home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Apcod Sachet: एप्कोड सैशे क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन|डोसेज|उपयोग|साइड इफेक्ट्स|सावधानियां और चेतावनी|रिएक्शन|स्टोरेज
Apcod Sachet: एप्कोड सैशे क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन

एप्कोड सैशे (Apcod Sachet) कैसे काम करता है?

एप्कोड दवा में मायो इनोसिटोल (Myo-Insitol), मिथाइल फोलेट (Methyl Folate) और विटामिन डी 3 होते हैं। इसे मुख्य रूप से विटामिन डी 3 और फोलेट की कमी को पूरा करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

इस दवा को अंडाशय संबंधी विकार में उपयोग करने की सलाह दी जाती है। यह अंडाशय संबंधी विकार होने पर हार्मोनल असंतुलन को ठीक करके इलाज की प्रक्रिया में तेजी लाती है। इसके अलावा यह एक इंसुलिन प्रतिरोधक दवा है जो पीसीओएस के लक्षणों को भी कम करने में मदद करती है।

और पढ़ें – Rifagut: रिफागट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

डोसेज

एप्कोड सैशे (Apcod Sachet) का सामान्य डोज क्या है?

एप्कोड सैशे की खुराक डॉक्टर द्वारा निर्धारित की जाती है और उसके अनुसार ही इसका सेवन करना चाहिए। दवा की खुराक मरीज की उम्र, स्वास्थ्य स्थिति और इलाज की प्रकिया पर निर्भर करती है।

दवा का सेवन करने से पहले डॉक्टर से परामर्श करें। इसके साथ ही अगर आप चाहें तो इसकी खुराक की जानकारी लेबल पर भी पढ़ सकते हैं। आमतौर पर एक बार में एक सैशे का सेवन करने की सलाह दी जाती है।

ओवरडोज या आपात स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

डॉक्टर द्वारा बताई गई डोज से ज्यादा दवा का सेवन करने पर ओवरडोज की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। अगर निम्न लक्षण दिखाई दें तो तुरंत डॉक्टर या निकटतम आपातकालीन कक्ष से संपर्क करें।

  • मतली या उल्टी
  • प्यास लगना
  • सिर दर्द
  • नींद आना
  • पेट में दर्द
  • थकान
  • मुंह सूखना
  • कब्ज
  • बुखार बढ़ना

ओवरडोज के कारण होने वाले सभी दुष्प्रभावों व लक्षणों के बारे में इस सूची में नहीं बताया जा सकता है। इसलिए किसी भी प्रकार की असुविधा महसूस होने पर तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।

एप्कोड सैशे (Apcod Sachet) का डोज मिस हो जाए तो क्या करूं?

एप्कोड को डॉक्टर द्वारा बताए गए समय पर ही लेना चाहिए। हालांकि, डोज मिस होने पर भूली हुई खुराक की याद आते ही उसका सेवन करें, लेकिन यदि आपकी अगली खुराक लेने का समय हो चुका है तो भूली हुई खुराक को छोड़कर, डॉक्टर द्वारा निर्धारित किए गए समय पर अगली खुराक का सेवन करें। कभी भी एक साथ दो खुराक न लें।

और पढ़ें – Caripill: कैरिपिल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

[mc4wp_form id=”183492″]

उपयोग

एप्कोड सैशे (Apcod Sachet) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

एप्कोड सैशे की खुराक डॉक्टर द्वारा निर्धारित किए गए तरीके व समय के अनुसार ही लें। अगर आप किसी गंभीर रोग से ग्रस्त हैं या उसका इलाज करवा रहे हैं तो इसका उपयोग करते समय अधिक सावधानी बरतें और साथ ही डॉक्टर को इसकी जानकारी जरूर दें। ज्यादातर मामलों में यह एक सुरक्षित दवा मानी जाती है। किसी भी प्रकार की समस्या या सवाल होने पर डॉक्टर से परामर्श करें।

आप चाहें तो इस दवा को खाना खाने के बाद या पहले भी ले सकते हैं। हालांकि, अगर आपके डॉक्टर आपको किसी अन्य समय पर खुराक लेने को सलाह देते हैं तो उनके द्वारा निर्धारित समय पर ही इसका नियमित सेवन करें। इसका उपयोग करने के लिए इसे एक गिलास पानी में मिलाएं और पिएं। अगर आपको एप्कोड की सही खुराक के बारे में नहीं पता है तो सैशे पर दिए गए निर्देश फॉलो करें।

और पढ़ें – Aceclo Plus: एसिक्लो प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

साइड इफेक्ट्स

एप्कोड (Apcod) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

एप्कोड के सक्रिय घटक मायो इनोसिटोल (Myo-Insitol), मिथाइल फोलेट (Methyl Folate) और विटामिन डी 3 के अधिक या गलत इस्तेमाल से शरीर पर बुरा प्रभाव भी पड़ सकता है।

इस दवा के दुष्प्रभाव व्यक्ति की उम्र, इलाज की प्रक्रिया और बीमारी की वजह व गंभीरता पर निर्भर करते हैं। निम्न कुछ सामान्य साइड इफेक्ट्स हैं जिनके लक्षण दिखाई देने पर चिकित्सकीय परामर्श की जरूरत पड़ सकती है।

  • मतली या उल्टी
  • प्यास लगना
  • सिर दर्द
  • नींद आना
  • मांसपेशियों में दर्द व ऐंठन
  • पेट में दर्द
  • थकान
  • मुंह सूखना
  • कमजोरी
  • कब्ज
  • बुखार बढ़ना
  • खून में कैल्शियम का स्तर बढ़ना

एप्कोड द्वारा होने वाले सभी दुष्प्रभावों की गणना यहां नहीं की जा सकती है। इसलिए किसी भी प्रकार की मानसिक व शारीरिक असुविधा महसूस होने पर तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।

और पढ़ें – Drug overdose : ड्रग ओवरडोज क्या होता है?

सावधानियां और चेतावनी

एप्कोड सैशे (Apcod Sachet) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

एप्कोड दवा का सेवन करने से पहले चिकित्सक को अपनी पहले से चली आ रही दवाओं, बीमारी और इलाज या सर्जरी के बारे में बताएं। अगर आपको इसका सेवन करने से कोई असुविधा जैसे सिर दर्द, पेट दर्द, भूख न लगना या थकान महसूस होती है तो घबराएं नहीं क्योंकि ऐसे साइड इफेक्ट्स आमतौर पर अपने आप कुछ देर में चले जाते हैं। स्थिति या लक्षण में सुधार न आने पर डॉक्टर से परामर्श करें।

निम्नलिखित परिस्थितियों में अधिक सावधानी बरतें।

  • प्रेग्नेंसी, गर्भधारण करने की प्लानिंग व ब्रेस्टफीडिंग के दौरान आपको सिर्फ उन्हीं दवाइयों का सेवन करना चाहिए, जिनकी सलाह डॉक्टर द्वारा दी गई हो।
  • यदि आप किसी अन्य दवा का सेवन कर रहे हैं फिर चाहे वह आयुर्वेदिक हो या हर्बल बिना डॉक्टर की सलाह के किसी भी दवा का उपयोग न करें।
  • यदि आपको इस दवा के एक्टिव या इनएक्टिव इनग्रीडिएंट से एलर्जी है तो उसका सेवन न करें व डॉक्टर से परामर्श कर के किसी अन्य विकल्प को चुनने की सलाह लें।
  • कोई बीमारी, डिसऑर्डर या मेडिकल कंडिशन होने पर इसके इस्तेमाल से पहले डॉक्टरी सलाह लें।
  • अगर आपको गुर्दे या लिवर डिजीज है तो इसका सेवन करते समय अधिक सावधानी बरतने व डॉक्टर से संपर्क करें।
  • इसके अलावा अगर आप गुर्दे की पथरी, अतिसंवेदनशीलता या कैल्शियम की अधिक मात्रा से ग्रस्त हैं तो इस दवा से परहेज करें।

और पढ़ें – Dexorange Syrup: डेक्सोरेंज सिरप क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान एप्कोड सैशे (Apcod Sachet) को लेना सुरक्षित है?

गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान महिलाओं को किसी भी प्रकार की दवा का बिना डॉक्टरी सलाह के सेवन नहीं करना चाहिए। अमेरिकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) के मुताबिक, कैल्सिरोल प्रेग्नेंसी रिस्क कैटेगरी में ‘N’ में है।

FDA प्रेग्नेंसी रिस्क कैटेगरी की लिस्ट नीचे दी गई है:

  • A= कोई खतरा नहीं
  • B= कुछ अध्ययनों में खतरा पाया गया
  • C= कुछ खतरे हो सकते हैं
  • D= खतरे के पॉजिटिव एविडेंस मौजूद हैं
  • X= Contraindicated, (कॉन्ट्रेनडिकेटेड)
  • N= पता नहीं

अगर आप गर्भधारण करने की सोच रही हैं तो इस दवा का सेवन शुरू करने से पहले एक बार डॉक्टरी सलाह जरूर ले लें।

रिएक्शन

कौन-सी दवाइयां एप्कोड सैशे (Apcod Sachet) के साथ रिएक्शन कर सकती हैं?

एक से अधिक दवा का सेवन करने से ड्रग रिएक्शन हो सकता है। अगर आप पहले से ही किसी दवा या सप्लिमेंट का सेवन करते आ रहे हैं तो इसके बारे में अपने डॉक्टर को अवश्य बताएं। निम्न कुछ ऐसे ड्रग हैं जिन्हें साथ लेने से साइड इफेक्ट्स का जोखिम बढ़ सकता है।

  • नॉन स्टेरिओडल एंटीइंफ्लेमेटरी दवाएं (Nonsteroidal anti-inflammatory drugs)
  • कोलक्रिस/कोलकाइसिन (Colchicine)
  • बार्बीचुरेट्स (Barbiturates)
  • कोलेस्टीरामिन (Cholestyramine)
  • कोलेस्टिपोल (Colestipol)

इनमें से किसी भी दवा के साथ दुष्प्रभाव दिखाई देने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें – Mahacef Plus: महासेफ प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

क्या एप्कोड सैशे (Apcod Sachet) भोजन या एल्कोहॉल के साथ रिएक्शन करता है?

एप्कोड (Apcod) को किसी भी आहार के साथ लिया जा सकता है। आप चाहें तो इसे खाना खाने के बाद व पहले भी ले सकते हैं। बेहतर रहेगा कि आप एक नियमित समय तय कर लें। हालांकि, अगर आप किसी विशेष आहार के बारे में जानना चाहते हैं तो एक बार डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

एल्कोहॉल के एप्कोड पर होने वाले प्रभाव को लेकर फिलहाल किसी प्रकार की कोई रिसर्च नहीं की गई। इसलिए यह बता पाना बेहद मुश्किल होगा कि यह व्यक्ति को किस हद तक प्रभावित कर सकते हैं। डॉक्टर से परामर्श करें बिना शराब का सेवन न करें।

और पढ़ें – Ibugesic Plus : इबुगेसिक प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

एप्कोड (Apcod) हेल्थ कंडिशन पर क्या असर डालता है?

एप्कोड की खुराक स्वास्थ्य के लिए अच्छी तो कई बार नुकसानदायी भी हो सकती है। ओवरडोज व खुराक लेने के समय में परिवर्तन करने से हेल्थ पर बुरा असर पड़ सकता है। निम्न हेल्थ कंडिशन में इस दवा का इस्तेमाल न करें।

  • खून में अधिक कैल्शियम
  • गुर्दे की पथरी
  • किडनी रोग

इन स्थिति में एप्कोड का सेवन करने से हेल्थ पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। इसके अलावा एप्कोड को एक सुरक्षित दवा माना जाता है जिसे परेशानी होने पर लिया जा सकता है।

और पढ़ें – Ganaton Total: गेनटॉन टोटल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

स्टोरेज

मैं एप्कोड सैशे (Apcod Sachet) को कैसे स्टोर करूं?

एप्कोड सैशे को कमरे के सामान्य तापमान (25 डिग्री) पर स्टोर करें। इसके साथ ही ध्यान रहे कि इस पर सूर्य की सीधे किरणें और अन्य प्रकार की हीट न पड़े। एप्कोड को बच्चों और पालतू जानवरों के संपर्क में न आने दें।

दवा के एक्सपायर व खराब हो जाने पर इसे बाथरूम और नाली में न फेंके। इसकी अधिक जानकारी के लिए कैमिस्ट या डॉक्टर से संपर्क करें।

एप्कोड किस रूप में उपलब्ध है?

एप्कोड केवल सैशे के रूप में ही उपलब्ध है।

यहां दी गई जानकारी डॉक्टरी सलाह का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए डाॅक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Management of Women With PCOS Using Myo-Inositol and Folic Acid. New Clinical Data and Review of the Literature/https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/29498933/accessed on 17/06/2020

Myoinositol as a Safe and Alternative Approach in the Treatment of Infertile PCOS Women: A German Observational Study/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5011528/accessed on 17/06/2020

Pretreatment with myo-inositol in non polycystic ovary syndrome patients undergoing multiple follicular stimulation for IVF: a pilot study/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3416732/accessed on 17/06/2020

Effects of Inositol(s) in Women with PCOS: A Systematic Review of Randomized Controlled Trials/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5097808/accessed on 17/06/2020

लेखक की तस्वीर badge
Shivam Rohatgi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 18/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड