Pomegranate: अनार क्या है?

Medically reviewed by | By

Update Date मई 21, 2020
Share now

परिचय

अनार (Pomegranate) क्या है?

अनार पृथ्वी पर सबसे पौष्टिक फलों में से एक है। इसका वानस्पतिक नाम-प्यूनिका ग्रेनेटम (Punica granatum) है। लाल रंग के इस फल में छोटे-छोटे रसीले दाने होते हैं। अनार के साथ-साथ इसके पत्ते, छाल, बीज, फूल, जड़ सभी उपयोगी होते हैं। आयुर्वेद में भी इससे होने वाले फायदों के बारे में बताया गया है। इसके जूस में 100 फाइटो केमिकल्स होते हैं। हजारों सालों से इसका प्रयोग दवाइयों में किया जा रहा है। इसमें विटामिन सी, फॉस्फोरस, फाइबर, कैल्शियम, आयरन आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं। यही कारण है कि यह शरीर को कई बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करता है।

अनार (Pomegranate) का उपयोग किस लिए किया जाता है?

एंटी-ऑक्सीडेंट्स:

अनार के बीज पोलीफीनोल्स से चमकदार लाल रंग ग्रहण करते हैं। पोलीफीनोल एक शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट है। दूसरे फलों की तुलना में अनार के जूस में बहुत ज्यादा एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं। यही नहीं इसमें ग्रीन टी और रेड वाइन से भी तीन गुना ज्यादा एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं। ये शरीर की कोशिकाओं को फ्री रेडिकल्स से बचाता है।

कैंसर से बचाव:

अनार में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है। इसके नियमित सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। यह इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है। कैंसर से पीड़ित लोगों को इसलिए अनार खाने की सलाह दी जाती है। 

स्ट्रेस को दूर करता है:
अनार में कई ऐसे तत्व होते हैं जो स्ट्रेस को दूर करने में मदद करते हैं। शरीर में तनाव का स्तर बढ़ने से कई तरह की शारीरिक व मानसिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसके लिए रोजाना अनार का सेवन करें।

अर्थराइटिस और जोड़ों के दर्द को करे दूर:

अनार में एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज होती हैं जो अर्थराइटिस से निजात दिलाने में मददगार है। कई अध्ययन के अनुसार, अनार का जूस उन एंजाइम्स को ब्लॉक करता है, जो जोड़ों को नुकसान पहुंचाने के लिए जाना जाता है।

स्वस्थ हृदय के लिए फायदेमंद है:

अनार का जूस दिल और धमनियों को सुरक्षा प्रदान करता है। एक शोध के अनुसार, अनार का जूस रक्त प्रवाह में सुधार कर धमनियों को कठोर और मोटा होने से रोकता है। इसके अलावा ये कोलेस्ट्रॉल के निर्माण को भी धीरे करता है।

एंटी-वायरल :

विटामिन-सी और विटामिन-ई से भरपूर ये कई बीमारियों व इंफेक्शन से लड़ने में मदद करता है। लेब टेस्ट में भी इसे एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-वायरल पाया गया है। 

दिमाग को करे तेज:

हाल ही में हुए एक शोध के मुताबिक, अनार का जूस रोजाना पीने से दिमाग तेज होता है। 

फर्टिलिटी:

इसके जूस में पाए जाने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट फर्टिलिटी बढ़ाने में लाभदायक है। एक शोध के अनुसार, हर दिन इसका जूस पीने से शुक्राणुओं की संख्या बढ़ती है।

न्यूट्रिएंट्स से भरपूर:
अनार की स्किन मोटी और खाने लायक नहीं होती है। लेकिन इसमें बहुत सारे बीज होते हैं जो रेड कलर के जूस से भरे होते हैं। बीज पर कवर इस लेयर को एरिल (aril) कहा जाता है। अनार के बीज और एरिल खाए जाते हैं। एक कप एरिल में 7 ग्राम फाइबर, 3 ग्राम प्रोटीन, 30 % विटामिन-सी, 36% विटामिन-के, 16% फोलेट, 12% पोटेशियम होता है।

इन बीमारियों में भी है कारगर:

कैसे काम करता है अनार (Pomegranate)?

अनार में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स और मिनरल्स होते हैं, जो कई गंभीर बीमारियों से सुरक्षा कवच प्रदान करता है। स्वास्थ्य की दृष्टि से इसे सुपरफूड माना जाता है। इसके बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें।

यह भी पढ़ें Shilajit : शिलाजीत क्या है?

उपयोग

कितना सुरक्षित है अनार (Pomegranate) का उपयोग ?

  • अगर आपकी तासीर ठंडी है तो इसका सेवन करने से बचें।
  • अगर आप कब्ज से पीड़ित हैं तो इसका सेवन न करें।
  • लो ब्लड प्रेशर वाले अपनी दवाइयों के साथ इसको न खाएं। ये उनके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है।
  • एलर्जी से ग्रसित लोग डॉक्टर की सलाह के बिना इसे डायट में शामिल न करें। इसके सेवन से आपकी एलर्जी बढ़ भी सकती है।
  • अगर आप किसी मानसिक रोग या एड्स का ट्रीटमेंट करा रहे हैं तो भी इसका सेवन न करें।
  • प्रेग्नेंट और ब्रेस्ट फीडिंग कराने वाली महिलाएं डॉक्टर की सलाह के बाद इसका सेवन करें।
  • अगर आपको खून संबंधी कोई बीमारी है तो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें। इस तरह की बीमारियों में अनार लेना कई बार नुकसानदायक साबित हो सकता है।
  • इसके सेवन से आपकी बीमारी या आप जो वतर्मान में दवाइयां खा रहे हैं उनके असर पर प्रभाव पड़ सकता है। इसलिए सेवन से पहले डॉक्टर से इस विषय पर बात करें।

यह भी पढ़ें : Sunk Cabbage : पत्ता गोभी क्या है?

साइड इफेक्ट्स

अनार (Pomegranate) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

  • खुजली होना
  • सूजन
  • नाक की एलर्जी
  • सांस लेने में दिक्कत होना

हालांकि हर किसी को ये साइड इफेक्ट हो ऐसा जरुरी नहीं है, कुछ ऐसे भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं, जो ऊपर बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

यह भी पढ़ें : Rosemary : रोजमेरी क्या है?

डोजेज

अनार को लेने की सही खुराक क्या है?

इस हर्बल सप्लिमेंट की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लिमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

यह भी पढ़ें : Acai: असाई क्या है?

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है?

  •  जूस
  • कैप्सूल
  • पाउडर
  • एक्सट्रेक्ट

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की मेडिकल सलाह, निदान या सारवार नहीं देता है न ही इसके लिए जिम्मेदार है।

हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में इस हर्बल से जुड़ी ज्यादातर जानकारियां देने की कोशिश की है, जो आपके काफी काम आ सकती हैं। अगर आपको ऊपर बताई गई कोई सी भी शारीरिक समस्या है तो इस हर्ब का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। बस इस बात का ध्यान रखें कि हर हर्ब सुरक्षित नहीं होती। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें तभी इसका इस्तेमाल करें। अनार से जुड़ी यदि आप अन्य जानकारी चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट कर पूछ सकते हैं।

और पढ़ें:

Asafoetida : हींग क्या है?

Pica : पाइका क्या है?

मोलर प्रेग्नेंसी क्या है? जानिए इसका इलाज और लक्षण

Goa Powder: गोवा पाउडर क्या है?

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

हेल्दी रहने का सीक्रेट है दूध

दूध के बारे में आप क्या जानते हैं?

Written by Nidhi Sinha
क्विज फ़रवरी 12, 2020

इन 7 फलों को करें फ्रूट डायट में शामिल और घटाएं वजन

जानिए फ्रूट डायट in Hindi, वजन घटाने के लिए फ्रूट डायट चार्ट, Wajan Ghatane Ke Liye Fruit Diet, वजन घटाने के लिए क्या खाएं, मोटापा कैसे कम करें।

Medically reviewed by Dr. Pooja Bhardwaj
Written by Ankita Mishra

बार बार पेशाब आना : इस समस्या को दूर कर देंगे ये आसान घरेलू उपाय

बार बार पेशाब आना in Hindi, बार बार पेशाब आना घरेलू उपाय, Home Remedies for Frequent Urination, महिलाओं को बार बार पेशाब आने का घरेलू इलाज, छोटे बच्चों को बार बार पेशाब आने का घरेलू इलाज।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Priyanka Srivastava

कब और किसे लेना चाहिए स्वाइन फ्लू वैक्सीन?

जानिए स्वाइन फ्लू वैक्सीन से जुड़ी जानकारी। क्या आप जानते हैं स्वाइन फ्लू से बचने के लिए स्वाइन फ्लू वैक्सीन अपनी मर्जी से ली जा सकती है?

Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar
Written by Nidhi Sinha