आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

50 के बाद सेक्स लाइफ को रोमांचक कैसे बनाएं?

    50 के बाद सेक्स लाइफ को रोमांचक कैसे बनाएं?

    कपल्स के बीच सेक्स की विशेष अहमियत होती है, लेकिन उम्र बढ़ने के साथ ही सेक्स में दिलचस्पी कम होने से लगती है, कई तरह की शंकाएं और झिझक बढ़ने लगती हैं, जिसके चलते सेक्स लाइफ नीरस हो जाती है। विशेषज्ञों की मानें तो कपल 50 के बाद भी सेक्स (Sex after 50) लाइफ का आनंद ले सकते हैं। बस इसके लिए उन्हें सही जानकारी के साथ ही संदेह और झिझक को खत्म करने की जरूरत है। कभी- कभी इसके के लिए काउसलिंग की जरूरत भी पड़ सकती है तो उसमें भी संकोच नहीं करना चाहिए।

    50 के बाद सेक्स (Sex after 50) क्यों है जरूरी?

    [mc4wp_form id=”183492″]

    और पढ़ें : क्या खुशहाल दांपत्य जीवन के लिए सेक्स जरूरी है?

    50 के बाद सेक्स (Sex after 50) के लिए सही जानकारी है जरूरी

    सेक्स को लेकर सिर्फ युवाओं को ही नहीं, बल्कि बुजुर्गावस्था की ओर अग्रसर हो रहे कपल को भी सही जानकारी की आवश्यकता होती है ताकि वे 50 के बाद सेक्स लाइफ को एंजॉय कर सकें। सही जानकारी होने पर ही वे अपनी इच्छाओं और सेक्स के प्रति झिझक, डर को दूर कर पाएंगे। कई पुरुषों को लगता है कि वे अच्छा परफॉर्म नहीं कर पाएंगे। इस डर से वे सेक्स से दूरी बनाने लगते हैं। इसी तरह महिलाएं इस उम्र में सेक्स के दौरान होने वाले दर्द से बचने के लिए सेक्स से दूर होने लगती हैं।

    50 के बाद सेक्स (Sex after 50) के लिए संवाद को न दें ब्रेक

    कपल्स के बीच संवाद का पुल कभी टूटना नहीं चाहिए। दोनों पार्टनर्स को अपनी इच्छाओं और भावनाओं के बारे में एक-दूसरे से खुलकर बात करनी चाहिए। इससे किसी तरह की समस्या होने पर दोनों मिलकर समाधान ढंढ़ सकते हैं। यदि एक पार्टनर सेक्शुअली एक्टिव है और दूसरे की इच्छा खत्म हो रही है, तो सेक्स थेरेपिस्ट से मिलकर समस्या से समाधान ढूंढ़ा जा सकता है।

    और पढ़ें : जानिए कहां होते हैं एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स और कैसे लगा सकते हैं ये सेक्स लाइफ में तड़का

    50 के बाद सेक्स (Sex after 50) लाइफ को एक्टिव बनाए रखने के लिए ध्यान रखें ये बातें

    कुछ लोगों को लगता है कि बढ़ती उम्र में सेक्स करना सही नहीं है, लेकिन ऐसा नहीं है। जानकारों की मानें तो आप 80-90 की उम्र तक सेक्स लाइफ को एक्टिव रख सकते हैं। बस आपको उम्र के अनुसार अपने शरीर और अपनी जरूरतों को समझना होगा। दरअसल, बढ़ती उम्र में कुछ बीमारी और दवाओं की वजह से सेक्स लाइफ प्रभावित होती है। ऐसे में हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाकर और डॉक्टर की सलाह लेकर आप सेक्शुअली एक्टिव रह सकते हैं। इसके अलावा भी कुछ बातें हैं जो 50 के बाद सेक्स (Sex after 50) के लिए जरूरी हैं। आइए अब जानते हैं उनके बारे में-

    डेली एक्सरसाइज है जरूरी

    एक्सरसाइज सिर्फ युवाओं के लिए ही नहीं, बल्कि बुजुर्गों के लिए भी बहुत जरूरी है। इससे मसल्स मजबूत होती हैं और सेक्शुअल एक्टिविटीज के दौरान पीठ, कमर आदि में दर्द की शिकायत नहीं होती। इतना ही नहीं, वर्कआउट से ब्रेन में ऐसे केमिकल रिलीज होते हैं, जो आपका मूड अच्छा बनाए रखने में मदद करते हैं।

    साथ ही एक्सरसाइज से आप फिट बने रहते हैं जिससे पर्सनैलिटी निखरती है और आप अच्छे दिखते हैं। जब लुक अच्छा होता है तो कॉन्फिडेंस भी बढ़ता है और यह कॉन्फिडेंस बेड पर आपको अच्छा परफॉर्म करने के लिए प्रोत्साहित करता है। जबकि वर्कआउट महिलाओं का इंटीमेट होते वक्त एक्साइटेड होने में मदद करता है। महिलाओं को कीगल एक्सरसाइज से भी बहुत मदद मिलती है। यह पेल्विक फ्लोर मसल्स को मजबूत बनाती है।

    और पढ़ें : क्या आपकी सेक्स ड्राइव है कम? ऐसे लगाएं पता

    कुछ नया ट्राई करें

    यदि आपको लगता है कि सिर्फ युवा और व्यस्क कपल ही सेक्स के दौरान नई-नई चीजें ट्राई कर सकते हैं, तो आप बिलकुल गलत है। 50 के बाद सेक्स लाइफ को रोमांचक बनाने के लिए आपको भी कुछ नया ट्राई करना चाहिए। इसमें पोजिशन से लेकर जगह बदलना सबकुछ शामिल है। चाहें तो एक-दूसरे का मसाज करें या शॉवर सेक्स एंजॉय करें।

    जरूरी नहीं इंटरकोर्स

    50 के बाद सेक्स (Sex after 50) का आनंद लेने के लिए इंटरकोर्स जरूरी नहीं है, फिजिकल इंटेमिसी के लिए प्यार भरा स्पर्श और चुंबन ही काफी होता है। आप चाहें तो सेक्स मसाज, ओरल सेक्स या सेक्स टॉय जैसे वाइब्रेटर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

    सहज होना है जरूरी

    यदि आपको अर्थराइटिस की समस्या है तो ऐसी पोजिशन ट्राई करें, जिससे पैरों पर प्रेशर न आए। आप चाहें तो तकिए की मदद ले सकते हैं। यदि पीठ दर्द की समस्या है तो मिशनरी पोजिशन की बजाय एक साइड करवट लेकर सेक्स का आनंद ले सकते हैं। साथ ही यह भी जरूरी नहीं कि आप रोमांटिक होने के लिए रात का इंतजार करें। दिन के समय जब भी आपका मूड हो या जब आप दोनों सहज महसूस करें अंतरंग पलों का आनंद ले सकते हैं। सेक्स करने से पहले आप वार्म बाथ ले सकते हैं।

    दवाओं के साइड इफेक्ट को समझें

    कुछ दवाओं की वजह से बढ़ती उम्र में सेक्स लाइफ में समस्याएं आ सकती हैं, इसमें शामिल हैः

    • एंटीडिप्रेसेंट
    • एंटी हिस्टामिन
    • ब्लड प्रेशर की दवाएं
    • कोलेस्ट्रॉल कम करने वाली दवाएं
    • अल्सर की दवाएं

    जब भी आपको ऐसा महसूस हो कि किसी दवा की वजह से आपका सेक्स का मूड नहीं बन पा रहा है या सेक्स की इच्छा में कमी आ रही है तो अपने डॉक्टर से सलाह लें।

    और पढ़ें : महिलाओं के लिए मास्टरबेशन पोजिशन, शायद आप नहीं जानती होंगीं इनके बारे में

    खुद से प्यार करें

    उम्र के साथ शरीर और एनर्जी में बदलाव आता है और आपको इस बदलाव को स्वीकार करते हुए खुद से प्यार करना होगा। सेल्फ लव का एक तरीका मास्टरबेशन भी हो सकता है। यदि आप सहज हैं तो इस तरीके से खुद से प्यार जता सकते हैं। इससे आपकी सेक्स की इच्छा भी बनी रहती है।

    50 के बाद सेक्स करने के फायदे :

    • सेक्स ऑक्सीटोसिन हॉर्मोन को बढ़ावा देता है जो पॉजिटिव सोच, बॉन्ड को मजबूत करने और ट्रस्ट बिल्ड करने में मददगार है। उम्र के इस पड़ाव पर भी इन भावनाओं की उतनी ही जरूरत होती है जितनी 20 या 30 की उम्र में थी।
    • 50 के बाद सेक्स करने से पुरुष भविष्य में होने वाले प्रोटेस्ट कैंसर से बच सकते हैं। इसी तरह महिलाएं भी क्रॉनिक सिस्टाइटिस, इंकॉन्टिनेंस आदि से बच सकती हैं।
    • कुछ समय बाद आप हर प्रकार की एक्सरसाइज नहीं कर सकते, लेकिन सेक्स इस उम्र में भी बेहतर एक्सरसाइज साबित होती है।
    • सेक्स इस उम्र में अक्सर होने वाल डिप्रेशन और उदासी से छुटकारा दिला सकता है।
    • इस उम्र में अक्सर नींद न आने की समस्या रहती है, लेकिन सेक्स के बाद अच्छी नींद आती है। ऐसा अक्सर मसल्स के रिलैक्स होने और मूड अच्छा होने के कारण होता है।
    • स्कॉटलैंड के रॉयल एडिनबर्ग हॉस्पिटल की रिसर्च के अनुसार वीक में तीन बार सेक्स करने से कपल्स अपनी उम्र से 10 तक छोटे दिखाई देते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि सेक्स करने वाले कपल्स अपनी अपीरियंस का विशेष ध्यान रखते हैं और इसके लिए वे एक्सरसाइज करते हैं और डायट के प्रति सतर्क रहते हैं।
    • सेक्स, किसी भी व्यायाम की तरह, ब्लड को पंप करने के लिए और ब्लड सर्क्युलेशन के लिए अच्छा है, लेकिन 50 के बाद सेक्स के फायदों में से एक यह है कि यह पुरुषों के लिए लंबी उम्र से जुड़ा हुआ है। एक अध्ययन में यह भी पाया गया है कि अक्सर सेक्स करने से दिल के दौरे और अन्य कोरोनरी डिजीजको रोकने में मदद मिल सकती है।
    • क्योंकि यह (सेक्स) ऑक्सीटोसिन जारी करता है, जो एंडोर्फिन को बढ़ाता है, 50 के बाद सेक्स के फायदों में से एक यह भी है कि यह दर्द को कम करने में मदद करता है। एंडोर्फिन हमें शारीरिक और भावनात्मक दोनों रूप से बेहतर महसूस कराता है। जर्मनी में यूनिवर्सिटी ऑफ मुंस्टर के विशेषज्ञों ने पाया कि सेक्शुअल एक्टिविटीज सिर दर्द और माइग्रेन से पूरी तरह से राहत दे सकती हैं। जबकि अन्य ने बताया है कि सेक्स गठिया से जुड़े दर्द को कम करने में मदद कर सकता है।

    और पढ़ें : सेक्स के फायदे हैं लाजवाब, तो एक बार ध्यान दें जनाब

    पचास के बाद सेक्स को लेकर अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

    सेक्स में मेरा इंटरेस्ट नहीं क्या ये सामान्य है?

    सेक्स में इंटरेस्ट नहीं होना या कम होना बढ़ती उम्र में सामान्य है, लेकिन ये कमी हमेशा नहीं रहती। महिलाओं में मेनोपॉज के बाद अक्सर ये समस्या देखने को मिलती है। उम्र बढ़ने के साथ सेक्स करते रहना ही इस समस्या का समाधान है ना कि सेल्फ स्टिमुलेशन में समय व्यतीत करना। एक बाद याद रखें कि अगर आप सेक्स करते रहेंगे तो सेक्स करने की इच्छा भी बनी रहेगी। इस बारे में आप डॉक्टर से भी सलाह ले सकते हैं।

    क्या एक लंबे ब्रेक के बाद सेक्शुअल लाइफ की शुरुआत करना सुरक्षित है?

    आप लंबे समय के ब्रेक बाद भी यौन गतिविधियों को सुरक्षित रूप से फिर से शुरू कर सकते हैं। हालांकि, रजोनिवृत्ति के बाद सेक्स किए बिना लंबे समय तक रहना वास्तव में आपकी वजायना को छोटा और संकीर्ण कर सकता है। शारीरिक संबंधों में लंबा ब्रेक भविष्य में आपके लिए दर्दनाक साबित हो सकता है। आप इस बारे में डॉक्टर से बात कर सकते हैं।

    डॉक्टर आपको वजायनल डायलेटर का उपयोग करने की सलाह दे सकते हैं। यह उपकरण वजायनल टिश्यूज को एक जगह पर वापस लाने में मदद कर सकता है जो फिजिकल इंटीमेसी को आसान बनाने के साथ ही एंजॉयमेंट को बढ़ाएगा।

    50 के बाद सेक्स (Sex after 50) के लिए कौनसी पॉजिशन बेस्ट है?

    जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है बॉडी में कई प्रकार के बदलाव आते हैं। जिससे कुछ सेक्स पोजिशन दर्दनाक साबित हो सकती हैं, जो पोजिशन पहले आपके लिए कंफर्टेबल थी वे अब परेशानी भरी हो सकती हैं। मिशनरी पोजिशन में पीठ के नीचे तकिया रखना आरामदायक हो सकता है। अगर फीमेल पार्टनर को इंटरकोर्स के दौरान ज्यादा दर्द का एहसास होता है तो वह ऑन टॉप पॉजिशन ट्राई कर सकती है। इस पोजिशन में पेनेट्रेशन को कंट्रोल किया जा सकता है।

    इसके अलावा 50 के बाद के कपल्स के लिए ऐसी कोई भी पोजिशन जिसमें हाथ और घुटने का यूज ज्यादा करना पड़ता है की तुलना में स्टैंडिंग पोजिशन कंफर्टेबल होगी।

    क्या यौन संचारित रोग (एसटीडी) अभी भी एक चिंता का विषय है?

    बढ़ती उम्र आपको एसटीडी से नहीं बचा सकती। किसी नए के साथ यौन संबंध की शुरुआत करते समय, आपको प्रोटेक्शन का ध्यान रखना चाहिए। कंडोम या किसी अन्य प्रकार के प्रोटेक्शन के साथ-साथ एसटीडी की जांच से संबंधित टेस्ट भी करवाते रहना होगा।

    क्या करना चाहिए अगर एक पार्टनर का 50 के बाद सेक्स (Sex after 50) में बिलकुल इंटरेस्ट ना हो?

    ऐसा नहीं कि बढ़ती उम्र के साथ सिर्फ महिलाओं की सेक्शुअलिटी और सेक्शुअल प्लेजर में अंतर आता है। ऐसा 50 और 60 की उम्र के बाद पुरुषों के साथ भी होता है। कुछ पुरुषों को इस उम्र में इरेक्शन और एजाकुलेशन से संबंधित परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। ऐसा जरूरी नहीं है कि सभी के साथ ऐसा हो, लेकिन ज्यादातर लोगों के साथ ये इशूज देखे गए हैं। आप इन इशूज पर मिलकर काम कर सकते हैं और कोई सॉल्यूशन निकाल सकते हैं, जिससे दोनों सेक्शुअली सैटिस्फाई हो सकें।

    अब हर बार सेक्स के दौरान ऑर्गेज्म तक पहुंचने का ज्यादा प्रेशर फील ना करें बल्कि इंटीमेसी को बढ़ाने की ओर ध्यान दें। टच और फोरप्ले पर ज्यादा फोकस करें और उसके बाद ऑर्गेज्म तक पहुंचे। इस प्रकार आप 50 के बाद भी सेक्स लाइफ को बेहतर बना सकते हैं और सेक्स को एंजॉय कर सकते हैं।

    उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और 50 के बाद सेक्स (Sex after 50) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    health-tool-icon

    बीएमआई कैलक्युलेटर

    अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

    पुरुष

    महिला

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    [Impact of aging on sexuality]/ https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22891587/ / Accessed on 18/05/2021

    Medicalization and the refashioning of age-related limits on sexuality/ https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22720825/ / Accessed on 18/05/2021

    Sexuality in Later Life/ https://www.nia.nih.gov/health/sexuality-later-life / Accessed on 18/05/2021

    Sexuality in Older Couples: Individual and Dyadic Characteristics/ https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5554590/ / Accessed on 22 July 2020

    Erectile dysfunction/ https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5027992/ /Accessed on 22 July 2020

    Want to Improve Your Sex Life After 50? You Are Not Alone/https://health.clevelandclinic.org/want-to-improve-your-sex-life-after-50-you-are-not-alone/

    Sex at 50-Plus: What’s Normal?/
    https://www.aarp.org/home-family/sex-intimacy/info-01-2013/seniors-having-sex-older-couples.html

    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2426743/A Study of Sexuality and Health among Older Adults in the United States

    Sex as We Age/https://www.ashasexualhealth.org/sex-after-50/

    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 18/05/2021 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: