home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

दिल के मरीजों की सेक्स लाइफ में रंग भर सकता है आयुर्वेद

दिल के मरीजों की सेक्स लाइफ में रंग भर सकता है आयुर्वेद

कहते हैं कि प्यार दिल से होता है, जबकि दिल तो शरीर का सिर्फ एक ऑर्गन है! लेकिन फिर भी जब आपको किसी से प्यार होता है तो दिल की धड़कनें तेज हो जाती हैं। बस यही वजह है कि प्यार को दिल से जोड़कर देखा जाता है। लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि हृदय रोग और सेक्स लाइफ के बीच भी गहरा संबंध होता है? जी हां, चौंकने की जरूरत नहीं है क्योंकि कई अध्ययनों ने भी इस बात पर अपनी सहमति दे दी है कि आपके दिल और सेक्स लाइफ के बीच गहरा कनेक्शन है! लेकिन अगर आप दिल के मरीज हैं, तो जनाब आपको तो अपनी सेक्स लाइफ को एंजॉय करने के लिए फूंक-फूंक कर कदम रखने चाहिए।

अगर आपको कोई दिल की बीमारी है, तो हो सकता है कि आपको दूसरों की तुलना में अपने पार्टनर को खुश करने के लिए थोड़ी ज्यादा मेहनत करनी पड़े। घबराइए नहीं, क्योंकि जहां तकलीफ है, वहां उसका इलाज भी है! माना कि दिल के मरीजों को अपनी सेक्स लाइफ में बेहतर परफॉर्म करने में दिक्कत आती है, लेकिन ऐसा नहीं है कि आपको अपने दिल के अरमान दबाए ही रखने पड़ेगें।

अगर आप हृदय रोग और सेक्स के बीच के कनेक्शन को जानकर डर गए हैं, तो हमारे पास इसका इलाज है! भारतीय चिकित्सा की शान आयुर्वेद भी हृदय रोग और सेक्स लाइफ को सुधारने में आपका साथी बन सकता है। तो चलिए जानते हैं कि हृदय रोग और सेक्स को किस तरह आयुर्वेद की मदद से रिवर्स किया जा सकता है और किस तरह इनकी जिंदगी में प्यार के फूल खिल सकते हैं। हालांकि, इस बात का ध्यान रखें की आयुर्वेदिक इलाज के सही परिणाम पाने के लिए किसी एक्सपर्ट की सलाह लेना बेहद जरूरी होता है नहीं तो इसके उलटे प्रभाव भी सामने आ सकते हैं। कोरोना के इस समय में डॉक्टर के पास जाने से बेहतर है, आयुर्वेदिक एक्सपर्ट से ऑनलाइन कंसल्टेशन (e-consultation) के जरिए हार्ट से जुड़ी तकलीफों का इलाज पाना और हार्ट प्रॉब्लम को रिवर्स करने के तरीकों के बारे में जानना।

और पढ़ें : सिंथेटिक दवाओं से छुड़ाना हो पीछा, तो थामें आयुर्वेद का दामन

जब हार्ट के मरीज बिस्तर पर पड़ जाएं सुस्त, तो इन बातों पर गौर जरूर करना!

अब अगर आप ये सोच रहे हैं कि हार्ट का मरीज बनने के बाद आप बिस्तर पर अच्छा परफॉर्म नहीं कर सकते या अपने पार्टनर को खुश नहीं कर सकते, तो आप गलत सोच रहे हैं। हृदय रोग और सेक्स के बीच के कनेक्शन के कारण होने वाली आपकी इस मुश्किल को दूर करने का तरीका हमारे पास है। यहां हम आपको कुछ बातों के बारे में बता रहे हैं, जिनका ध्यान रखकर आप सेक्स को एंजॉय भी कर सकते हैं और अपने दिल को हेल्दी भी रख सकते हैं। तो आपके लिए हो गया ना सोने पर सुहागा।

अगर आप एक बार हार्ट फेलियर या हार्ट अटैक का दर्द झेल चुके हैं और इसके साये से अपनी सेक्स लाइफ को दूर रखना चाहते हैं, तो रोज एक्सरसाइज करें। इसकी मदद से आप हृदय रोग और सेक्स लाइफ में आने वाली मुश्किलों के दरवाजे बंद कर सकते हैं।

कई बार हार्ट डिजीज जैसे कि कोरोनरी आर्टरी डिजीज और टैकीकार्डिया के बाद एंग्जायटी, डिप्रेशन की वजह से भी बेड पर आपकी परफॉरमेंस में कमी आने लगती है। ऐसे में पार्टनर को खुश करने के लिए एक बार अपने डॉक्टर से बात जरूर कर लें, ताकि आप समझ पाएं कि आपको दिक्कत क्यों आ रही है और इससे छुटकारा पाने के लिए आप क्या कुछ कर सकते हैं।

दिल की बीमारी को समझना आसान नहीं होता है, जिसके कारण मरीज कई बार स्थिति को खुद भी बिगाड़ सकता है। ऐसे में एक्सपर्ट की राय लेना सबसे बेहतर माना जाता है। ऑनलाइन कंसल्टेशन (e-consultation) की मदद से एक्सपर्ट न केवल आपको बीमारी के बारे में अच्छे से समझायेंगे, बल्कि सही आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट देकर हार्ट प्रॉब्लम को रिवर्स करने में मदद भी करेंगे।

और पढ़ें : सिंथेटिक दवाओं से छुड़ाना हो पीछा, तो थामें आयुर्वेद का दामन

दिल की रफ्तार धीमी है, फिर भी सेक्स रखता है हार्ट को हेल्दी! लॉजिक क्या है जानते हैं?

क्या आप जानते हैं सेक्स आपके दिल को नुकसान नहीं, बल्कि इसे चुस्त-दुरुस्त और तंदुरुस्त रखता है! जॉन हॉपकिंस सिकरोन सेंटर फॉर द प्रिवेंशन ऑफ हार्ट डिजीज के क्लीनिकल रिसर्च के डायरेक्टर माइकल ब्लाहा के अनुसार सेक्स आपके दिल की सेहत के लिए अच्छा है। अब जो हम आपको बताने जा रहे हैं, उसे जानने के बाद आप भी दिल से बोझ को उतारकर सेक्स का मजा ले पाएंगे।

दरअसल, सेक्स एक तरह की एक्सरसाइज है, जो आपके दिल को स्ट्रॉन्ग बनाती है और ब्लड प्रेशर और आपकी जिंदगी के दुश्मन स्ट्रेस को कम करती है। इसके साथ ही सेक्स के बाद चैन की नींद भी आती है। अगर आप हृदय से संबंधी किसी बीमारी की वजह से सेक्स लाइफ को एंजॉय नहीं कर पा रहे हैं, तो ऐरोबिक एक्सरसाइज करें। जैसे कि पैदल चलना, स्विमिंग या बाइकिंग आदि। हफ्ते में कम से कम एक बार ये एक्सरसाइज जरूर करें। तो हो गए ना हार्ट के मरीजों के लिए सेक्स के एक नहीं, कई फायदे!

और पढ़ें – हृदय रोग के लिए डायट प्लान क्या है, जानें किन नियमों का करना चाहिए पालन?

सेक्स लाइफ पर न पड़े ग्रहण, तो दिल के मरीज ऐसे करें इंतजाम

आपको भी अगर दिल की तकलीफ है, तो हो सकता है कि आप सोचते हों कि आप पहले की तरह बेखौफ होकर सेक्स का मजा नहीं ले सकते! जबकि ऐसा कुछ नहीं है। दिल की बीमारी के बावजूद आप बड़ी बेफिक्री से बेड पर अच्छा परफॉरमेंस दे सकते हैं। इसके बाद भी अगर आप नहीं चाहते हैं कि दिल का कमजोर होना सेक्स पर भारी पड़ जाए, तो जरा अपनी डायट को सुधारने पर ध्यान दीजिए। अपने खाने मे हार्ट को मजबूत करने वाली चीजें लेना समझदारी भरा फैसला होगा। बेहतर सेक्स लाइफ के लिए आपको खाने में जैतून का तेल, अखरोट, बादाम, टोफू, शकरकंद, संतरा, गेहूं, ओट्स और अलसी के बीज आदि का इस्तेमाल करना चाहिए। जिसके साथ दिल के मरीज भी लंबी रेस का घोड़ा साबित हो सकते हैं।

हार्ट के ऑपरेशन के बाद कब जलाएं प्यार का चिराग?

