Hepatitis A Virus Test: हेपेटाइटिस-ए वायरस टेस्ट क्या है?

By Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar

जानें मूल बातें

हेपेटाइटिस-ए वायरस टेस्ट (Hepatitis A Virus) क्या है?

हेपेटाइटिस-ए वायरस टेस्ट एक ब्लड टेस्ट है जो शरीर में प्रोटीन (एंटीबॉडी) की मौजूदूगी की जांच करता है, यह प्रोटीन शरीर में वायरस होने के प्रतिक्रिया स्वरूप बनता है। यदि आपको हेपेटाइटिस है या पहले कभी यह संक्रमण हुआ हो, तो यह आपके रक्त में यह प्रोटीन मौजूद रहेगा। संक्रमण को फैलने से रोकने और इसके उचित उचार के लिए संक्रमण लिए जिम्मेदार हेपेटाइटिस वायरस के प्रकार की पहचान जरूरी है।

  • IgM एंटी-HAV एंटीबॉडी का मतलब है हेपेटाइटिस-ए वायरस से हाल ही में संक्रमण। IgM एंटी-एचएवी एंटीबॉडी आमतौर पर प्रारंभिक एचएवी संक्रमण के 2 सप्ताह बाद रक्त में पाया जा सकता है। ये एंटीबॉडी संक्रमण के 3 से 12 महीने बाद रक्त से गायब हो जाते हैं।
  • IgG एंटी -HAV एंटीबॉडी का मतलब बै कि आपको हेपेटाइटिस-ए वायरस संक्रमण हैं। प्रारंभिक हेपेटाइटिस ए वायरस संक्रमण के 8 से 12 ह्ते के बाद IgG एंटी -HAV रक्त में दिखाई देते हैं और हेपेटाइटिस ए वायरस से सुरक्षा के लिए जीवनभर रक्त में बने रहते हैं।

हेपेटाइटिस-ए वायरस के संक्रमण से बचने के लिए हेपेटाइटिस ए टीकाकरण भी उपलब्ध है। यदि आपने टीका लगवाया है और आपके शरीर में एंटी-एचएवी एंटीबॉडी हैं, तो इसका मतलब है कि टीकाकरण प्रभावी था।

हेपेटाइटिस-ए वायरस टेस्ट क्यों किया जाता है?

यदि आपकें हेपेटाइटिस के लक्षण दिखते हैं तो डॉक्टर टेस्ट के लिए कह सकता है। यह इस्तेमाल किया जाता हैः

  • अभी या पहले हुए संक्रमण का पता लगाने के लिए
  • निर्धारित करने के लिए कि हेपेटाइटिस से पीड़ित व्यक्ति कितना संक्रामक है
  • हेपेटाइटिस का इलाज करा रहे व्यक्ति की निगरानी

अन्य परिस्थितियां जिसमें टेस्ट किया जा सकता है:

  • बार-बार हेपेटाइटिस से संक्रमण
  • डेल्टा एजेंट (हेपेटाइटिस D)
  • नेफ्रोटिक सिंड्रोम

यह भी पढ़ें : हेपेटाइटिस बी क्या है?

पहले जानने योग्य बातें

हेपेटाइटिस-ए वायरस टेस्ट से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

हेपेटाइटिस-ए को टीकाकरण से रोका जा सकता है। यदि आपने हेपेटाइटिस-ए टीकाकरण या इम्युनोग्लोब्युलिन की डोज ली है, तो वायरस के संपर्क में आने के बाद भी हेपेटाइटिस ए संक्रमण से बचा जा सकता है।

हेपेटाइटिस एंटीबॉडी को विकसित होने में एक हफ्ते से महीने लग सकते हैं, इसलिए आपकी परीक्षण रिपोर्ट नेगेटिव आ सकती है, यदि आपको अर्ली स्टेज का इंफेक्शन है, तो भी।

लिवर कितनी अच्छी तरह काम कर रहा है यह जांचने के लिए अन्य टेस्ट किए जा सकते हैं, यदि आपके डॉक्टर को लगता है कि आपको हेपेटाइटिस हो सकता है। इन परीक्षणों में बिलीरुबिन, एल्कलाइन फॉस्फेटस, एलेनिन एमिनोट्रांस्फरेज और एमिनोट्रांस्फरेज के स्तर को मापा जाता है।

हेपेटाइटिस-ए वायरस से लंबी बीमारी नहीं होती, इसलिए एक बार संक्रमण ठीक हो जाने पर फॉलो अप टेस्ट की जरूरत नहीं होती।

जानिए क्या होता है

हेपेटाइटिस-ए वायरस टेस्ट के लिए कैसे तैयारी करें?

किसी खास तैयारी की जरूरत नहीं होती। टेस्ट के जरूरत, इसके खतरे, यह कैसा किया जाता है और इसके परिणामों के बारे में किसी तरह की शंका होने पर डॉक्टर से परामर्श करें।

हेपेटाइटिस-ए वायरस टेस्ट के दौरान क्या होता है?

आपका ब्लड सैंपल लेने वाला हेल्थ प्रोफेशनलः

  • ऊपरी बांह में ब्लड फ्लो रोकने के लिए एक एलास्टिक बैंड बांधता है। इससे नसें साफ दिखती हैं और सुई चुभाने में आसानी होती है।।
  • सुई लगाने वाली जगह को दवा से साफ करता है।
  • नस में सुई चुभाई जाती है। एक से ज़्यादा निडल स्टिक की जरूरत पड़ सकती है।
  • ब्लड सैंपल लेने के लिए सुई के साथ एक ट्यूब अटैच करता है।
  • ब्लड सैंपल लेने के बाद एलास्टिक बांड निकाल देता है।
  • सुई निकालने के बाद उस जगह पर रूई या छोटी पट्टी लगाता है।
  • सुई लगाने वाली जगह पर थोड़ा दबाव देने के बाद बैंडेज लगाया जाता है।

हेपेटाइटिस-ए वायरस टेस्ट के बाद क्या होता ?

सिरिंज लगाने के दौरान आपको कुछ महसूस नहीं होता या इससे चींटी के काटने जैसा महसूस होता है। प्रक्रिया के तुरंत बाद आप घर जा सकते हैं और अपनी दिनचर्या शुरू कर सकते हैं। परिणाम के बारे में बात करने के लिए डॉक्टर आपको निश्चित तारीख देगा या फोन करेगा। आमतौर पर 5 से 7 दिन के अंदर परिणाम आते हैं।

यह भी पढ़ें : Hematocrit test: जानें क्या है हेमाटोक्रिट टेस्ट?

परिणामों को समझें

मेरे परिणामों का क्या मतलब है?

निगेटिव परिणाम का मतलब है कि हेपेटाइटिस वायरस के खिलाफ कोई एंटीबॉडी नहीं पाया गया है। पॉजिटिव परिणाम का मतलब है कि हेपेटाइटिस ए एंटीबॉडी पाया गया है।

   हेपेटाइटिस ए टेस्ट निगेटिव: कोई हेपेटाइटिस ए वायरस एंटीबॉडी नहीं पाया गया। पॉजिटिव: हेपेटाइटिस ए वायरस एंटीबॉडी पाया गया। यदि आपको संक्रमण है या पहले हो चुका है तो इसका इसका पता लगाने के लिए दूसरे टेस्ट की जरूरत पड़ सकती है।

  • IgM एंटी-HAV एंटीबॉडी पाया जाता है यदि आपको अभी या हाल ही में संक्रमण हुआ है। जब हेपेटाइटिस ए के लक्षण मौजूद होते हैं तो IgM एंटीबॉडी आमतौर पर रक्त में वायरस से संक्रमित होने के 2 हफ्ते के बाद दिखता है, और हेपेटाइटिस के लक्षण खत्म होने के कुछ महीनों बाद तक रक्त में रहते हैं।
  • सिर्फ IgG एंटी-HAV एंटीबॉडी पाया जाता है यदि आपको पहले संक्रमण हुआ हो या जब आपने हेपेटाइटिस ए का टीका लगवाया हो। इसका मतलब है कि आप संक्रमण से सुरक्षित हैं।

सभी लैब और अस्पताल के आधार पर हेपेटाइटिस ए वायरस टेस्ट की सामान्य सीमा अलग-अलग हो सकती है। परीक्षण परिणाम से जुड़े किसी भी सवाल के लिए कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

हेपेटाइटिस ए वायरस टेस्ट के बारे में किसी तरह का प्रश्न होने पर और उसे बेहतर तरीके से समझने के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी तरह की चिकित्सा सलाह, निदान और उपचार प्रदान नहीं करता है।

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख सितम्बर 24, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया सितम्बर 24, 2019

सूत्र
शायद आपको यह भी अच्छा लगे