home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

इस साल भी लोगों ने खूब देखी पॉर्न, जानिए पॉर्न की लत कैसे छुड़ाएं

इस साल भी लोगों ने खूब देखी पॉर्न, जानिए पॉर्न की लत कैसे छुड़ाएं

भारत में पॉर्न की लत एक बड़ी समस्या है। हालांकि, आमतौर पर कुछ लोग सामान्य रूप से अपने खाली समय में पॉर्न देखते हैं। धीरे-धीरे कब यह आदत आपकी लत में तब्दील हो जाती है आपको पता ही नहीं लगता है। पॉर्न की लत की समस्या से निपटने के लिए विश्व के अलग-अलग देशों में कई उपाय किए गए हैं। जानकार इसे एक मनोरोग के रूप में चिन्हित करते हैं। भारत सरकार पहले ही देश में 3 हजार वेबसाइट्स को प्रतिबंधित कर चुकी है, जो चाइल्ड पॉर्न दिखाती हैं। दुनियाभर में 26 करोड़ से ज्यादा ऐसी वेबसाइट्स हैं, जो पॉर्न परोसती हैं।

पॉर्न की लत के वैश्विक आंकड़े

दुनियाभर में पॉर्न की लत का पता लगाने के लिए एक सर्वेक्षण किया गया। यह सर्वेक्षण कुछ पॉर्न वेबसाइट्स पर किया गया। सबसे ज्यादा देखी जाने वाली पॉर्न वेबसाइट से खुलासा हुआ कि दुनियाभर में एक ही समय पर 30 करोड़ से ज्यादा लोग पॉर्न देखते हैं।

इस आंकड़े में भारतीय पॉर्न दर्शकों का एक महत्वपूर्ण आंकड़ा है।

पॉर्न वेबसाइट्स पर भारत की तीसरी रैंकिंग

पॉर्न वेबसाइट्स पर ट्रैफिक के मामले में अमेरिका और युनाइटेड किंग्डम के बाद भारत तीसरे नंबर पर आता है। हालांकि, पहले नंबर पर फिलिपींस के लोग आते हैं, जो पॉर्न वेबसाइट्स पर 12 मिनट 45 सेकेंड्स का वक्त गुजारते हैं। अमेरिकी लोग 9 मिनट 51 सेकेंड और ऑस्ट्रेलियाई लोग 9 मिनट 36 सेकेंड गुजारते हैं। पॉर्न वेबसाइट्स पर समय बिताने के मामले में भारत का स्थान चौथा है। भारतीय पॉर्न दर्शक 9 मिनट 30 सेकेंड्स गुजारते हैं।

मोबाइल और कंप्यूटर पर पॉर्न की लत

तकरीबन 47.5 % भारतीय कंप्यूटर (डेस्कटॉप) और 49.9% मोबाइल पर पॉर्न देखते हैं। बचे हुए 2.6 प्रतिशत लोग टेबलेट पर पॉर्न देखते हैं। यह बिलकुल स्पष्ट है कि मोबाइल पर सबसे ज्यादा लोग पॉर्न देखते हैं।

पॉर्न की लत के हालिया आंकड़े

हजारों पॉर्न वेबसाइट्स पर भारत सरकार के प्रतिबंध लगाने के बावजूद पॉर्न के दर्शकों में इजाफा हो रहा है। मोबाइल के लिए डाउनलोड किए जाने वाले वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (वीपीएन) ऐप्स में 405% का इजाफा हुआ है, जो अक्टूबर 2018 से 12 महीनों की अवधि के भीतर 5.7 करोड़ पर पहुंच गया है।

यह खुलासा ऐप्पल के ऐप स्टोर और गूगल प्ले का विश्लेषण करने वाली लंदन की टॉप10वीपीएन (Top10VPN) वेबसाइट ने किया है, जो वीपीएन (VPN) का रिव्यू करती है।

पॉर्न की लत वाले लोगों ने ढूंढा जुगाड़

वीपीएन के जरिए यूजर इंटरनेट का इस्तेमाल करते वक्त अपनी लोकशन और ब्राउज को छुपा सकते हैं। पिछले साल अक्टूबर में भारत के एक कोर्ट ने केंद्र सरकार को पॉर्नहब और एक्सवीडियोज (PornHub, xVideos) को मिलाकर 827 पॉर्न वेबसाइट्स पर लगाए गए अपने पुराने प्रतिबंध को बहाल करने का आदेश जारी किया था। शुरुआती दौर में पॉर्न कंपनियों ने इसका सामना करने के लिए एक मिरर यूआरएल जैसे पॉर्नहब.नेट लॉन्च किया था। इससे पहले कंपनियां पॉर्नहब डॉट कॉम इस्तेमाल करती थीं, जो प्रतिबंध के बाद पहुंच से बाहर हो गया था। भारत की दिग्गज टेलीकॉम कंपनियों भारती एयरटेल और रिलायंस जियो ने इन यूआरएल्स को ब्लॉक करना शुरू कर दिया था।

पॉर्न की लत छुड़ाने में बेअसर रहा बैन

हालांकि, भारतीयों पर इस प्रतिबंध का कोई असर नहीं पड़ा। टॉप10वीपीएन के मुताबिक, अक्टूबर से दिसंबर 2018 तक मासिक आधार पर वीपीएन डाउनलोड्स में भारत में औसतन रूप से 66 % का इजाफा हुआ। भारत में वीपीएन के लिए गूगल सर्च में पॉर्न वेबसाइट्स पर प्रतिबंध लगने के तुरंत बाद एक बड़ा उछाल आया। यह उछाल सामान्य स्तर से अधिक था।

उपरोक्त आंकड़ों से यह स्पष्ट हो गया है कि इस समस्या से निपटना इतना आसान नहीं है। पॉर्न की लत का पता आसानी से लगाया जा सकता है। यदि आप भी पॉर्न की लत से परेशान हैं तो इसके लक्षणों को पहचानकर आप इससे छुटकारा पा सकते हैं। आमतौर पर पॉर्न की लत के बारे में कोई भी व्यक्ति खुलकर बात करने से परहेज करता है। सामाजिक रूप से इसे एक बुराई के रूप में भी चिन्हित किया जाता है। इसकी बेहतर और विस्तृत जानकारी इससे निपटने में एक हथियार साबित होती है।

यह भी पढ़ें: सेक्स और महिलाओं से जुड़े मिथक और उनकी सच्चाई

पॉर्न की लत क्या है?

  • सामान्य रूप से पॉर्न देखने से आपको पॉर्न की लत नहीं लगती है और न ही इसमें किसी इलाज की आवश्यकता पड़ती है। दूसरी तरफ, पॉर्न की लत वह स्थिति है जब आप इसे देखने के लिए उतावले हो जाते हैं और अपने ऊपर नियंत्रण खो देते हैं। इस स्थिति में यह समस्याओं का कारण बन सकती है। पॉर्न की लत हमेशा से हमारे आसपास घूमता हुआ एक बड़ा सवाल है। पॉर्न की लत हमेशा से ही विवादास्पद रही है। हालांकि, कुछ लोग इसमें रुचि रखते हैं और कुछ नहीं। कुछ लोग अक्सर पॉर्न देखते हैं और कुछ लोग नियमित रूप से पॉर्न देखते हैं।
  • पॉर्न देखना या न देखना किसी की व्यक्तिगत पसंद और निजी चुनाव हो सकता है।
  • यह उल्लेखनीय है कि आधिकारिक रूप से अमेरिकन साइकेट्रिक एसोसिएशन की तरफ से पॉर्न की लत के इलाज को मान्यता नहीं दी गई है।
  • कुछ लोगों में पॉर्न देखने की इतनी इच्छा होती है कि वो इस पर काबू नहीं रख पाते। कुछ लोगों के लिए यह अन्य लोगों के व्यवहार से संबंधित लत की समस्या हो सकती है।

पॉर्न की लत के लक्षण

  • खाली समय मिलने पर यदि आप पॉर्न देखते हैं।
  • यदि आपको पॉर्न देखने के उतावलेपन का अहसास होता है और इसे देखने के बाद आप हाई महसूस करते हैं।
  • यदि आपको पॉर्न देखने के परिणामों को लेकर आत्मग्लानी का अहसास होता है।
  • यदि आप अन्य जिम्मेदारियों या नींद को अनदेखा करते हुए घंटों-घंटों तक ऑनलाइन पॉर्न साइट्स पर समय व्यतीत करते हैं।
  • अपने पार्टनर पर पॉर्न देखने के लिए जोर डालना या पॉर्न जैसा व्यवहार करना भले ही उसे यह पसंद न हो।
  • बिना पहले पॉर्न देखे सेक्स का मजा न उठा पाना।
  • पॉर्न देखने की इच्छा का विरोध न कर पाना भले ही वह आपकी जिंदगी में हस्तक्षेप कर रही हो।
  • पॉर्न देखने के लिए आपकी इच्छाएं और बढ़ जाती है।
  • अपने पार्टनर के साथ आप सेक्स में और ज्यादा डिमांडिंग हो जाते हैं, जिन इच्छाओं को पूरा कर पाना असंभव होता है।
  • आपका अपने पार्टनर के प्रति आकर्षण खत्म हो जाता है। आप अपने पार्टनर की खूबसरती से पॉर्न के समान अव्यवहारिक उम्मीदें लगा लेते हैं, जिन्हें पूरा कर पाना असंभव होता है। इससे अपने पार्टनर में आपकी रुचि खत्म हो जाती है।
  • यदि आपको पॉर्न देखने को न मिले तो आप चिड़चिड़े हो जाते हैं। ऐसे लोगों में सब्र की भावना कम हो जाती है। कई बार पॉर्न देखने में होने वाली देरी की वजह से आप एकदम से बिफर पड़ते हैं या अपने पार्टनर से झगड़ जाते हैं।

यह भी पढ़ें: मास्टरबेशन के अनोखे शारीरिक और मानसिक लाभ

पॉर्न की लत का क्या कारण है?

  • कई बार यह कहना मुश्किल है कि पॉर्न देखने से आपका व्यवहार अनियंत्रित हो जाता है। संभवतः आप पॉर्न देखना शुरू कर दें, क्योंकि आपको यह पसंद हो। पॉर्न देखना कोई समस्या नहीं है। पॉर्न देखने से आपको आनंद मिल सकता है और आप इसे बार बार प्राप्त करने के लिए अक्सर पॉर्न देखते हों।
  • कई बार आपको पॉर्न देखने के बाद काफी बुरा लगता है। उस वक्त आप इतने हाई होते हैं कि पॉर्न से अपने आपको दूर नहीं रख पाते हैं।
  • पॉर्न की लत की शुरुआत ऐसे मौकों पर होती है, जब आप अकेले या परेशान या तनाव में होते हैं। पॉर्न की लत व्यवहार की अन्य समस्याओं के समान ही है। इन स्थितियों में जब आपको कुछ नहीं मिलता तो आप पॉर्न वेबसाइट्स का रुख करते हैं।
  • इसके अतिरिक्त, एंग्जायटी की समस्या, पर्सनैलिटी डिसऑर्डर, आवेग पर काबू न रख पाना, पर्फोर्मेंस एंग्जायटी और अन्य मानसिक स्वास्थ्य समस्याएं, जो पॉर्न की लत को बढ़ावा देती हों।

पॉर्न की लत कैसे छुड़ाएं?

पॉर्न की लत को छुड़ाने के आसान तरीके निम्नलिखित हैं:

  • पॉर्न की लत को छुड़ाने के लिए आपको अपने फोन में मौजूद सभी पॉर्न और बुकमार्क को डिलीट करना चाहिए।
  • हार्ट कॉपी पॉर्न को भी डिस्कार्ड कर दें।
  • अपने फोन में एक एंटीपॉर्न सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करें, जिसका पासवर्ड आपको पता न हो। यह सॉफ्टवेयर आपको फोन में पॉर्न को डाउनलोड करने से रोकेगा।
  • पॉर्न की लत को छुड़ाने के लिए सबसे जरूरी है कि आप अपना ध्यान अन्य कार्यों में लगाएं। जब आपको अंदर से पॉर्न देखने की ललक का अहसास हो तो किसी अन्य कार्य में अपने आपको व्यस्त कर लें।
  • जब आपको पॉर्न देखने का मन करता है तो अपने आपको बताएं कि यह आपकी जिंदगी को प्रभावित कर रहा है। मदद के लिए इसे किसी जगह पर जरूर लिख लें।
  • यदि पॉर्न से दूरी बनाने में कोई समस्या आ रही है तो उस पर विचार करके उससे दूरी बनाने का प्रयास करें।
  • किसी ऐसे व्यक्ति को अपना पार्टनर चुनें, जिसे आप अपनी इस आदत के बारे में खुलकर बता पाएं, जो आपको इस संबंध में कंट्रोल करने में कारगर साबित हो।
  • एक ऐसी डायरी बनाएं, जिसमें सभी रिमाइंडर्स और वैकल्पिक कार्यों की सूची बनाएं, जिन्हें आप पॉर्न की लत का अहसास होते ही कर सकें।

यह भी पढ़ें: मास्टरबेशन घुटनों के दर्द का कारण बन सकता है या नहीं?

पॉर्न की लत छुड़ाने का अन्य तरीका क्या है?

यदि आप स्वयं पॉर्न की लत छुड़ाने में असमर्थ महसूस कर रहे हैं तो निम्नलिखित तरीके से इस पर काबू पाएं:

थेरिपी

यदि आपको लगता है कि आप विवश हैं या आपको पॉर्न की लत लग गई है तो किसी भी मेंटल हेल्थ प्रोफेशनल के पास जाना आपके लिए एक बेहतर विकल्प होगा। विशेषकर यदि आपको एंजाइटी, डिप्रेशन के संकेत या ओब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर (ओसीडी) के लक्षण नजर आते हैं। हालांकि, यह इस बात पर निर्भर करता है कि पॉर्न आपकी जिंदगी को कितना प्रभावित कर रही है। इस स्थिति में आपका थेरेपिस्ट या मेडिकल प्रोफेशनल एक व्यक्तिगत, ग्रुप या फैमिली काउंसलिंग की सलाह दे सकता है। हालांकि किसी भी थेरेपिस्ट का चुनाव करते वक्त आपको थोड़ा सावधानी बरतनी होगी। खासकर उन मामलों में जो अपने आपको इसका विशेषज्ञ बताते हैं। हालांकि काउंसिलंग से आपको इसके कारण को समझने में मदद मिलेगी। आपका थेरिपिस्ट एक ऐसा तरीका इजाद कर सकता है, जिससे आपको पॉर्न की लत के साथ (अश्लील सामग्री) अपने रिश्ते में बदलाव लाने में सहायता मिलेगी।

अंत में हम यही कहेंगे कि पॉर्न की लत आपकी जिंदगी के अनमोल पलों को बर्बाद कर सकती है। भारत के युवाओं में यह एक विकराल समस्या के रूप में उभरी है। समय पर पॉर्न की लत का इलाज किया जाना बेहद ही जरूरी है।

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार मुहैया नहीं कराता है।

और पढ़ें:-

प्रेग्नेंसी और सेक्स: प्रेग्नेंसी में सेक्स को लेकर हैं सवाल तो पढ़ें ये आर्टिकल

शावर सेक्स का बनाया है प्लान तो पहले चुनें सेफ सेक्स पुजिशन

आप वास्तव में सेक्स के बारे में कितना जानते हैं?

रूटीन की सेक्स पुजिशन से कुछ हटकर करना है ट्राय तो इन्हें आजमाएं

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Dr. Hemakshi J के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Sunil Kumar द्वारा लिखित
अपडेटेड 31/12/2019
x