अब प्यार के चिराग तो तभी जलेंगे, जब आप खुद को स्ट्रॉन्ग महसूस करेंगे! लेकिन यहां आपको जल्दबाजी दिखाने से बचना होगा। अगर हाल ही में आपकी हार्ट की कोई सर्जरी हुई है या आपने कोई ट्रीटमेंट लिया है, तो पहले अपने डॉक्टर से बात कर लें और इसके बाद ही सेक्स लाइफ को शुरू करने का ख्याल मन में लाएं।

अगर आप तुरंत अपनी सेक्स लाइफ में दोबारा दाखिल होना चाहते हैं, तो यहां आपके सपनों को परवान चढ़ने के लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है। यदि सेक्स करने पर सीने में दर्द उठ रहा है, तो वहीं थम जाएं और आगे ना बढ़ें। सर्जरी के बाद घाव भरने तक का इंतजार तो आपको करना ही होगा।

हो सकता है ये बात आपको दुखी कर जाए, लेकिन आपके इस मूड को ठीक करने का भी इलाज है हमारे पास! इलाज क्या है जानते हैं? आयुर्वेद! कैसे? आइये अभी बताते हैं..

और पढ़ें – हार्ट अटैक के बाद डायट का रखें खास ख्याल! जानें क्या खाएं और क्या न खाएं

जब सेक्स में बनानी हो बात, तो आयुर्वेद देगा आपका साथ!

जब बात आयुर्वेद की निकली है, तो आपको बता दें कि दिल की हर परेशानी को समझकर उसे दूर करने की शक्ति रखता है आयुर्वेद। जी हां! अगर आप अपने दिल को मजबूत करने के लिए 100 साल पुराने आयुर्वेद की मदद लेना चाहते हैं, तो इससे आपकी सेक्स लाइफ को भी काफी फायदा हो सकता है। आयुर्वेद में कुछ ऐसी जड़ी-बूटियां हैं, जो आपके दिल को दुरुस्त रखने के साथ सेक्स लाइफ में भी रंग भरने का काम करती हैं। क्या आप जानना नहीं चाहेंगे उनके बारे में? चलिए आपको बताते हैं इससे जुड़ी कुछ खास बातें!

दालचीनी : किचन में मिलनेवाली ये जड़ी बूटी कामोत्तेजना को बढ़ाने का काम तो करती ही है, साथ ही इसकी चाय की चुस्की से दिल भी हेल्दी रहता है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि ये धमनियों की ब्लॉकेज को साफ करती है।

अश्वगंधा : यह कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स के लेवल को कम कर के हार्ट को हेल्दी रखता है। इसके साथ ही अश्वगंधा सेक्स ड्राइव को भी बढ़ता है और ब्लड सर्क्युलेशन को बढ़ता है। इस तरह आप अश्वगंधा की मदद से हार्ट को तो हेल्दी रख ही सकते हैं, साथ ही अपनी परफॉरमेंस से अपने पार्टनर को भी खुश रख सकते हैं। तो हो गई ना आपके लिए एक तीर से दो निशाने वाली बात।

और पढ़ें – सिंथेटिक दवाओं से छुड़ाना हो पीछा, तो थामें आयुर्वेद का दामन

शिलाजीत : कहते हैं शिलाजीत खाने से आप सेक्स के चरम सुख तक पहुंच पाते हैं और अपने पार्टनर की उम्मीदों पर भी खरे उतरते हैं। इतना ही नहीं शिलाजीत आपके दिल को भी हेल्दी रखती है। शिलाजीत में कई तरह के मिनरल्स होते हैं, जो हार्ट को नुकसान नहीं पहुंचने देते।

इस तरह सेक्स के लिए पॉवर देने वाली ये जड़ी बूटियां आपके हार्ट को भी चुस्त रखने का काम कर सकती हैं। अब तो आपको मानना ही पड़ेगा कि आयुर्वेद ना सिर्फ बीमारियों को दूर रखने के काबिल है, बल्कि इसकी मदद से आप अपनी सेक्स लाइफ में भी रंग भर सकते हैं।

तो अब आप समझे, कैसे आयुर्वेद आपके दिल की सेहत का ख्याल रखता है। इस पूरी प्रक्रिया को और भी बेहतर तरीके से समझने के लिए आपको आयुर्वेद से जुड़े डॉक्टर से ऑनलाइन कंसल्टेशन (e-consultation) करना चाहिए, जो आपको आपके दिल का ख्याल रखेंगे और आपके हृदय रोग को रिवर्स करने में मदद भी करेंगे

जिंदगी खुल कर जीनी है, सिर्फ गुजारनी थोड़ी न है!

जो लोग जिंदगी जीने के सही तरीके को समझ जाते हैं, वो कभी किसी बीमारी या कमी के आगे घुटने नहीं टेकते फिर चाहे वह हृदय रोग या सेक्स लाइफ से ही क्यों न जुड़ा हो। अगर आपको एक बार हार्ट डिजीज हो भी गई, तो क्या हुआ.. इसका मतलब ये तो नहीं है कि आप अपनी सेक्स लाइफ को दरवाजे में बंद कर के चाबी कहीं छिपा देंगे। हार्ट के मरीज अपनी जिंदगी में कुछ जरूरी बदलाव कर के सेक्स लाइफ को एंजॉय कर सकते हैं। इसके लिए आपको यहां बताई गए कुछ आयुर्वेदिक टिप्स फॉलो करने होंगी। ये टिप्स आपको बेड पर 10 आउट ऑफ 10 नंबर दिलाने में भी मदद कर सकती हैं।

और पढ़ें – रिसर्च: हाई फाइबर फूड हार्ट डिजीज और डायबिटीज को दूर कर सकता है

नाड़ी शोधन : यह एक ऐसी क्रिया है जो आपके दिल को ही नहीं बल्कि पूरे शरीर को हेल्दी रखती है और जब आप हेल्दी रहेंगे तो सेक्स लाइफ की रौनक तो अपने आप ही लौट आएगी।

बैलेंस्ड डायट : जैसा खाएंगे वैसा ही पाएंगे। बेहतर होगा कि आप अपने खाने में उन चीजों को जगह दें, जो दिल को हेल्दी रखने के साथ आपकी एनर्जी को बढ़ाकर बॉडी में स्ट्रेस को कम कर सकें। उदाहरण के तौर पर वेजीटेबल ऑयल! अब भला आप सोच रहे होंगे कि तेल से सेक्स लाइफ और दिल का क्या कनेक्शन। आपको बता दें कि जैतून का तेल दिल के लिए अच्छा होता है और इससे आपको सेक्स के लिए एनर्जी भी मिलती है।

डिटॉक्सिफिकेशन : आयुर्वेद में दिल को चुस्त और तंदुरुस्त रखने के लिए आपको अपने शरीर से अमा यानि टॉक्सिनस को बाहर निकालना होगा। खाने में फाइबर ज्यादा लेकर और रात को सोने से पहले एक गिलास गुनगुना पानी पीकर आप ऐसा कर सकते हैं। तो आज से ही ये उपाय तो अपना ही लीजिये!

एक्सरसाइज : अब इस बात पर तो आपको शक नहीं होगा ना कि एक्सरसाइज सेक्स और हार्ट के लिए फायदेमंद है। इससे बॉडी में ब्लड सर्क्युलेशन ठीक होता है और सेक्स के लिए एनर्जी मिलती है।

तो अब आप समझे कि कैसे आयुर्वेद हार्ट की बीमारी होने के बाद भी आपको सेक्स का मजा लेने के लिए तैयार कर सकता है। हालांकि, अपनी मर्जी से किसी भी आयुर्वेदिक दवा का इस्तेमाल करना आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है, लेकिन एक्सपर्ट की राय के साथ आप सेफली आयुर्वेदिक इलाज अपना सकते हैं। इसके लिए आप ऑनलाइन कंसल्टेशन (e-consultation) की मदद से न केवल आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट ले सकते हैं, बल्कि अपनी हार्ट प्रॉब्लम को रिवर्स भी कर सकते हैं।

अब आप हमारी बताई गई बातों पर गौर फरमा कर अपनी सेक्स लाइफ में प्यार के रंग भर सकते हैं और दिल के रोगी बनने के बाद भी पहले की तरह सेक्स का पूरा मजा ले सकते हैं!

किसी भी बीमारी से लड़ना आसान होता है अगर आपकी विल पवार स्ट्रॉन्ग हो। नीचे दिए इस वीडियो लिंक में मिलिए मिसेज पुष्पा तिवारी रहेजा से। मिसेज रहेजा ने कभी न ठीक होने वाली बीमारियों की लिस्ट में शामिल डायबिटीज को मात दी है।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Shivam Rohatgi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 16/05/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड