home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

मास्टरबेशन के अनोखे शारीरिक और मानसिक लाभ जानने के लिए पढ़ें ये आर्टिकल

मास्टरबेशन के अनोखे शारीरिक और मानसिक लाभ जानने के लिए पढ़ें ये आर्टिकल

आमतौर पर मास्टरबेशन महिला और पुरुष दोनों ही करते हैं, लेकिन कई लोग इस बारे में बात करने में काफी संकोच महसूस करते हैं। खासतौर पर महिलाएं। महिलाएं हस्तमैथुन यानी मास्टरबेशन पर बात करने में ज्यादा हिचकिचाती हैं। आज इस आर्टिकल में हम हस्तमैथुन के बारे में खुलकर बात करेंगे। जानेंगे कि इसके शारीरिक और मानसिक रूप से हस्थमैथुन यानी मास्टरबेशन के क्या लाभ हैं।

मास्टरबेशन के लाभ (Benefits Of Masturbation)

चाहे महिला हो या पुरुष, यह आसानी से दोनों का तनाव कम करता है। कहते हैं, शरीर में ज्यादा शुक्राणुओं (sperms) का संचय होने से व्यक्ति बीमार हो सकता है, ऐसे में हस्तमैथुन करना सही होता है। कुछ शोध बताते हैं कि नियमित स्खलन से प्रोस्टेट कैंसर का खतरा कम हो सकता है, हालांकि इन दोनों के बीच क्या संबंध है इस पर अभी भी शोध जारी है। प्रेग्नेंसी के समय हाॅर्मोन परिवर्तन के कारण कुछ महिलाओं में सेक्स की इच्छा बढ़ जाती है। इस समय यौन तनाव से राहत पाने का एक आसान और सुरक्षित तरीका है।

[mc4wp_form id=”183492″]

हस्तमैथुन करने से डोपामाइन और ऑक्सीटोसिन जैसे फील-गुड न्यूरोकेमिकल्स रिलीज होते हैं जो खुशी और संतुष्टि प्रदान करते हैं। साथ ही यह आपके मस्तिष्क के कुछ हिस्सों को सक्रिय भी करते हैं। हस्तमैथुन करने के न सिर्फ शारीरिक फायदे हैं, बल्कि मानसिक रूप से भी इसके फायदे देखने को मिलते हैं। अगर कोई सामान्य रूप से मास्टरबेशन करता है तो उन्हें नीचे बताए फायदे देखने को मिल सकते हैं :

और पढ़ें : इस साल भी लोगों ने खूब देखी पॉर्न, जानिए पॉर्न की लत कैसे छुड़ाएं

मास्टरबेशन (Masturbation ) तनाव और अवसाद कम करने में सक्षम

हस्तमैथुन तनाव मुक्ति का एक गंभीर स्रोत है। ऑर्गैस्मिक से डोपामाइन (Dopamine), एंडोर्फिन (Endorphins ) और ऑक्सीटोसिन (Oxytocin) में भारी वृद्धि होती है। यह सभी ‘हैप्पी हार्मोन (Happy Hormone)’ के नाम से जाने जाते हैं। साथ ही, यह आपके कोर्टिसोल (Cortisol) के स्तर को कम करते हैं, जो एक प्राथमिक तनाव हार्मोन हैं। इसलिए, यह आपके दिमाग को शांत करने में मदद करता है।

मास्टरबेशन के लाभ

मास्टरबेशन के लाभ (Benefits Of Musterbation) में शामिल है अच्छी नींद आना

हस्तमैथुन के साथ आने वाले सभी एंडोर्फिन की रिहाई इतनी आराम से हो सकती है, जिससे उन्हें आराम महसूस होता है और उन्हें नींद अच्छी आने में मदद मिलती है।

मास्टरबेशन बॉडी इमेज को बेहतर बनाता है (Masturbation Improves Body I mage)

जो महिलाएं नियमित रूप से हस्तमैथुन करती हैं, उनके शरीर की छवि अधिक सकारात्मक साबित होती है। सोच यह है कि जो महिलाएं अपने शरीर को जानती हैं और अधिक नियमित रूप से खुद को खुश कर सकती हैं, वे खुद को आत्मविश्वास की उच्च भावना के साथ देख सकती हैं। यदि आप अपने आप के साथ अधिक समय व्यतीत करते हैं, तो यह आत्म-प्रेम, आत्म-स्वीकृति और शरीर की सकारात्मकता का एक रूप है और हस्तमैथुन करना आमतौर पर ऐसे लोगों के साथ जुड़ा होता है जिनकी शरीर की छवि अधिक सकारात्मक होती है।

तो ये थे मास्टरबेशन के फायदे, जो शायद आपको ना पता न हों। आइए मास्टरबेशन से जुड़े अन्य सवालों के बारे में भी जानते हैं।

और पढ़ें: किंकी सेक्स: ये है सेक्स लाइफ को स्पाइसी बनाने का एक खास तरीका

क्या मास्टरबेशन से घटता है स्पर्म काउंट? Does sperm count decrease with masturbation?

मास्टरबेशन

मास्टरबेशन करने का मतलब ये नहीं है कि इसकी वजह से आपका पिता बनने का सपना टूट जाएगा। परंतु अगर आप निकट भविष्य में अपना परिवार बढ़ाने का सोच रहे हैं, तो आपको कुछ समय के लिए हस्तमैथुन को रोकना पड़ेगा, ताकि आप अपने साथी को गर्भ धारण कराने में सफल हो पाएं।

आमतौर पर, लोगों के बीच ऐसी धारणा है कि हमारे शरीर में स्पर्म की मात्रा फिक्स है, लेकिन असल में ऐसा कुछ भी नहीं है। हमारे शरीर में स्पर्म का नियमित उत्पादन होता है। बिल्कुल वैसे ही, जैसे खून हमारे शरीर में बनता है। ठीक उसी तरह, स्पर्म भी हमारे शरीर में बनता है। जैसे-जैसे हम वृद्धावस्था की तरफ बढ़ते हैं, वैसे-वैसे इसका उत्पादन कम होता जाता है। तो ज्यादा हस्तमैथुन करने से स्पर्म काउंट में कोई कमी नहीं आती।

एक शोध में 21 मेडिकल छात्रों के स्पर्म की क्वालिटी की जांच की गई। इस शोध में यह बात सामने आई कि पहले दिन 21 छात्रों के स्पर्म के नमूनों की एवरेज डेन्सिटी 64.4 मिलियन प्रति मिलीलीटर थी, जबकि शोध के तीसरे और पांचवें दिन क्रमशः 52.2 और 50.7 मिलीलीटर थे। हालांकि, स्पर्म की क्वालिटी में कोई फर्क नहीं था। इस शोध से ये बात पता चली कि नियमित हस्तमैथुन करने की वजह से शरीर में उतना स्पर्म बन नहीं पाता, क्योंकि, हस्तमैथुन करने की गति शरीर में स्पर्म बनने की गति से ज्यादा है और इसी कारण अगली बार हस्तमैथुन करने पर कम मात्रा में स्पर्म बाहर आता है। इसी वजह से लोगों में यह गलत धारणा फैल जाती है कि हस्तमैथुन करने से स्पर्म काउंट घटता है।

मास्टरबेशन के बाद घुटनों में दर्द क्यों होता है? Why does knee pain occur after masturbation?

मास्टरबेशन करना

पुरुषों के मास्टरबेशन के बाद स्पर्म निकलाते समय उनके पूरे शरीर में तनाव रहता है। इसी तनाव के कारण ही उनके घुटनों में दर्द होता है। इसके अलावा कई लोगों को खड़े होने में भी परेशानी महसूस होती है। एक्सपर्ट्स की मानें, तो खड़े होकर मास्टरबेशन करने की वजह से ही घुटनों में दर्द हो सकता है।

और पढ़ें: अब वो कॉन्डम के लिए खुद कहेंगे हां, जरा उन्हें भी ये आर्टिकल पढ़ाइए

घुटनों के दर्द से कैसे बचें

  • अगर आप नियमित तौर पर मास्टरबेशन करते हैं तो हो सकता है कि यह आपकी लत बन गई हो। जो किसी नशीले पदार्थ की तरह ही आपके शरीर के साथ काम करता है।
  • अगर इस परेशानी से बचना चाहते हैं तो आप बैठकर या लेटकर भी मास्टरबेशन कर सकते हैं। अगर इसके बाद ही आपके घुटनों में दर्द की शिकायत रहती है तो आपको किसी नी-स्पेशलिस्ट से अपने घुटनों की जांच करवानी चाहिए।
  • बार-बार या बहुत ज्यादा हस्तमैथुन आपके दिमाग में डोपामाइन के स्तर को बढ़ाता है तो लत का रूप ले लेती है।

पीरियड पेन से राहत दिला सकता है मास्टरबेशन (Masturbation Can Provide Relief From Period Pain)

मास्टरबेशन

  • हस्तमैथुन किसी एक्सरसाइज से कम नहीं है। इससे पेल्विक (pelvic) और ऐनल (anal) रीजन की मांसपेशियां स्ट्रॉन्ग होती हैं। ऑर्गेज्म तक पहुंचते-पहुंचते ब्लड प्रेशर और हार्ट रेट दोनों बढ़ जाते हैं। इससे यूट्रस में कंट्रक्शन होता है जिससे वजायनल मसल्स मजबूत होते हैं।
  • मास्टरबेशन के फायदे की बात करें तो बता दें कि हस्तमैथुन से पीरियड्स के दर्द में भी आराम मिलता है। मास्टरबेशन के दौरान अगर यूट्राइन कॉन्ट्रैक्शन महसूस होता है तो इससे पीरियड ब्लड आसानी से बाहर आ जाता है, जिससे उन दिनों में पेट दर्द और ऐंठन नहीं होती है।
  • यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन महिलाओं में काफी सामान्य है। कई बार हस्तमैथुन के दौरान फ्लो के साथ ही सर्विक्स से बैक्टीरिया बाहर आ जाते हैं जिससे वजायनल इंफेक्शन (vaginal infection) की संभावना कम हो जाती है। लेकिन, याद रखें कि मास्टरबेशन के समय आपके हाथ साफ हों, नहीं तो संक्रमण का खतरा बढ़ भी सकता है।

और पढ़ें : मास्टरबेशन घुटनों के दर्द का कारण बन सकता है या नहीं?

मास्टरबेशन के टिप्स (Tips For Musturbation)

  • ऑर्गैज्म (orgasm) पाने के लिए ज्यादा मेहनत नहीं करना चाहते हैं, तो सेक्स टॉय (sex toy) का इस्तेमाल करें।
  • हस्तमैथुन के दौरान सेक्शुअल फैंटसी को सोचें या फिर किसी पुराने सेक्स अनुभव को याद करें। यह आपका काम आसान बना देगा।
  • मास्टरबेट (Masturbate) करते समय जगह भी खास मायने रखती है। आपको यह देखना होगा कि आप कहां मास्टरबेट (Masturbate) कर रहे हैं। इसके अलावा नई जगह पर कई बार इसे करने में काफी समय भी लग सकता है। ऐसे में आप कोई ट्रिक अपना सकते हैं जैसे कि खुद को शीशे में देखना ऐसा करने से आपका एक्साइटेड फील करेंगे और आपका काम आसान हो जाएगा।
  • अगर आप हाथों से हस्तमैथुन नहीं करना चाहते हैं, तो सेक्स टॉय का उपयोग करें।
  • बॉडी के सेंशुअल पॉइंट्स पर टिकल करना भी न भूलें। साथ ही मसाज टेक्निक्स का इस्तेमाल करने से आपका अनुभव और बेहतर हो सकता है।

उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और मास्टरबेशन से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Masturbation https://www.plannedparenthood.org/learn/sex-and-relationships/masturbation Accessed 9/1/2020.

Is It Normal to Masturbate? https://kidshealth.org/en/teens/normal.html Accessed 9/1/2020.

Masturbation https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/masturbation Accessed 9/1/2020.

What Are the Health Benefits of Masturbation?/https://nwhn.org/what-are-the-health-benefits-of-masturbation/ Accessed on 22/02/2021

 

लेखक की तस्वीर badge
Aamir Khan द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 23/04/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड