scurvy grass : स्कर्वी ग्रास क्या है?

Medically reviewed by | By

Update Date जून 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

परिचय

स्कर्वी ग्रास को कोक्लेयर, कोक्लेयर ऑफ़िसिनेल, कोक्लेरिया ऑफ़िसिनालिस, कोक्लेरिया, क्रैनसन, क्रैंसन ऑफ़िसिनल, हिरेबा डेल एस्कोर्बुटो, स्पूनवॉर्ट आदि कई नामों से जाना जाता है। इस हर्ब के पत्तों और फूल वाले हिस्से का प्रयोग दवाई बनाने के लिए किया जाता है। इस हर्ब का नाम स्कर्वी ग्रास इसलिए पड़ा क्योंकि नाविक इस हर्ब का प्रयोग स्कर्वी नामक बीमारी में राहत पाने के लिए किया करते हैं। स्कर्वी रोग विटामिन-सी की कमी के कारण होने वाला रोग है। नाविकों को अक्सर विटामिन-सी की कमी रहती है क्योंकि उन्हें समुद्र में ताजे फल नहीं मिल पाते। इस जड़ी-बूटी का प्रयोग विटामिन-सी की कमी को पूरा करने के अलावा गठिया, पेट दर्द, और फ्लूइड रिटेंशन आदि में किया जाता है। इसका उपयोग “ब्लड प्यूरीफायर” के रूप में भी किया जाता है। त्वचा के रोगों को दूर करने के लिए भी यह हर्ब फायदेमंद है। पाइये स्कर्वी ग्रास के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से।

और  पढ़ें: पेट दर्द (Stomach pain) के ये लक्षण जो सामान्य नहीं हैं

उपयोग

स्कर्वी ग्रास का प्रयोग इन रोगों के उपचार के लिए किया जाता है:
विटामिन सी की कमी को पूरा करने के लिए

निम्नलिखित समस्याओं में राहत पाने के लिए भी इस हर्ब का प्रयोग किया जाता है:

यह कैसे काम करता है ?

स्कर्वी ग्रास में विटामिन-सी अधिक मात्रा में होता है। यह रेचक (laxative) की तरह काम करता है और बैक्टीरिया से लड़ने में सक्षम हो सकता है।

सावधानियां और चेतावनी

इस बारे में सही जानकारी उपलब्ध नहीं है कि स्कर्वी ग्रास सुरक्षित है।इस हर्ब का मुंह के माध्यम से अधिक मात्रा में सेवन करने से पेट और आंतों में जलन की समस्या हो सकती है। हालांकि, इसे त्वचा पर सीधे तौर पर लगाने से त्वचा को नुकसान हो सकता है।

गर्भावस्था : अगर आप प्रेग्नेंट हैं तो आपको इस जड़ी-बूटी का सेवन नहीं करना चाहिए या तभी करना चाहिए, जब डॉक्टर ने इसकी सलाह दी हो। क्योंकि, इसका सेवन करना गर्भ में पल रहे शिशु के लिए हानिकारक हो सकता है। सुरक्षित रहने के लिए अपने डॉक्टर से पूरी जानकरी लें।

स्तनपान : अगर आप स्तनपान करा रही हैं तो उस स्थिति में भी आपको डॉक्टर की सलाह के बिना इस दवाई को नहीं लेना चाहिए। क्योंकि, हो सकता है कि यह हर्ब ब्रेस्ट मिल्क से पास हो और आपके शिशु को नुकसान पहुंचाएं। इसलिए प्रेगनेंसी और ब्रेस्टफीडिंग दोनों ही स्थितियों में आपको केवल उन्ही दवाईयों का सेवन करना चाहिए जिनकी सलाह डॉक्टर ने दी हो।

और पढ़ें : क्या ब्रेस्टफीडिंग से अनवॉन्टेड प्रेग्नेंसी (Unwanted Pregnancy) रुक सकती है?

साइड इफेक्ट्स

अन्य हर्ब्स की तरह स्कर्वी ग्रास के भी कुछ दुष्प्रभाव हो सकते हैं। हालांकि ऐसा आवश्यक नहीं कि इस जड़ी-बूटी को लेने से सभी लोगों को साइड इफेक्ट्स हों, लेकिन कुछ लोगों में कुछ दुष्प्रभाव देखे आ सकते हैं। अगर आपको इस हर्ब को खाने से कोई भी समस्या होती है या साइड इफेक्ट नजर आते हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर को बताएं ताकि सही समय पर वो आपको सही सलाह दे सकें। सही मार्गदर्शन और सलाह के बाद ही इसे लें। अधिक लाभ पाने के लिए नियमित रूप से इस हर्ब का सेवन करें। स्कर्वी ग्रास से निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं:

  • स्कर्वी ग्रास का अधिक मात्रा में सेवन करने से पेट में समस्या हो सकती है।
  • त्वचा में सीधे इस औषधि को लगाने से त्वचा को नुकसान पहुंच सकता है
  • गर्भावस्था या स्तनपान के दौरान इस हर्ब को लेने से शिशु को नुक्सान हो सकता है।

अगर आपको इस दवाई को लेने के बाद कोई समस्या होती है तो अपने डॉक्टर को बताएं।अगर आप इस हर्ब से होने वाले साइड इफेक्ट्स को लेकर चिंतित हैं, तो कृपया अपने औषधि विशेषज्ञ या डॉक्टर से परामर्श करें

इंटरेक्शन्स

स्कर्वी ग्रास का प्रयोग करने से आपकी मौजूदा दवाई या मेडिकल स्थितियों पर प्रभाव पड़ सकता है। अगर आप किसी अन्य दवाई का सेवन कर रहे हैं तो सबसे पहले अपने डॉक्टर को अवश्य बताएं। यही नहीं, अगर आपको अन्य कोई बीमारी है या कोई समस्या है। उस स्थिति में अगर आप इस हर्ब को लेते हैं तो आपके लिए यह हानिकारक हो सकता है। इसलिए, इसके प्रयोग से पहले अपने डॉक्टर या औषधि विशेषज्ञ से अवश्य पूछे। इस हर्ब का प्रयोग किसी अन्य दवाई के साथ करने से कुछ विपरीत प्रभाव हो सकते हैं, जो इस प्रकार हैं:

लिथियम इंटरेक्शन रेटिंग: इस संयोजन को लेने के लिए सावधान रहना चाहिए। ऐसे में डॉक्टर से सलाह लेना अनिवार्य है। स्कर्वी ग्रास का वाटर पिल या डाइयुरेटिक के समान प्रभाव भी हो सकता है। इस औषधि को लेने से शरीर में लिथियम की अधिकता हो सकती है, जिससे कारण कई साइड इफ़ेक्ट होने की संभावना है। अगर आप लिथियम युक्त कोई उत्पाद ले रहे हैं तो इसे लेने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। ऐसे में डॉक्टर आपकी लिथियम की डोज को बदल सकते हैं।

कितना सुरक्षित है स्कर्वी ग्रास का उपयोग?

स्कर्वी ग्रास का प्रयोग करना सुरक्षित है, लेकिन अच्छी तरह से जानकारी लेने के बाद ही आप इस जड़ी-बूटी का सेवन करें। अपनी मर्जी से इसका सेवन न करें। अगर डॉक्टर ने आपको इस हर्ब को लेने की सलाह दी है तो इसे दूसरे रोगी के साथ शेयर न करें जिसे आपके समान समस्या हो, जब तक डॉक्टर उसे इस हर्ब को लेने के लिए न कहें।

और पढ़ें :Povidone Iodine: पोविडोन आयोडीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डोसेज

स्कर्वी ग्रास को लेने की सही खुराक क्या है?

स्कर्वी ग्रास की सही डोज क्या है। यह बात कई चीजों पर निर्भर करता है जैसे उपयोग करने वाले की उम्र, स्वास्थ्य या कई अन्य स्थितियां। इसकी सही डोज क्या है इस समय इसके बारे में कोई वैज्ञानिक जानकारी नहीं है। याद रखें कि प्राकृतिक उत्पाद हमेशा सुरक्षित नहीं होते और उनकी सही डोज का पता होना महत्वपूर्ण है। इसलिए इसका उपयोग करने से पहले अपने फार्मासिस्ट और फिजिशियन या डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

हमें उम्मीद है कि स्कर्वी ग्रास पर आधारित यह लेख आपको पसंद आया होगा। इस लेख में हमनें हर्ब से जुड़ी सभी जानकारियां देने की कोशिश की हैं जो कि आपके लिए उपयोगी साबित हों। अगर आपको यहां बताई गईं स्वास्थ्य समस्याएं हैं तो आप इस हर्ब का उपयोग डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की मेडिकल सलाह , निदान या उपचार प्रदान नहीं करता और न ही इसके लिए जिम्मेदार है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

जानें बॉडी पर कैफीन के असर के बारे में, कब है फायदेमंद है और कितना है नुकसान दायक

कैफीन के असर से क्या क्या होती हैं बीमारिया, कितना में मात्रा में सेवन करना है फायदेमंद, पूर्व में किए शोध से क्या पता चला है, तमाम जानकारी इस आर्टिकल में जानिए।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मई 6, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें

प्रेग्नेंसी में हल्दी का सेवन करने के फायदे और नुकसान

प्रेग्नेंसी में हल्दी के नुकसान, गर्भवास्था में हल्दी कब खाएं, गर्भावस्था में हल्दी के साइड इफेक्ट्स, प्रेग्नेंसी के दौरान हल्दी का सेवन फायदेमंद है?

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Ankita Mishra
प्रेग्नेंसी स्टेजेस, प्रेग्नेंसी अप्रैल 20, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

गर्भावस्था में जरूरत से ज्यादा विटामिन लेना क्या सेफ है?

जाने गर्भावस्था में जरूरत से ज्यादा विटामिन लेने से क्या होता है, सही खुराक क्या है और गर्भावस्था में विटामिन का ओवरडोज होने पर डॉक्टर से कब संपर्क करें।

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Shivam Rohatgi
प्रेग्नेंसी स्टेजेस, प्रेग्नेंसी अप्रैल 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Eastern Red Cedar: ईस्टर्न रेड सिडर क्या है?

ईस्टर्न रेड सिडर क्या है? eastern red cedar इस्तेमाल किसलिए किया जाता है? किन लोगों को ईस्टर्न रेड सिडर का उपयोग नहीं करना चाहिए? जानिए इससे होने वाले साइड इफेक्ट्स के बारे में...

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Mona Narang
जड़ी-बूटी A-Z, ड्रग्स और हर्बल मार्च 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

हेल्दी कॉफी और इम्यूनिटी की रेसिपी

कॉफी से इम्यूनिटी पावर को कैसे बढ़ाएं? जाने कॉफी बनाने की रेसिपी

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shivam Rohatgi
Published on मई 20, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
मैक्सिकन स्कैम्नी -Mexican scammony

Mexican Scammony: मैक्सिकन स्कैम्नी क्या है?

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Bhawana Sharma
Published on मई 18, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
मिथोक्सिलेटेड फ्लेवोनस -Methoxylated flavones

Methoxylated flavones: मिथोक्सिलेटेड फ्लेवोनस क्या है?

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Bhawana Sharma
Published on मई 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Shilajit-शिलाजीत

Shilajit: शिलाजीत क्या है?

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Ankita Mishra
Published on मई 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें