backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना
Table of Content

Mala D: माला डी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


Shivam Rohatgi द्वारा लिखित · अपडेटेड 21/06/2020

Mala D: माला डी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन

माला डी (Mala D) कैसे काम करती है?

माला डी एक गर्भनिरोधक दवा है जिसे प्रेग्नेंसी को रोकने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसकी मदद से महिलाओं में अनियमित मासिक धर्म का इलाज भी होता है।

यह दवा अंडे के उत्पादन को रोकती है जिससे स्पर्म (शुक्राणु) उसे फर्टिलाइज नहीं कर पाते। इसके अलावा माला डी टैबलेट गर्भाशय में शुक्राणु और अंडे को एक होने से रोकती है जिससे प्रेग्नेंसी की स्थिति टल जाती है। यह दवा गर्भाशय में कुछ इस प्रकार के बदलाव करती है जिससे वह गर्भधारण करने के लिए अनुपयुक्त हो जाता है।

माला डी का सेवन केवल डॉक्टर द्वारा बताए जाने पर ही करना चाहिए अन्यथा इसके कई दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं। यदि आप निम्न स्थिति से ग्रस्त हैं तो इस दवा का इस्तेमाल न करें।

  • धूम्रपान की लत
  • शराब की लत
  • लिवर रोग
  • एडिमा
  • यह दवा आपके शरीर पर किस प्रकार प्रभाव डालेगी इस बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

    और पढ़ें – Onabet: ओनाबेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    डोसेज

    माला डी (Mala D) का सामान्य डोज क्या है?

    माला डी की खुराक डॉक्टर द्वारा निर्धारित की जाती है और उसके अनुसार ही इसका सेवन करना चाहिए। दवा की खुराक मरीज की उम्र, अन्य स्वास्थ्य स्थिति और रोग पर निर्भर करती है।

    वयस्कों के लिए इस दवा की सामान्य खुराक 0.15 एमजी होती है। इसके अलावा इस दवा को बच्चों व बुर्जुगों को नहीं खाना चाहिए। अधिक व कम उम्र में इसके दुष्प्रभाव की आशंका बढ़ जाती है।

    दवा का सेवन करने से पहले डॉक्टर से परामर्श करें। इसके साथ ही अगर आप चाहें तो इसकी खुराक की जानकारी लेबल  पर भी पढ़ सकते हैं। आमतौर पर एक बार में एक गोली का सेवन करने की सलाह दी जाती है।

    ओवरडोज या आपात स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

    डॉक्टर द्वारा बताई गई डोज से ज्यादा दवा का सेवन करने पर ओवरडोज की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। अगर निम्न लक्षण दिखाई दें तो तुरंत डॉक्टर या निकटतम आपातकालीन कक्ष से संपर्क करें –

    • मतली या उल्टी
    • सिर दर्द
    • सीने में दर्द (ब्रेस्ट पेन)

    ध्यान रहे कि ज्यादातर मामलों में यह लक्षण अपने आप ही चले जाते हैं। हालांकि, काफी देर तक असुविधाजनक महसूस होने पर भी स्थिति बेहतर नहीं होती है तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

    ओवरडोज के कारण होने वाले सभी दुष्प्रभावों व लक्षणों के बारे में इस सूची में नहीं बताया जा सकता है। इसलिए किसी भी प्रकार की असुविधा महसूस होने पर तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।

    माला डी (Mala D) का डोज मिस हो जाए तो क्या करूं?

    माला डी को डॉक्टर द्वारा बताए गए समय पर ही लेना चाहिए। हालांकि, डोज मिस होने पर भूली हुई खुराक की याद आते ही उसका सेवन करें, लेकिन यदि आपकी अगली खुराक लेने का समय हो चुका है तो भूली हुई खुराक को छोड़कर, डॉक्टर द्वारा निर्धारित किए गए समय पर अगली खुराक का सेवन करें। कभी भी एक साथ दो खुराक न लें।

    और पढ़ें – Caripill: कैरिपिल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    [mc4wp_form id=’183492″]

    उपयोग

    माला डी टैबलेट (Mala D Tablet) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

    माला डी टैबलेट एक सुरक्षित दवा है। हालांकि, इसके गलत इस्तेमाल के कारण कई खतरनाक साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। इसलिए इसका इस्तेमाल करने से पहले किसी विशेषज्ञ जैसे कैमिस्ट या डॉक्टर से सलाह लेना बेहद जरूरी होता है।

    ध्यान रहे की दवा को चबाना, तोड़ना या दांतों में पीसना नहीं चाहिए। इसे सीधा निगलने की कोशिश करें। आप चाहें तो पानी का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। इस दवा को खाना खाने से पहले व बाद में भी लिया जा सकता है। बेहतर रहेगा कि रोजाना के लिए खुराक लेने का एक नियमित समय तय कर लें।

    इसका प्रभाव प्रत्येक व्यक्ति पर अलग होता है जिसके कारण इसकी खुराक और इस्तेमाल करने की विधि भी विभिन्न हो सकती हैं। माला डी के इस्तेमाल करने का तरीका डॉक्टर द्वारा बताए जाने पर निर्भर करता है।

    और पढ़ें – Polybion : पोलीबियोन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    बिना किसी डॉक्टरी सलाह के लंबे समय तक माला डी टैबलेट का इस्तेमाल न करें। अगर दवा के इस्तेमाल से स्थिति ठीक नहीं होती है या अधिक गंभीर होने लगती है तो तुरंत डॉक्टर या आपातकालीन कक्ष व अस्पताल से संपर्क करें।

    साइड इफेक्ट्स

    माला डी (Mala D) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

    माला डी के सेवन पर ज्यादातर मामलों सामान्य दुष्प्रभाव ही दिखाई देते हैं जो कुछ देर बाद अपने आप ठीक हो जाते हैं। हालांकि, ओवरडोज के कारण साइड इफेक्ट्स थोड़े गंभीर हो सकते हैं। निम्न प्रकार की असुविधा महसूस होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

    • सिर दर्द
    • मतली या उल्टी
    • पेट दर्द
    • कमर दर्द
    • स्तन कोमलता
    • चक्कर आना
    • कमजोरी महसूस होना
    • पीरियड्स में अधिक खून आना
    • सीने में दर्द (ब्रेस्ट पेन)

    यह एक ऐसी दवा है जिसे डॉक्टरी सलाह के बिना नहीं लेना चाहिए। ऐसा करने पर दुष्प्रभावों का अनुमान लगाना बेहद मुश्किल हो जाता है। क्योंकि यह दवा हर व्यक्ति को अलग तरह से प्रभावित कर सकती है। इसलिए अधिक जानकारी के लिए पहले डॉक्टर से परामर्श करें।

    और पढ़ें – Calcirol: कैल्सिरोल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    सावधानियां और चेतावनी

    माला डी (Mala D) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

    अगर आपको माला डी में मौजूद किसी भी सक्रिय पदार्थ जैसे एथीनील ऐस्ट्राडिओल (Ethinyl Estradiol) या लिवोनोगेस्ट्रल (Levonorgestrel) से एलर्जी है तो इसका सेवन न करें और अपने डॉक्टर को इस बारे में जरूर बताएं।

    मार्केट में माला डी के कई अन्य विकल्प भी मौजूद हैं आप डॉक्टर से सलाह लेकर उनका चयन भी कर सकते हैं। किसी गंभीर रोग जैसे लिवर व किडनी की समस्या और पेट संबंधी विकार के बारे में अपने डॉक्टर को बताएं और उसके अनुसार ही दवा का इस्तेमाल करें।

    और पढ़ें – Perinorm: पेरिनोर्म क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान माला डी (Mala D) को लेना सुरक्षित है?

    मौजूदा अध्ययनों के मुताबिक गर्भावस्था या स्तनपान के दौरान इस दवा का सेवन करने से बच्चे और मां दोनों के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। प्रेग्नेंसी में बिना डॉक्टरी सलाह के इसे लेना हानिकारक हो सकता है।

    अमेरिकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) के मुताबिक, माला डी टेबलेट को प्रेग्नेंसी रिस्क कैटेगरी में ‘C’ में है।

    FDA प्रेग्नेंसी रिस्क कैटेगरी की लिस्ट नीचे दी गई है:

    • A= कोई खतरा नहीं
    • B= कुछ अध्ययनों में खतरा पाया गया
    • C= कुछ खतरे हो सकते हैं
    • D= खतरे के पॉजिटिव एविडेंस मौजूद हैं
    • X= Contraindicated, (कॉन्ट्रेनडिकेटेड)
    • N= पता नहीं

    रिएक्शन

    कौन-सी दवाइयां माला डी (Mala D) के साथ रिएक्शन कर सकती हैं?

    एक से अधिक दवाओं का सेवन करने से ड्रग रिएक्शन का जोखिम बढ़ जाता है। ऐसी कई दवाएं हैं जिन्हें माला डी के साथ नहीं लेना चाहिए। निम्न दवाओं के साथ इसका सेवन न करें, इससे ड्रग रिएक्शन हो सकता है।

    • हाइड्रोकोर्टीसोन (Hydrocortisone)
    • इकोविन (Ecovin)
    • प्रेडनिसोलोन (Prednisolone)
    • अल्विन (Ulvin)
    • फ्लूविन (Fluvin)
    • वार्फरिन (Warfrin)
    • लॉक्ससिप पीडी (Loxcip PD)

    अगर आप इनमें से किसी भी दवा का सेवन करती आ रही हैं तो इस बात की जानकारी अपने डॉक्टर को जरूर दें। ड्रग रिएक्शन की कई वजहें हो सकती हैं जिनमें अन्य सप्लिमेंट व दवाएं शामिल हैं। ऐसे में माला डी दवा का उपयोग बेहद सावधानी के साथ करें।

    और पढ़ें – Ganaton Total: गेनटॉन टोटल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    क्या माला डी (Mala D) भोजन या एल्कोहॉल के साथ रिएक्शन करती है?

    कई दवाओं को भोजन के साथ ही लेने की सलाह दी जाती है। इस टैबलेट को भी आप चाहें तो खाना खाने के बाद या पहले ले सकते हैं। भोजन के साथ इसके विपरीत दुष्प्रभाव नहीं होते हैं। हालांकि, विशेष प्रकार के आहार के बारे में जानने के लिए अपने डॉक्टर से सलाह लें।

    माला डी का सेवन करते समय शराब पीने पर आपको हल्के दुष्प्रभाव महसूस हो सकते हैं। इसलिए शराब पीते समय अधिक सावधानी बरतें। इसके अलावा किसी भी प्रकार का दुष्प्रभाव महसूस होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

    और पढ़ें – Asthakind: अस्थाकाइंड क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    माला डी (Mala D) हेल्थ कंडिशन पर क्या असर डालती है?

    इस दवा के आपके स्वास्थ्य पर अच्छे और बुरे दोनों प्रभाव पड़ सकते हैं। आमतौर पर केवल अधिक खुराक का सेवन करने पर दुष्प्रभाव का जोखिम बढ़ता है।

    माला डी की ओवरडोज आपकी हेल्थ कंडिशन को कई तरह से प्रभावित कर सकती है जैसे कि अगर आपको एडिमा, लिवर रोग या अवसाद है तो इस दवा का इस्तेमाल करने से कुछ रिएक्शन होने का खतरा रहता है। इसके अलावा सावधानी न बरतने पर इसका असर हेल्थ पर कुछ दुष्प्रभाव के रूप में भी पड़ सकते है जो निम्न हैं।

    • अतिसंवेदनशीलता
    • मासिक धर्म के दौरान अत्यधिक खून आना
    • एलर्जी
    • एडिमा
    • मुहांसे
    • आंखों की बीमार

    इस सभी के अलावा अगर आपकी उम्र 35 वर्ष से अधिक है तो माला डी का सेवन करते समय अधिक सावधानी बरतें और डॉक्टर से विशेष सलाह लें।

    उपर दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। किसी भी प्रकार के रिएक्शन से बचने के लिए दवा का उपयोग लेबल पर दिए गए निर्देशों व डॉक्टर द्वारा बताई गई विधि के अनुसार ही करें।

    और पढ़ें – Caripill: कैरिपिल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    स्टोरेज

    मैं माला डी (Mala D) को कैसे स्टोर करूं?

    माला डी को कमरे के तापमान पर नमी से दूर रखें। टैबलेट को स्टोर करने की अधिक जानकारी आपको लेबल पर लिखी मिल जाएगी। इस दवा को बच्चों और पालतू जानवर से दूर रखें। डिस्पोज करने के लिए टैबलेट को नाली या बाथरूम में न फेंके। इससे पर्यावरण को हानि पहुंच सकती है। दवा को सही तरीके से नष्ट करने के लिए कैमिस्ट या डॉक्टर से परामर्श करें।

    माला डी (Mala D) किस रूप में उपलब्ध है?

    माला डी मार्केट में केवल टैबलेट के रूप में ही उपलब्ध है।

    यहां दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। इसलिए किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    Shivam Rohatgi द्वारा लिखित · अपडेटेड 21/06/2020

    ad iconadvertisement

    Was this article helpful?

    ad iconadvertisement
    ad iconadvertisement