home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

कैसे चुनें सेक्स के लिए सबसे अच्छा लुब्रीकेंट: लुब्रीकेंटस के प्रकार, उनके फायदे और नुकसान

कैसे चुनें सेक्स के लिए सबसे अच्छा लुब्रीकेंट: लुब्रीकेंटस के प्रकार, उनके फायदे और नुकसान

लुब्रीकेंट जिसे लुब भी कहा जाता है, एक विशेष रूप से तैयार किया गया जेल या लिक्विड होता है। इसे सेक्स के दौरान जननांगों में लगाता जाता है। इसे लगाने का मुख्य उद्देश्य सेक्स के दौरान होने वाली असुविधा को कम करना और आनंद को बढ़ाना है। महिला का शरीर योनि में प्राकृतिक तरीके से नमी प्रदान करने में सक्षम है। लेकिन, कई बार महिलाएं योनि में रूखेपन को महसूस करती हैं। योनि में पर्याप्त नमी न होने के कारण सेक्स के दौरान दर्द और असुविधा हो सकती है। योनि में यह रूखापन के कई कारणों से हो सकता हैं जैसे महिला का स्तनपान कराना, उम्र का बढ़ना, कोई बीमारी आदि। कई लोग किसी क्रीम, पेट्रोलियम जैली या तेल सेक्स के दौरान लुब के रूप में प्रयोग कर लेते हैं। लेकिन बाजार में भी यह लुब्रीकेंट आसानी से उपलब्ध हैं। जानिए लुब्रीकेंटस के बारे में अधिक:

लुब्रीकेंट के प्रयोग के मुख्य लाभ

लुब्रीकेंट का प्रयोग संभोग के दौरान योनि, वल्वा, या गुदा क्षेत्र पर किया जाता है। इसके साथ ही लुब्रीकेंट का प्रयोग पुरुषों के लिंग या अन्य सेक्स टॉयज पर भी किया जा सकता है। लुब्रीकेंट के प्रयोग के मुख्य लाभ इस प्रकार हैं:

और पढ़ें:Quiz: पहली बार सेक्शुअल इंटरकोर्स के दौरान इन बातों की जानकारी है आपको?

इनका प्रयोग कोई भी कर सकता है

लुब्रीकेंट का प्रयोग कोई भी कर सकता है चाहे वो किसी भी लिंग, उम्र या सेक्सुअलिटी का हो। इसका प्रयोग हस्तमैथुन के दौरान भी किया जा सकता है।

आनंद को दोगुना करे

लुब्रीकेंट का प्रयोग आप सेक्स के दौरान कभी भी कर सकते हैं। यह कई फ्लेवर में भी उपलब्ध है। इसके साथ ही यह कई तरह की उत्तेजनाएं भी महसूस होती हैं। योनि के रूखेपन को दूर करके यह इसके कारण होने वाली समस्याओं को दूर करता है। यानी, यह आनंद को बढ़ाने में प्रभावी है।

अनस सेक्स

योनि या लिंग सेक्स के साथ ही अनस सेक्स में भी लुब्रीकेंट का प्रयोग किया जा सकता है। अगर आप अनल सेक्स टॉय का प्रयोग कर रहे हैं, तो उस पर भी इस लुब का इस्तेमाल किया जा सकता है। सामान्य तेल सेक्स के दौरान प्रयोग न करें।

सुरक्षित सेक्स

लुब्रीकेंट घर्षण को कम करते हैं, इसलिए सेक्स के दौरान किसी चोट के लगने का जोखिम कम हो जाता है। अगर आप कंडोम का भी प्रयोग कर रहे हैं तो लुब्रीकेंट के प्रयोग से इसके फटने या बाहर निकलने की संभावना कम होती है। यानी सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन जैसे HIV है होने की संभावना भी कम होती है।

किस तरह के लुब्रीकेंट का प्रयोग करना चाहिए

आपको बाजार में कई तरह के लुब्रीकेंट मिल जाएंगे, जिनमें अनल ल्यूब, फ्लेवरड ल्यूब आदि शामिल हैं। जानिए कौन से लुब्रीकेंटस का प्रयोग आप कर सकते हैं।

[mc4wp_form id=”183492″]

वाटर-बेस्ड लुब्रीकेंट

लाभ

  • यह सबसे सामान्य लुब्रीकेंट हैं जो विभिन्न ब्रांडस में उपलब्ध हैं। इनका कोई स्वाद नहीं होता। यह प्राकृतिक लुब्रीकेंट की तरह लगते हैं और आपकी संवेदनशील त्वचा में इनकी वजह से जलन होने की संभावना कम होती है
  • यह लुब्रीकेंट ज्यादा कीमती नहीं होते और आसानी से मिल जाते हैं।
  • चूंकि, यह लुब्रीकेंट पानी से संबंधित हैं इसलिए यह त्वचा पर जल्दी अब्सॉर्ब हो जाते हैं और थोड़ी जल्दी सूख सकते हैं। इस समस्या से बचने के लिए कई वाटर बस्टेड लुब्रीकेंटस को उच्च गुणवत्ता वाले मॉइस्चराइजर जैसे कैरेजेनन या एलोवेरा के साथ तैयार किया जाता है। इन मॉइस्चराइजरस की मदद से रुखपन भी दूर होता है और यौन अनुभव में भी कोई समस्या नहीं आती।

नुकसान

  • लेकिन, आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि बहुत से वाटर बेस्ड लुब्रीकेंटस में ग्लिसरीन होता है। जिनके कारण महिलाओं को आसानी से इंफेक्शन हो सकता है।
  • पानी या शावर के दौरान इनका प्रयोग करना आपके लिए लाभदायक नहीं होगा। क्योंकि यह पानी से तुरंत साफ हो जाएंगे।

और पढ़ें: Semen Analysis : वीर्य विश्लेषण क्या है?

आयल-बेस्ड सेक्स लुब्रीकेंटस

लाभ

  • अगर आप किसी ऐसे लुब्रिकेंट की तलाश में हैं जिन्हें आपको बार-बार न लगाना पड़े। तो यह आपके लिए बेहतरीन है। आयल-बेस्ड लुब्रीकेंट आपको आपके रसोईघर में मिल जाएगा जैसे ओलिव आयल या नारियल तेल
  • आयल बस्टेड यानी तेल सेक्स लुब्रीकेंट के प्रयोग से आप अपने आनंद को दोगुना कर सकते हैं।
  • यह तेल लुब्रीकेंट उन लोगों के लिए अच्छा माना जाता है जिनका संबंध लंबे समय है और जो सेक्स के दौरान कंडोम का उपयोग जरूरी नहीं समझते।
  • उन लोगों के लिए भी यह उपयोगी है जो लोग अन्य लुब्रीकेंटस में मौजूद संरक्षक का प्रयोग नहीं करना चाहते।

नुकसान

  • अगर आप लेटेक्स कंडोम का प्रयोग कर रहे हैं, तो यह आपके उचित नहीं है। क्योंकि इस तरह के सेक्स लुब्रीकेंट के प्रयोग से कंडोम के फटने या खराब होने की संभावना बढ़ जाती है। जिससे न केवल कंडोम का उद्देश्य ही खत्म हो जाता, बल्कि आपके अच्छे पलों में भी विघ्न पड़ सकता है।
  • आयल बेस्ड लुब्रीकेंट के साथ इंफेक्शन की संभावना भी बढ़ जाती है जैसे बैक्टीरियल वेजिनोसिस
  • इस लुब्रीकेंट को न प्रयोग करने का एक कारण यह भी हो सकता है कि इसके प्रयोग से आपकी बेडशीट, कपडे आदि खराब होने का खतरा बना रहेगा

सिलिकॉन-बेस्ड सेक्स लुब्रीकेंटस

लाभ

सिलिकॉन-बेस्ड सेक्स लुब्रीकेंटस में पानी नहीं होता। पानी का न होने के जहां फायदे भी हैं तो कुछ नुकसान भी हैं। सिलिकॉन-बेस्ड लुब का प्रयोग अन्य लुब से अलग अनुभव प्रदान करता है क्योंकि यह आपकी त्वचा में अब्सॉर्ब नहीं होता। जैसा की वाटर-बेस्ड या आयल-बस्टेड लुब्रिकेंट्स में होता है। यानी अपनी सेक्स लाइफ को और भी चटपटा बनाने के लिए यह लुब्रीकेंट उपयुक्त है

और पढ़ें: Premature ejaculation: प्रीमैच्योर एजैक्युलेशन क्या होता है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय
नुकसान

सिलिकॉन एक हाइपोएलर्जेनिक है, ऐसे में अधिकांश लोगों को रिएक्शन का अनुभव नहीं होगा। यह आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकता है, यदि आप किसी ऐसी चीज में रुचि रखते हैं जिसे बार-बार न लगाया जाए और जो लंबे समय तक चलने वाली हो।

प्राकृतिक लुब्रीकेंटस

अगर प्राकृतिक लुब्रिकेंट्स की बात की जाए तो नारियल तेल का नाम इसमें अवश्य आता है। यह तेल सेक्स के दौरान प्रयोग किया जा सकता है। लेकिन जैसा की पहले बताया गया है। इनके प्रयोग से कंडोम के फटने और अन्य कई समस्याएं आ सकती हैं। ऐसे में प्राकृतिक लुब्रीकेंटस का प्रयोग करने से पहले थोड़ी सावधानी बरतनी आवश्यक है।

सेक्स के दौरान लुब्रीकेंट का प्रयोग कैसे करें

  • अगर आप कंडोम का प्रयोग कर रहे हैं। तो जब आप कंडोम पहनते हैं, उस समय सेक्स लुब्रीकेंट का प्रयोग कंडोम के ऊपर करें। हालांकि आप थोड़े से लुब्रीकेंट का प्रयोग अपने लिंग के ऊपर भी कर सकते हैं। लेकिन लिंग पर इसका अधिक प्रयोग करने से बचे।
  • अगर आप बर्थ कंट्रोल के अन्य तरीकों का प्रयोग कर रहे हैं। तो कंडोम का प्रयोग करना आवश्यक नहीं है। ऐसे में आप सेक्स लुब्रीकेंट को सीधेतौर पर अपने लिंग या योनि पर लगा सकते हैं।
  • अगर आप अनल सेक्स कर रहे हैं तो आप लुब्रीकेंट का प्रयोग अनस पर करें।

और पढ़ें :सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन की मर्यादा (इजैक्युलेशन) को कैसे बढ़ाएं?

इन चीजों का प्रयोग लुब्रीकेंट की तरह न करें

बाजार में आपको हर तरह के लुब्रीकेंट मिल जाएंगे। जिनका प्रयोग आपको अपनी सहूलियत के अनुसार कर सकते हैं। लेकिन आपको कुछ चीजों का प्रयोग लुब्रीकेंट के तौर पर नहीं करना चाहिए। क्योंकि यह जलन और अन्य समस्याओं का कारण बन सकते हैं जैसे

हैलो स्वास्थ्य आपको किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं प्रदान करता है। सेक्स से जुड़े किसी भी मुद्दे पर अगर आपका कोई सवाल है, तो कृपया इस बारे में अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

YOUR GUIDE TO PERSONAL LUBRICATION.https://www.durex.co.uk/blogs/explore-sex/lube-101-your-guide-to-personal-lubrication. Accessed on 14.08.20

How to Choose the Best Lube for Sex: Types of Lubricants, Pros and Cons.https://flo.health/menstrual-cycle/sex/sexual-health/how-to-choose-lube. Accessed on 14.08.20

Better Sex With Lubricants.https://www.aarp.org/home-family/sex-intimacy/info-08-2013/better-sex-lubricant-lube-castleman.html. Accessed on 14.08.20

How to Choose a Lubricant for Pleasure and Safety.https://www.ourbodiesourselves.org/book-excerpts/health-article/how-to-choose-lubricant/. Accessed on 14.08.20

Effect of Vaginal Lubricants on Natural Fertility.https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3427535/. Accessed on 14.08.20

 

लेखक की तस्वीर badge
Anu sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 15/08/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड