जानिए कहां होते हैं एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स और कैसे लगा सकते हैं ये सेक्स लाइफ में तड़का 

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट October 26, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

एक्यूप्रेशर पॉइंट्स के बारे में तो आपने सुना ही होगा, जिसका इस्तेमाल तनाव कम करने के लिए किया जाता है, लेकिन क्या आपने एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स के बारे सुना है? इन पॉइंट्स की जानकारी होने पर आप अपने पार्टनर को आसानी से उत्तेजित कर सकते हैं या उसका मूड बना सकते हैं। साथ ही ये थकान और तनाव को दूर करने का भी काम करेंगे। आपको बस इन पॉइंट्स पर हल्की मसाज करनी होगी।

दरअसल आज की जीवनशैली में स्ट्रेस हर किसी की जिंदगी का हिस्सा बन चुका है और इसने कपल्स की सेक्स लाइफ को भी बुरी तरह प्रभावित किया है। ऐसे में यदि कपल्स को एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स के बारे में जानकारी होगी, तो वे अपनी बोरिंग सेक्स लाइफ को रोमांचक बना सकते हैं और रोमांचक सेक्स लाइफ में थोड़ा और रोमांच भर सकते हैं।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

क्या हैं एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स?

शरीर के वे हिस्से जहां मसाज करने से न सिर्फ तनाव दूर होता है, बल्कि अच्छा महसूस होता है और महिला पार्टनर खासतौर पर काम क्रिया के लिए जल्दी उत्तेजित हो जाती हैं, उन्हें ही एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स कहा जाता है। एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स को स्टिम्युलेट करना दरअसल, फोरप्ले का ही हिस्सा है। अतरंग पलों से पहले फोरप्ले की बहुत अहम भूमिका होती है, यह पार्टनर की बॉन्डिंग को और मजबूत बनाता है।

महिलाओं के लिए सेक्स शारीरिक से ज्यादा भावनात्मक रूप से कनेक्ट होने के लिए जरूरी होता है। इसलिए पार्टनर का प्यार भरा स्पर्श उन्हें रोमांचित करता है और भावनात्मक संतुष्टि देता है। शरीर के कुछ खास हिस्से पर किया गया मसाज दिन भर की थकान को दूर करके अंतरंग पलों के लिए तैयार करता है। तो आइए जानते हैं एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स कौन-कौन से हैं और ये कहां पर होते हैं।

और पढ़ें : क्या आपकी सेक्स ड्राइव है कम? ऐसे लगाएं पता

एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स में कान है महत्त्वपूर्ण

आपको सुनकर शायद थोड़ा अजीब लगे, लेकिन यह सच है कि कान भी एक एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट हैं। कामोत्तेजक अंग होने के साथ ही इसमें करीब 200 एक्यूप्रेशर पॉइंट्स होते हैं, जो इसे परफेक्ट एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट बनाते हैं। कान के बारे एक दिलचस्प बात जो शायद कम ही लोग जानते होंगे, जब आप बाएं ईयरलोब का मसाज करते हैं, तो यह दाएं मस्तिष्क और पीनियल ग्लैंड को उत्तेजित करता है और जब आप दाएं ईयरलोब (कान का निचला हिस्सा) का मसाज करते हैं तो यह बाएं मस्तिष्क और पिट्यूटरी ग्लैंड को उत्तेजित करता है।

कान के निचले हिस्से की मालिश से पूरे शरीर में ब्लड फ्लो अच्छी तरह से होता है और यह इम्यून सिस्टम को भी मजूबत करता है। कान की मालिश से स्ट्रेस दूर होता है, मांसपेशियों के दर्द में आराम मिलता है और घबराहट व बेचैनी दूर होती है, क्योंकि मसाज से एंडोर्फिन हॉर्मोन रिलीज होता है जो सेक्स में मदद करता है। यदि आप भी अपने पार्टनर की थकान दूर करके बिस्तर पर उनका मूड बनाना चाहते हैं तो इस एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट पर मसाज जरूर करें।

बेली के आसपास भी होते हैं एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स

बेली को यूं भी सेक्सी और आकर्षक कहा माना जाता है। इतना ही नहीं बेली के आसपास भी सेक्स पॉइंट्स होते हैं। जिन्हें हल्की मसाज करके स्टिम्युलेट किया जा सकता है, लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि बेली पॉइंट्स बहुत सेंसटिव होते हैं और ये रिप्रोडक्टिव ऑर्गन के पास होते हैं इसलिए यहां मसाज करते वक्त विशेष ध्यान रखना चाहिए। चाइनीज टेक्निक के हिसाब से यह पॉइंट्स एनर्जी को बूस्ट करने के लिए महत्वपूर्ण हैं। इसलिए विशेष एतिहात के साथ इन पॉइंट्स पर मसाज करने से इंटीमेसी बढ़ाई जा सकती है और पार्टनर को उत्तेजित किया जा सकता है।

एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स में अहम है पेट का निचला हिस्सा

पेट का निचला हिस्से में भी एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स हैं। क्या आप जानते हैं कि पेट की मालिश से न सिर्फ आप साथी को उत्तेजित कर सकते हैं, बल्कि इसके कई और भी फायदे हैं। जैसे यह पाचन तंत्र को ठीक रखता है, कब्ज से राहत दिलाता है, साथ ही इससे ब्लोटिंग की समस्या कम होती है और पेट की मांसपेशियों को टोन और मजबूत बनती हैं। यह तनाव कम करने का भी काम करती है।

इसके अलावा यह इंद्रियों को शांत करके ऑर्गेज्म को लंबे समय तक बनाए रखने में मददगार है। बस आपको प्यार से और हल्के हाथों से पेट का मसाज करने की जरूरत है, इस जगह पर कुछ प्यार भरे चुंबन भी काफी होंगे। यदि आप ज्यादा एंजॉय करना चाहते हैं तो नाभि के नीचे और पार्टनर के क्रोच के ऊपर वाले हिस्से पर फोकस करें। यही सही एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट है। जब आप यहां मसाज करते हैं तो ब्लड सर्कुलेशन बढ़ जाता है, जाहिर है जो आपके साथी को उत्तेजित कर देगा।

और पढ़ें : जिंदगी भर बना रहेगा रोमांस, कपल्स अपनाएं बस ये 7 रोमांटिक बेडरूम टिप्स

स्कैल्प पर भी हैं एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स

स्कैल्प के एकदम बीचों बीच मसाज करने से तनाव कम होता है और यह दिमाग को भी शांत करता है। लैवेंडर एसेंशियल ऑयल या बादाम के तेल से स्कैल्प की मालिश करने से तनाव दूर होने के साथ ही सिर दर्द, माइग्रेन से राहत मिलने के साथ ही यह पूरा शरीर रिलैक्स होता है।

सेक्शुअल लाइफ के नजरिए से देखें तो यह ओवरएक्टिव दिमाग को शांत करके पूरे शरीर में बिना किसी बाधा के रक्त प्रवाह में मदद करता है जिससे पार्टनर का बोरिंग मूड सेक्सी बन जाता है। बेहतर होगा कि मसाज के समय पार्टनर किसी आरामदायक कुर्सी पर बैठे, क्योंकि बिस्तर पर सिर की मालिश ठीक तरह से नहीं हो पाएगी।

और पढ़ें : एक बार ये भी अपना कर देखें ‘लैस्बियन कपल’

पीठ पर भी हैं एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स

पीठ भी कामोत्तेजक अंग है और यहां कई एक्यूप्रेशर पॉइंट होते हैं जो तनाव कम करके सेक्स के लिए मूड बनाने में मदद करते हैं। पीठ की मालिश करने से रीढ की मांसपेशियों से तनाव कम होता है, यह मांसपेशियों और उत्तकों में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह कि इससे फील गुड हॉर्मोन का स्राव पूरे शरीर में होता है जो आपका मूड अच्छा कर देता है।

आपने गौर किया होगा कि जब कोई पीठ की मालिश करता है तो आपको कितना आराम मिलता। वैसे आप इस मसाज को और आरामदायक बनाने के लिए आप कुछ मसाज ऑयल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। उंगलियों की मदद से मसाज करें और पीठ के निचले हिस्से से ऊपर कंधे तक जाएं फिर दोनों अंगूठों का इस्तेमाल करते हुए कंधों की मालिश करें। इससे पूरे शरीर का तनाव दूर होगा और पार्टनर रिलैक्स महसूस करेगा। इससे पूरे दिन की थकान दूर हो जाएगी और उसका मूड अंतरंग पलों के लिए बन जाएगा। तो जरा इसे आजमाकर देखिए।

और पढ़ें : पुरुषों के लिए सेक्स टिप्स: जानें हेल्दी सेक्स लाइफ के लिए क्या करना चाहिए और क्या नहीं?

एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट है बट

सेक्स का मूड बनाने के लिए आप पार्टनर को बट मसाज भी दे सकते हैं। यह भी तनाव, थकान दूर करके साथी को कामोत्तेजित करता है। इस एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट के जरिए आप पार्टनर को बहुत जल्दी उत्तेजित कर सकते हैं।

काव्स/पिंडलियों में भी होते हैं एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स

घुटने से लेकर टखनों तक पैर के पिछले हिस्से को पिंडली कहा जाता है और इसका मसाज भी आपको बोरिंग सेक्स लाइफ को स्पाइसी बना देगा। क्योंकि इसके मसाज से टेंशन, थकान दूर होती है और पार्टनर का मूड बन जाता है। पार्टनर को पेट के बल सोने के लिए कहें और नारियल तेल को गुनगुना करके पिंडलियों का मसाज करें। हर पैर में कम से कम 5 मिनट तक मसाज करें और फिर देखिए कैसे पार्टनर का मूड ऑन हो जाता है और दिन भर के काम की थकान और सारा तनाव छूमंतर होता है। बस इस एक छोटे से काम से आपकी सेक्स लाइफ बेहतर हो सकती है।

और पढ़ें: सेक्शुअल ऐक्टिविटीः क्या वाकई में घर से ज्यादा होटल में सेक्स एंजॉय करते हैं कपल?

तलवे के एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स का भी रखें ख्याल

एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स

कभी अपने सोचा भी नहीं होगा कि तलवे भी सेक्स में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं, लेकिन सच यही है। इसके लिए आपको तलवों की मसाज करनी होगी। मसाज सिर से शुरू करते हुए अब नीचे यानी तलवों तक आ जाइए।

क्या आपको पता है कि तलवे में 7000 नर्वस एंडिंग होती है, इसलिए साथी को सेक्शुअल अराउज करने के लिए इसका मसाज एक अच्छा आइडिया है। तलवे की मालिश करने से शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकलते हैं, दिमाग की शक्ति बढ़ती है, पीरियड्स के दर्द और सिर दर्द से भी से आराम मिलता है। तो अपनी फीमेल पार्टनर को यह मसाज जरूर दें, फिर देखिए उनका उखड़ा मूड भी कैसे रोमांटिक हो जाता है। तलवे के निचले हिस्से के बीचोंबीच अंगूठे से प्रेशर दें और 10 तक गिनती करें। इसके बाद मसाज करें, यकीन मानिए इन तकनीकों से आपकी सेक्स लाइफ बहुत दिलचस्प बन जाएगी।

ऊपर से नीचे का नियम करें फॉलो

एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स की मालिश के समय एक बाद का हमेशा ध्यान रखिए कि शुरुआत हमेशा से शरीर के ऊपरी हिस्से यानी सिर से होनी चाहिए। फिर कान, पेट, पैर और आखिर में तलवा। इस प्रोसेस को फॉलो कर आप अपनी सेक्स लाइफ को बेहतर बना सकते हैं। साथ ही इसमें नयापन ला सकते हैं। इत्मिनान से जब आप साथी के साथ फोरप्ले के दौरान इन एक्यूप्रेशर पॉइंट्स को दबाते हैं तो उन्हें अच्छा महसूस होता है और उनके उत्तेजित होने से आपके अंतरंग पलों में नया रोमांच आ जाता है।

स्पर्श की अहमियत

सेक्स का मतलब सिर्फ क्लाइमेक्स नहीं होता, खासतौर पर महिलाओं के लिए तो यह भावनात्मक क्रिया है। इसलिए वह हमेशा ही फोरप्ले को अहमियत देती हैं। साथी का प्यार भरा स्पर्श, चुंबन, उन्हें बांहों में भरना आदि न सिर्फ उन्हें अच्छा लगता है, बल्कि भावनात्मक संतुष्टि और साथी के बहुत करीब होने का एहसास दिलाता है। इसलिए अक्सर देखा गया है कि पुरुष जहां सेक्स के दौरान भी अक्सर जल्दबाजी में रहते हैं, वहीं महिलाओं को यह जल्दबाजी बिलकुल रास नहीं आती। तो आप यदि अपनी पार्टनर को संतुष्ट और खुश रखना चाहते हैं तो अब से फोरप्ले का टाइम लंबा कीजिए और इन एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स का मसाज करना मत भूलिए।

बॉडी के ये पार्ट्स भी दिला सकते हैं प्लेजर का एहसास

  • ऊपर बताए एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स के आलावा भी कुछ ऐसे पॉइंट्स है साथी को उत्तेजित करने के साथ ही आसानी से उसका मूड बना सकते हैं। इनमें सबसे पहले आते हैं होंठ। होंठ पर प्यारा सा किस साथी को मूड में लाने में मददगार होता है। शुरुआत सौम्य चुंबन से करनी चाहिए। उसके बाद आप इंटेंस हो सकते हैं।
  • इसके बाद अगला नंबर आता है गले का। यह बेहद सेंसटिव पार्ट होता है। यहां पर प्यार भरे चुंबन साथी को टर्न ऑन करने के लिए काफी है।
  • इसके बाद नंबर आता है निप्पल का। निप्पल बॉडी का एक ऐसा अंग है जिसको छूने से महिलाएं तेजी से उत्तेजित हो जाती हैं। निप्पल को टच करके, किस करके महिला साथी की ऑर्गैज्म तक पहुंचने में मदद की जा सकती है।
  • पुरुषों में प्रोस्टेट को छूने और सहलाने से वे जल्दी उत्तेजित हो जाते हैं।

सेक्स लाइफ से स्ट्रेस को दूर रखने के उपाय

स्ट्रेस का असर ऑफिस से लेकर घर और आपके बेडरूम तक होता है। ऐसे में अपनी सेक्स लाइफ को तनाव से दूर रखने के लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा।

इस तरह आप सेक्स लाइफ को नया और ज्यादा जॉयफुल बना सकते हैं।

उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और एक्यूप्रेशर सेक्स पॉइंट्स से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

सेक्स से लगता है डर? हो सकता है जेनोफोबिया

कई लोगों को सेक्शुअल इंटरकोर्स या सेक्शुअल एक्टिविटीज से डर लगता है। ऐसे लोग जेनोफोबिया से पीड़ित होते हैं। इस आर्टिकल में जानिए क्या हैं इसके कारण, लक्षण और उपाय।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
मेंटल हेल्थ, स्वस्थ जीवन September 11, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

पीठ दर्द के साथ बेहतर सेक्स के लिए ध्यान रखें ये जरूरी बातें

पीठ दर्द के साथ बेहतर सेक्स कैसे करें? सही सेक्स पुजिशन के साथ कुछ अन्य उपाय अपनाकर आप पीठ दर्द के साथ बेहतर सेक्स करने के रास्ते को आसान बना सकते हैं। back pain and sex in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
यौन स्वास्थ्य, सेक्स के लिए टिप्स September 1, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

डाले अपने सेक्स जीवन में नयी मिठास तंत्र सेक्स के साथ

अगर आप सेक्स जीवन में कुछ नया करने के इच्छुक हैं तो तंत्र सेक्स को आजमाए और लौटा लाएं अपने सेक्स जीवन में नयी मिठास : तंत्र सेक्स (tanta sex) के साथ।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mishita sinha
यौन स्वास्थ्य, सेक्स के लिए टिप्स August 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

लॉकडाउन में बढ़ी सेक्स टॉय की बिक्री, एक सर्वे में सामने आई कई चौंकाने वाली बातें

लॉकडाउन में बढ़ी सेक्स टॉय की बिक्री, कैसे लॉकडाउन में बढ़ी सेक्स टॉय की बिक्री, सेक्स प्रोडक्ट्स क्या है, Sex toy का इस्तेमाल कैसे करते हैं, sale of Sex toy in lockdown

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
हेल्थ न्यूज, स्वास्थ्य July 23, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

नींद के लिए प्रेशर पॉइंट्स-

अगर आपको है इंसोम्निया की प्रॉब्लम, तो इसे दूर करें इन एक्यूप्रेशर पॉइंट्स से

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Niharika Jaiswal
प्रकाशित हुआ February 11, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
गले में क्लैमिडिया (Chlamydia in Throat)

Chlamydia in Throat: कैसे गले तक पहुंच सकता है सेक्शुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ February 5, 2021 . 4 मिनट में पढ़ें
हर्पीस का आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट

हर्बल एंड अल्टरनेटिव ट्रीटमेंट से हो सकता है कई बीमारियों का इलाज, जानिए

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr snehal singh
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ December 2, 2020 . 10 मिनट में पढ़ें
हॉर्नी और सेक्स

सेक्स के बारे में सोचते रहना नहीं है कोई बीमारी, ऐसे कंट्रोल में रख सकते हैं अपनी फीलिंग्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ September 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें