आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

इन वजहों से कंडोम का इस्तेमाल नहीं करना चाहते पुरुष

    इन वजहों से कंडोम का इस्तेमाल नहीं करना चाहते पुरुष

    बदलते वक्त के साथ कंडोम और पुरुषों की मानसिकता में बदलाव आया है। यह मानना गलत नहीं होगा। एक वक्त था जब कंडोम का नाम लेना किसी अपराध से कम नहीं था। अधिकतर लोग दुनिया में यही मानते थे कि कंडोम का इस्तेमाल सिर्फ प्रोस्टीट्यूट के साथ किया जाता है। अपनी महिला पार्टनर के साथ पुरुषों को कंडोम नापसंद होता था। मानसिकता में और कॉन्डम के प्रकार में कुछ हद तक बदलाव आया है। वहीं लगभग-लगभग आज भी यही हाल है और इसका भुगतान कई बार महिलाएं अनचाही प्रेग्नेंसी द्वारा करती हैं तो कई बार पुरुष कंडोम (Men’s Condom) का इस्तेमाल न करने के कारण दोनों यौन संबंधी बीमारियों से ​ग्रसित हो जाते हैं।

    और पढ़ेंः पेरीनियल पेन के लिए फ्रोजन कंडोम के साथ अपनाएं ये उपाय

    पुरुष कंडोम को क्यों नहीं करते पसंद? (Why don’t men like condoms?)

    पुरुष कंडोम का इस्तेमाल करना क्यों पसंद नहीं करते हैं, इसके कई कारण हो सकते हैं। जिनमें शामिल हो सकते हैंः

    अट्रेक्शन का सिद्धांत करता है काम

    यूनिवर्सिटी ऑफ साउथहेम्पटन (University of Southampton) की एक स्टडी के अनुसार पुरुष यदि खुद को अट्रैक्टिव मानते हैं या महिला पार्टनर उन्हें अट्रैक्टिव लगती है तो पुरुष कंडोम इस्तेमाल करना पसंद नहीं करते हैं। स्टडी के अनुसार पहला भाग यह है कि यदि पुरुष किसी बेहद अट्रैक्टिव महिला को देखते हैं तो उन्हें कंडोम मिलन में एक बाधा की तरह लगता है। इसलिए पुरुष कंडोम नापसंद करते हैं। वहीं स्टडी का दूसरा भाग यह बताता है कि वह पुरुष जो बहुत अट्रैक्टिव होते हैं उन्हें लगता है कि वह अन्य पुरुषों के बजाए महिला पार्टनर को बिना कंडोम के सेक्स करने के लिए आसानी से तैयार कर लेते हैं। सेक्स में कंडोम नापसंद करने का सबसे बड़ा कारण पुरुष और महिलाएं चरम आनंद में कमी को मानते हैं।

    और पढ़ें: सेक्स और डेटिंग को लेकर है कुछ कंफ्यूजन तो ये आर्टिकल कर सकता है आपकी मदद

    सेक्स (Sex) में संतुष्टि नहीं मिलती

    पुरुष कंडोम नापसंद होने का यह कारण महिला और पुरुष दोनों में एक समान होता है। सन् 2002 में एक अध्ययन के अनुसार महिलाओं को भी कंडोम नापसंद आते हैं क्योंकि इनसे सेक्स में पूरी संतुष्टि नहीं मिलती है। इस शोध में 293 महिलाओं ने बताया कि पुरुष कंडोम के इस्तेमाल से सेक्स का आनंद कम हो जाता है। इस बात से यह अंदाजा लगाना मुश्किल नहीं कि कंडोम को पुरुष इतना नापसंद क्यों करते हैं?

    इरेक्शन (Erection) की समस्या हो सकती है

    इरेक्शन होना जरूरी है, लेकिन पुरुष कंडोम का इस्तेमाल इसमें बाधा बन जाता है। कई पुरुषों का मानना है कि इरेक्शन हो भी जाए तो कंडोम का यूज करने तक इरेक्शन कम हो जाता है और दोबारा पूरे इरेक्शन में समस्या होती है।

    टाइट लगता है कंडोम (Condom)

    कई लोगों को कंडोम टाइट लगता है। इसका कारण गलत साइज और मानसिकता हो सकती है। कई लोग गलत साइज का कंडोम इस्तेमाल करते हैं, जिसके कारण उन्हें कंडोम टाइट लगता है। खासकर रोल किए गए छोर के कारण वह पेनिस में दबाव महसूस करते हैं। वहीं कई लोगों के दिमाग में सेक्स के बजाए कंडोम की बाधा पैदा हो जाती है, ऐसे में भी कंडोम टाइट लगने लगता है। चूंकि पुरुष कंडोम पहनने के बाद वह सहज नहीं रह पाते। इस कारण सेक्स के दौरान उन्हें दिक्कत महसूस होती है।

    और पढ़ें: महिलाओं में सेक्स एंजायटी, जानें इसके कारण और उपचार

    सहज नहीं रह पाते पुरुष कंडोम के साथ

    कई पुरुष कंडोम के इस्तेमाल के बाद सहज नहीं रह पाते हैं। इस कारण इरेक्शन और सेक्स में उनकी दिलचस्पी समाप्त हो जाती है या कम हो जाती है। इस कारण ना ही वह खुद संतुष्ट हो पाते हैं और ना ही महिला पार्टनर को संतुष्ट कर पाते हैं। यह भी कई परुषों के कंडोम नापसंद करने का कारण है। पुरुषों का मानना है कि कंडोम पहनने के बाद उन्हें कम अनुभूति होती है। यही कारण है कि फीलिंग में कमी आने के कारण ऑर्गैज्म में समय लगता है। वहीं बिना कंडोम के ऑर्गेज्म जल्दी हो सकता है।

    एलर्जी (Allergy) भी हो सकती है कारण

    अधिकतर ब्रांड पुरुष कंडोम बनाने के लिए लेटैक्स का उपयोग करते हैं। ये लेटैक्स पेड़ से प्राप्त होने वाला दूध या क्षीर होता है। इससे ही रबड़ बनाया जाता है। यह रबड़ कंडोम बनाने के काम आता है। द अमेरिकन अकेडमी ऑफ एलर्जी अस्थमा एंड इम्यूनोलॉजी के अनुसार लेटैक्स स्वास्थ्य के लिए सुरक्षित नहीं होता है। उनके अनुसार रबड़ में प्रोटीन की कुछ मात्रा पाई जाती है जो लोगों में एलर्जी का कारण बनता है। बता दें कि कई लोगों में लेटैक्स की समस्या को देखते हुए लेटैक्स फ्री कंडोम भी बाजार में उतारे गए हैं।

    और पढ़ें: स्टेप-बाय-स्टेप जानिए महिला कंडोम (Female condom) का इस्तेमाल कैसे करें

    स्मेल (Smell) से भी पड़ता है फर्क

    कई लोगों को लेटैक्स या कंडोम की स्मेल से भी दिक्कत होती है। इसलिए भी वह कंडोम नापसंद करते हैं चूंकि यह स्मेल उनके दिलो-दिमाग में पूरे सेक्स के दौरान रहती है। इस कारण वह सेक्स में कंसंट्रेट नहीं कर पाते हैं।

    सीएईपी (Condom-associated erection problems) की समस्या

    पर्सपेक्टिव ऑन सेक्शुअल एंड रिप्रोडक्टिव हेल्थ (Perspectives on Sexual and Reproductive Health) के जर्नल में प्रकाशित हीग्गीन (Higgins) के सर्वे के मुताबिक पुरुषों में सीएईपी-कंडोम एसोसिएट इरेक्शन प्रॉब्लम (CAEP, or condom-associated erection problems) की समस्या होने लगती है। वहीं सन् 2013 में की गई एक स्टडी के मुताबिक सीएईपी की समस्या यदि बार-बार होने लगे तो पुरुष कंडोम नापसंद करने लगते हैं और इस कारण वह यौन संबंधी बीमारियों को लेकर भी बेपरवाह हो जाते हैं।

    सरप्राइज भी हो सकता है कारण

    पुरुषों कंडोम नापसंद का एक कारण सरप्राइज को भी माना जाता है। कोलंबिया जर्नल ऑफ जेंडर एंड लॉ की एक स्टडी के अनुसार कई पुरुष महिलाओं को सरप्राइज करने के चक्कर में कॉन्डम उतार देते हैं। यह सरप्राइज आपको महंगा भी पड़ सकता है और हो सकता है कि इस तरह का सरप्राइज से आपकी महिला पार्टनर का मूड उखड़ जाए। तो सरप्राइज थोड़ा सोच-समझकर दें।

    और पढ़ें: Peyronies : लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

    गर्भनिरोधक गोलियों (Contraceptive pill) का सहारा

    अनचाहे गर्भ से सुरक्षित रहने के लिए अधिकतर पुरुष और महिला गर्भनिरोधक गोलियों के सेवन पर आंख मूंद कर भरोसा करते हैं। उनका मानना होता है कि गोली के सेवन से वो अनचाहे गर्भ से भी सुरक्षित रहते हैं और सेक्स का भरपूर आनंद भी मिलता है। ऐसे में जब उनके पास एक बेहतर विकल्प मौजूद है, तो उन्हें पुरुष कंडोम के इस्तेमाल की जरूरत नहीं है।

    पुरुष हो या महिला कंडोम नापसंद करने में दोनों ही पीछे नहीं हैं। हां! यह जरूर एक सच है कि पुरुष कंडोम का इस्तेमाल आपको अनचाही प्रेग्नेंसी और यौन संबंधी बीमारियों से निजाद दिलाता है। इसलिए अपनी पसंद के अनुसार आप बाजार में ​उपलब्ध विभिन्न प्रकार के कंडोम का इस्तेमाल कर सकते हैं। यदि पुरुष पार्टनर को पुरुष कंडोम पसंद ना आ रहा हो तो महिला कंडोम का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

    हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

    ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

    अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

    ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

    ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

    अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

    ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

    सायकल की लेंथ

    (दिन)

    28

    ऑब्जेक्टिव्स

    (दिन)

    7

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    What are the benefits of condoms?. https://www.plannedparenthood.org/learn/birth-control/condom/what-are-the-benefits-of-condoms. Accessed on 20/04/ 2020

    When a Woman Doesn’t Want to Use a Condom. https://www.verywellhealth.com/safe-sex-tip-women-who-dont-like-condoms-3133078. Accessed on 20/04/ 2020

    What if my partner won’t use condoms?. https://www.nhs.uk/conditions/contraception/partner-wont-use-condoms/Accessed on 20/04/ 2020

    Differences between men and women in condom use, attitudes, and skills in substance abuse treatment seekers. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3576858/. Accessed on 20/04/ 2020

    SITs: https://www.cdc.gov/std/healthcomm/stdfact-stdriskandoralsex.htm Accessed on 26/6/2022

    Tips for condoms:https://www.hiv.va.gov/patient/daily/sex/condom-tips.asp Accessed on 26/6/2022

     

    लेखक की तस्वीर badge
    Hema Dhoulakhandi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 11/02/2022 को
    डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: