांकि, आपको दिन में इसकी कितनी खुराक या टेबलेट लेने है यह आपकी मेडिकल कंडिशन और इलाज के प्रति बॉडी की प्रतिक्रिया के ऊपर निर्भर करेगा। बेहतर होगा कि आप इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह लें। बिना डॉक्टर की सलाह के डोज में इजाफा न करें। बिना डॉक्टर की मंजूरी के किसी भी दवा का सेवन शुरू या बंद न करें। निर्देशित अवधि तक डोज को पूरा करें। शुरुआती दिनों में संभवतः आपको फायदा मिल जाए, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आप दवा का सेवन बंद कर दें। ऐसा करने से बॉडी इस दवा के प्रति रेसिस्टेंट बना सकती है।

और पढ़ें – Levofloxacin: लिवोफ्लॉक्सासिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जेमर 1 (Gemer 1) टेबलेट का ओवरडोज की स्थिति में क्या करें?

ओवरडोज के कई लक्षण नजर आ सकते हैं। ओवरडोज का आभास होते ही तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर या आपातकालीन सेवा से संपर्क करें।

जेमर 1 (Gemer 1) टेबलेट की खुराक लेना भूल जाए तब क्या करें?

जेमर 1 का डोज मिस हो जाता है तो जल्द से जल्द इसे लें। हालांकि, यदि आपका अगली खुराक का समय नजदीक आ गया है तो भूले हुए डोज को ना खाएं। पहले से तय नियमित डोज को लें। एक बार में दो खुराक ना खाएं।

और पढ़ें – Bisoprolol: बिसोप्रोलोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

साइड इफेक्ट्स

जेमर 1 (Gemer 1) टेबलेट से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

जेमर 1 का इस्तेमाल करने से आपको निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं:

  • सिर दर्द
  • पेट दर्द
  • टेस्टीज में बदलाव
  • ब्लड शुगर का और कम होना
  • उबकाई
  • अपर रेस्पिरेटरी ट्रैक में इंफेक्शन
  • स्वाद में बदलाव
  • कंपकंपी
  • बेचैनी या एंजाइटी
  • पसीना आना
  • सिर हल्का होना या चक्कर आना
  • हार्ट रेट का तेज चलना
  • तेज भूख लगना
  • थकावट
  • कमजोरी
  • अचानक वजन बढ़ना

उपरोक्त सामान्य साइड इफेक्ट्स हैं, जो कि कुछ दिनों बाद चले जाते हैं। लंबे वक्त तक इनका बना रहना खतरे की घंटी हो सकती है। इसका आभास होते ही तत्काल अपने डॉक्टर को इसकी सूचना दें।

गंभीर साइड इफेक्ट्स

  • मूड में बदलाव
  • कनफ्यूजन
  • सिर हल्का होना या चक्कर आना
  • सुस्ती या नींद आना
  • धुंधला दिखना
  • होठ या जुबान में कंकंपी या सुन्न पन का अहसास
  • सिर दर्द
  • कॉर्डिनेशन में कमी
  • बुरे सपने
  • दौरे पड़ना
  • बेचैनी
  • लिवर खराब होना

उपरोक्त साइड इफेक्ट्स के अलावा भी जेमर 1 के कुछ अन्य दुष्प्रभाव हो सकते हैं, जिन्हें ऊपर सूचीबद्ध नहीं किया गया है। यह जरूरी नहीं कि हर व्यक्ति को समान साइड इफेक्ट्स का अनुभव हो। यदि आप इसके साइड इफेक्ट्स को लेकर चिंतित हैं तो अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह अवश्य लें।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

सावधानियां और चेतावनी

जेमर 1 (Gemer 1) टेबलेट के इस्तेमाल से पहले मुझे किन बातों के बारे में मालूम होना चाहिए?

जेमर 1 का इस्तेमाल करने से पहले निम्नलिखित स्थितियों में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह अवश्य लें:

  • यदि आप टाइप-1 डायबिटीज से पीड़ित हैं और इस दवा का इस्तेमाल करने जा रहे हैं।
  • यदि आपको हार्ट से संबंधित कोई समस्या है।
  • यदि आपको जेमर-1 के किसी इनएक्टिव या एक्टिव या अन्य दवा के किसी पदार्थ से एलर्जी है।
  • यदि आप प्रेग्नेंट, गर्भधारण की योजना या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं।
  • यदि आपकी कोई सर्जरी हुई, जिसमें दांत की सर्जरी भी शामिल है।
  • यदि आपको कभी G6PD की कमी (जेनेटिक ब्लड डिसऑर्डर) रही है।
  • यदि आपको हार्मोन की समस्या है, जिसमें पिट्यूटरी या थाइरॉयड ग्लैंड शामिल हैं।
  • यदि आपको किडनी या लिवर की बीमारी है।

उपरोक्त स्थितियों में बिना डॉक्टर के परामर्श के इस दवा का इस्तेमाल आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग में जेमर 1 (Gemer 1) टेबलेट का सेवन सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान जेमर 1 का सेवन सुरक्षित है या नहीं, इस संबंध में पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नहीं है। ब्रेस्टफीडिंग के दौरान यह दवा मां के दूध के जरिए शिशु की बॉडी में प्रवेश कर सकती है। ठीक इसी प्रकार से यह गर्भावस्था के दौरान प्लेसेंटा के जरिए भ्रूण के संपर्क में आ सकती है। हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि ऐसा होने पर इस दवा का क्या प्रभाव पड़ता है।

और पढ़ें – Cinnarizine+Dimenhydrinate: सिनेरीजीन+डिमेनहाइड्रिनेट क्या है? जानिए इसके उपयोग, डोज और सावधानियां

ड्रग इंटरैक्शन

जेमर 1 (Gemer 1) टेबलेट का किन दवाओं के साथ सेवन नहीं करना चाहिए?

निम्नलिखित दवाइयों के साथ जेमर 1 का सेवन नहीं करना चाहिए:

  • क्विनोलोन एंटीबायोटिक्स दवाइयां (Quinolone antibiotics)
  • एंटी फंगल दवाइयां
  • बेनाजेप्रिल (benazepril)
  • केपट्रोप्रिल (captopril)
  • इनालाप्रिल (enalapril)
  • इनालाप्रिलेट (enalaprilat)
  • फोसिनोप्रिल (fosinopril)
  • लिसिनोप्रिल (lisinopril)
  • मोएक्सिप्रिल (moexipril)
  • पेरिनडोप्रिल (perindopril)
  • क्विनाप्रिल (quinapril)
  • रेमिप्रिल (ramipril)
  • ट्रेनडोलाप्रिल (trandolapril)
  • आंख के इंफेक्शन की दवाइयां
  • कोलेस्ट्रॉल की दवाइयां

उपरोक्त दवाइयों के अलावा भी कुछ ऐसी औषधियां हो सकती हैं, जो जेमर 1 के साथ रिएक्शन कर सकती हैं। ऊपर दी गई सूची पूर्ण नहीं है। इसके ड्रग इंटरैक्शन की अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह अवश्य लें।

और पढ़ें – पीलिया (Jaundice) में भूल कर भी न खाएं ये 6 चीजें

क्या एल्कोहॉल के साथ जेमर 1 (Gemer 1) टेबलेट का सेवन सुरक्षित है?

एल्होहॉल के साथ जेमर 1 का इस्तेमाल करना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। इससे फ्लशिंग, सिर दर्द, सीने में दर्द, उबकाई, उल्टी, कमजोरी, धुंधला दिखना, मेंटल कनफ्यूजन, पसीना आना, चोकिंग, सांस लेने में परेशानी और एंजाइटी की समस्या हो सकती है। जेमर 1 के इस्तेमाल के दौरान एल्कोहॉलिक बीवरेज को सीमित करें या इनका सेवन करने से परहेज करें। एल्कोहॉल के साथ जेमर 1 का सेवन करने से आपके गुर्दे और लिवर खराब हो सकता है।

जेमर 1 (Gemer 1) टेबलेट का सेवन करने से सेहत पर क्या असर पड़ता है?

जेमर 1 आपके मौजूदा हेल्थ को प्रभावित कर सकती है या दवा का कार्य करने का तरीका बदल सकता है। इस स्थिति में आपको गंभीर दुष्प्रभाव होने का खतरा हो सकता है। यह दवा आपकी स्किन को और ज्यादा संवदेनशील बना देती है। बेहतर होगा कि आप जेमर 1 के सेवन के दौरान गैर जरूरी रूप से सूर्य की किरणों के संपर्क में आने से बचें। ऐसा होने पर आपकी स्किन पर एलर्जिक रिएक्शन या सनबर्न हो सकता है।

और पढ़ें – Cremaffin : क्रेमाफीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

स्टोरेज

जेमर 1 (Gemer 1) टेबलेट को कैसे स्टोर करना चाहिए?

जेमर 1 को स्टोर करने का सबसे बेहतर तरीका है इसे कमरे के तापमान पर रखना। इसे सूर्य की सीधी किरणों और नमी से दूर रखें। दवा को खराब होने से बचाने के लिए आपको जेमर 1 को बाथरूम या फ्रीजर में नहीं रखना है। इसे रखने से पहले सबसे बेहतर होगा कि आप दवा के पैकेज पर छपे निर्देशों को पढ़ लें या फार्मासिस्ट से पूछें। सुरक्षा की दृष्टि से सभी दवाइयों को अपने बच्चों और पेट्स से दूर रखें। बच्चों या पेट्स के संपर्क में आने पर यह दवा उनके लिए जानलेवा या घातक सिद्ध हो सकती है। जब तक कहा ना जाए तब तक सुरक्षा की दृष्टि से आपको जेमर 1 को टॉयलेट या नाली में नहीं बहाना है। आवश्यकता ना रहने या एक्सपायरी की स्थिति में दवा का समुचित तरीके से निस्तारण जरूरी है। सुरक्षित तरीके से इसका निस्तारण करने के लिए अपने फार्मासिस्ट से सलाह लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Drotin Plus Tablet : ड्रोटिन प्लस टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

ड्रोटिन प्लस टैबलेट की जानकारी in hindi, दवा के साइड इफेक्ट क्या है, ड्रोटावेरिन और पैरासिटामोल दवा किस काम में आती है, रिएक्शन, उपयोग, Drotin Plus Tablet

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल अगस्त 28, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Allercet Cold Tablet : अल्लर्सेट कोल्ड टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

अल्लर्सेट कोल्ड टैबलेट की जानकारी in hindi, दवा के साइड इफेक्ट क्या है, लिवोसिट्रिजिन, पैरासिटामोल और फेनिलफ्रिन दवा किस काम में आती है, रिएक्शन, उपयोग, Allercet Cold Tablet

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अगस्त 27, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Sinarest LP Tablet : सिनारेस्ट एलपी टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

सिनारेस्ट एलपी टैबलेट की जानकारी in hindi, दवा के साइड इफेक्ट क्या है, लिवोसिट्रिजिन, पैरासिटामोल, फेनिलफ्रिन और सोडियम सिट्रेट दवा किस काम में आती है, रिएक्शन, उपयोग, Sinarest LP Tablet

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल अगस्त 27, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Pentids 400 : पेंटिड्स 400 टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

पेंटिड्स 400 की जानकारी in hindi, दवा के साइड इफेक्ट क्या है, पेनिसिलीन जी (Penicillin G) या बेंजिलपेनसिलीन (Benzylpenicillin) दवा किस काम में आती है, रिएक्शन, उपयोग, Pentids 400

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल अगस्त 26, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

टाइप-1 डायबिटीज क्या है

टाइप-1 डायबिटीज क्या है? जानें क्या है जेनेटिक्स का टाइप-1 डायबिटीज से रिश्ता

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
प्रकाशित हुआ सितम्बर 17, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें
वजन घटने से डायबिटीज का इलाज/diabetes and weightloss

क्या वजन घटने से डायबिटीज का इलाज संभव है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
प्रकाशित हुआ सितम्बर 15, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
डायबिटीज टेस्ट स्ट्रिप्स/Diabetes Test Strips

डायबिटीज टेस्ट स्ट्रिप्स का सुरक्षित तरीके से कैसे करें इस्तेमाल?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
प्रकाशित हुआ सितम्बर 14, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
एजेक्ट एमआर टैबलेट

Drotin-M Tablet : ड्रोटिन-एम टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ अगस्त 31, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें