पेनिस फंगल इंफेक्शन के कारण और उपचार

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट सितम्बर 18, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

पुरुषों के लिंग यानी पेनिस में कई वजहों से पेनिस फंगल इंफेक्शन हो सकते हैं। पेनिस फंगल इंफेक्शन बहुत आम हो सकते हैं, जो थोड़ी से देखभाल पर आसानी से ठीक भी हो जाते हैं। लेकिन, कुछ परिस्थितियों में यह घातक भी हो सकते हैं। तो चलिए जानते हैं पेनिस फंगल इंफेक्शन क्या, इसके लक्षण क्या हैं और इसका इलाज किस तरह से किया जा सकता है।

और पढ़ें : पुरुषों के यौन (गुप्त) रोगों के बारे में पता होनी चाहिए आपको यह जरूरी बातें

पेनिस फंगल इंफेक्शन क्या है?

जिस तरह महिलाओं की योनि में गुड और बैड बैक्टीरिया मौजूद होते हैं, उसी तरह पुरुषों के लिंग में भी यीस्ट या कैंडीडा एल्बीकैंस नामक यीस्ट संक्रमण पहले ही मौजूद होते हैं, जिसकी वजह से लिंग में बहुत ही आसानी से यीस्ट संक्रमण या फंगल इंफेक्शन पैदा हो सकते हैं। क्योंकि, इन्हें पैदा करने वाले फंगस लिंग की त्वचा में मौजूद रहते हैं। इस तरह के फंगल नमी या शुष्क त्वचा वाले स्थान पर ही ज्यादा पाएं जाते हैं। यह किसी भी उम्र में हो सकता है। आमतौर पर, 20 की उम्र के बाद जब लिंग में तनाव अधिक बढ़ने लगता है, तो इनका खतरा भी बढ़ जाता है। आइए जानते हैं पेनिस फंगल इंफेक्शन के लक्षण और उपचार।

पेनिस फंगल इंफेक्शन के लक्षण

  • पेनिस के हेड एरिया में रेडनेस होना (Redness in the head area of ​​the penis)
  • सूजन होना (Swelling up)
  • खुजली होना (Itching)
  • लगातार दर्द होना (Constant Pain)
  • पेनिस की टिप से मवाद आना (Pus from the tip of the penis)
  • पेनिस से बदबू आना (Stink from the penis)
  • पेशाब के दौरान दर्द (Pain during urination)

पेनिस फंगल इंफेक्शन के कारण

पेनिस फंगल इंफेक्शन के कई कारण हो सकते हैं। हालांकि, साफ-सफाई का ध्यान न रखना सबसे आम कारणों में से एक होता है।

1.पेनाइल यीस्ट इंफेक्शन (Penile Yeast Infection)

पेनाइल यीस्ट इंफेक्शन से पीड़िता महिला के साथ संभोग करने पर इसका खतरा सबसे अधिक फैल सकता है, जिसे असुरक्षित संभोग भी कहा जाता है। इसलिए संभोग करने से पहले महिला और पुरुष दोनों अपने शारीरिक स्वास्थ्य की जांच जरूर करवाएं।

2.डायबिटीज (Diabetes)

डायबिटीज और टाइप 2 से पीड़ित पुरुषों में पेनिस फंगल इंफेक्शन का खतरा सबसे अधिक रहता है।

3.सेक्स के बाद साफ-सफाई पर ध्यान न देना (Post sex poor hygeine)

अक्सर लोग सेक्स करने के बाद सोना पसंद करते हैं लेकिन, सेक्स करने से पहले और बाद में शरीर को साफ करना बहुत जरूरी होता है। ऐसा न करने से एक दूसरे के निजी अंगों के बैक्टीरिया फैल सकते हैं, जो गंभीर बीमारी का कारण भी बन सकते हैं।

और पढ़ें : पुरुषों के लिए वेट लॉस डायट टिप्स, जानें एक्सपर्ट्स की सलाह  

3.साफ-सफाई न करना (Practice poor hygiene)

पुरुषों के लिंग पर अक्सर सफेद रंग का एक पदार्थ जमा हो जाता है, जिसे साफ करना बेहद जरूरी होता है। क्योंकि, यह पदार्थ पेनिस में हर दिन बढ़ता रहता है, जो कई तरह के इंफेक्शन की वजह बन सकता है। इसके लिए जब भी बाथरूम या नहाने जाएं, तो पेनिस हेड को अच्छे से साफ करें। इसे साफ करने के लिए सिर्फ साफ पानी का ही इस्तेमाल करें।

4.खतना (circumcision)

कुछ विशेष धर्म समुदायों में महिला और पुरुषों का खतना किया जाता है। खतना निजी अंगों से जुड़ा होता है। इसके लिए पेनिस के अगले हिस्से की चमड़ी का एक भाग हल्का-सा काट दिया जाता है, जिससे पेनिस के अगले हिस्से में एक घाव हो जाता है, जो कुछ समय बाद भर जाता है। लेकिन, यह भविष्य में कई तरह के इंफेक्शन के लिए जिम्मेदार हो सकता है।

औऱ पढ़ें : पुरुषों में होने वाली जानलेवा बीमारियां, जान लें इनके बारे में

पेनिस फंगल इंफेक्शन को कब गंभीरता से लेना चाहिए?

कुछ मामलों में पेनिस इंफेक्शन घर पर ही आसानी से कुछ बातों का ध्यान रख कर ठीक किया जा सकता है। लेकिन, कई मामलों में यह घातक भी हो सकता है, जिससे बचने के लिए आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। कभी-कभी पेनिस फंगल इंफेक्शन यौन संचारित संक्रमण (STI) या इनवेसिव कैंडिडिआसिस का कारण बन जाता है। अगर इसके इलाज करने के बाद भी पेनिस के हेड में बार-बार छाले की समस्या हो रही है, तो यह डायबिटीज होने का संकेत हो सकता है। इसके अलावा, और भी ऐसी स्थितियां हैं जिनके लक्षण देखने पर आपको डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए, जैसे

  • पेशाब में खून आना (Blood in Urine)
  • मतली और उल्टी होना (Nausea and Vomiting)
  • पेनिस हेड में छाले दिखाई देना (Blisters visible in penis head)
  • शरीर का तापमान बढ़ना (Rise Body temprature)

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

पेनिस फंगल इंफेक्शन का उपचार

1.स्वच्छता का ध्यान रखें (Take care of cleanliness)

गुप्तांगों को हमेशा साफ रखें। इसे साफ करने के लिए हेड की चमड़ी को धीरे-धीरे पीछे हटाएं और चमड़ी के नीचे के भाग को साफ पानी से साफ करें। धोने के बाद इसे अच्छे से सुखा लें। कुछ लोग इसे सुखाते नहीं है, जो एक बड़ी गलती है।

2.सूती कपड़ा पहनें (Wear cotton clothes)

पेनिस फंगल इंफेक्शन से बचने के लिए कपड़ों का सही चयन करना बेहद जरूरी है। गुप्तांगों में पसीना न हो और हवा मिलती रहे, इसके लिए हमेशा कॉटन के कपड़े पहनें। ऐसे कपड़े या अंडरगार्मेंट्स न पहनें, जिनसे पसीना जमा होता हो।

3.कंडोम का इस्तेमाल (While sex use condom)

सेक्स करने के दौरान, हमेशा कंडोम का इस्तेमाल करें, ताकि यौन जनित रोगों से बचें रहें।

4.सेक्स करने के बाद सफाई करें (After having sex clean your genital areas)

सेक्स करने के बाद लिंग अच्छे से साफ करना चाहिए। कुछ लोग इसके प्रति लापरवाही बरतते हैं। ऐसी गलती बिल्कुल न करें।

5. योगर्ट का इस्तेमाल करें

योगर्ट एक नैचुरल प्रोबायोटिक है। अपनी डायट में योगर्ट शामिल करें। यह बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकने में मदद करता है।

और पढ़ें : कलर ब्लाइंडनेस पुरुषों में ज्यादा क्यों होती है?

हैलो स्वास्थ्य के एक्सपर्ट के हिसाब से करें पेनिस की साफ-सफाई

इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर शरयु माकणीकर, जो काउंसलिंग भी करती हैं, कहना है, ”पेशाब करने के बाद पेनिस को अच्छे से साफ करें। फिर उसे अच्छे से सुखा लें। इसके बाद अपने हाथों को अच्छे से धोएं और हाथों को भी सुखा लें। पेनिस फंगल से बचे रहने के लिए हमेशा साफ-सुथरे और सूखे कपड़े पहनें। गुप्तांगों तक हवा पास हो इसके लिए कॉटन से बने अंडरगार्मेंट्स पहनें।”

पेशाब करने के बाद लिंग के ऊपरी कवर को अच्छे से साफ करना चाहिए।

इसके अलावा, अगर आपको पेनिस फंगल की समस्या है, तो तुरंत इंटरोकर्स बंद कर दें। अपने साथी से तब तक दूरी बनाएं रखें, जब तक यह समस्या पूरी तरह से ठीक न हो जाएं क्योंकि इसका खतरा आपके साथी को भी हो सकता है। उसके उपचार के लिए डॉक्टर की मदद लें। खुद से या किसी द्वारा बताए गए किसी भी उपचार को करने से बचें।

अगर आपको पेनिस फंगल इंफेक्शन से जुड़े किसी भी तरह के लक्षण दिखाई दें, तो अपने डॉक्टर से जल्द से जल्द संपर्क करें। साथ ही, उनसे इसके उपचार के लिए घरेलू उपायों के बारे में भी जानकारी लें, क्योंकि घरेलू उपाय इसके लिए सबसे बेहतर उपचार हो सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Sporotrichosis: स्पोरोट्राइकोसिस क्या है?

जानिए स्पोरोट्राइकोसिस क्या है in hindi, स्पोरोट्राइकोसिस के कारण, जोखिम और उपचार क्या है, sporotrichosis को ठीक करने के लिए आप इस तरह के घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Sunil Kumar
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z मार्च 28, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

कैंडिडियासिस फंगल इंफेक्शन क्या है? जानें इसके लक्षण, प्रकार और घरेलू उपचार

जानें कैंडिडियासिस फंगल इंफेक्शन क्या है in hindi. ये फंगल इंफेक्शन किस कारण से हो सकता है और इससे बचने के लिए किन उपायों को अपनाया जा सकता है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया indirabharti
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मार्च 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Bacitracin: बैसिट्रेसिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए बैसिट्रेसिन की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, बैसिट्रेसिन उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Bacitracin डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anoop Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल मार्च 3, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Serratiopeptidase : सेरेसियोपेप्टाइडेज क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

सेरेसियोपेप्टाइडेज की जानकारी in hindi. सेरेसियोपेप्टाइडेज का इस्तेमाल, उपयोग, खुराक, सावधानियां, कितना डोज लेना चाहिए। खुराक की जानकारी और साइड-इफेक्ट्स।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anoop Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल मार्च 2, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

लिंग के प्रकार

लिंग का सेक्स से क्या है संबंध, क्या इससे वाकई में मिलती है ज्यादा संतुष्टि

के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 14, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
Candiforce 200: कैंडिफोर्स 200

Candiforce 200: कैंडिफोर्स 200 क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ जून 24, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
बेटनोवेट जीएम

Betnovate GM: बेटनोवेट जीएम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जून 18, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
क्रिल ऑयल

क्रिल ऑयल के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Krill Oil

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Sunil Kumar
प्रकाशित हुआ मार्च 31, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें