आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

जानिए सीनियर सिटीजन्स सेल्फ डिफेंस टिप्स

जानिए सीनियर सिटीजन्स सेल्फ डिफेंस टिप्स

सीनियर सिटीजन्स के साथ क्राइम दिनपर दिन बढ़ता ही जा रहा है। क्यूोंकि, क्रिमिनल्स के लिए इन्हे अपना शिकार बनाना बहुत ही आसान होता है। यह हादसे अधिकतर चोरी या लूटपाट के होते हैं। ऐसे हादसों का शिकार ज्यादातर वे बुजुर्ग बनते हैं जो अकेले घर में रहते हैं। आज सीनियर सिटीजन प्रोटेक्शन और सीनियर सिटीजन्स सेल्फ डिफेंस का मुद्दा काफी गंभीर हो गया है।

आइए बात करते हैं कि किन बातों को ध्यान में रख कर ओल्ड एज ग्रुप के लोग खुद को क्राइम का शिकार होने से रोक सकते हैं। साथ ही, अगर कभी किसी खतरे का सामना करना पड़े, तो क्या करें।

सीनियर सिटीजन्स के लिए सेल्फ डिफेंस टिप्स

शोर मचाएं :

सेल्फ डिफेंस के लिए सबसे पहले शोर मचाएं, ताकि आपको जल्द से जल्द मदद मिल सके। इसके लिए आप सिटी या पर्सनल अलार्म का इस्तेमाल कर सकते हैं। आजकल मार्किट में ऐसे डिजिटल वॉच आ गए हैं, जिनका इस्तेमाल आप आसानी से कर सकते हैं या फिर आप अपनी चाबियों के साथ सिटी भी लगाकर रख सकते हैं।

हाथ में जो कुछ भी हो उसे इस्तेमाल करें :

अगर आप अकेले हैं और कोई अचानक से आप पर हमला कर दे तो, घबराएं बिल्कुल भी नहीं। ऐसे में, हाथ में जो कुछ भी हो उसे ही पलटवार के लिए इस्तेमाल करें। फिर चाहें, वह आपका छाता हो या छड़ी। हो सके, तो जब भी घर से बाहर जाएं, तो सेल्फ डिफेंस के लिए कुछ साथ जरूर रखें, जैसे पेपर स्प्रे, लाल मिर्च पाउडर या एक छड़ी।

अटैकर के वीक पॉइंट को टारगेट करें :

हर किसी के कुछ न कुछ वीक पॉइंट होते हैं। ठीक इसी तरह अटैक करने वाले के भी वीक पॉइंट भी होंगे, जैसे आप अटैकर के आंख, नाक, कान आदि पर मार सकते है, उसे नाखूनों से नोच सकते हैं, घुटनों पर पर जोर से मार सकते हैं ताकि वो नीचे गिर जाए।

और पढ़ें : सीनियर जूनियर का ऐसा होना चाहिए रिलेशन

खतरे से बचने के लिए इन बातों का रखें ख्याल :

  1. जब भी कहीं पर जाएं तो उस जगह बारे में अच्छी तरह से जान लें। कभी भी नए रूट को फॉलो करने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि वह सुरक्षित है कि नहीं।
  2. अगर कभी किसी नई जगह जाएं तो आपकी बॉडी लैंग्वेज को कॉन्फिडेंट रखें, ताकि आप सामने वाले को कमजोर न लगें।
  3. कोशिश करें कि हमेशा भीड़-भाड़ वाला रास्ता ही चुनें और सुनसान रास्ते पर जाने से बचें।
  4. रास्ते में पूरी तरह से चौकन्ने रहें। ज्यादा फोन का इस्तेमाल करते हुए न चलें। ऐसे में फोन, पर्स और जेवर खींचने की घटनाएं बहुत ज्यादा होती हैं।
  5. अगर आप अकेले घर से बाहर जाएं, तो भूले से भी अपने कीमती सामान का दिखावा न करें। ऐसे में, अटैकर्स का ध्यान आप अपनी ओर खींचते हैं। जैसे कि महंगा फोन, कीमती ज्वैलरी और चमकीले महंगे कपड़े।

तो देखा अपने वृद्धावस्था में भी सेल्फ डिफेंस कोई बहुत मुश्किल चीज नहीं है। बस जरूरत है, तो थोड़े साहस और समझदारी की और ज्यादा से ज्यादा अलर्ट रहने की। ऐसा करके आप खुद को गंभीर दुर्घटनाओं से बचा सकते हैं। साथ ही, अपना ख्याल खुद रखकर आप सेल्फ डिपेंडेंट और कॉन्फिडेंट महसूस करेंगे।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Priyanka Srivastava द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 16/04/2021 को
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड