home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Peyronie's Disease: लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

परिचय|लक्षण|कारण|निदान|रोकथाम और नियंत्रण|उपचार
Peyronie's Disease: लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

परिचय

लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) क्या है? (What is Peyronie’s Disease)

पेरोनी रोग पुरुषों के लिंग से संबंधित एक बीमारी है, जिसकी स्थिति में लिंग का आकार टेढ़ा हो जाता है। इसे इरेक्टाइल डिसफंक्शन (ED) कहा जाता है। हालांकि, लिंग का टेढ़ापन पुरुषों के प्रजनन क्षमता को प्रभावित नहीं कर सकता है। लेकिन, लिंग का टेढ़ापन उनके निजी जीवन को प्रभावित कर सकता है। लिंग का टेढ़ापन या पेरोनी रोग लिंग के ऊतकों को किसी तरह का नुकसान होने के कारण हो सकता है। इन ऊतकों में स्कार बनने लग सकते हैं। जैसे चोट लगने या जलने के बाद त्वचा पर निशान रह जाते हैं, उसी तरह स्कार ऊतकों में एक तरह का निशान स्थायी रूप से बनाने लगता है। लिंग के ऊतकों में बनने वाले इन स्कार्स को पट्टिका या प्लेक (Plaque) भी कहा जाता है। ये निशान लिंग के अंदर बनते है।

लिंग में टेढ़ेपन की समस्या ऊपर या नीचे की तरफ यानी पेरोनी रोग होने पर किसी पुरुष का लिंग ऊपर या फिर नीचे की तरफ झुक कर टेढ़ा हो सकता है। लिंग ऊपर की तरफ मुड़ा है या नीचे की तरफ इसके अनुसार ही प्लेक का स्थान व आकार निर्धारित हो सकता है। लिंग का टेढ़ापन धीरे-धीरे बढ़ सकता है हालांकि, कुछ स्थतियों में पेरोनी रोग अचानक से भी हो सकता है। इसके शुरूआती लक्षणों में लिंग में गांठ बनने और दर्द का अनुभव हो सकता है। जो उपचार न मिलने के कारण बढ़ भी सकता है। लिंग के टेढ़ापन की समस्या लिंग के इरेक्शन को प्रभावित कर सकती है। इसकी समस्या में पुरुषों को शारीरिक संबंध बनाने के दौरान ज्यादा दर्द का अनुभव हो सकता है।

और पढ़ें : उम्र के बढ़ने से लिंग में क्या बदलाव होता है? कैसे रखें लिंग को स्वस्थ

लक्षण

लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) के लक्षण क्या हैं? ( Symtoms of Peyronie’s Disease)

लिंग का टेढ़ापन

लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) के लक्षण क्या हो सकते हैं, इसके बारे में स्पष्ट जानकारी नहीं है। लेकिन, फैमिली हिस्ट्री के कारण इसका जोखिम अधिक बढ़ सकता है। सामान्य तौर पर इसके लक्षण धीरे-धीरे हो सकते हैं। हालांकि, कुछ स्थितियों में इसके लक्षण 12 से 15 घंटों के अंदर भी दिखाई दे सकते हैं। इसके निम्न लक्षणों में शामलि हो सकते हैंः

और पढ़ें : लिंग के साइज को बड़ा करवाना क्या सच में फायदेमंद है?

कारण

लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) के क्या कारण हो सकते हैं? ( Causes of Peyronie’s Disease)

पेरोनी रोग का मुख्य कारण क्या हो सकता है, इस बारे में विशेषज्ञों के पास सटीक जानकारी नहीं है। हालांकि, ऐसे कई कारक हो सकते हैं, जो लिंग के टेढ़ापन का कारण बन सकते हैं, जैसेः

लिंग के उत्तकों में चोट लगना

लिंग के ऊतकों को चोट लगने के कारण भी हो सकता है। जिसके कारण लिंग के अंदर रक्तस्राव हो सकता है। जिसे आमतौर पर नोटिस नहीं किया जा सकता है और धीरे-धीरे यह लिंग का टेढ़ापन बन सकता है।

आनुवांशिक स्थिति

पेरोनी रोग आनुवांशिक स्थिति भी हो सकती है। अगर किसी पुरुष को इसकी समस्या है, तो भविष्य में यह समस्या उसकी संतान को भी प्रभावित कर सकता है।

दवाओं का साइड इफेक्ट

कुछ मामलों में दवाओं के साइड इफेक्ट के कारण भी लिंग का टेढ़ापन हो सकता है। हालांकि, इसके लिए किस तरह की दवा जिम्मेदार हो सकती है, इसके बारे में उचित अध्ययन करने की आवश्यकता है। लेकिन कुछ दवाओं के सेवन से पहले अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए, जैसे-

बीटा ब्लॉकर्स (Beta blockers): इन दवाओं का सेवन दिल से जुड़ी समस्याओं और हाई ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए किया जा सकता है।

डिलान्टिन (Dilantin): इस दवा का इस्तेमाल मिर्गी व अन्य तरह के दौरे को रोकने के लिए किया जा सकता है।

सेक्स करते समय कोई गलती करना

सेक्स करते समय लिंग का अचानक से मुड़ना भी लिंग के टेढ़ेपन का कारण बन सकता है।

किस तरह के कारक लिंग के टेढ़ापन का जोखिम बढ़ा सकते हैं? (Risk Factors for Peyronie’s Disease)

निम्न स्थितियां लिंगा का टेढ़ापन के जोखिम को बढ़ाने का कारक बन सकते हैंः

  • लिंग में छोटी-मोटी चोट लगना, जिसे अक्सर नजरअंदाज कर दिया जाता है
  • कनेक्टिव टिश्यू डिसऑर्डर की समस्या
  • बढ़ती उम्र
  • धूम्रपान की आदत
  • कुछ प्रकार की सर्जरी
  • कुछ प्रकार की रेडिएशन थेरेपी
  • हाइपरटेंशन की समस्या होना
  • डायबिटीज की समस्या होना

और पढ़ें: इरेक्टराइल डिसफंक्शन से हैं परेशान तो पी शॉट (P-Shot) ट्रीटमेंट आ सकता है काम

निदान

लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) के बारे में पता कैसे लगाएं? (How to diagnosed Peyronie’s Disease)

लिंग का टेढ़ापन

कुछ मामले में पेरोनी रोग अपने आप ही ठीक हो जाता है। हालांकि, अगर आपको ऊपर बताए गए किस भी तरह के लक्षण हफ्ते भर से अधिक बने हुए हैं, तो आप इसके बारे में पता लगाने के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं। आपके डॉक्टर आपकी स्थिति के अनुसार आपको निम्न टेस्ट कराने की सलाह दे सकते हैं, जैसेः

  • निजी जीवन से जुड़े सवाल पूछना, जैसे- सेक्स के दौरान दर्द या कठिनाई महसूस करना
  • लिंग की जांच करना। ये पता करना कि कहीं लिंग में स्कार ऊतकों का कठोर हिस्सा बना है या नहीं
  • अल्ट्रासाउंड करना
  • एक्स-रे करना
  • लिंग के उत्तकों की बायोप्सी करना

और पढ़ें :लिंग मोटा, लंबा और बड़ा करने का तरीका जानें

रोकथाम और नियंत्रण

लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) को कैसे रोका जा सकता है? (How can curvature of the penis (Peyronie’s disease) be prevented?)

लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) एक दुर्लभ समस्या है। इसके होने का जोखिम एक फीसदी से भी कम पुरुषों में हो सकता है। हालांकि, इसकी स्थिति से बचे रहने के लिए आपको निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए, जैसेः

  • सेक्स पुजिशन के दौरान काफी सावधानी बरतना
  • लिंग या लिंग के आस-पास किसी भी तरह की छोटी-मोटी या बड़ी चोट लगने पर तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करना
  • बढ़ती उम्र के कारण होने वाली परेशानियों को कम करने के लिए उचित आहार खाना
  • उचित मात्रा में शारीरिक गतिविधियां करना
  • स्तंभन दोष की समस्या होने पर तुरंत डॉक्टर से उचित उपचार लेना
  • समय-समय पर अपने लिंग के आकार और रंग की जांच करना। अगर किसी भी तरह का बदलाव नजर आए, तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें।
  • शारीरिक रूप से बहुत ज्यादा थके होने पर सेक्स करने से बचें
  • बहुत ज्यादा शराब पीने के बाद भी सेक्स न करें।

और पढ़ें : Eosinophilia: इओसिनोफिलिया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

उपचार

लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) का उपचार कैसे किया जाता है? (How is penis curvature (Peyronie’s disease) treated?)

लिंग का टेढ़ापन या पेरोनी रोग का उपचार करने के लिए आपके डॉक्टर पहले कुछ महीनों के लिए आपको उचित सावधानी बरतने की सलाह दे सकते हैं। अधिकतर मामलों में इसकी समस्या अपने आप या कुछ जरूरी सावधानी बरतने के बाद ही ठीक हो सकती है। हालांकि, अगर इसके बाद भी इसकी समस्या ठीक नहीं होती है, तो आपके डॉक्टर आपको सर्जरी की सलाह दे सकते हैं। जो निम्न हो सकते हैं, जैसेः

पैलिकेशन (Plication)

इसकी प्रक्रिया में डॉक्टर लिंग की बड़ी साइड के तरफ ऑपरेशन करके लिंग की बड़ी साइड को छोटा कर देते हैं और स्कार या प्लेक को बाहर निकाल देते हैं। इस सर्जरी की पूरी प्रक्रिया के दौरान डॉक्टर लिंग को सीधा रखते हैं, जिससे मरीज का लिंग सेक्स के दौरान इरेक्शन बना पाए। हालांकि, इससे लिंग की लंबाई कम हो सकती है।

प्लेक रिमूवल (Plaque removal)

इस सर्जरी की प्रक्रिया में डॉक्टर प्लेक या स्कार वाले ऊतकों को लिंग से निकाल देते हैं, जिससे लिंग की छोटी साइड खुल जाती है और लिंग सीधा होने लगता है। इसके बाद लिंग से प्लेक निकाले गए खाली स्थान में सर्जन ग्राफ्ट भर देते हैं। यह ग्राफ्ट व्यक्ति के ही शरीर के किसी अन्य हिस्से से निकाली जा सकती है।

दवाओं की सलाह देना

कुछ स्थितियों में डॉक्टर दवाओं की भी सलाह दे सकते हैं, जिनमें शामिल हो सकते हैंः

  • पेंटोक्सिफाइलिन (Pentoxifylline) – इसका सेवन खाने वाली दवा के रूप में करना चाहिए।
  • कोलेजिनेज (Collagenase) – इसका सेवन इंजेक्शन के माध्यम से किया जा सकता है। इंजेक्शन से इस दवा को लिंग में इंजेक्ट किया जा सकता है।

अगर आपका इससे जुड़ा किसी तरह का कोई सवाल है, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और पेरोनी रोग से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Peyronie’s disease. https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/peyronies-disease/symptoms-causes/syc-20353468. Accessed on 08 June, 2020.
What is Peyronie’s Disease?. https://www.urologyhealth.org/urologic-conditions/peyronies-disease. Accessed on 08 June, 2020.
Penile Curvature (Peyronie’s Disease). https://www.niddk.nih.gov/health-information/urologic-diseases/penile-curvature-peyronies-disease. Accessed on 08 June, 2020.
Peyronie’s Disease. https://www.hopkinsmedicine.org/health/conditions-and-diseases/peyronie-disease. Accessed on 08 June, 2020.
Peyronie’s Disease. https://www.uclahealth.org/urology/mens-clinic/peyronies-disease. Accessed on 08 June, 2020.
Curvature of the Penis (Peyronie’s Disease). https://www.health.harvard.edu/a_to_z/curvature-of-the-penis-peyronies-disease-a-to-z. Accessed on 08 June, 2020.
Peyronie’s Disease: A Review. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC1473022/. Accessed on 08 June, 2020.
The Safety and Effectiveness of AA4500 in Subjects With Peyronie’s Disease. https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT00755222. Accessed on 08 June, 2020.
Peyronie’s disease. https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/ConditionsAndTreatments/peyronies-disease. Accessed on 08 June, 2020.

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Ankita mishra द्वारा लिखित
अपडेटेड 08/06/2020
x