Erectile Dysfunction: स्तंभन दोष क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

By Medically reviewed by Dr. Pooja Bhardwaj

स्तंभन दोष (Erectile Dysfunction)

जीवन के किसी पड़ाव पर आप स्तंभन दोष (Erectile Dysfunction) का सामना कर सकते हैं। ये स्तंभन दोष या इरेक्टाइल डिसफंक्शन क्या है और पुरुष अपनी शिथिलता को कैसे बेहतर बना सकते हैं? इस आर्टिकल में हम आज इसी बारे में विस्तार से बात करेंगे।

स्तंभन दोष (ईडी) (Erectile Dysfunction) क्या है?

जब कोई पुरुष खुद को सेक्स के दौरान तैयार नहीं कर पाता या सेक्स के लिए इरेक्शन नहीं रख सकता है, उस स्थिति को इरेक्टाइल डिसफंक्शन कहा जाता है।  कभी-कभी इरेक्शन की समस्या का होना स्वास्थ्य के प्रति चिंता का विषय नहीं है लेकिन, ऐसा लगातार हो रहा है, तो यह तनाव, कॉन्फिडेंस की कमी और रिश्तों में खटास पैदा कर सकता है।  इसके अलावा, इरेक्शन न होना कुछ गंभीर हेल्थ कंडिशन से भी पर्दा उठा सकता है, जिन्हें तत्काल मेडिकल ट्रीटमेंट की आवश्यकता होती है।

कभी-कभी, एक अंडरलाइन कंडिशन का इलाज करना ही ईडी से छुटकारा पाने के लिए पर्याप्त है। दूसरी ओर, ईडी को ठीक करने की प्रक्रिया में दवाएं या दूसरे तरीके भी हो सकते सकते हैं।

आपको डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए?

ये बात सच है कि इस कंडिशन में आपको डॉक्टर के पास जाने में शर्मिंदा या अनिच्छा हो सकती है लेकिन, अगर आप कुछ हफ्तों से स्तंभन दोष से जूझ रहे हैं, तो आपको डॉक्टर की मदद लेनी चाहिए। डॉक्टर आपकी हेल्थ की नॉर्मल कंडिशन को समझ कर कई टेस्ट करवा सकते है और इस बात का पता लगा सकते हैं कि कौन-सी हेल्थ कंडिशन ज्यादा सीरियस है, जैसे हृदय रोग

यह भी पढ़ें : 0सेक्स ड्राइव बढ़ाने के लिए महिलाएं खाएं ये फूड्स

स्तंभन दोष (Erectile Dysfunction) क्यों होता है?

शारीरिक और मानसिक दोनों ही कारणों से स्तंभन दोष हो सकता है। शारीरिक कारणों में शामिल हैं:

  • लिंग में जाने वाली रक्त वाहिकाओं का संकुचित या नैरो होना, जो सीधे तौर पर हाई ब्लड प्रेशर, हाई कोलेस्ट्रॉल और डायबिटीज के कारण हो सकता है।
  •  हार्मोन की समस्या होना।
  •  पहले कराई सर्जरी या चोट लगना।

मानसिक कारण, जो स्तंभन दोष को पैदा कर सकते हैं, उनमें शामिल हैं:

यह भी पढ़ें : हर दिन सेक्स करना कैसे फायदेमंद है, जानिए इसके 9 वजह

स्तंभन दोष (Erectile Dysfunction) को रोकने के लिए आप क्या कर सकते हैं?

1.अपनी मर्जी से ली जाने वाली दवाओं से सावधान रहें

कुछ ओवर-द-काउंटर (उदाहरण के लिए एलर्जी या ठंड की दवा) या निर्धारित दवाएं जैसे कि एंटीडिपेंटेंट्स, ब्लड प्रेशर की दवाएं, नारकोटिक या नशे के दर्द से राहत देने वाली दवा या एंटीथिस्टेमाइंस आपको इरेक्शन में समस्या पैदा कर सकते हैं।

किसी भी दवा का सेवन करने से पहले, डॉक्टर से बात करें कि कहीं ये दवा आपके इरेक्शन पर विपरीत असर तो नहीं डाल रही।

2. अपने पेट के आकार को नियंत्रित करें

 35 इंच या उससे कम साइज के कमर वाले पुरुषों की तुलना में 39 इंच की कमर वाले पुरुषों में स्तंभन दोष (Erectile Dysfunction) की समस्या दो गुना ज्यादा होती है। आपका बढ़ा हुआ पेट या बेली आपके लिंग को दांव पे लगा सकता है।

यह भी पढ़ें : लेडीज! जानिए सेक्स के बाद यूरिन पास करना क्यों जरूरी है

3.धूम्रपान बंद करें

धूम्रपान वास्तव में आपके इरेक्शन के लिए परेशानी का कारण बन सकता है क्योंकि, यह आपके रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचा सकता है। इसके अलावा, शरीर में चारों ओर रक्त को बहने से रोकता है।

4. तनाव छोड़ें

तनाव यौन कार्यों पर बुरा प्रभाव डाल सकती है। यह इस बात की तरफ इशारा करता है कि 40 और 50 साल के सफल लेकिन तनाव में रहने वाले पुरुषों की सेक्स लाइफ अच्छी नहीं है।

यह भी पढ़ें : फर्स्ट टाइम सेक्स से पहले जान लें ये 10 बातें, हर मुश्किल होगी आसान

स्तंभन दोष के क्या कारण हो सकते हैं?

ह्दय रोग

बदलती जीवनशैली के कारण ह्दय रोग एक बड़ी बीमारी के रूप में उभरा है। यह बीमारी शारीरिक संबंध को बिगाड़ सकती है। यह इरेक्टाइल डिसफंक्शन या स्तंभन दोष का कारण बन सकता है।

मधुमेह

कुछ साल पहले तक मधुमेह होने की औसत उम्र 40 साल थी जो अब घटकर 20-30 साल हो चुकी है। पहले इस बीमारी को बुर्जुगों को होने वाली बीमारी माना जाता था लेकिन अब यह बच्चों को भी हो रही है। डायबिटीज के कारण ब्लड वेसल्स और नर्व्स पर बुरा असर पड़ता है, जो कई बार स्तंभन दोष का कारण बनता है।

हाई ब्लड प्रेशर

हाई ब्लड प्रेशर जिसे हाइपरटेंशन या उच्च रक्तचाप भी कहते हैं के कारण भी स्तंभन दोष हो सकता है।

हाइपरलिपिडिमिया

हाइपरलिपिडिमिया एक बीमारी है। ऐसा तब होता है जब खून में बहुत अधिक लिपिड होते हैं। लिपिड से मतलब कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स से भी है। इस बीमारी में ब्लड वेसल्स ब्लॉक हो जाती हैं जिससे खून की सप्लाई भी धीमी पड़ जाती है। जिससे प्राइवेट पार्ट पर असर होने लगता है। जो कि बाद में स्तंभन दोष का कारण बनता है।

रोग एक बड़ी बीमारी के रूप में उभरा है। यह बीमारी शारीरिक संबंध को बिगाड़ सकती है। यह इरेक्टाइल डिसफंक्शन या स्तंभन दोष का कारण बन सकता है।

बढ़ती उम्र

कई बार बढ़ती उम्र भी स्तंभन दोष का कारण बन सकती है। उम्र बढ़ने पर पुरुष या तो जल्दी उत्तेजित नहीं होते या फिर उत्तेजित ही नहीं होते। उनमें सेक्स के प्रति इंटरेस्ट भी खत्म हो सकता है।

शराब का सेवन

शराब का अत्यधिक सेवन स्तंभन दोष का कारण बन सकता है। इसलिए शराब का सेवन बंद कर दें। इससे स्पर्म की क्वालिटी और क्वांटिटी पर भी प्रभाव पड़ता है। अगर आप बंद नहीं कर सकते तो कम से कम कर दें।

नॉक्टर्नल पेनाइल टयूम्यसेनस एनपीटी टेस्ट क्या होता है?

एनपीटी टेस्ट में एक पॉर्टेबल, बैटरी से चलने वाली डिवाइस का उपयोग करके किया जाता है। जिसे पुरुष के जांघ पर पहनाया जाता है। डिवाइस रात में होने वाली उत्तेजना की गुणवत्ता का मूल्यांकन करती है और डाटा कलेक्ट करती है। जिसका बाद में डॉक्टर डेटा का मूल्यांकन करता है। इस डेटा से डॉक्टर स्तंभन दोष को समझने की कोशिश करता है।

अगर आप शर्मिंदगी के डर से डॉक्टरों के पास नहीं जाना चाहते हैं, तो सच मायने में आपको जाना चाहिए। स्तंभन दोष (Erectile Dysfunction) बद से बत्तर हो जाएगा, अगर समय रहते उसका इलाज न किया तो। ये स्थिति आपके जीवन को बहुत नकारात्मक तरीके से प्रभावित कर सकती है।

powered by Typeform

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

और पढ़ें: 

Night Fall: क्या स्वप्नदोष को रोका जा सकता है? जानें इसका ट्रीटमेंट
Share now :

रिव्यू की तारीख अगस्त 28, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया फ़रवरी 17, 2020

शायद आपको यह भी अच्छा लगे